• Talk To Astrologers
  • Talk To Astrologers
  • Talk To Astrologers
  • Brihat Horoscope
  • Personalized Horoscope 2024
  • Live Astrologers

बुध धनु राशि में उदय (13 जनवरी 2023)

बुध धनु राशि में उदय (13 जनवरी 2023) होने जा रहे हैं, जिसका प्रभाव सभी राशियों पर अनुकूल या प्रतिकूल रूप से पड़ेगा। एस्ट्रोसेज के इस विशेष गोचर आर्टिकल में हम आपको बुध की इस अवस्था के कारण होने वाले सभी प्रकार के परिवर्तनों से रूबरू कराएंगे। साथ ही इसके नकारात्मक प्रभावों से बचने के अचूक उपाय भी बताएंगे। आइए विस्तार से जानते हैं बुध उदय की तिथि, समय एवं अन्य चीज़ें।

बुध धनु राशि में उदय (13 जनवरी 2023)

विद्वान ज्योतिषियों से फोन पर बात करें और जानें उदय बुध का अपने जीवन पर प्रभाव

धनु राशि में बुध का उदय

वैदिक ज्योतिष में बुध को राजकुमार के तौर पर देखा जाता है। इसे तीव्र बुद्धि, संचार कौशल और तर्क का कारक माना जाता है। सभी 12 राशियों में से बुध को मिथुन और कन्या राशि का स्वामित्व प्राप्त है। मनुष्य के जीवन में यह बुद्धि, याददाश्त, सीखने की क्षमता, संचार कौशल जैसी चीजों को कंट्रोल करते हैं। इसके अलावा बुध कॉमर्स, बैंकिंग, शिक्षा, संचार और मीडिया आदि क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं।

कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

बुध धनु राशि में उदय: तिथि और समय

13 जनवरी 2023 को सुबह 5 बजकर 15 मिनट पर बुध धनु राशि में उदय होंगे। धनु राशि धन, प्रेरणा, बुद्धिमत्ता और अच्छी किस्मत जैसी चीजों को दर्शाती है। यह अवधि फिलॉस्फर, कंसलटेंट, गुरुओं और शिक्षकों के लिए शानदार रहेगी। हालांकि बुध के परिणाम कुंडली में इसकी स्थिति एवं जातक की दशा के आधार पर निर्भर करेंगे। चलिए अब आगे बढ़ते हैं और सभी राशियों के लिए विस्तृत राशिफल पढ़ते हैं।

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि

Read in English: Mercury Rise in Sagittarius (13 Jan)

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए बुध तीसरे और छठे भाव के स्वामी हैं और यह आपकी कुंडली के नौवें भाव में उदय होंगे। नौवां भाव धर्म, पिता, राजनीति, लंबी दूरी की यात्रा, धार्मिक स्थल और भाग्य को दर्शाता है। इस दौरान जो राजनेता या राजनीति से जुड़े लोग अपने बयान के कारण किसी विवाद में फंसे हुए थे, उन्हें थोड़ी राहत मिलेगी और संभव है कि परिस्थितियां अनुकूल होंगी। जो शिक्षक अपने बच्चों को ठीक ढंग से पढ़ाने में संघर्ष कर रहे थे, उन्हें भी इस वक्त में नई ऊर्जा मिलेगी। यदि आप अपने पिता से किसी तरह के विवाद में पड़े हैं, तो इस अवधि में उसका भी अंत होगा और आपको अपने पिता का आशीर्वाद और समर्थन प्राप्त होगा। तीसरे भाव पर बुध की दृष्टि पड़ने से आप अपने छोटे भाई-बहनों या दोस्तों के साथ किसी यात्रा पर जा सकते हैं और आप इसे बहुत पसंद भी करेंगे।

उपाय- प्रतिदिन तुलसी के पौधे को पानी दें और उसकी एक पत्ती का सेवन करें।

वृषभ

वृषभ राशि की कुंडली में दूसरे और पांचवें भाव का स्वामित्व बुध के पास है और यह आपके आठवें भाव में उदय हो रहे हैं। हालांकि यह स्थिति बुध के लिए अनुकूल नहीं है, लेकिन इसके बाद भी सेहत और पैसों से जुड़े मामलों में वृषभ राशि के जातकों को राहत मिलने की संभावना है। फिर भी आपको सलाह दी जाती है कि शेयर बाजार जैसे क्षेत्रों में पैसे डालने से बचें अन्यथा आर्थिक नुकसान हो सकता है। साथ ही अपनी सेहत का भी खास ख्याल रखें। अगर आपका ससुराल पक्ष में किसी तरह का विवाद चल रहा था, तो इस वक्त में आपको उससे राहत मिल सकती है।

उपाय- ट्रांसजेंडर्स का सम्मान करें और मुमकिन हो तो उन्हें हरे रंग की चूड़ियां और कपड़े दान करें।

मिथुन

मिथुन राशि के जातकों के लिए बुध लग्न भाव और चौथे भाव के स्वामी हैं और यह आपके सातवें भाव में उदय हो रहे हैं। सातवां भाव जीवनसाथी और बिजनेस पार्टनरशिप को दर्शाता है। बुध को बिजनेस का कारक माना जाता है, इसलिए इनके उदय होते ही जातकों को शादीशुदा जीवन और बिजनेस पार्टनरशिप दोनों में ही लाभ प्राप्त होंगे। जो लोग शादी करना चाहते हैं और किसी कारणवश अभी तक रुके हुए थे, उन्हें इस दौरान अपना हमसफर मिल सकता है, इसलिए प्रयास जारी रखें और इसमें आपको अपनी माता जी का पूरा सहयोग प्राप्त होगा। अगर आप पहले से किसी के साथ हैं तो संभव है कि इस अवधि में आपका परिवार उनसे मिलकर शादी की डेट फाइनल कर सकता है। आपको सलाह दी जाती है कि बुध की उदयावस्था के दौरान अपनी फिटनेस का ख़्याल रखें क्योंकि बुध की दृष्टि आपके लग्न भाव पर पड़ रही है। ऐसे में आपको इस समय का सदुपयोग करना चाहिए। नियमित रूप से योग, व्यायाम आदि करें और संतुलित आहार का सेवन करें।

उपाय- अपने बेडरूम में कोई इनडोर पौधा रखें।


करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क

बुध को आपकी कुंडली में बारहवें और तीसरे भाव का स्वामित्व प्राप्त है और अब यह आपके छठे भाव में उदय होने जा रहे हैं, जो कि रोग, शत्रु, प्रतिस्पर्धा का भाव माना जाता है। बुध धनु राशि में उदय होकर कुछ मामलों में आपको राहत प्रदान करेंगे, लेकिन चुनौतियां पूरी तरह से खत्म नहीं होंगी। आपको अपने स्वास्थ्य पर अचानक से धन खर्च करना पड़ सकता है, इसलिए अपनी सेहत को लेकर ज़रा भी लापरवाही न करें। जो छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं या फिर विदेशी संस्थान में पढ़ने के इच्छुक हैं, उनके लिए बुध का यह उदय फायदेमंद साबित होगा।

उपाय- रोजाना गाय को हरा चारा खिलाएं।

सिंह

सिंह राशि के आर्थिक भाव यानी दूसरे और ग्यारहवें भाव पर बुध का शासन है। इसलिए हम यह कह सकते हैं कि बुध धनु राशि में उदय होकर आपके लिए आर्थिक रूप से सुधार लेकर आएंगे। यह उदय आपकी कुंडली के पांचवे भाव में होने जा रहा है, जो कि शिक्षा, प्रेम संबंध और बच्चों का भाव माना जाता है। इसे पूर्व पुण्य भाव भी कहा जाता है। इस दौरान उन जातकों को अधिक फायदा हो सकता है,जो शेयर मार्केट, स्टॉक मार्केट आदि से जुड़े हुए हैं। छात्रों के लिए भी बुध की यह अवस्था लाभदायक साबित होगी, खास तौर से छात्रों को बुध ग्रह से जुड़े विषयों में फायदा होगा जैसे गणित, मास कम्युनिकेशन, लेखन या फिर किसी भाषा का कोर्स।

उपाय- शुक्रवार के दिन माँ सरस्वती की पूजा करें और उन्हें 5 लाल फूल चढ़ाएं।

कन्या

आपके लग्न और दसवें भाव के स्वामी बुध कुंडली के चौथे भाव में उदय हो रहे हैं, जो कि माता, पारिवारिक जीवन, घर, गाड़ी और प्रॉपर्टी जैसी चीजों को दर्शाता है। इस दौरान बुध धनु राशि में उदय होकर आपको अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करेंगे। यदि आप अभी तक अपने पेशेवर जीवन में किसी परेशानी का सामना कर रहे थे, वह इस दौरान हल हो जाएगी और आप वर्क फ्रॉम होम भी ले सकते हैं। इससे आप अपने परिवार के साथ ज्यादा वक्त बिता पाएंगे और आपका घरेलू जीवन बेहतर होगा। अगर आपने बुध के चौथे भाव में वक्री और अस्त होने के कारण गाड़ी या जमीन खरीदने का विचार टाल दिया था, तो अब आप इस कार्य को कर सकते हैं। इसके अलावा बुध की दृष्टि दसवें भाव पर पड़ रही है, जिससे आपको पेशेवर जीवन में कई सारे नए अवसरों की प्राप्ति हो सकती है।

उपाय- बुधवार के दिन सोने या फिर पंचधातु की अंगूठी में 5-6 कैरेट का पन्ना धारण करें। अगर ऐसा करना संभव न हो तो अपने पास हरे रंग का रुमाल रखें। आपको इससे कई सारे लाभ होंगे।

तुला

आपकी कुंडली के बारहवें और नौवें भाव पर बुध का शासन है और अब यह आपके तीसरे भाव में उदय हो रहे हैं। तीसरा भाव आपको छोटे भाई-बहन, रुचि, छोटी दूरी की यात्रा, संवाद कौशल का प्रतिनिधित्व करता है। इस दौरान आपको काफ़ी राहत मिलेगी। यदि आपका अपने भाई-बहनों से कोई विवाद चल रहा है तो प्रबल संभावना है कि वह सुलझ जाएगा। इसके अलावा बुध धनु राशि में उदय होकर आपके आर्थिक पक्ष में भी मजबूती लाएंगे। यदि आप कार्यस्थल में कोई बदलाव चाह रहे हैं तो यह वक्त बिल्कुल सही है। इस दौरान आपको किसी काम के सिलसिले में विदेश जाने का मौका मिल सकता है। इसके अलावा बुध की दृष्टि नौवें भाव पर पड़ रही है, जो यह दर्शाता है कि आपको अपने पिता और गुरु दोनों का समर्थन मिलेगा।

उपाय- बुधवार को घर में तुलसी लगाएं और रोजाना उसकी पूजा करें।

वृश्चिक

बुध आपकी कुंडली के आठवें और ग्यारहवें भाव पर शासन करते हैं और अब यह आपके दूसरे भाव में उदय हो रहे हैं। दूसरा भाव परिवार, बचत और संवाद को दर्शाता है। वृश्चिक राशि के जातकों के लिए यह अवधि शानदार रहेगी। आपको इस वक्त में लाभ कमाने और बचत करने के मौके मिलेंगे। इस दौरान आप अपने जीवनसाथी के साथ मिलकर संयुक्त रूप से संपत्ति या धन बढ़ा सकते जैसे कि दोनों के नाम पर कोई प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं या जाइंट अकाउंट खुलवा सकते हैं। आपके विचारों और बातों की लोग सराहना करेंगे और आपका संवाद काफी असरदार रहेगा। आप परिपक्व ढंग से अपने परिवार के लोगों से बात करेंगे और इससे आपके रिश्ते बेहतर होंगे। लेकिन इस अवधि में आपको अपनी सेहत का ध्यान रखना होगा क्योंकि बुध आपके आठवें भाव के स्वामी हैं। ऐसे में आप खाने-पीने की गलत आदतों के कारण गले में खराश जैसी परेशानी का सामना कर सकते हैं।

उपाय- बुध बीज मंत्र का जाप करें।


बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु

आपके लिए बुध सातवें और दसवें भाव के स्वामी हैं और अब यह आपके लग्न भाव में उदय हो रहे हैं। बुध के इस गोचर से आपको कई सारे फायदे होंगे क्योंकि बुध एक लाभकारी ग्रह है और यह एक व्यक्ति के जीवन में सकारात्मकता लेकर आता है। कुल मिलाकर हम यह कह सकते हैं कि बुध धनु राशि में उदय होकर यानी कि आपकी राशि में उदय होकर आपको सबसे ज्यादा फायदा पहुंचाएंगे। इस दौरान आपको अपने पेशेवर जीवन में कई अवसरों और लाभों की प्राप्ति होगी। साथ ही आपकी पर्सनालिटी बेहतर होगी। यह समय उन जातकों के लिए शानदार रहेगा जो डाटा-साइंटिस्ट हैं या बैंकिंग के क्षेत्र में हैं। इसके अलावा मेडिकल क्षेत्र और आयात-निर्यात के क्षेत्र में काम करने वाले जातकों के लिए भी यह अवधि अच्छी साबित होगी। सातवें भाव पर बुध की दृष्टि पड़ रही है, इससे आपकी बिजनेस पार्टनरशिप बेहतर होगी। इसके अलावा शादीशुदा जातकों के लिए भी यह अवधि शानदार रहेगी और आप एक अच्छा रिलेशन इंजॉय करेंगे।

उपाय- भगवान गणेश की पूजा करें और उन्हें दूर्वा (दूब घास) अर्पित करें।

मकर

बुध आपकी कुंडली में छठे और नौवें भाव के स्वामी हैं। अब यह आपके बारहवें भाव में उदय हो रहे हैं। यह भाव विदेशी जमीन, अस्पताल और विदेशी कंपनी जैसी एमएनसी को दर्शाता है। बुध धनु राशि में उदय होकर मकर राशि के जातकों को सौभाग्य का वरदान देंगे। आपकी उन सभी परेशानियों का अंत संभव होगा, जिनका सामना आप अभी तक करते आए थे। बुध नौवें भाव के स्वामी हैं और बारहवें भाव में मौजूद हैं, यह स्थिति दर्शाती है कि आप किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं। जो छात्र विदेश की संस्था में पढ़ने के इच्छुक हैं, उन्हें अपना पसंदीदा संस्थान मिल सकता है। हालांकि इस दौरान मकर राशि की गर्भवती महिलाओं को अपने और शिशु के स्वास्थ्य को लेकर अधिक सावधान रहना होगा।

उपाय- बुधवार के दिन गायों को हरा चारा खिलाएं।

कुंभ

आपकी कुंडली में बुध पांचवें और आठवें भाव के स्वामी हैं और अब यह ग्यारहवें भाव में उदय हो रहे हैं। ग्यारहवां भाव आर्थिक लाभ, बड़े भाई-बहन और चाचा को दर्शाता है। इस दौरान आर्थिक क्षेत्र में आपको काफ़ी फायदा होने की संभावना है। धन के मामले में आपको जो परेशानी अभी तक आ रही थी, वह खत्म होगी। पेशेवर जीवन की बात करें तो यदि किसी कारणवश आपका प्रमोशन रुका हुआ था तो वह भी आपको इस अवधि में मिल सकता है। इसके अलावा जो लोग अपने करियर की शुरुआत कर रहे हैं, यह वक्त उनके लिए भी फायदेमंद होगा क्योंकि आपको कई सारे नए अवसरों की प्राप्ति होगी। जो जातक मास कम्युनिकेशन, लेखन और भाषा की पढ़ाई कर रहे हैं उनके लिए यह वक्त शानदार रहेगा। प्रेम संबंध की बात की जाए तो नए कपल्स के लिए भी यह अवधि अनुकूल रहेगी।

उपाय- छोटे बच्चों को हरे रंग का कोई तोहफा दें।

मीन

आपके लिए बुध चौथे और सातवें भाव के स्वामी हैं और यह आपके प्रोफेशन और कार्यस्थल के भाव यानी दसवें भाव में उदय हो रहे हैं। यह दशा बुध के लिए काफी आरामदायक है। ऐसे में यह अवधि आपके पेशेवर जीवन के लिए शानदार होगी। आपको इस वक्त में अच्छा मान-सम्मान प्राप्त होगा। अगर आप बिजनेस कर रहे हैं तो आपका बिजनेस काफी आगे बढ़ेगा। इसके अलावा आप घर से किसी नए बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं या फिर जीवनसाथी के साथ मिलकर पार्टनरशिप में कोई नया बिजनेस शुरू कर सकते हैं। योग बन रहे हैं कि कार्यस्थल पर आपको किसी से प्यार हो सकता है। दसवें भाव से बुध आपके चौथे भाव पर दृष्टि डाल रहे हैं, इसलिए अगर आप गाड़ी या जमीन खरीदने के बारे में सोच रहे थे, या फिर घर में कुछ नया कराने के बारे में सोच रहे थे तो यह वक्त आपके लिए बिल्कुल सही है। कुल मिलाकर बुध धनु राशि में उदय होकर आपके लिए कई रास्ते खोलेंगे।

उपाय- घर और कार्यस्थल पर बुध यंत्र रखें और उसकी पूजा करें।


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।