• Varta Astrologers
  • Mragaank
  • Parul

वृषभ राशि में बुध अस्त (13 मई, 2022)

एस्ट्रोसेज के इस लेख में पढ़िए वैदिक ज्योतिष पर आधारित वृषभ राशि में बुध अस्त (13 मई, 2022) से जुड़ा सही व सटीक भविष्यफल। साथ ही जानें अस्त बुध के नकारात्मक प्रभावों के बचने उपाय। जो हमारे विद्वान ज्योतिषियों द्वारा बुध ग्रह की चाल तथा स्थिति का अध्ययन कर सुझाए गए हैं।

वृषभ राशि में बुध अस्त

विद्वान ज्योतिषियों से फोन पर बात करें और जानें अस्त बुध का अपने जीवन पर प्रभाव

ज्योतिष में बुध ग्रह

वैदिक ज्योतिष में बुध को बुद्धि, ज्ञान और सूचना का कारक माना जाता है। कुंडली में स्थित मज़बूत बुध जातकों को तेज़ बुद्धि, विश्लेषणात्मक क्षमता, अच्छा संचार कौशल एवं निर्णय लेने की क्षमता प्रदान करता है। वहीं कुंडली में मौजूद कमज़ोर बुध जातकों में शिक्षा की कमी, कमज़ोर संचार कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता में कमी आदि का कारण बन जाता है। बुध के सकारात्मक तथा नकारात्मक परिणाम कुंडली में उसकी स्थिति पर निर्भर करते हैं।

कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

वृषभ राशि में बुध अस्त: तिथि व समय

बुध 13 मई, 2022 की सुबह 12:56 बजे वृषभ राशि में अस्त होगा और फिर 30 मई, 2022 को इसी राशि में अपनी सामान्य अवस्था में वापस आ जाएगा।

वैदिक ज्योतिष के अनुसार जब कोई ग्रह अस्त होता है तो वह अपनी परिणाम देने की शक्तियों से वंचित हो जाता है यानी कि प्रभावहीन हो जाता है लेकिन चूंकि बुध सूर्य के सबसे नज़दीक है इसलिए इसका अस्त होना ज़्यादा गंभीर साबित नहीं होगा। हालांकि जातकों पर इसका आंशिक रूप से प्रभाव पड़ सकता है जैसे कि जातकों के ज्ञान में कमी देखी जा सकती है तथा उनकी बुद्धि थोड़ी कमज़ोर हो सकती है।

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि

Read in English: Mercury Combust in Taurus (13 May, 2022)

आइए सभी 12 राशियों के लिए जानते हैं कि अस्त बुध का जातकों के जीवन पर क्या प्रभाव पड़ने की संभावना है:

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए बुध तीसरे तथा छठे भाव का स्वामी है और यह उनके दूसरे भाव में अस्त होगा।

करियर के लिहाज से इस दौरान आप अपने कार्यस्थल पर बेहतर प्रदर्शन करने में कामयाबी हासिल करेंगे तथा इसके लिए आपको नाम व प्रसिद्धि भी प्राप्त होगी। ऐसे में आपके लिए प्रोत्साहन तथा अन्य लाभ मिलने के योग बन सकते हैं।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो यह समय अच्छा लाभ अर्जित करने तथा नई परियोजनाओं पर काम शुरू करने के लिहाज से प्रबल है। आपको इसमें सफलता मिलेगी।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो जीवनसाथी के साथ संबंध अच्छे रहेंगे। साथ ही आपका स्वास्थ्य भी उत्तम रहेगा।

उपाय: प्रतिदिन सुबह सूर्य देव को अर्घ्य दें।

मेष साप्ताहिक राशिफल

वृषभ

वृषभ राशि के जातकों के लिए बुध दूसरे तथा पांचवें भाव का स्वामी है और यह उनके प्रथम यानी कि लग्न भाव में अस्त होगा।

बुध का आपके लग्न भाव में अस्त होना आपके करियर के लिहाज से अनुकूल सिद्ध होगा। इस दौरान आप अपने कार्यस्थल पर बेहतर प्रदर्शन करने की स्थिति में होंगे। आपका बेहतर प्रदर्शन आपके पेशेवर जीवन में नाम एवं प्रसिद्धि हासिल करने जैसी सफलता लेकर आएगा।

यदि आप किसी व्यवसाय के स्वामी हैं तो आपको अस्त बुध का सकारात्मक परिणाम अच्छे धन लाभ के रूप में देखने को मिलेगा। साथ ही कुछ अन्य व्यावसायिक सफलता मिलने की भी संभावना है।

आर्थिक रूप से आपको आय और व्यय दोनों का सामना करना होगा। व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो जीवनसाथी के साथ आपसी तालमेल बने रहेंगे। वहीं दूसरी ओर यदि आप किसी प्रेम संबंध में हैं तो भी आपको सकारात्मकता देखने को मिलेगी।

उपाय: प्रतिदिन 14 बार "ॐ बुधाय नमः" का जाप करें।

वृषभ साप्ताहिक राशिफल

मिथुन

मिथुन राशि के जातकों के लिए बुध प्रथम/लग्न तथा चौथे भाव का स्वामी है और यह उनके बारहवें भाव में अस्त होगा।

पेशेवर रूप से यह अवधि कुछ कठिनाइयों से भरी हो सकती है जैसे कि आप पर काम का दबाव हो सकता है, सहकर्मियों से अधिक सहयोग नहीं मिल सकता है।

यदि आप व्यवसाय करते हैं तो यह समय आपके लिए औसत रूप से फलदायी सिद्ध हो सकता है इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि इस दौरान प्रमुख व्यावसायिक सौदों में प्रवेश न करें।

व्यक्तिगत जीवन की बात की जाए तो सामंजस्य में कमी के कारण जीवनसाथी के साथ वाद-विवाद हो सकता है। ऐसी स्थिति में ख़ुद को शांत रखते हुए समझदारी के साथ चीज़ों को सुलझाने का प्रयास करें।

स्वास्थ्य के लिहाज से आपको गले में संक्रमण जैसी समस्या से गुज़रना पड़ सकता है। आपको सुझाव दिया जाता है कि अपने स्वास्थ्य का ख़्याल रखें और ज़रा सी भी परेशानी होने पर तुरंत चिकित्सक से उचित उपचार कराएं।

उपाय: बुधवार के दिन निर्धन बच्चों को भोजन कराएं।

मिथुन साप्ताहिक राशिफल

करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क

कर्क राशि के जातकों के लिए बुध तीसरे तथा बारहवें भाव का स्वामी है और यह उनके ग्यारहवें भाव में अस्त होगा।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो काफ़ी हद तक आपको सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे लेकिन साथ ही आपको कुछ चुनौतियों का सामना भी करना पड़ सकता है। ऐसे में आपको अपने कार्यों की सही ढंग से योजना बनाने की आवश्यकता होगी।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो इस अवधि में धन लाभ और हानि दोनों संभव हो सकते हैं। वहीं दूसरी ओर इस दौरान विदेश से व्यापार करने के अवसर प्राप्त होने की संभावना है।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो रिश्तों में सामंजस्य की स्थिति बनी रहेगी। वहीं अगर स्वास्थ्य की बात करें तो सर्दी-जुकाम जैसी छोटी-मोटी परेशानी हो सकती है। ऐसे में आपके लिए बेहतर होगा कि अपनी दिनचर्या को सुधारें और अपनी सेहत का ख़्याल रखें।

उपाय: बुधवार के दिन गायों को हरी घास खिलाएं।

कर्क साप्ताहिक राशिफल

सिंह

सिंह राशि के जातकों के लिए बुध दूसरे तथा ग्यारहवें भाव का स्वामी है और यह उनके दसवें भाव में अस्त होगा।

पेशेवर रूप से इस दौरान नौकरीपेशा जातकों को नौकरी में बदलाव या स्थानांतरण का सामना करना पड़ सकता है। वहीं अगर आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो आपको अपने प्रतिद्वंदियों से कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ सकता है।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो अहंकार के कारण जीवनसाथी के साथ बहस या वाद-विवाद होने की संभावना है। आपको सलाह दी जाती है कि अपने गुस्से और वाणी पर नियंत्रण रखें अन्यथा हालात और भी ख़राब हो सकते हैं। वहीं स्वास्थ्य की दृष्टि से आपको थोड़ा मानसिक तनाव हो सकता है, बाकी आपका स्वास्थ्य इस दौरान बेहतर रहेगा।

उपाय: प्रतिदिन लिंगाष्टकम का पाठ करें।

सिंह साप्ताहिक राशिफल

कन्या

कन्या राशि के जातकों के लिए बुध प्रथम/लग्न तथा दसवें भाव का स्वामी है और यह उनके नौवें भाव में अस्त होगा।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो इस दौरान आपको नौकरी के नए अवसर प्राप्त होंगे तथा आपका पेशेवर जीवन भी सकारात्मकता से भरा रहेगा।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो विदेश से तथा आउटसोर्सिंग के ज़रिए कुछ नए व्यावसायिक संपर्क मिल सकते हैं। ऐसे संपर्क आपके लिए लाभकारी सिद्ध होंगे।

व्यक्तिगत जीवन में ख़ुशहाली बरकरार रहेगी क्योंकि इस अवधि में आपके रिश्तों में सामंजस्य बना रहेगा, जिससे आप लोग एक-दूसरे का सहयोग करते नज़र आएंगे। वहीं स्वास्थ्य की बात करें तो यह अवधि आपके स्वास्थ्य के लिहाज से अनुकूल सिद्ध होगी।

उपाय: प्रतिदिन "विष्णु सहस्रनाम" का जाप करें।

कन्या साप्ताहिक राशिफल

तुला

तुला राशि के जातकों के लिए बुध नौवें तथा बारहवें भाव का स्वामी है और यह उनके आठवें भाव में अस्त होगा।

पेशेवर रूप से नौकरीपेशा जातकों को अपना काम समय पर पूरा करने में कुछ बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही आपके सामने कुछ चुनौतीपूर्ण लक्ष्य भी आ सकते हैं।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो इस दौरान हानि होने की आशंका है इसलिए सलाह दी जाती है कि अपनी परियोजनाओं की सही ढंग से व्यवस्थित करें और बहुत सावधानीपूर्वक उन पर काम करें।

इस अवधि में आपका व्यक्तिगत जीवन उतार-चढ़ाव से भरा हो सकता है चूंकि मनमुटाव एवं कुछ मतभेद आपके रिश्तों में संभव हो सकते हैं।

स्वास्थ्य के लिहाज से आपके गले में दर्द की शिकायत हो सकती है। ऐसे में आपके लिए ज़रूरी होगा कि अपने स्वास्थ्य का ख़्याल रखें एवं नियमित रूप से योग, व्यायाम आदि करें।

उपाय: शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी के लिए तेल का दीपक/दीया जलाएं।

तुला साप्ताहिक राशिफल

वृश्चिक

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बुध आठवें तथा ग्यारहवें भाव का स्वामी है और यह उनके सातवें भाव में अस्त होगा।

पेशेवर रूप से देखें तो इस दौरान आपको अपने कार्यक्षेत्र में कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, साथ ही कुछ मुश्किल परिस्थितियों से भी गुज़रना पड़ सकता है। ऐसे में आपके लिए बेहतर होगा कि ख़ुद को नौकरी के प्रति समर्पित करते हुए बड़ी ही सावधानीपूर्वक काम करें।

यदि आप किसी व्यवसाय के स्वामी हैं तो इस अवधि में व्यावसायिक साझेदार के साथ संबंध में कुछ उतार-चढ़ाव आने की आशंका है। जिसका नकारात्मक प्रभाव आपके व्यवसाय की उत्पादकता पर पड़ सकता है।

स्वास्थ्य की दृष्टि से, रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी के कारण आपको कुछ स्वास्थ्य समस्याओं से गुज़रना पड़ सकता है। ऐसे में अपनी सेहत का अधिक ख़्याल रखें तथा अपने खानपान पर भी ध्यान दें।

उपाय: प्रतिदिन 11 बार "ॐ नमो भगवते वासुदेवाय" का जाप करें।

वृश्चिक साप्ताहिक राशिफल

बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु

धनु राशि के जातकों के लिए बुध ग्रह सातवें तथा दसवें का स्वामी है और यह उनके छठे भाव में अस्त होगा।

पेशेवर रूप से इस दौरान करियर का विकास संभव होगा, साथ ही सभी कार्य अच्छी तरह और समय पर सम्पन्न होंगे। जिसके परिणामस्वरूप आपके लिए प्रशंसा, प्रोत्साहन आदि के योग बनेंगे।

यदि आप स्वयं का व्यवसाय चला रहे हैं तो इस दौरान आपको अपने मनमुताबिक लाभ अर्जित करने में कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो अहंकार के कारण जीवनसाथी के साथ संबंध में कुछ समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। वहीं स्वास्थ्य के लिहाज से आपको सलाह दी जाती है कि इस अवधि के दौरान ठंडी चीज़ों के सेवन से बचें।

उपाय: प्रतिदिन 11 बार "ॐ गुरुवे नमः" का जाप करें।

धनु साप्ताहिक राशिफल

मकर

मकर राशि के जातकों के लिए बुध छठे तथा नौवें भाव का स्वामी है और यह उनके पांचवें भाव में अस्त होगा।

करियर के लिहाज से इस दौरान आपके सामने कुछ चुनौतियां आ सकती हैं। ऐसे में आपको अपनी नौकरी में अच्छा प्रदर्शन करने तथा अपने कार्यों को समय पर पूरा करने के लिए सही ढंग से योजना बनाने की आवश्यकता होगी।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो कुछ असफलताओं के कारण आप इस अवधि में अपने व्यवसाय का विस्तार करने में सक्षम नहीं होंगे।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो पारिवारिक समस्याओं के कारण आपको अपने संबंधों में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकते हैं। वहीं मानसिक तनाव आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। ऐसे में अपनी सेहत का ख़्याल रखें तथा योग, व्यायाम और ध्यान आदि करें।

उपाय: हनुमान चालीसा का पाठ करें।

मकर साप्ताहिक राशिफल

कुंभ

कुंभ राशि के जातकों के लिए बुध पांचवें तथा आठवें भाव का स्वामी है और यह उनके चौथे भाव में अस्त होगा।

करियर के लिहाज से आपको इस अवधि में औसत रूप से फलदायी परिणाम मिलने की संभावना है। इस दौरान आपको अपने करियर में नए लाभ तो प्राप्त होंगे लेकिन हो सकता है कि वे आपके लिए उपयुक्त न हों और आपको असंतुष्टि महसूस हो।

यदि आपका ख़ुद का व्यवसाय है तो आपको इस अवधि में 'न लाभ, न हानि' जैसी स्थिति से गुज़रना पड़ सकता है। ऐसे में अपनी योजनाओं एवं रणनीतियों को व्यवस्थित करना आपके लिए अच्छा रहेगा।

व्यक्तिगत जीवन के लिहाज से इस दौरान आपको अपने परिवार के सदस्यों के साथ संबंध में ग़लतफ़हमियों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं स्वास्थ्य की बात करें तो पैरों में दर्द की शिकायत हो सकती है इसलिए बेहतर रहेगा कि योग, व्यायाम आदि करें।

उपाय: शनिवार के दिन बीमार लोगों को भोजन कराएं।

कुंभ साप्ताहिक राशिफल

मीन

मीन राशि के जातकों के लिए बुध चौथे तथा सातवें भाव का स्वामी है और यह उनके तीसरे भाव में अस्त होगा।

इस दौरान आपको अपनी नौकरी में बदलाव देखने को मिल सकता है। साथ ही विदेश यात्रा भी करनी पड़ सकती है और आपके लिए ऐसी स्थितियां थोड़ी चुनौतीपूर्ण हो सकती हैं। यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो इस दौरान आपको अपनी अपेक्षा से कम लाभ प्राप्त हो सकता है।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो संचार में कमी के कारण जीवनसाथी के साथ संबंध में कुछ समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। ऐसे में ख़ुद को शांत रखते हुए चीज़ों को सुलझाने का प्रयास करें।

स्वास्थ्य के लिहाज से इस दौरान आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में गिरावट देखी जा सकती है, जिसके कारण आपका स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। आपको सलाह दी जाती है कि अपनी सेहत का ख़्याल रखें और खानपान पर विशेष ध्यान दें।

उपाय: बड़ों का आशीर्वाद लें।

मीन साप्ताहिक राशिफल

सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।