• Arun
  • Biren
  • Debolina
  • Vinutha

बुध का सिंह राशि में गोचर (09 अगस्त, 2021)

बुध ग्रह व्यवसाय, वाणी, शिक्षा, बुद्धि आदि के कारक ग्रह माने जाते हैं। बुध को ग्रहों के युवराज का दर्जा प्राप्त है, जो किसी कुंडली में मजबूत अवस्था में होने पर, जातक को तार्किक बुद्धि, गणितीय विषयों में अच्छी समझ और अच्छा व्यवसायी बनाते हैं। वहीं इसके विपरीत यदि बुध ग्रह किसी कुंडली में अशुभ अवस्था में हो तो, जातक को त्वचा संबंधी विकार होने की आशंका बढ़ सकती हैं और साथ ही ऐसा व्यक्ति निजी जीवन व कार्यस्थल पर, स्पष्टता से लोगों के सामने अपनी बात रख पाने में भी असमर्थ होता है।

एस्ट्रोसेज वार्ता से दुनियाभर के विद्वान ज्योतिषियों से करें फोन पर बात

बुध का सिंह राशि में गोचर

गोचरकाल की अवधि

अब यही बुद्धि के देवता बुध, चंद्र की राशि से निकलकर सूर्य की राशि में अपना गोचर करने जा रहे हैं। जिसके परिणामस्वरूप, बुध का गोचर 09 अगस्त 2021 को देर रात 01 बजकर 23 मिनट पर कर्क से सिंह राशि में होगा और इस राशि में बुध ग्रह 26 अगस्त 2021, सुबह 11 बजकर 08 मिनट तक रहेंगे और फिर अपना पुनः गोचर करते हुए, कन्या राशि में विराजमान हो जाएंगे। ऐसे में बुध के इस गोचर का प्रभाव, सभी 12 राशियों पर किसी-न-किसी रूप से पड़ेगा। इस गोचर से आपकी राशि किस तरह प्रभावित होगी आईए जानते हैं।

कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। इसके अलावा व्यक्तिगत भविष्यवाणी जानने के लिए ज्योतिषियों के साथ फ़ोन पर या चैट पर जुड़े

Read in English: Mercury Transit in Leo (09 August 2021)

मेष

बुध मेष राशि के जातकों के तीसरे और छठे भाव के स्वामी होकर, इस गोचर के दौरान आपके पंचम भाव में विराजमान होंगे। इस भाव से बुद्धि, संतान, ज्ञान, आदि के बारे में विचार किया जाता है। ऐसे में इस गोचर के दौरान आप अपने प्रयासों को लेकर, अधिक उत्साहित दिखाई देंगे। साथ ही आप दूसरों को अपनी और आकर्षित करने में भी सफल रहेंगे। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए समय उत्तम रहेगा, क्योंकि ये अवधि आपकी सोचने-समझने की शक्ति में सुधार लेकर आएगी। इस कारण आप अपना मन पढ़ाई की ओर, केंद्रित रखने में सफल रहेंगे और आने वाली परीक्षाओं में भी आपको सफलता मिल सकेगी।

कार्यक्षेत्र को देखें तो, नौकरी पेशा जातकों को भी इस दौरान, उच्च पद प्राप्त करने के अवसर मिलेंगे। क्योंकि यह समय उन्हें अपने वरिष्ठ अधिकारियों और अपने अधीन कार्य कर रहे कर्मियों द्वारा, सराहना देने का कार्य करेगा। जिसके कारण उन्हें प्रोमोशन मिलने की संभावना बढ़ेगी। यदि आप किसी सेवा विभाग में कार्यरत हैं तो भी, यह समय आपके जीवन में लाभ लेकर आ रहा है। क्योंकि इस दौरान आप अपने ज्ञान और कौशल के चलते, अपने व्यवसाय में विस्तार करने में पूरी तरह सक्षम होंगे। यह समय आपको अपने विचारों और सही रणनीतियों को अपनाते हुए, आपको उससे लाभ प्राप्ति के योग भी दर्शा रहा है।

प्रेम संबंधों की बात करें तो, प्रेम में पड़े जातकों को इस गोचर के दौरान अपने रिश्ते में किसी ग़लतफहमी या विवाद का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में अपने रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए, जितना संभव हो प्रियतम के साथ समय व्यतीत करें और उन्हें समझने का प्रयास करें। गोचरकाल का ये समय आपकी संवाद शैली में भी वृद्धि लेकर आएगा, जिससे आप दूसरों के समक्ष खुलकर अपनी बात रखते हुए उन्हें अपना दोस्त बनाने में सफल रहेंगे।

उपाय- बुधवार के दिन व्रत करना, आपके लिए लाभदायक रहेगा।

वृषभ

बुध वृषभ राशि के जातकों के दूसरे और पंचम भाव के स्वामी होते हैं, और अपने इस गोचर के दौरान वो आपके चौथे भाव में विराजमान होंगे। इस भाव से माता, आवास, सुख-सुविधाओं के बारे में भी विचार किया जाता है।

इस दौरान आप अपने शब्दों और भाषण को लेकर स्पष्ट होंगे। साथ ही आपकी वाणी में भी सकारत्मकता देखी जाएगी, जिसके परिणामस्वरूप आप दूसरों को अपनी ओर आकर्षित करने में सफल रहेंगे। छात्रों के लिए समय अनुकूल ही रहेगा, क्योंकि उनके बौद्धिक स्तर में विकास होगा। जिससे वो हर विषयों को सीखने और उन्हें याद रखने में सक्षम होंगे। इससे उन्हें अपनी परीक्षा आने वाली परीक्षा में भी, अच्छे परिणाम प्राप्त हो सकेंगे।

पारिवारिक वातावरण के लिहाज से भी, समय बेहतर रहेगा। क्योंकि आप अपने परिवार के दूसरे सदस्यों से, अपने संबंध बेहतर करने में सफल होंगे। ये अवधि आपको परिवार के साथ अच्छा समय व्यतीत करने में मदद करेगी और अपने परिवार के साथ कुछ मजाकिया पल साझा करते दिखाई देंगे। जो लोग प्रेम संबंधों में है, उन्हें भी इस गोचरकाल के दौरान अपने प्रेमी से आनंद मिलेगा। साथ ही वो अपने प्रियतम को, अपने परिवार से मिलाने का फैसला भी ले सकते हैं।

जो जातक शिक्षा, उद्योग, सेल्स और मार्केटिंग या सलाहकार के रूप में कार्यरत हैं, उनके लिए ये समय उत्तम रहेगा। अपने भाषण और वाणी पर आपका, गजब का नियंत्रण होगा। जिसके कारण आप लोगों को समझाने और, उन्हें अपनी सेवा व उत्पादकों को बेचने में सफल रहेंगे। ये गोचर आपको अपनी मां से जुड़ने में भी मदद करेगा, जिससे आप दोनों का रिश्ता और मजबूत बन सकेगा।

उपाय- घर पर एक तुलसी का पौधा लगाएँ और निरंतर उसमें जल चढ़ाएं।

मिथुन

बुध का ये गोचर, मिथुन राशि वाले जातकों के लिए विशेष महत्वपूर्ण रहने वाला है। क्योंकि बुध आपकी राशि के ही स्वामी होते हैं और ऐसे में बुध आपके लग्न और चतुर्थ भाव के स्वामी होकर, आपकी राशि से तृतीय भाव में गोचर करेंगे। इस भाव से आपके साहस, पराक्रम, छोटे भाई-बहनों से आपके संबंध, लघु यात्राएं आदि के बारे में विचार किया जाता है।

इस दौरान आप स्वंय को, शारीरिक रूप से स्वस्थ रखने में खासा रुचि लेंगे। इसके लिए आप बढ़-चढ़कर, खेल कूद और व्यायाम, जैसी गतिविधियों में भी भाग ले सकते हैं। यह समय आपको सामान्य रूप से भी सक्रिय करेगा और आप, दूसरों के साथ जमकर गपशप करते दिखाई देंगे।

इस गोचरकाल में आप अपने दोस्तों और परिचितों के साथ, किसी छोटी दूरी की यात्रा पर जाने की योजना बना सकते हैं, जहां आपको नए दोस्त बनाने का अवसर भी मिलेगा। आपके भाई-बहन के साथ भी आपका रिश्ता मजबूत होगा, जिसके परिणामस्वरूप आपको अपने कई कार्यों को पूरा करने में उनसे सहयोग मिल सकता है। यह समय आपको अपने भाई-बहनों के प्रति, बेहद संवेदनशील बनाएगा और आप उनके साथ अच्छा समय व्यतीत करना पसंद करेंगे।

लेखक, साहित्यकार और संपादकों के लिए, यह अवधि भाग्य का साथ लेकर आएगी। क्योंकि उन्हें अपने लेखन कौशल के माध्यम से, ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने में सफलता मिलेगी। वहीं जो लोग खेल या खेल जगत से जुड़े हैं, उनके लिए भी समय विशेष अनुकूल रहेगा। वो इस दौरान अधिक साहसी और ऊर्जावान होंगे, जिससे उन्हें अपना अभ्यास करने और बेहतर प्रदर्शन देने में मदद मिलेगी।

कार्यक्षेत्र की बात करें तो, नौकरी पेशा जातकों को इस दौरान इच्छानुसार ट्रांसफर मिल सकता है या संभावना है कि उन्हें किसी काम के सिलसिले में घर से बाहर ही रहना पड़े। साथ ही व्यापारी जातकों को भी अपने अच्छे व सार्वजनिक संबंध बेहतर करते हुए, अपने व्यापार से नए ग्राहक जोड़ने के लिए लगातार यात्रा पर जाना पड़ सकता है।

उपाय- बुध ग्रह के शुभ परिणाम प्राप्त करने के लिए, अपने दाहिने हाथ की छोटी उंगली में सोने या चाँदी में एक अच्छी गुणवत्ता वाला पन्ना पहनें।


करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क

बुध आपके तीसरे और द्वादश भाव का स्वामी होकर, आपके दूसरे भाव में विराजमान होंगे। यह भाव आपकी संपत्ति, परिवार, वाणी, उद्देश्य आदि के बारे में जानकारी देता है। ऐसे में यह गोचर अचानक आपके ख़र्चों में वृद्धि लेकर आएगा, जिसके चलते आप घरेलू सामान और बिजली के उपकरणों पर जमकर खर्च करते दिखाई देंगे।

आपके संचार कौशल में भी वृद्धि होगी और आप अपने परिवार के साथ अपने संबंध बेहतर कर सकेंगे। हालांकि इस दौरान आपको स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ समस्या उत्पन्न होने की आशंका है, ऐसे में उन्हें विशेषरूप से अपने गले से जुड़े विकार को लेकर सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है। छात्रों के लिए भी समय अनुकूल रहेगा। उनका एकाग्रता का स्तर बेहतर होगा, जिससे वो अच्छी तरह से हर विषय को समझने और उसे याद रखने में सक्षम होंगे। कई विषयों पर अधिक ज्ञान प्राप्त करने में भी, आपकी रुचि अधिक होगी और आप इसके लिए पुस्तकें पढ़ते दिखाई देंगे।

ये गोचर आपके स्वभाव को मजाकिया बनाएगा और चुटकुले सुनाते हुए, अपने दोस्तों और परिचितों के बीच प्रसिद्ध होंगे। वहीं कार्यक्षेत्र की बात करें तो, वो जातक जो किसी तरह के पारिवारिक व्यवसाय से जुड़े हैं उनके लिए भी अवधि अनुकूल होगी। क्योंकि इस दौरान आपके परिवार के सदस्यों का आपको सहयोग तो मिलेगा ही, साथ ही उनके साथ आपका बेहतर तालमेल आपको कई बड़े निर्णय लेने में मदद करेगा और ये निर्णय आपके व्यवसाय के विकास के लिए फ़ायदेमंद सिद्ध होगा।

यदि आप निवेश से जुड़ा कोई बड़ा फैसला लेने की योजना बना रहे थे तो, यह समय थोड़ा प्रतिकूल रहने वाला है। ऐसे में अभी किसी भी तरह के निवेश से बचें, अन्यथा आपको धन हानि संभव है। इसके साथ ही सफलता पाने के लिए आप अपने पेशेवर जीवन में अधिक प्रयास करने के लिए भी, इस समय अपने आस-पास के लोगों से ज्यादा प्रोत्साहित होंगे।

उपाय- बुधवार के दिन महिला सेवकों को हरी पत्तेदार सब्जियों का दान करें।

सिंह

सिंह राशि वालों के लिए बुध ग्रह उनके दूसरे और एकादश भाव के स्वामी होते हैं, जो इस गोचर के दौरान आपकी राशि के लग्न भाव में विराजमान होंगे। इसके परिणामस्वरूप बुध आपकी राशि में “धन योग” का निर्माण करते हुए, बेहद मजबूत स्थिति में उपस्थित होंगे। जिसका सकारात्मक असर सीधे तौर पर, आपके आर्थिक जीवन पर पड़ेगा और आपको एक से अधिक स्रोतों से धन कमाने में सफलता मिलेगी। आपके द्वारा पूर्व में किए गए प्रयासों से भी, इस दौरान आप लाभ अर्जित कर सकेंगे।

यह समय आपके साहस में भी वृद्धि लेकर आएगा, जिससे आपको अपने हर निर्णय को तेजी से लेने में मदद मिलेगी और समय के साथ आप अपने सभी कार्य को अच्छी तरह पूरा करने में भी सक्षम होंगे। इस समय आप कई बड़े जोखिम लेने और जीवन में आने वाले अफसरों को उपलब्धि में बदलने का मौका भी नहीं छोड़ेंगे। इससे आपको अपने वरिष्ठ अधिकारियों और कई प्रभावशाली लोगों के साथ, अपने संबंध बेहतर करने में मदद मिलेगी। जिससे आपको अपने पेशेवर जीवन में उत्तम लाभ होगा और आप अपार सफलता प्राप्त कर सकेंगे।

हालांकि आपको किसी भी बीमारी से, खुद का बचाव करने की भी सलाह दी जाती है। इसके लिए स्वयं की देखभाल करना, आपके लिए बेहद आवश्यक रहने वाला है। क्योंकि संभव है कि आप अपने मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के प्रति, इस गोचरकाल के दौरान कुछ लापरवाही बरतें। साथ ही आपको जरूरत से ज्यादा सोचने से भी अभी बचना होगा, अन्यथा आपके विचार आप पर ही हावी हो सकते हैं, जिससे आपको मानसिक तनाव मिलने के साथ-साथ शारीरिक समस्या से भी दो-चार होना पड़ेगा।

जो लोग राजनीति, मीडिया और विज्ञापन क्षेत्र से जुड़े हैं, उनके लिए अवधि अनुकूल रहेगी। वहीं आर्थिक जीवन की बात करें तो, यदि आप अपने धन का निवेश करने का सोच रहे हैं तो, उसके लिए समय बेहद उत्तम रहने वाला है। क्योंकि इस दौरान आप अपने निवेश से भविष्य में, अच्छा लाभ प्राप्त करने में सक्षम होंगे।

उपाय- बुधवार के दिन भगवान गणेश की पूजा करें और उन्हें दूर्वा चढ़ाएं।


चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

कन्या

लग्न और दशम भाव के स्वामी बुध, अपने इस गोचर के दौरान कन्या राशि के जातकों के लिए राशि के द्वादश भाव में विराजमान होंगे। यह गोचर कन्या राशि के जातकों के लिए विशेष शुभ रहेगा। खासतौर से वो जातक जो आयात, निर्यात और विदेशी व्यापार से जुड़े हैं, क्योंकि इस अवधि में उनको अच्छा व्यापार और ग्राहकों से पूर्ण संतुष्टि मिल सकेगी। इसके साथ ही ये समय नए ग्राहकों से संपर्क करने और अपने व्यवसाय में विस्तार करने के लिए भी उत्तम है।

आर्थिक जीवन की बात करें तो, इस दौरान आप बेकार की चीजों पर अपना जरूरत से ज्यादा धन खर्च कर सकते हैं। ऐसे में आपको इस अवधि के दौरान विशेष रूप से, अपनी आमदनी और ख़र्चों के बीच सही संतुलन बनाने की आवश्यकता होगी। इसके लिए आप अपने ख़र्चों पर नियंत्रण रखने के लिए, सही योजनानुसार बजट भी बना सकते हैं।

वो जातक जो किसी मल्टीनेशनल कंपनी में कार्यरत हैं, उनके लिए समय कई शुभ अवसर लेकर आएगा। क्योंकि इस दौरान उन्हें अपनी मेहनत और अच्छे कार्य के लिए, उचित प्रोत्साहन मिलेगा। साथ ही संभावना है कि आपकी आमदनी में भी वृद्धि हो। कई जातकों को कार्यक्षेत्र से संबंधित यात्रा करने का भी अवसर मिलेगा, जिससे मिलने वाला लाभ उनकी पदोन्नति में वृद्धि लेकर आएगा। यदि आप विदेश यात्रा पर जाने के इच्छुक थे तो, उसके लिए भी समय अनुकूल है। क्योंकि इस दौरान आपको अपने निजी जीवन या व्यवसाय से संबंधित, विदेश की यात्रा करने से लाभ मिलने के योग बनेंगे।

सेहत के लिहाज से देखें तो, कन्या राशि के जातकों को अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होगी। क्योंकि आशंका है कि इस दौरान आपकी रोग प्रतिरोधक शक्ति कुछ कमजोर हो, जिसके परिणामस्वरूप आपको कुछ मौसमी बीमारी होने का खतरा बन सकता है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि अपने स्वस्थ के प्रति सचेत रहें और खुद को तंदुरुस्त रखने के लिए, नियमित रूप से अच्छा खान-पान लेते हुए व्यायाम करें।

उपाय- अपने कमरे की पूर्व दिशा में, एक हरे रंग का इंद्रगोप (कार्नेलियन) रखें।

तुला

बुध तुला राशि के नवम और द्वादश भाव का स्वामी होता है, और अपने इस गोचर के दौरान वो आपकी राशि के एकादश भाव में विराजमान होगा। इस भाव को लाभ भाव भी कहा जाता है और इससे आपकी कामनाओं, मित्रों आदि के बारे में विचार किया जाता है। ऐसे में बुध का यह गोचर तुला राशि के जातकों के लिए, विशेष लाभकारी रहने वाला है।

कार्यक्षेत्र में भी जहां नौकरी पेशा जातकों को भाग्य का साथ मिलेगा, तो वहीं व्यापारी जातक भी इस दौरान अपने व्यवसाय में अच्छा लाभ अर्जित कर सकेंगे। वो जातक जो यात्रा से संबंधित सेवाओं, सेल्स, मार्केटिंग, आदि से जुड़ा कार्य करते हैं, उन्हें अपने कार्यस्थल पर उन्नति मिलेगी। क्योंकि संभावना है कि इस दौरान, वो कम प्रयासों के बाद भी अपनी आमदनी में वृद्धि कर सकेंगे। आप अपने अच्छे दोस्त बनाने में भी सफल रहेंगे, खासतौर से विभिन्न संस्कृतियों के लोग इस अवधि के दौरान आपके दोस्त बनना पसंद करेंगे, जिसका आपको लंबे समय के लिए फायदा भी मिलता रहेगा।

इसके अलावा जो लोग कला, सांस्कृतिक चीजों, आदि से जुड़े हुए हैं, उनके लिए भी समय शुभ रहने वाला है। क्योंकि इस दौरान आपकी रचनात्मक विचारों में बढ़ोतरी होगी और आप अपनी कला का अच्छा प्रदर्शन कर सकेंगे। सरकारी कर्मचारियों के द्वारा अपने वरिष्ठ अधिकारियों और प्रबंधन से प्रोत्साहन और पुरस्कार मिलने के योग भी, इस गोचर के दौरान बनाते नज़र आ रहे हैं।

यह समय आपके स्वभाव में थोड़ा बदलाव लेकर आएगा, जिससे आप कुछ हद तक आत्म-केंद्रित होते हुए, अपनी इच्छाओं और रूचि को सबसे सर्वोपरि रखने का प्रयास करेंगे। इस दौरान आप जल्द पैसा कमाने की चाह में, कुछ गैरकानूनी-गतिविधियों में भी संलग्न हो सकते हैं। हालांकि आपको ऐसा न करने की सलाह दी जाती है, अन्यथा इसके कारण आपको भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ सकता है। पारिवारिक जीवन के लिए समय उत्तम रहेगा, क्योंकि आप अपने बड़े भाई-बहनों के साथ अपने अच्छे संबंधों का आनंद लेंगे। इससे आपको अपने लक्ष्य को पूरा करने में, उनका सहयोग भी प्राप्त होगा।

उपाय- शुभ फल पाने के लिए, भगवान विष्णु की कथा पढ़े और सुनें।

वृश्चिक

आय और लाभ के एकादश भाव और अनिश्चित के अष्टम भाव के स्वामी बुध, अपने इस गोचर के दौरान वृश्चिक राशि के कार्य क्षेत्र के दशम भाव में विराजमान होंगे। जिसका सीधा असर आपके कार्यक्षेत्र को प्रभावित करेगा, क्योंकि इस दौरान कार्यस्थल पर आपकी प्रगति की रफ्तार कुछ धीमी हो सकती है। इसके साथ ही जीवन में आने वाली अचानक कई परिस्थितियों के कारण, आपकी जॉब प्रोफाइल में भी कुछ बदलाव आना संभव है।

वो जातक जो नौकरी बदलने का सोच रहे थे, उनके लिए ये अवधि उत्तम ही रहेगी। क्योंकि संभावना है कि आपको अपने दोस्तों की मदद से, किसी अच्छी कंपनी में नौकरी का ऑफर मिल सकता है। साथ ही जो व्यापारी अपने व्यवसाय में बदलाव करने का सोच रहे थे, उनके लिए इस दौरान योजनानुसार बदलाव करना शुभ रहेगा। क्योंकि इस परिवर्तन से उन्हें उत्तम लाभ मिलने के योग है।

हालांकि आपको हर प्रकार के धन से जुड़े मामलों के प्रति, सतर्क रहने की सलाह दी जाती है। क्योंकि आशंका है आपको कोई बड़ा आर्थिक नुकसान हो। इसलिए विशेष रूप से सट्टा या अन्य गैरकानूनी गतिविधियों में, निवेश करने से बचें और किसी को भी इस दौरान उधारी पर अपना धन देने से परहेज करें। ग़ौरतलब है कि कुछ जातकों को, अपने बड़े-बुजुर्गों से उपहार या कोई पैतृक संपत्ति प्राप्त हो।

वहीं जो लोग गूढ़ या रहस्यमय सेवाओं से जुड़े हैं, उन्हें इस दौरान दूसरों को अपनी ओर आकर्षित करते हुए, अच्छा धन अर्जित करने में सफलता मिलेगी। यदि आप बीमा या पॉलिसी के क्षेत्र में कार्यरत हैं तो, अच्छे ग्राहक बनाने और कार्यस्थल पर अच्छा मुनाफ़ा प्राप्त करने के लिए भी, यह समय आपको सक्षम बनाएगा।

उपाय- बुधवार के दिन किन्नरों को, हरे कपड़े या चूड़ियां भेट करें।


बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु

बुध देव धनु राशि के सातवें और दसवें भाव के स्वामी होते हैं, और इस गोचर के दौरान वो राशि के नवम भाव में विराजमान होंगे। इस भाव को धर्म और भाग्य का भाव कहा जाता है। ऐसे में इस समय आपका झुकाव विदेशी सभ्यता के प्रति, अधिक होगा और आप अलग-अलग देशों के बारे में अधिक जानने का प्रयास करेंगे। इसके साथ ही नई-नई जगहों के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए भी आप, लगातार यात्रा करते दिखाई देंगे। इस अवधि में आप अपने धार्मिक ज्ञान को महत्व देते हुए, कुछ तीर्थ स्थानों के दर्शन करने की इच्छा जता सकते हैं।

कार्यक्षेत्र की बात करें तो, अपने लक्ष्य को लेकर आप प्रतिबंधित होंगे। जिसके परिणामस्वरूप, कार्यस्थल पर आप अपने काम के प्रति ही खुद को केंद्रित रखते हुए, उसे समय पर पूरा करेंगे। इससे आपको अपने सीनियर और बॉस से अच्छा सहयोग मिलेगा। साथ ही आपकी मेहनत और काम के प्रति आपकी ईमानदारी को देख, वो खुलकर आपकी सराहना भी करेंगे।

यदि आप पार्टनरशिप में व्यापार करते हैं तो, उसके लिए भी समय विशेष उत्तम रहेगा। क्योंकि इस दौरान, आपको अपने व्यापार में अच्छा लाभ प्राप्त होगा। साथ ही आपका अपने साझेदार के साथ भी, बेहतर तालमेल होने से संबंधों में निखार आएगा।

आर्थिक जीवन में आप किसी संपत्ति या ज़मीन से जुड़ा, कोई निवेश करने का फैसला भी ले सकते हैं। साथ ही शादीशुदा जातक इस समय, अपने साथी के साथ एक समय व्यतीत करेंगे। इसके चलते वो अपने जीवनसाथी के साथ, कहीं घूमने जाने की योजना भी बना सकते हैं। पारिवारिक जीवन भी अनुकूल रहेगा। क्योंकि इस दौरान घर-परिवार में कोई मांगलिक कार्यक्रम आयोजित होगा, जिसके चलते पूरे परिवार में खुशी और उत्साह का वातावरण दिखाई देगा।

उपाय- बुधवार के दिन दुर्गा चालीसा का पाठ करें।

मकर

मकर राशि के छठे और नवम भाव के स्वामी बुध, अपने इस गोचर के दौरान राशि के अष्टम भाव में विराजमान होंगे। इस भाव को आयुर भाव भी कहा जाता है और इससे जीवन में आने वाली बधाओं, शोध, दुर्घटना आदि के बारे में विचार किया जाता है। इस गोचर का सीधा असर आपके स्वास्थ्य जीवन पर पड़ेगा, क्योंकि बुध देव सबसे अधिक आपकी सेहत को प्रभावित करेंगे। जिसके परिणामस्वरूप आपको त्वचा से जुड़ी कोई एलर्जी, नसों से जुड़ा विकार, सर्दी-जुकाम या फ्लू, आदि होने का खतरा रहेगा। महिलाओं को भी मासिक धर्म से जुड़ी किसी समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि बेहतर स्वास्थ्य के लिए, किसी अच्छे चिकित्सक से संपर्क करें।

यदि आप वाहन चलाते हैं तो, वाहन चलाते समय या सड़क पर चलते समय आपको विशेष सावधान रहना होगा। क्योंकि आशंका है कि आप किसी दुर्घटना के शिकार हो जाएं। वहीं कार्यक्षेत्र की बात करें तो, व्यापारी जातकों को अच्छे अवसर प्राप्त करने के लिए इस दौरान सामान्य से ज्यादा मेहनत करनी होगी। उसके बाद ही वो मुनाफ़ा अर्जित कर सकेंगे। क्योंकि इस दौरान आपको अपने भाग्य का साथ कम मिलेगा। हालांकि इस दौरान उनके द्वारा किए गए सभी प्रयास, भविष्य में लाभकारी परिणाम देने का कार्य करेंगे।

उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्र, विशेष रूप से शोध कर रहे छात्रों के लिए समय अनुकूल है। क्योंकि यह समयावधि आपको हर विषय को गहराई से समझाते हुए, परीक्षा में अच्छे परिणाम देने का कार्य करेगी। इसके साथ ही आपका झुकाव कई गुप्त रहस्य से जुड़े विज्ञान की तरफ भी बढ़ सकता है, जिसके कारण आप विभिन्न स्रोतों के माध्यम से पढ़कर और नौकरीपेशा लोगों से चर्चा कर, अपने ज्ञान में वृद्धि करने की कोशिश करेंगे।

उपाय- बुधवार के दिन, किसी भी मंदिर में 800 ग्राम हरी दाल का दान करें।

कुंभ

बुध आपके पंचम और अष्टम भाव के स्वामी होकर, अपने इस गोचर के दौरान कुंभ राशि के सप्तम भाव में स्थित होंगे। यह भाव विवाह और जीवन में होने वाली साझेदारियों का होता है। ऐसे में ये समय प्रेम में पड़े जातकों के लिए, सबसे अधिक अनुकूल रहने वाला है। क्योंकि इस दौरान आपके प्रेम संबंधों में वृद्धि होगी। हालांकि यदि आप प्रेमी संग विवाह करने की योजना बना रहे हैं तो, अभी आपको इसके लिए कुछ प्रतीक्षा करनी पड़ सकती है। यहां तक कि अरेंज मैरिज के मामले में भी, आपको कुछ समस्या का सामना करना होगा। वहीं अगर आप शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं तो, संभावना है कि आपका होने वाला जीवनसाथी आर्थिक और शैक्षिक रूप से आपसे ज्यादा मजबूत हो।

ये समय उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्रों के लिए भी अनुकूल रहेगा, क्योंकि इस दौरान वो अपना ध्यान केवल शिक्षा की ओर ही केंद्रित रखने में सफल होंगे। जिससे आने वाली हर परीक्षा में आपको अपार सफलता मिलने के योग बनेंगे। कई दांपत्य जातकों को, संतान सुख की प्राप्ति होगी।

ये गोचर सट्टेबाज़ी, आदि में आपको अनुकूल परिणाम देगा। परंतु बावजूद इसके हम आपको इस तरह के हर गैर कानूनी कार्यों से दूर रहने की सलाह देते हैं। कार्यक्षेत्र पर आपका प्रदर्शन बेहतर होगा, जिससे आपके अधिकारी भी खुलकर आपकी प्रशंसा करेंगे। विशेषरूप से व्यापारी जातकों के लिए अवधि लाभकारी रहने वाला है, क्योंकि इस दौरान उन्हें अच्छा मुनाफ़ा अर्जित करने में सफलता मिलेगी। साथ ही उन्हें अपने संपर्कों का उचित इस्तेमाल करने की भी सलाह दी जाती है, क्योंकि इससे व्यापारियों को अपने व्यवसाय में नई उपलब्धि मिल सकेगी। आपका स्वभाव भी सकारात्मक होगा और आप इस समय खुले विचारों वाले व्यक्ति के रूप में सामने आते हुए, दूसरों की बातों पर खुलकर अमल करते दिखाई देंगे।

उपाय- बुधवार को एक नवविवाहित गरीब कन्या को, हरी साड़ी भेट करें।

मीन

बुध मीन राशि के चतुर्थ और सातवें भाव के स्वामी होते है, और अब अपने इस गोचर के दौरान बुध आपकी राशि के छठे यानी षष्ठम भाव में विराजमान होंगे। षष्ठम भाव को रिपु भाव भी कहा जाता है और इससे ऋण, विवाद, अभाव, चोट, बदनामी आदि के बारे में विचार किया जाता है। जिसके परिणामस्वरूप ये समय, मीन राशि के जातकों के लिए थोड़ा प्रतिकूल रहने वाला है। खासतौर से वैवाहिक जातकों का अपने जीवनसाथी से किसी ग़लतफहमी को लेकर मतभेद या विवाद होने की आशंका है। ऐसे में आपको अपने संबंधों में सुधार लाने के लिए, खुद को शांत रखने की सलाह दी जाती है।

कार्यक्षेत्र पर भी आपके विरोधी सक्रिय और अधिक बलवान होंगे, जिससे आपको सावधान रहने की आवश्यकता होगी। ऐसे में आपको कार्यस्थल पर हर प्रकार की, गॉसिप या राजनीति से सही दूरी बनानी होगी।

आर्थिक जीवन में भी समय, सामान्य से कम बेहतर रहेगा। इसलिए संपत्ति या ज़मीन से जुड़ा निवेश करने से अभी बचें। साथ ही बाजार से किसी भी प्रकार का ऋण या कर्ज लेने के लिए भी, अवधि अशुभ है। क्योंकि आशंका है कि आप उसे चुकाने में असमर्थ हो, जिससे आपकी छवि को भी नुकसान हो सकता है। इस समय आप भौतिक वस्तुओं की खरीदारी करना अधिक पसंद करेंगे, जिससे आपको कई आर्थिक तंगी से दो-चार होना पड़ पड़ेगा। ऐसे में शुरुआत से, एक सही बजट के अनुसार ही कोई भी खर्चा करें।

स्वास्थ्य जीवन में बुध का यह गोचर, आपको मानसिक तनाव भी देगा। इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि अपनी बेहतर जीवन शैली अपनाते हुए, नियमित रूप से योग और ध्यान करें। छात्रों को अपनी हर प्रतियोगी परीक्षा में सफलता मिलेगी। साथ ही वो जातक जो चिकित्सा सेवा में कार्यरत हैं, उनके लिए भी अवधि विशेष अनुकूल रहने वाली है। क्योंकि उन्हें गोचरकाल के दौरान पदोन्नति मिलने की संभावना है। पारिवारिक जीवन में भी आप, घरेलू कार्यों पर अपने धन का एक बड़ा हिस्सा खर्च कर सकते हैं।

उपाय- बुध ग्रह के शुभ परिणाम प्राप्त करने के लिए, नियमित रूप से श्रीमद्भगवद्गीता पढ़ें।


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

ज्योतिष पत्रिका

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।