• Arun
  • Biren
  • Debolina
  • Vinutha

शुक्र का सिंह राशि में गोचर (17 जुलाई 2021)

सौंदर्य और संतुष्टि के कारक ग्रह शुक्र, राशिचक्र की द्वितीय राशि वृषभ और सप्तम राशि तुला के स्वामी हैं। सबसे परिष्कृत ग्रहों में से एक शुक्र ग्रह प्रजनन प्रणाली, प्रजनन क्षमता आदि को नियंत्रित करते हैं। वैदिक ज्योतिष में गर्मजोशी, प्रेम, रिश्तों, विवाह आदि का कारक माना जाने वाला शुक्र ग्रह सत्रैण प्रकृति का है।

एस्ट्रोसेज वार्ता से दुनियाभर के विद्वान ज्योतिषियों से करें फोन पर बात

शुक्र का सिंह राशि में गोचर

यदि कुंडली में यह ग्रह शुभ अवस्था में है तो जातक को सुख, विलासिता आदि प्राप्त होते हैं। इसके साथ ही यह व्यक्ति को मीठी वाणी, आकर्षण, कलात्मक गुण, सुख और समृद्धि प्रदान करता है। शुक्र ग्रह जल तत्व की कर्क राशि से अग्नि तत्व की सिंह राशि में गोचर करेगा जिससे लोगों की भावनाओं में इस दौरान उफान आ सकता है। जल से अग्नि तत्व की राशि में शुक्र का यह गोचर सुरक्षात्मक व्यक्तियों के जीवन में उत्साह और आक्रामकता लाएगा। शुक्र का गोचर 17 जुलाई 2021 को सुबह 9.13 बजे सिंह राशि में होगा और 11 अगस्त 2021 तक यह इसी राशि में रहेगा, इसके बाद यह बुध के स्वामित्व वाली कन्या राशि में गोचर कर जाएगा।

आइए अब जानते हैं कि सभी 12 राशियों पर इस गोचर का क्या प्रभाव पड़ेगा-

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। इसके अलावा व्यक्तिगत भविष्यवाणी जानने के लिए ज्योतिषियों के साथ फ़ोन पर या चैट पर जुड़े

Click Here to read in English: Venus Transit in Leo (17 July 2021)

मेष

शुक्र का गोचर मेष राशि के जातकों के प्रेम संबंधों, संतान और अध्ययन के पांचवें भाव में होगा। आपकी वाणी, कुटुंब के दूसरे भाव और विवाह के सातवें भाव का स्वामी शुक्र आपके पांचवें घर के गुणों में वृद्धि करेगा। जो लोग प्रेम में पड़े हैं, वो अपने संगी के प्रति तीव्र भावनाएं महसूस करेंगे, आप अपने बंधन को अगले स्तर तक ले जा सकते हैं और इस अवधि के दौरान शादी भी कर सकते हैं। विवाहित जातक भी अपने जीवनसाथी के साथ रोमांटिक समय का आनंद लेंगे और इस दौरान काफी भावुक रहेंगे। जो लोग सिंगल हैं, वे अपने सपनों के राजकुमार/राजकुमारी से मिल सकते हैं, क्योंकि इस अवधि में आप सामने वाले शख्स को अपनी वाणी और वाक्पटुता से रिझा पाने में सक्षम होंगे। यह गोचर इस राशि के छात्रों के लिए अनुकूल परिणाम लेकर आएगा, आपका अपने विषय और अध्ययन के प्रति झुकाव होगा। यह आपकी परीक्षा के दौरान आपके प्रदर्शन को प्रभावित करेगा और आप अच्छे ग्रेड प्राप्त करेंगे। जो छात्र इंटीरियर डिज़ाइनिंग, फैशन डिज़ाइनिंग और फाइन आर्ट्स की पढ़ाई कर रहे हैं, वो रचनात्मक विचारों से भरे होंगे, और आप अपने काम को समय पर पूरा करने में सक्षम होंगे। जो लोग अपने शौक को अपने पेशे के रूप में बदलने की योजना बना रहे हैं, उन्हें इस दौरान इस पर काम करना चाहिए, क्योंकि आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। इसके अलावा, फैशन या डिज़ाइनिंग उद्योग में काम करने वाले इस राशि के जातकों को अपने काम में अच्छे अवसर प्राप्त होंगे और काम के लिए सराहना भी मिलेगी।

उपाय- शुक्रवार के दिन मंदिर में बिना पका हुआ चावल दान करें।

वृषभ

शुक्र आपकी आत्मा, शरीर, स्वास्थ्य के प्रथम भाव और सेवा, संघर्ष और बीमारियों के छठे घर का स्वामी है। वर्तमान में शुक्र ग्रह परिवार और घरेलू सुख-सुविधाओं के आपके चौथे घर में विराजमान होगा। इस गोचर के दौरान आप अपने परिवार के लोगों और उनकी सुख-सुविधाओं के प्रति अधिक झुकाव रखेंगे। आप घरेलू चीजों पर खर्च करेंगे, आप परिवार के सदस्यों पर भी खर्च करेंगे और उन्हें खुश रखने की पूरी कोशिश करेंगे। आपको अपनी माँ के स्वास्थ्य से संबंधित चिंताएँ होंगी, आपको उनकी अच्छी देखभाल करने और चिकित्सकों से सलाह लेने की सलाह दी जाती है। आप इस समय के दौरान संपत्ति से संबंधित कुछ अदालती मामलों में पड़ सकते हैं। जो जातक नौकरी पाने की आशा कर रहे हैं, उन्हें इस अवधि में घर से काम करने के अच्छे अवसर मिलेंगे। शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों को सफलता मिलेगी, क्योंकि विषयों को सीखने और समझने में आपकी ऊर्जा का स्तर बहुत अधिक होगा। साथ ही, वे लोग जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, उनके लिए भी अनुकूल समय होगा। यदि किसी ऋण के स्वीकृत होने की प्रतीक्षा कर रहे हैं, तो यह समय सही है क्योंकि इस गोचर के दौरान आपकी संपत्ति और ऋण का घर सक्रिय होगा, जो आपको आवश्यक ऋण प्राप्त करने में सहायता करेगा।

उपाय- शुक्र होरा के दौरान प्रतिदिन शुक्र मंत्र का जप और ध्यान करें।

मिथुन

शुक्र मिथुन लग्न के लिए एक अनुकूल ग्रह है और आपके प्रेम, संतान और अध्ययन के पांचवें घर का यह स्वामी है। इसके अलावा, यह व्यय, विदेश और विदेश यात्राओं के आपके द्वादश भाव का स्वामी भी है। शुक्र का गोचर आपके साहस-पराक्रम और भाई-बहनों के तृतीय भाव में होगा। व्यवसाय करने वाले इस राशि के जातकों के लिए यह समय अनुकूल होगा क्योंकि उन्हें अपनी कड़ी मेहनत का अच्छा फल प्राप्त होगा, हालांकि आप परिवार या घरेलू मामलों पर पैसा खर्च करने में दुखी होंगे। इस दौरान छोटे भाइयों और बहनों के साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे और वे आपके साथ छोटी यात्रा या लंबी ड्राइव पर जाने की इच्छा जाहिर कर सकते हैं। जो लोग लेखन, ललित कला और साहित्य के क्षेत्र से जुड़े हैं, वे इस दौरान अधिक रचनात्मक होंगे, जो आपको अपने काम को बेहतर तरीके से प्रदर्शित करने में मदद करेगा। इस राशि के सिंगल जातक इस दौरान मिंगल कर सकते हैं, हालांकि प्रेम जीवन में आगे बढ़ने से पहले आपको सामने वाले से दोस्ती करनी चाहिए। आपके पास अपने दोस्तों और सहयोगियों के साथ बिताने के लिए अच्छा समय होगा, आपकी वाणी और व्यक्तित्व इस समय आकर्षक और प्रभावशाली होगा, जो सभी का ध्यान आपकी ओर आकर्षित करेगा। जो लोग प्रेम संबंधों में हैं, उन्हें सावधान रहने की सलाह दी जाती है, क्योंकि आप अपने साथी के प्रति अपने दृष्टिकोण में आक्रामकता देख सकते हैं, जिसकी वजह से संबंध खराब हो सकता है।

उपाय- इस गोचर के लाभकारी परिणाम प्राप्त करने के लिए इस अवधि के दौरान वराहमिहिर की पौराणिक कथाएँ पढ़ें।


करियर से जुड़ी हर समस्या को दूर करने के लिए अभी ऑर्डर करें- कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क

शुक्र, कर्क राशि के जातकों के लिए उनके सुख, माता आदि के चतुर्थ भाव और आय और लाभ के एकादश भाव का स्वामी है। वर्तमान में शुक्र का गोचर आपके कुटुंब, वाणी और संचित धन के द्वितीय भाव में होेने जा रहा है। यह गोचर आर्थिक दृष्टि से बहुत अच्छा है। इसलिए, आप अपने वित्त में प्रचुरता देखेंगे, साथ ही आपकी आय के स्रोतों में भी वृद्धि होगी। यदि कोई दीर्घकालिक निवेश करने की योजना बना रहे हैं, तो समय आपके लिए अनुकूल है। आप इस समय के दौरान अपनी माँ के साथ गर्मजोशी भरा और आरामदायक समय बिता पाएंगे और उनकी इच्छाओं और आवश्यकताओं के प्रति अत्यधिक संवेदनशील होंगे। आप समाज में अच्छा नाम और प्रतिष्ठा अर्जित करेंगे, आपके आस-पास के लोग आपके मीठे-मीठे शब्दों से प्रभावित होंगे। जो लोग पारिवारिक व्यवसाय में हैं, वे अन्य सदस्यों के साथ अच्छा संबंध बनाएंगे, जिससे उनकी ऊर्जा और काम के प्रति जुनून बढ़ेगा। आपको अपने पेशेवर जीवन में अपने मित्र और परिचितों से भी सहायता मिल सकती है, इससे आपको कारोबार में लाभ भी प्राप्त होगा। कुल मिलाकर यह गोचर अवधि कर्क राशि वालों के लिए लाभकारी होगी, क्योंकि वे अपने निजी जीवन में खुश रहेंगे, साथ ही उनका आर्थिक जीवन भी बेहतर होता जाएगा।

उपाय- देवी सरस्वती की आराधना करें और शुक्रवार के दिन उनकी पूजा करें।

सिंह

शुक्र, आपके लिए शक्ति, मेहनत और साहस के तीसरे घर का स्वामी है। इसके अलावा, यह करियर प्रतिष्ठा के आपके दशम भाव का स्वामी भी है। सुंदरता का कारक ग्रह शुक्र सिंह राशि के जातकों के लग्न भाव में गोचर करेगा और विवाह और साझेदारी के सप्तम भाव पर दृष्टि डालेगा। सप्तम भाव शुक्र का ही माना जाता है। सिंह राशि के जातकों के प्रथम भाव में शुक्र का गोचर लोगों के जीवन में सुख और समृद्धिदायक होगा। आप इस अवधि के दौरान अधिक आत्मविश्वास से ओत प्रोत रहेंगे और आपके आसपास के लोग आपके चुंबकीय व्यक्तित्व से प्रभावित होंगे। खाने पीने के प्रति आफका रुझान बढ़ेगा और इस दौरान आप कई तरह के व्यंजनों का स्वाद चख सकते हैं। जो लोग रचनात्मक उद्योग में काम कर रहे हैं, जैसे कि संगीत, डिजाइनिंग, मीडिया, साहित्य, नाटक और कलाएं आदि तो उनके लिए यह गोचर शुभ फल लेकर आएगा। आपका पेशेवर जीवन आगे बढ़ेगा और आप अपने रचनात्मक कार्यों के लिए प्रशंसा पाएंगे। विवाहित जातक अपने रिश्ते में प्यार और गर्मजोशी साझा करेंगे और जीवनसाथी के साथ रोमांटिक डेट पर जा सकते हैं। इस राशि के जो जातक सिंगल हैं उनके दिल में प्यार का उफान होगा और आप कई विपरीत लिंगीयों के प्रति आकर्षित हो सकते हैं।

उपाय- अपने जीवनसाथी को उपहार और इत्र भेंट करें।

कन्या

शुक्र, बुध ग्रह के साथ मित्रतापूर्ण व्यवहार रखता है इसलिए यह ग्रह बुध की स्वामित्व वाली कन्या राशि के लोगों के लिए भी अनुकूल है। शुक्र ग्रह कन्या राशि के धन और परिवार के द्वितीय भाव और भाग्य के नवम भाव का स्वामी है। वर्तमान गोचरीय स्थिति में शुक्र आपके द्वादश भाव में स्थित होगा। इस गोचर के दौरान उन लोगों को मुनाफा होगा जो विदेशों से जुड़ा व्यापार करते हैं। निर्यात से भी इस राशि के जातकों को लाभ हो सकता है। आप अपने क्लाइंट्स को अपने अच्छे सामान और सही समय पर इसके निर्यात से खुश कर सकते हैं। इस दौरान कन्या राशि के जातक खर्चीले हो सकते हैं, आप शानोशौकत की चीजों पर धन खर्च करने से पीछे नहीं हटेंगे, आप अपने लिए या अपने प्रियजनों के लिए महेंगी चीजें खरीद सकते हैं। यदि आप विदेश जाने के इच्छुक हैं तो इस दौरान वीजा आसानी से लग सकता है और विदेश दौरे से आपको लाभ और खुशी मिल सकती है। आप धार्मिक कार्य पर भी इस गोचर के दौरान धन खर्च कर सकते हैं। दान-पुण्य करने की चाहत आपके दिल में रहेगी। आप अपनी माता या घर के सदस्यों के साथ इस दौरान धार्मिक यात्रा पर जा सकते हैं।

उपाय- बुध ग्रह के शुभ फल प्राप्त करने के लिए अपने दाहिनी हाथ की छोटी उंगली में सोने या चांदी में गढ़े अच्छी गुणवत्ता का पन्ना रत्न पहनें।


राजयोग रिपोर्ट से जानें कब खुलेगी आपकी किस्मत और कब आएंगी जीवन में खुशियां

तुला

इस गोचर के दौरान, शुक्र ग्रह आपके ग्यारहवें घर में स्थित होगा। ग्यारहवां घर लाभ का घर होता है और शुक्र ग्रह विलासिता का स्वामी माना जाता है इसलिए इस भाव में शुक्र की स्थिति आम तौर पर शुभ होती है। इस दौरान आप धन संचय करने में आप सफल रहेंगे। आप अच्छे आर्थिक लाभ अर्जित करने में सक्षम होंगे और धन आसानी से आपके पास आता रहेगा। इस समय अपनी इच्छाओं को पूरा करने और खुशी पाने के लिए, आप भौतिकवादी चीजों पर बहुत खर्च करेंगे। अपने साथी की मदद से आप अपने काम में सफलता पा सकते हैं। आप जल्दी से नए दोस्त बना पाएंगे और एक बड़ा सामाजिक दायरा बना पाने में भी कामयाब होंगे, साथ ही आप विपरीत लिंग के कई दोस्त भी बना सकते हैं। जब शुक्र ग्यारहवें घर में बैठा होता है, तो यह पंचम भाव पर सप्तम दृष्टि डालता है, जो भावनाओं और प्रेम का घर कहलाता है। इसका मतलब है कि आप प्रेम के मामलों में थोड़े फ्लर्टी हो सकते हैं। इस समय आपको विदेश जाने का मौका मिल सकता है। आपमें से कुछ लोग वहां बसने की योजना भी बना सकते हैं। आपकी सोच खुली होगी और आप सबकी बातों को सुनेंगे। आप इस समय आध्यात्मिक गतिविधियों में भी व्यस्त हो सकते हैं जिससे आपको मानसिक शांति मिलेगी। आप इस अवधि में यात्रा की योजना भी बना सकते हैं। कुल मिलाकर यह समय आपके लिए अनुकूल रह सकता है।

उपाय- प्रतिदिन दुर्गा चालीसा का पाठ करें।

वृश्चिक

वर्तमान गोचरीय अवस्था में शुक्र ग्रह आपके दशम भाव में स्थित होगा। सिंह राशि में शुक्र अकारक है जिसके कारण वृश्चिक राशि के जातकों को इस गोचर के दौरान मिलेजुले परिणाम मिलेंगे। इस राशि के जो जातक व्यवसाय करते हैं, वो इस दौरान कई लोगों से संपर्क बनाएंगे जोकि उन्हें दुनिया भर में अपने व्यापार को फैलाने में मदद करेगा। यदि आप साझेदारी में काम कर रहे हैं तो आपको सावधान रहना होगा। दूसरी ओर, नौकरी करने वाले इस राशि के जातकों को इस समय थोड़ा सावधान रहने की जरूरत है। इस दौरान आपको कार्यक्षेत्र में होने वाली राजनीति से दूर रहने की सलाह दी जाती है, नहीं तो आप अपनी नौकरी भी खो सकते हैं। आपको अपने सीनियर्स और प्रबंधन से अपने प्रयासों के लिए सराहना प्राप्त नहीं होने के कारण आपको अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। इवेंट मैनेजमेंट में काम करने वाले इस राशि के जातक इस गोचर के दौरान सफलता प्राप्त करेंगे। इस राशि के विवाहित जातकों के जीवन में सामंजस्य बना रहेगा। आप भौतिकवादी चीजों पर खर्च करके जीवन की सुख-सुविधाओं का आनंद लेंगे। आपको इस समय अपने जीवन में किसी नए व्यक्ति पर भरोसा नहीं करना चाहिए क्योंकि कुछ लोग आपके पैसे के लिए आपके जीवन में आने की कोशिश कर सकते हैं। इस दौरान अत्य़धिक सोच-विचार करके आप तनाव की स्थिति में आ सकते हैं, जबकि ऐसा कुछ भी नहीं होगा जिसकी चिंता आपको करनी चाहिए।

उपाय- अपने शयनकक्ष में गुलाब क्वार्ट्ज पत्थर रखें।

धनु

इस गोचर के दौरान धनु राशि के जातकों के लिए शुक्र ग्रह नौवें भाव में होगा। यह समय इस राशि के लोगों के लिए शुभ माना जा सकता है। नवम भाव पिता को दर्शाता है, इस घर में शुक्र का होना दर्शाता है कि आपके पिता के साथ आपके अच्छे संबंध होंगे और आप उनका आशीर्वाद प्राप्त करेंगे। आप मन की शांति के लिए खुद को धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में संलग्न करना चाह सकते हैं। आप कुछ सामाजिक या धर्मार्थ कार्य भी कर सकते हैं और आपको दान-पुण्य करके खुशी मिलेगी। आप धन संचय करने में इस समय सफल रहेंगे और आपको विभिन्न स्रोतों से धन लाभ भी होगा। विवाहितों जातकों के लिए यह समय अच्छा होगा जीवनसाथी का साथ आपको आनंद से भर देगा। आपको अपने बच्चों से भी ख़ुशी मिलेगी। इस समय आपके स्वभाव और संचार कौशल के कारण लोग आपकी ओर आकर्षित होंगे। वित्तीय क्षेत्र में उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्र इस दौरान सफलता पाएंगे। आपको सरकार की नीतियों का भी लाभ मिल सकता है। आप इस समय यात्रा करने की योजना बना सकते हैं और उन स्थानों पर जाने का इरादा कर सकते हैं जहाँ आप विभिन्न संस्कृतियों के बारे में सीख सकें। इस समय आपका रवैया हंसमुख रहेगा।

उपाय- शुक्रवार के दिन सात अनाजों का दान करें।

मकर

इस गोचर के दौरान, मकर राशि के जातकों के लिए शुक्र ग्रह आठवें भाव में विराजमान होगा। यह समय आपके लिए अनुकूल नहीं कहा जा सकता। जो लोग किसी व्यवसाय या नौकरी में हैं उन्हें इस समय बहुत परिश्रम के बाद ही सफलता मिलेगी। हालांकि, अनुसंधान के क्षेत्र में काम कर रहे इस राशि के जातक सफलता पाएंगे। अगर आप बैंक से लोन लेने के लिए संघर्ष कर रहे थे, तो इस समय आप इसे आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। पैतृक संपत्ति से इस राशि के कुछ लोगों को धन लाभ हो सकता है। प्रेम संबंधों में पड़े इस राशि के जातकों को इस गोचर के दौरान लवमेट से तर्क-वितर्क करने से बचना होगा, नहीं तो आपका रिश्ता खराब हो सकता है। विवाहित जातकों को अपने जीवनसाथी के भाग्य से धन लाभ हो सकता है। इस राशि के विद्यार्थी शिक्षा के प्रति अपनी एकाग्रता खो सकते हैं, इसलिए शिक्षा के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए इस राशि वालों को अधिक प्रयास करने होंगे। आप ज्योतिष, अंक ज्योतिष और चिकित्सा जैसे विषयों की ओर इस दौरान रुख कर सकते हैं।

उपाय- रोज सुबह नींबू पानी पिएं।

कुंभ

शुक्र, कुंभ राशि के जातकों के लिए योगकारक ग्रह है, यह सुख और कुटुंब के आपके चौथे घर का स्वामी है। इसके अलावा यह कुंभ राशि वालों के भाग्य, समृद्धि और धर्म के नौवें घर का भी स्वामी है। शुक्र इस दौरान आपके सप्तम भाव में गोचर करेगा। यह अवधि विवाहित जातकों के जीवन में खुशी और संपन्नता लाएगी। जो लोग लव रिलेशनशिप में हैं वो इस दौरान सगाई कर सकते हैं। साथ ही जो लोग अच्छे जीवन साथी की तलाश कर रहे हैं उन्हें भी अच्छा साथी इस दौरान मिल सकता है। आप अपने जीवनसाथी के साथ किसी लंबी यात्रा पर जा सकते हैं। जो लोग साझेदारी में कोई कार्य कर रहे हैं, उनके लिए यह शुभ समय होगा, भाग्य आपके पक्ष में होगा और आपको सभी सौदों में अच्छे परिणाम मिलेंगे। आप अपने परिवार के सदस्यों के साथ अच्छा समय बिताएंगे और घर के लोगों के साथ यात्रा पर भी आप निकल सकते हैं। इस अवधि में आपके परिवार में कोई शुभ समाचार या विशेष अवसर आ सकता है। आप धार्मिक गतिविधियों के प्रति झुकाव रखेंगे और धर्मार्थ ट्रस्टों और धार्मिक स्थानों को दान देंगे। आप इस दौरान आगे बढ़ना चाहेंगे और खुद में सकारात्मक बदलाव लाना चाहेंगे। आपका रवैया दोस्ताना होगा और दूसरों की देखभाव भी आप करेंगे, जिसके कारण आप समाज में अच्छी छवि बना सकते हैं।

उपाय- शाम के समय घर में कपूर जलाएं।

मीन

मीन राशि शुक्र की उच्च राशि है, लेकिन शुक्र ग्रह आम तौर पर गोचरीय अवस्था में मीन राशि के जातकों के लिए मिश्रित परिणाम लाता है। शुक्र आपके भाई-बहनों, साहस-पराक्रम के तीसरे घर का स्वामी है और साथ ही रहस्यों और अनिश्चितताओं के आठवें घर का स्वामी भी है। इस ग्रह का गोचर आपके बीमारियों, ऋणों और प्रतिस्पर्धा के छठे घर में होगा, जो बहुत अनुकूल स्थिति नहीं है। आपको इस अवधि के दौरान अपने स्वास्थ्य की अच्छी देखभाल करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि आप पेट, हार्मोनल असंतुलन और आंखों की परेशानी से पीड़ित हो सकते हैं। इसके अलावा, आपको हाइवे पर सवारी या ड्राइविंग करते समय सावधान रहना होगा नहीं तो आप दुर्घटना का शिकार हो सकते हैं। समझ की कमी के कारण आपको अपने छोटे भाई-बहनों के साथ टकराव का सामना करना पड़ सकता है, साथ ही इस दौरान उनको आपकी बातें चुभ सकती हैं। इसलिए, आपको अपने शब्दों को लेकर सावधान रहना चाहिए, ताकि आपके घर में बड़े झगड़े न हों। इस दौरान आप कर्ज की रकम चुका पाने में भी सक्षम नहीं होंगे, बल्कि अत्यधिक कर्ज में आप डूब सकते हैं। जो लोग तेल और गैस उद्योग, बीमा क्षेत्र और अनुसंधान परियोजनाओं में काम कर रहे हैं, उनके लिए अनुकूल अवधि होगी, क्योंकि आपको अपने कार्यस्थल पर अपनी क्षमताओं को दिखाने के अच्छे अवसर मिलेंगे। कुल मिलाकर देखा जाए तो मीन राशि वालों के लिए यह गोचर मिलाजुला ही होगा, इस दौरान आप बेचैनी का अनुभव कर सकते हैं।

उपाय- शुक्रवार के दिन देवी पार्वती को दूध, चावल और चीनी चढ़ाएँ।


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

ज्योतिष पत्रिका

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।