• Arun
  • Biren
  • Debolina
  • Vinutha

बुध का कर्क राशि में गोचर (25 जुलाई 2021)

बौद्धिक शक्ति का कारक ग्रह बुध व्यक्ति की वाणी, विश्लेषणात्मक कौशल और संचार कौशल को नियंत्रित करता है। यह सूर्य का सबसे नज़दीकी ग्रह है और पारंपरिक रूप से राशिचक्र के तीसरे और षष्ठम भाव का स्वामी है। यह प्रभावशाली ग्रह बुध वायु तत्व की अपनी स्वराशि मिथुन से चंद्रमा के द्वारा शासित जल तत्व की कर्क राशि में प्रवेश करेगा, जो कि काल पुरुष की कुंडली का चतुर्थ भाव है।

करियर से जुड़ी हर समस्या को दूर करने के लिए अभी ऑर्डर करें- कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

बुध का कर्क राशि में गोचर

इस संवेदनशील राशि में बुध का गोचर दर्शाता है कि, इस दौरान लोग अत्यधिक भावुक हो सकते हैं। इस गोचर के दौरान आपकी भावनाएं आपके मूड के अनुसार बदल सकती हैं। बुध का यह गोचर 25 जुलाई 2021 को सुबह 11.31 बजे कर्क राशि में होगा और 9 अगस्त दोपहर 1.23 बजे तक यह सिंह राशि में गोचर कर जाएगा।

आइए जानें सभी राशियों पर इसका प्रभाव-

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। इसके अलावा व्यक्तिगत भविष्यवाणी जानने के लिए ज्योतिषियों के साथ फ़ोन पर या चैट पर जुड़े

Click Here to read in English: Mercury Transit in Cancer (25 July 2021)

मेष

आपके साहस-पराक्रम, भाई-बहनों, संचार के तृतीय भाव और शत्रु, रोग और प्रतियोगिताओं के छठे भाव का स्वामी बुध आपके चतुर्थ भाव में वर्तमान गोचरीय स्थिति में विराजमान होगा। चौथे भाव को सुख, माता आदि का कारक माना जाता है। बुध को शिक्षा से संबंधित ग्रह भी माना जाता है और वर्तमान में यह स्कूली शिक्षा के भाव में होगा जो कि इस राशि के विद्यार्थियों के लिए शुभ रहेगा। आप की तार्किक क्षमता अच्छी होगी और विषयों के प्रति आपकी समझ बेहतर बनेगी, आप किसी भी चीज को जल्दी सीख पाएंगे और यदि कुछ गलत लगे तो उसमें जल्द ही सुधार भी कर पाएंगे। इस राशि के जो विद्यार्थी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं उनके लिए भी समय अच्छा रहेगा। इस दौरान माता के स्वास्थ्य को लेकर कुछ चिंताएं आपको हो सकती हैं उनको त्वचा से संबंधित एलर्जी होने की संभावना है इसलिए उनका ख्याल रखें। यदि आवश्यक हो तो उनका मेडिकल चेकअप भी अवश्य कराएं। इस दौरान घर के कुछ सदस्यों के साथ आपके वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। इस दौरान आप अपनी निजी जिंदगी में व्यस्त रहेंगे और घर के सभी मामलों को सुलझाने की कोशिश करेंगे। जो जातक नौकरी पेशा हैं और तबादले की राह देख रहे हैं उनके सपने भी इस दौरान पूरे हो सकते हैं। इस राशि के जो जातक सेल्स, मार्केटिंग और विज्ञापन क्षेत्र में काम करते हैं उनको इस गोचर के दौरान लाभ की प्राप्ति होगी। कुल मिलाकर देखा जाए तो मेष राशि के जातकों के लिए यह गोचर मिलाजुला रहेगा।

उपाय- भगवान वामन की कथा सुनें और सुनाएं, इससे आपको शुभ फल मिलेंगे।

वृषभ

इस गोचर के दौरान बुध ग्रह जोकि आपके दूसरे और पांचवें घर का स्वामी है, आपके साहस, भाई-बहन और इच्छाशक्ति के तृतीय भाव में यानि कर्क राशि में विराजमान होगा। तीसरा भाव आपके कौशल और संचार का प्रतिनिधित्व भी करता है। यह उन लोगों के लिए अनुकूल समय होगा जो संचार क्षेत्र में काम कर रहे हैं जैसे कि विक्रेता, पत्रकार, रिपोर्टर, लेखक, वकील, या शिक्षा और परामर्श क्षेत्र में काम करने वाले लोग, बुध बुद्धि का प्रतीक ग्रह है। इस समय, वृषभ राशि के लोग अपनी बातचीत के दौरान बहुत विनम्र होंगे जिससे आसपास के लोग आकर्षित होंगे। वहीं, नवम भाव पर भी बुध की दृष्टि होगी। ज्योतिषीय रूप से, इसका मतलब है कि यह समय उन छात्रों के लिए भी अनुकूल होगा जो विदेशों में उच्च शिक्षा प्राप्त करने की इच्छा रखते हैं, इस राशि के विद्यार्थियों की विदेश जाने की इच्छा पूरी हो सकती है। आपको अपने सामाजिक दायरे में प्रसिद्धि मिलेगी। आप अपने भाई-बहनों और परिचितों के साथ इस समय छोटी दूरी की यात्रा की योजना भी बना सकते हैं। आप सामाजिक या धर्मार्थ कार्यों में भी शामिल हो सकते हैं। हालाँकि इस अवधि में आप किसी वजह से मानसिक रूप से तनावग्रस्त हो सकते हैं। योग और ध्यान को अपनी जीवनशैली में लाने से आपको तनाव कम करने में मदद मिलेगी। जो अपना कारोबार करते हैं उनके लिए भी यह समय लाभदायक सिद्ध हो सकता है।

उपाय: इस गोचर के दौरान पक्षियों को दाना डालना शुभ फल देगा।

मिथुन

कर्क राशि में अपने गोचर के दौरान बुध ग्रह मिथुन राशि के जातकों के द्वितीय भाव में विराजमान होगा। यह घर धन-संपत्ति का प्रतिनिधित्व करता है। मिथुन राशि के जातकों के द्वितीय भाव का स्वामी चंद्रमा है, चंद्रमा, बुध को अपना सहयोगी मानता है, लेकिन बुध चंद्रमा को अपना शत्रु मानता है। बुध ग्रह के चंद्रमा के घर में होने से आप आर्थिक रूप से कुछ परेशानियों का सामना कर सकते हैं। हालांकि, अपने संचार कौशल जैसे वाणी और लेखन के जरिये आप अपने पेशेवर जीवन में धन की प्राप्ति कर सकते हैं। इस समय आपके कूटनीतिक कौशल में सुधार होगा। विवाहित जातकों की बात की जाए तो आप अपने ससुराल पक्ष से इस दौरान लाभ प्राप्त कर सकते हैं। आपको अपनी माँ से भी सहयोग मिलेगा। आपका साथी आपके समर्थन से पेशेवर जीवन में आगे बढ़ेगा। काम को सही तरीके से करने की आप पूरी कोशिश करेंगे और इस दौरान इस राशि के कुछ नौकरी पेशा लो विदेश यात्रा की योजना भी बना सकते हैं। व्यवसायी लोग अपने काम में और अधिक नवीनता लाने की कोशिश करेंगे जिससे उनके व्यवसाय को और अधिक फलने-फूलने में मदद मिल सके। यदि आप किसी भी चुनौती का सामना करते हैं तो उसे नियम अनुसार सुलझाने की कोशिश करेंगे। आपके पिता इस समय बीमार हो सकते हैं, इसलिए आपको उनका विशेष ध्यान रखना चाहिए, यदि आवश्यक हो तो किसी अच्छे चिकित्सक से सलाह लें।

उपाय- रोज भगवद गीता पढ़ें।

कर्क

आपके तृतीय और द्वादश भाव का स्वामी ग्रह इस गोचर के दौरान आपके लग्न यानि प्रथम भाव में विराजमान होगा। इस राशि के जो लोग व्यवसाय में हैं उनके लिए यह समय बहुत अनुकूल रहेगा। आपकी ताकत और बढ़ेगी। आप अपने कार्यस्थल पर बहुत अच्छा प्रदर्शन करेंगे जिसके लिए आपके वरिष्ठ भी आपकी सराहना करेंगे। आप समाज में सम्मान भी प्राप्त करेंगे। विदेश यात्रा के भी अच्छे अवसर बनेंगे। आपको अपने भाई-बहनों का ध्यान रखना होगा क्योंकि वे इस समय बीमार पड़ सकते हैं। आपको आर्थिक रूप से सावधान रहना होगा क्योंकि आप एक बेहतर जीवन शैली की इच्छा रखेंगे जिसके लिए आप इस समय भौतिकवादी चीजों पर खर्च कर सकते हैं। प्रथम भाव में विराजमान बुध आपके सप्तम भाव पर भी दृष्टि डालेगा। इसका अर्त है कि आपको साझेदारी में व्यापार करते समय सावधानी बरतनी होगी क्योंकि आपका साथी इस समय आपको धोखा दे सकता है। इस गोचर के दौरान आप जिज्ञासू होंगे और नई जानकारियों और विचारों को जानने की कोशिश करेंगे, इसलिए इस अवधि में आप अपने कम्फर्ट जोन से निकलकर कुछ और चीजों को आजमा सकते हैं। आप इस दौरान बीतचीत के दौरान अच्छे स्रोता नहीं होंगे जो आपकी समस्या का कारण बन सकता है। इस दौरान आप सीधे-सीेधे अपनी बातों को लोगों के सामने रख सकते हैं जिससे कुछ लोग आपके बारे में गलत विचार बना सकते हैं।

उपाय- बुध बीज मंत्र का दिन में 108 बार जप करें।


एस्ट्रोसेज वार्ता से दुनियाभर के विद्वान ज्योतिषियों से करें फोन पर बात

सिंह

सिंह राशि के जातकों के द्वितीय और एकादश भाव का स्वामी वर्तमान गोचर में उनके द्वादश भाव में विराजमान होगा। द्वादश भाव हानि, बुरे स्वास्थ्य, आध्यात्मिकता का प्रतिनिधित्व करता है। इस वजह से, इस समय, आप बहुत ही राजसी जीवन शैली अपनाने की कोशिश करेंगे और भौतिकवादी चीजों पर खर्च करेंगे, इस वजह से आप आर्थिक रूप से थोड़े अस्थिर हो सकते हैं। आप अदालत के मामलों में भी पैसा खर्च कर सकते हैं, या अपने दुश्मनों से जीतने के लिए भी पैसा खर्च कर सकते हैं। आपको परिवार के किसी सदस्य के अस्पताल में भर्ती होने पर भी खर्च करना पड़ सकता है। आपके धन के लगातार खर्च होने के कारण भी आप तनाव में आ सकते हैं। यह समय आपके लिए बहुत चुनौतीपूर्ण समय हो सकता है। आपको अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना होगा क्योंकि आप इस समय बीमार हो सकते हैं। आपको इस समय कुछ चिंताएं भी हो सकती है, जिससे बचने के लिए आप अपनी जीवनशैली में योग और ध्यान को शामिल कर सकते हैं। आपको अपने आहार में अधिक फल और सब्जियां लेने की सलाह दी जाती है, जितना हो सके जंक फूड खाने से बचें। इसके अलावा, इस बारे में भी सावधान रहें कि आप अपने रहस्यों को किसके साथ साझा कर रहे हैं। इस समय, आपके विरोधी सक्रिय होंगे, इसलिए आपको उनसे सावधान रहना चाहिए। आपको इस समय अपने बड़े भाई-बहनों का अधिक सहयोग नहीं मिलेगा। विवाहित जातकों के दांपत्य जीवन में कुछ विवाद हो सकते हैं। इस समय आत्मविश्वास बनाए रखने से आपको सफलता की ओर बढ़ने में मदद मिल सकती है।

उपाय- बुधवार के दिन विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें।

कन्या

आपके प्रथम औऱ दशम भाव का स्वामी ग्रह बुध इस दौरान आपके एकादश भाव में विराजमान होगा। इस दौरान आप अपने व्यक्तित्व में सुधार देखेंगे जो आपके आस-पास के सभी लोगों को आकर्षित करेगा। आपकी बुद्धिमत्ता और तार्किक सोच अच्छी होगी, जो आपके कार्यक्षेत्र में आपकी मदद करेगी। कुछ जातक अपनी बुद्धिमत्ता का उपयोग धोखाधड़ी जैसी गतिविधियों में शामिल होने के लिए कर सकते हैं, आपको सलाह दी जाती है कि कोई भी गलत काम करने से बचें। एकादश भाव में बैठे बुध की दृष्टि मानसिकता के पांचवें भाव पर होगी, जिसका अर्थ है कि आप इस लड़-झगड़ सकते हैं। आप सुख पाने की इच्छा करेंगे, उसी को पूरा करने के लिए आप भौतिकवादी चीजों पर खर्च कर सकते हैं, ऐसा करना आपको आर्थिक रूप से प्रभावित कर सकता है। ग्यारहवां घर लाभ का घर है, जिसका अर्थ है कि आपको कार्यक्षेत्र में अपने सहयोगियों से समर्थन मिलेगा। आप इस समय अपने दुश्मनों को परास्त कर देंगे। आप अपने संचार कौशल के साथ समाज में सम्मान प्राप्त करेंगे। आपको अपने बच्चों से भी ख़ुशी मिलेगी। विद्यार्थी इस दौरान विज्ञान और अनुसंधान के विषयों की ओर आकर्षित हो सकते हैं। इस समय सामाजिक कार्य करने में भी आपकी रुचि हो सकती है जिससे आपको आंतरिक शांति मिलेगी।

उपाय- मंगलवार के दिन मंदिर में हरी दाल दान करें।


राजयोग रिपोर्ट से जानें कब खुलेगी आपकी किस्मत और कब आएंगी जीवन में खुशियां

तुला

वर्तमान गोचर के दौरान आपके द्वादश और नवम भाव के स्वामी ग्रह बुध आपके दशम भाव यानि कर्क राशि में विराजमान होंगे। जो लोग नौकरी में हैं उन्हें काम के लिए विदेश यात्रा करनी पड़ सकती है। जो लोग विदेशों से जुड़ा व्यापार कर रहे हैं, वे भी अपने व्यापार को फलते-फूलते होते देखेंगे। आप इस समय विदेश में बसने की योजना भी बना सकते हैं। आप अपने कार्यस्थल पर राजनीति का सामना कर सकते हैं, आपको ऑफिस में होने वाली राजनीति से दूर रहने की सलाह दी जाती है। आप अपने संपत्ति- जैसे कि अपने लिए घर में निवेश करने की योजना बना सकते हैं, या एक नया वाहन खरीदने की योजना बना सकते हैं। पारिवारिक जीवन पर नजर डालें तो आपको अपने पिता के साथ संबंध सुधारने का प्रयास करना चाहिए। आपकी सोच इस समय बहुत सकारात्मक होगी, और आप संतोष महसूस करेंगे। आप अपने विरोधियों पर हावी रहेंगे। यदि आप अपने पिता के व्यवसाय में हैं, तो आपको सफलता मिलेगी। आप इस समय आध्यात्मिक या धार्मिक कार्यों में भी शामिल हो सकते हैं। समाज में आपका सम्मान बढ़ेगा। आपको रिश्तेदारों और दोस्तों का सहयोग मिलेगा, जो आपको सफलता की ओर ले जाने में मदद करेगा। आपको सरकार की नीतियों का भी समर्थन मिलेगा। इस समय, आपको अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना होगा क्योंकि आप सर्दी, खांसी और बुखार से पीड़ित हो सकते हैं।

उपाय- बुधवार के दिन भगवान गणेश को दूर्वा चढ़ाएं।

वृश्चिक

बुध ग्रह आपके आठवें और ग्यारहवें भाव का स्वामी है जो कि वर्तमान गोचरीय अवस्था में आपके नवम भाव में विराजमान होगा। इस गोचर के दौरान, आप भाग्यशाली रहेंगे और अपनी किस्मत और भाग्य की मदद से धन प्राप्त करेंगे। आप पैतृक संपत्ति से भी लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ ही यदि आप लेखन, संपादन, गायन जैसे व्यवसाय या पेशे में हैं तो धन लाभ हो सकता है। इस दौरान किसी भी कार्य में आपको सफलता तभी मिलेगी जब उससे जुड़ी रिसर्च आप करेंगे। इस समय आपके जीवन के प्रति आपका दृष्टिकोण सकारात्मक होगा। हालांकि आप अनावश्यक चीजों पर अपना समय बर्बाद कर सकते हैं। आप जो कुछ भी करते हैं उसके प्रति दृढ़-संकल्प होंगे। हालाँकि आप इस समय समाज में कुछ प्रसिद्धि खो सकते हैं, इसलिए आपको सामाजिक स्तर पर सावधान रहने की आवश्यकता है। आप अपने धार्मिक विचारों के समर्थन में हिंसक भी हो सकते हैं। इसलिए, यह सलाह दी जाती है कि आपको अपनी किसी भी धारणा को किसी पर नहीं थोपना चाहिए। हालांकि यदि आप अपनी बातों को शांतिपूर्ण तरीके से समझा पाएं तो सफल हो सकते हैं। विदेश जाकर शिक्षा अर्जित करने की कोशिश कर रहे विद्यार्थियों को सफलता मिल सकती है। इस राशि के विद्यार्थी किसी भाषा में उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।

उपाय: दुर्गा स्तोत्रम का नियमित रूप से पाठ करें, क्योंकि यह आपके जीवन की बाधाओं को दूर करेगा।

धनु

आपके सप्तम और दशम भाव का स्वामी ग्रह बुध वर्तमान गोचर के दौरान आपके अष्टम भाव में विराजमान होगा। यह समय आपके लिए अनुकूल नहीं कहा जा सकता। नौकरी करने वाले इस राशि के जातकों को इस दौरान कई चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, और व्यवसायी लोगों को कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। धन संचय करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। आपको किसी बाहरी मुल्क में काम करने का मौका भी मिल सकता है। कुछ जातकों को पैतृक संपत्ति से लाभ हो सकता है। ऐसी नौकरी करने वाले लोग जो अपने पेशे के जरिये लोगों की देखभाल करते हैं या मदद करते हैं, उन्हें इस दौरान लाभ प्राप्त होगा। साथ ही, आपका दिमाग इस समय बहुत तेज गति से काम करेगा इसलिए जो लोग खुफ़िया सेवाओं में हैं उन्हें सफलता मिलने की संभावना है। आप इस दौरान भौतिक चीजों के प्रति झुकाव महसूस कर सकते हैं। विवाहित जातकों को अपने जीवनसाथी के साथ कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, जिसके लिए आपको सलाह दी जाती है कि उनके साथ हर मसले को धैर्य के साथ हल करने की कोशिश करें । यदि किसी वजह से आप चिंतित हैं तो अपने घर वालों के साथ उस बात को साझा करें, यह तनाव को कम करने में आपकी मदद करेगा।

उपाय- बुधवार को किन्नरों का आशीर्वाद लें।

मकर

मकर राशि के जातकों के षष्ठम और नवम भाव का स्वामी ग्रह बुध वर्तमान गोचर में उनके विवाह और साझेदारी के सप्तम भाव में विराजमान होगा। छठा घर झगड़े, बीमारियों और प्रतिस्पर्धा का प्रतिनिधित्व करता है, जबकि नौवां घर समृद्धि, शुभ घटनाओं और भाग्य का कारक है। इस गोचर की अवधि के दौरान आपको सतर्क रहने और अपने जीवनसाथी की अच्छी देखभाल करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि वे बीमार पड़ सकते हैं। साथ ही, आपको एक-दूसरे को समझने के लिए एक साथ समय बिताना चाहिए इससे रिश्ता मजबूत होगा, क्योंकि आप दोनों के बीच झगड़े और बहस होने की संभावना है। इस राशि के जो जातक साझेदारी में व्यापार कर रहे हैं उन्हें इस दौरान साझेदार से बात करते समय सावधानी बरतनी चाहिए, इस दौरान उनसे मतभेद होने की संभावना है और साथ ही आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला भी चल सकता है। इस राशि के जो जातक वकालत में हैं उनके लिए समय अच्छा होगा, आप अपनी बातें साबित करने में कामयाब होंगे, अपने ग्राहकों को समझाने और बेहतर कमाने के अच्छे अवसर भी आपको मिलेंगे। इस राशि के सिंगल जातक भाग्यशाली हो सकते हैं और इस अवधि के दौरान अपने सपनों के राजकुमार या राजकुमारी से मिल सकते हैं, हालांकि, आपको सलाह दी जाती है कि जल्दबाजी में कोई निर्णय न करें और अंतिम निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले कुछ समय उनके साथ बिताएं। यदि संपत्ति की खरीद के लिए लोन या ऋण लेना चाहते हैं तो समय अनुकूल है आप अच्छी डील कर सकते हैं।

उपाय- बुध ग्रह के शुभ फल प्राप्त करने के लिए बुधवार के दिन छोटी कन्याओं को हरी चूड़ियाँ दान करें।

कुंभ

आपके पंचम और अष्टम भाव का स्वामी ग्रह बुध इस दौरान आपके षष्ठम भाव में गोचर करेगा। यह अवधि उन छात्रों के लिए अनुकूल है जो प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल होने वाले हैं, क्योंकि इस दौरान आपका लेखन कौशल अच्छा होगा, साथ ही अपने विषय पर आपकी अच्छी पकड़ होगी। शोध कर रहे छात्रों की एकाग्रता बहुत अच्छी नहीं रहेगी, उन्हें पढ़ाई में कुछ बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। आपको इस अवधि के दौरान अपने स्वास्थ्य की अच्छी देखभाल करने की सलाह दी जाती है क्योंकि आपकी प्रतिरोधक क्षमता अच्छी नहीं होगी और आपको खराब खाने से एलर्जी, नींद की बीमारी और फ्लू होने का खतरा होगा। पेशेवर जातकों के जीवन में कुछ परिवर्तन आ सकते हैं, जो जातक नौकरी में तबादले की उम्मीद लगाए बैठे थे उनकी उम्मीद पूरी हो सकती है। जो लोग नौकरी बदलना चाहते हैं, उन्हें अच्छे ऑफर्स की तलाश करनी चाहिए, क्योंकि इस गोचर के दौरान स्विच करने की अच्छी संभावनाएं हैं। आपको किसी भी तरह केे निवेश या पैसा उधार देते समय इस दौरान सतर्क रहना होगा, नुकसान होने की संभावना है। पेशेवर जीवन में सफलता पाने के लिए इस राशि के जातकों को इस दौरान कठिन परिश्रम करने की आवश्यकता होगी। आपको अपने बच्चों की वजह से कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि इस दौरान उन्हें चोट लगने का खतरा होगा, इसलिए उनका ख्याल रखें।

उपाय- तुलसी का पेड़ लगाएं और उसकी नियमित पूजा करें।

मीन

मीन राशि के जातकों के लिए बुध माता, सुख, भूमि आदि के चौथे और विवाह, साझेदारी के सप्तम भाव का स्वामी है। इस गोचर के दौरान बुध ग्रह संतान, पढ़ाई, प्रेम-प्रसंग आदि के आपके पंचम भाव में गोचर करेगा। बुध ग्रह की यह स्थिति इस राशि के जातकों लिए मिश्रित परिणाम लाएगी। जो लोग नौकरी कर रहे हैं या व्यवसाय में हैं, उनके लिए यह सामान्य से अच्छा समय होगा। हालांकि, आपको कार्यक्षेत्र में शांत रवैया रखने और आक्रामक बनने से बचने की जरूरत है। आप अपने पारिवारिक जीवन को बेहतर ढंग से प्रबंधित कर पाएंगे और परिवार में हर कोई एक-दूसरे के साथ तालमेल बनाकर रहेगा। यह समय उन जातकों के लिए भी अनुकूल है जो प्रेम संबंध में हैं, आप अपने संगी और आपका संगी आपकी संगत का आनंद लेगा। आप में से कुछ जातक संपत्ति में निवेश करने की योजना बना सकते हैं। धार्मिक या आध्यात्मिक कार्यों में आपका झुकाव हो सकता है। इस समय आपको थोड़ा सावधान रहना होगा क्योंकि आपको चोट लग सकती है। आपको इस समय अच्छा आहार लेने की सलाह दी जाती है, प्रतिदिन के भोजन में फल और सब्जियों को शामिल करें। विद्यार्थी अपनी शिक्षा में अच्छा प्रदर्शन करेंगे और अच्छे परिणाम प्राप्त करेंगे।

उपाय- भगवान विष्णु की कथा पढ़ने या सुनने से शुभ फल की प्राप्ति होगी


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

ज्योतिष पत्रिका

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।