मिथुन राशि में वक्री बुध: 18 June, 2020

बुध ग्रह, जिसे बुद्धि, वाणी, तर्क शक्ति, गणित, व्यापार, सांख्यिकी और यात्राओं का कारक माना गया है, वो 18 जून, 2020 को सुबह 09 बजकर 52 मिनट पर वक्री हो रहा है। बुध का यह परिवर्तन 12 जुलाई, 2020, 13 बजकर 29 मिनट तक रहेगा। जहां से यह फिर से उसी संकेत में मार्गी गति में आगे बढ़ेगा। इस अवधि में वक्री बुध ग्रह के गोचर का प्रभाव निश्चित रूप से व्यक्ति के व्यक्तित्व और चरित्र पर पड़ेगा।

इस गोचर के प्रभाव से इंसान के व्यवहार में आये परिवर्तन आसानी से देखा जा सकता है। वक्री बुध का हमारे जीवन में काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, क्योंकि जहां बुध ग्रह सामान्य तौर पर हमें अच्छा प्रभाव देते हैं, वहीं वक्री दशा में वो उसका उल्टा प्रभाव देंगे। इस दौरान इंसान की संचार और निर्णय लेने की क्षमता सीधे तौर पर प्रभावित होती है। जिसके परिणामस्वरूप हम कई बार ऐसी स्थिति में कुछ ऐसे फैसले कर बैठते हैं जो हमारे लिए ज्यादा सही नहीं साबित होते हैं, और इसका परिणाम हमें भविष्य में भुगतना पड़ सकता है।

तो आइये अब विस्तार से जानते हैं कि वक्री बुध सभी 12 राशियों पर किस प्रकार का प्रभाव डालने वाले हैं।

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

Click Here To Read In English: Mercury Retrograde In Gemini

मिथुन राशि में वक्री बुध

मेष राशि

मेष राशि के जातकों के लिए वक्री बुध ग्रह उनके तीसरे भाव में गोचर करेगा, जो कि सीधे तौर पर इस तरफ इशारा करता है कि, यह समय अपने भाई-बहनों के साथ रिश्तों में सामंजस्य स्थापित करने, और उनके साथ कुछ क्वालिटी वक्त बिताने के लिए एक अच्छा समय साबित हो सकता है। जैसा कि तीसरा घर घूमने और छोटी यात्राओं को भी दर्शाता है, ऐसे में किसी भी यात्रा पर जाने से पहले सभी ज़रूरी दस्तावेज़ और रिजर्वेशन का ख़ास ख्याल रखने की सलाह दी जाती है अन्यथा आपको बाद में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। अगर बहुत ज़रूरी ना हो तो 12 जुलाई तक कोई भी यात्रा करने से बचें।

इसके अलावा, जैसा कि तीसरा घर इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का भी प्रतिनिधित्व करता है, जो बताता है कि इस समय अवधि के दौरान आपको उनके रखरखाव और फिटनेस पर कुछ अनावश्यक खर्च करने पड़ सकते हैं। इस दौरान कोई भी बात करने से पहले शब्दों का चयन बहुत ही सोच-समझकर करें क्योंकि इस दौरान आपके शब्दों को अन्यथा भी लिया जा सकता है जिसके चलते आप किसी बहस या वाद-विवाद में पड़ सकते हैं। साथ ही किसी भी तरह का वादा करने से पहले स्थिति की वास्तविकता की जाँच कर लें, अन्यथा आपको अवांछित तनाव और परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय : इस दौरान अपने ऑफिस या घर में कपूर जलाएं।

वृषभ राशि

वक्री बुध का यह गोचर, वृषभ राशि के दूसरे घर में होगा, जो वित्त, संचित धन, भाषण और परिवार का प्रतिनिधित्व करता है। इस राशि के जातकों के लिए अपनी आय के लिए नए साधन और नए विचारों को ढूंढने का ये एक बेहतरीन समय साबित हो सकता है। इस दौरान कुछ मूल जातकों को किसी को दिया हुआ उधार या कोई बकाया वापिस मिल सकता है। हालाँकि इस समय आपको धन संचय करने की सलाह दी जाती है, इस गोचर के दौरान किसी भी तरह का निवेश करने से बचें। नौकरी से जुड़े जातक, जो इस समय जॉब बदलने के बारे में विचार कर रहे हैं उन्हें अभी थोड़ा रुकने की ज़रूरत है। इस समय को पार हो जाने दें तब कोई फ़ैसला लें। रिश्ते के लिहाज़ से अपने साथी की ज़रूरतों और इच्छाओं के बारे में जानने के लिए एक अच्छा समय। ऐसा करना आपके रिश्ते को मजबूत बनाने में मदद करेगा। चूंकि यह वृषभ राशि के लिए शिक्षा के पांचवें घर को नियंत्रित करता है, इसलिए, इस समय के दौरान विद्यार्थी, विशेष तौर पर उच्च शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े छात्र, विषयों के चयन को लेकर थोड़े भ्रमित हो सकते हैं। ऐसे में सलाह यही दी जाती है कि अपनी क्षमता पर ध्यान देने और अपने शिक्षक या गुरु से सलाह लेने के बाद ही किसी फैसले पर पहुंचे, या हो सके तो 12 जुलाई तक रुक जायें और उसके बाद ही कोई निर्णय लें।

उपाय : प्रतिदिन सुबह माँ सरस्वती की पूजा करें।

मिथुन राशि

बुध आपके लग्न ग्रह में वक्री हो रहा है, जो व्यक्तित्व, आत्म, छवि और कार्रवाई का प्रतिनिधित्व करता है। जैसा कि यह आपके प्रथम भाव में होने जा रहे हैं ऐसे में आप वक्री बुध के गोचर के दौरान, अगर अपने काम में हड़बड़ी दिखायेंगे या इस तरह के विचारों से घिरे रहेंगे कि आपके लिए कुछ भी सही नहीं हो रहा है तो, बातों को लेकर थोड़े भ्रमित, चिड़चिड़े, चीजों को भूलने वाले या किसी तरह के एक्सीडेंट का शिकार हो सकते हैं। जैसा कि पहला घर कार्रवाई से संबंधित है, इसलिए इस समय आपको बेशक थोड़ा देर से ही लेकिन सोच-समझकर काम करने की सलाह दी जाती है। किसी भी नए काम या परियोजना को शुरू करने के लिए यह समय अच्छा नहीं है, इसलिए, इस दौरान अपने पुराने और अधूरे पड़े कामों को नए सिरे और नए विचारों के साथ पूरा करें जिससे आपका खोया हुआ आत्मविश्वास भी जगाने में मदद मिलेगी। इस राशि के कुछ जातकों को नौकरी या बिज़नेस से जुड़े कुछ ऐसे अवसरों पर पुनर्विचार करना पड़ सकता है जिन्हें आपने पहले नज़रअंदाज़ कर दिया था। जैसा कि मिथुन राशि, संचार और सूचना का कारक है, ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि इस पारगमन के दौरान अगर आप किसी को कोई ईमेल, पेपर डॉक्यूमेंट, या मैसेज भेज रहे हैं तो उसे अच्छी तरह से जाँच लें और तभी भेजे, क्योंकि इस समय में किसी प्रकार की कोई बड़ी गलती होने की संभावना है। जैसा कि मिथुन राशि परिवार का पहला कारक है, ऐसे में यह बात इस तरफ इशारा करती है कि अपने परिवार के सदस्यों से जो बात आजतक आप व्यक्त नहीं कर पाए हैं उसे व्यक्त करने के लिए एक अच्छी अवधि साबित हो सकती। यह आपको एक दूसरे को समझने और अपने रिश्ते को मज़बूत करने में आपकी मदद करेगा। उपाय : “संकट नाशन” गणेश स्तोत्र के साथ भगवान गणेश की पूजा करें।

कर्क राशि

वक्री बुध का यह गोचर कर्क राशि के बारहवें घर में हो रहा है, जो विदेश यात्रा और व्यय का प्रतिनिधित्व करता है। यह इस बात को इंगित करता है कि विदेश में बसने की चाह रखने वाले या विदेशों से लाभ प्राप्त करने की कोशिश कर रहे लोगों के लिए यह समय कुछ सकारात्मक खबर लेकर आ सकता है। उन्हें इस दौरान कुछ सुनहरे अवसर पुनः प्राप्त हो सकते हैं जो पहले किन्ही कारणवश उनके हाथ से निकल गए थे। इसके अलावा आप इस समय अपनी कोई ऐसी वस्तु भी पुनः प्राप्त कर सकते हैं जो आप से अनजाने में खो गयी थी। जिसके चलते आपके जीवन में ख़ुशियों का माहौल बना रहेगा। हालाँकि इस गोचर के दौरान कार्य क्षेत्र से जुड़े जातकों के खर्चे उनकी आय से बढ़कर होने वाले हैं जिसके चलते आप थोड़े चिंतित और परेशान हो सकते हैं। इसलिए, हो सके तो अपने ख़र्चों के बारे में पहले से ही प्लान बना लें। स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ समस्याएं, विशेषकर आँख और त्वचा संबंधी कोई रोग आपको दोबारा परेशान कर सकते हैं। इसलिए, अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें। व्यक्तिगत रूप से इस समय कोई पुराना मुद्दा दोबारा आपके जीवन में आ सकता है। हालाँकि उस मुद्दे की जड़ को पकड़ने और उसका हल निकालने के लिए यह समय आपकी काफी मदद करेगा। उपाय: बुधवार के दिन भगवान गणेश को दुर्वा घास चढ़ाएं।

सिंह राशि

सिंह राशि के जातकों के लिए वक्री बुध का यह गोचर उनके ग्यारहवें घर में होगा जिसे लाभ, सफलता और मुनाफ़े का प्रतिनिधि माना गया है, जो इस तरफ इशारा करता है कि इस समय आपको अपने दोस्तों के पुराने किसी ग्रुप या सोशल मीडिया के माध्यम से उनके साथ फिर से जुड़ने के कुछ अवसर मिल सकते हैं जिससे आप खुश और पुरानी यादों को पुनः ताज़ा कर सकेंगे। इसके अलावा कुछ सिंह जातकों को उनके पहले किये गए किसी निवेश से इस दौरान लाभ मिलने की प्रबल संभावना है। साथ ही यह अवधि कुछ आय से संबंधित अवसरों को एक बार फिर से आपके सामने ला सकती है, जिन्हें आपने पहले छोड़ दिया था, इसलिए इस समय के दौरान सावधान रहे। खासकर वो लोग जो नौकरी के क्षेत्र से जुड़े हैं और प्रोमोशन या इन्क्रीमेंट की राह देख रहे हैं। जैसा कि बुध ग्रह राहु से जुड़ा है, जो नवीनतम रूझानों का प्रतिनिधित्व करता है, जो की इस बात की तरफ इशारा करता है कि इस राशि के व्यापार से जुड़े जातक अगर इस गोचर का पूरा और उचित लाभ उठाना चाहते हैं तो मार्किट ट्रेंड के अनुसार उन्हें अपने उत्पादों को नई पैकेजिंग के साथ और रूझानों के अनुसार पुनः मैदान में उतारना चाहिए। उपाय : किसी भी महत्वपूर्ण काम के लिए घर से निकलने से पहले एक मुट्ठी इलायची के दाने अपनी जेब में रख लें।


जीवन में किसी भी समस्या से परेशान हैं और तो ज्योतिषियों से प्रश्न पूछे

कन्या राशिफल

कन्या राशि के जातकों के लिए वक्री बुध का यह गोचर उनके दसवें घर में होगा जिसे पेशे, कैरियर, पिता और स्थिति, का प्रतिनिधि माना गया है। यह बात इस तरफ इशारा करती है कि इस पारगमन के दौरान आपके पिताजी को स्वास्थ्य से संबंधित कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। व्यावसायिक रूप से, इस समय अवधि में आप एक ऐसी स्थिति के लिए आवेदन कर सकते हैं जो आपको पहले नहीं मिली होगी, और व्यवसायियों के लिए उन ग्राहकों के संपर्क में आने के लिए यह एक बेहतर समय साबित हो सकता है जिनसे आपने पहले संपर्क खो दिया था।

इसके अलावा आप में से कुछ कन्या जातकों को इस दौरान प्रशंसा और पदोन्नति भी मिलने की संभावना है। हालाँकि, इसके लिए आपको इस पारगमन के दौरान अपने कैरियर के साथ आगे बढ़ने के लिए पहले से उपेक्षित क्षेत्रों पर पुनर्विचार करना पड़ सकता है। हालाँकि बुध की दशा के चलते, आप में से कुछ जातकों को इस समय उनके पेशेवर ज़िंदगी में अनावश्यक देरी या रुकावटों का सामना करना पड़ सकता है। कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय लेने से पहले उसके बारे में अच्छी तरह से सोच-विचार कर लें, क्योंकि बाद में उन्हें बदलना या पुनर्मूल्यांकन करना पड़ सकता है।

ऐसे में अगर मुमकिन हो तो 12 जुलाई तक किसी भी ज़रूरी दस्तावेज़ पर आखिरी मुहर लगाने से बचें। साथ ही बॉस या अपने सह-कर्मियों से बात करते समय एकदम स्पष्ट रहे और जितना हो सके खुद ही जाकर उनसे बात करें, किसी अन्य के माध्यम से अपनी बात पहुँचाने में आपकी बातों का मतलब बदला जा सकता है जिससे आपको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय: इस दौरान भगवान विष्णु की पूजा करें या "विष्णु सहस्त्रनाम" का जाप करें।

तुला राशि

तुला राशि के जातकों के लिए वक्री बुध का यह गोचर उनके नौवें घर में होने जा रहा है, जिसे विश्वास, गुरु, भाग्य और किस्मत का घर माना जाता है। इसके अलावा यह घर कला का भी प्रतिनिधित्व करता है, ऐसे में यह अपनी कला को निखारने के लिए एक बेहतरीन समय साबित होगा, जिससे आपको भविष्य में भी इसका पूरा लाभ मिलेगा। इसके अलावा छात्रों के लिए भी यह समय काफी अच्छा साबित हो सकता है। ऐसे में अगर किसी विषय में उन्हें पुनः-एग्जामिनेशन देना हो, या किसी ऐसे कठिन विषय की पढाई करनी हो जिसमें आपको परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, तो इस समय आप इसमें प्रयास कर सकते हैं, आपको सफलता मिलने की उम्मीद है।

इसके अलावा अपने किसी पुराने शिक्षक, गुरु, या बॉस से भी मिलने के लिए यह समय शुभ संकेत दे रहा है, क्योंकि यह लोग आपको कुछ ऐसी सलाह दे सकते हैं जिससे भविष्य में आपको काफी मदद मिलने की उम्मीद है। लंबी-दूरी की यात्रा का प्लान है तो पूरी सावधानी बरतें अन्यथा आपको देरी या किसी दुर्घटना का सामना करना पड़ सकता है।

व्यावसायिक रूप से, लंबे समय में किसी चीज़ की कल्पना करने के लिए यह समय अच्छा नहीं है, ऐसा करने से आप परेशान, बैचेन, या घबराहट का शिकार हो सकते हैं जिससे ग़लतियाँ होने की भी पूरी-पूरी संभावना है। इसलिए बेहतर होगा अगर आप अपने महत्वाकांक्षाओं और लक्ष्य को छोटे-छोटे हिस्सों में बाँट कर उनपर काम करना शुरू करें। इससे ग़लतियाँ भी कम होंगी और आपकी उत्पादकता और आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी।

उपाय : बुध की होरा के दौरान बुध मंत्र का जाप करें।

पाएँ नौकरी, व्यवसाय, शिक्षा से जुड़ी सटीक भविष्यवाणियाँ: वार्षिक कुंडली 2020

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए वक्री बुध का यह गोचर उनके आठवें घर में होगा, जो उनके परिवर्तन, बदलाव और स्वास्थ्य के घर का प्रतिनिधित्व करता है। यह बात इस तरफ इशारा करती है कि इस पारगमन के दौरान आपको स्वास्थ्य से संबंधित कुछ अनावश्यक परेशानियों जैसे, त्वचा,एलर्जी, और हार्मोन प्रणाली का सामना करना पड़ सकता है। हालाँकि घबराने की ज़रूरत नहीं है, यह बीमारियाँ सिर्फ इसलिए हैं ताकि आप अपने स्वास्थ्य पर उचित ध्यान दें और ऐसी किसी भी बीमारी से उबर सकें।

आप में से कुछ लोगों को पैतृक संपत्ति से संबंधित कुछ अचानक लाभ भी मिल सकते हैं जिनका आप लंबे समय से इंतज़ार कर रहे थे। पुराने ऋणों को निपटाने और अपने पिछले बकाया का भुगतान करने के लिहाज़ से भी यह समय काफी मददगार साबित होने वाला है। इसके अलावा आपको सलाह दी जाती है कि इस दौरान कोई भी गुप्त कार्य या संदिग्ध काम करने से बचें, अन्यथा ये भविष्य में आपके लिए परेशानियों का सबब बनकर वापिस आ सकता है। जैसा कि आठवें घर का संबंध आपके साथी की संचित संपत्ति से भी है, ऐसे में उन्हें इस पारगमन के दौरान कुछ अनावश्यक ख़र्चों का सामना भी करना पड़ सकता है, जो उनकी बचत को प्रभावित कर सकता है।

उपाय: गाय को हरा चारा खिलाएं।

धनु राशि

धनु राशि के जातकों के लिए वक्री बुध का यह गोचर उनके सातवें घर में होने जा रहा है, जो इस बात की तरफ इशारा करता है कि अपने पार्टनर के साथ किसी भी पुरानी मतभेद या लड़ाई को सुलझाने के लिए ये समय काफी अच्छा साबित हो सकता है। हालाँकि इस समय अगर आप शादी की तैयारी या फिर शादी की तिथि तय करने की सोच रहे हैं तो आपको सलाह दी जाती है कि 12 जुलाई तक इस बारे में कोई भी फ़ैसला ना लें, एक बार बुध के मार्गी होने के बाद ही इस विषय पर आगे बढ़ें।

अगर आप एक व्यवसायी हैं, तो यह साझेदारियों के सौदों, और उनसे जुड़ी शर्तों, जिन्हें आपने पहले किन्ही कारणों से नज़रअंदाज़ किया था, को पुनः सोचने के लिए भी एक बेहतर समय होने वाला है। जैसा कि बुध,धनु राशियों के लिए पेशे के घर पर भी शासन करता है, जो इस बात को इंगित करता है कि आप में से जो लोग नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उन्हें भी इस दौरान कोई अच्छी खबर मिल सकती है। हालाँकि यह नौकरी शायद आपके मनचाहे क्षेत्र और पद की ना हो लेकिन आपको सलाह दी जाती है कि इसे लेने से पीछे बिलकुल भी ना हटें क्योंकि भविष्य में यह आपके लिए मददगार साबित होने वाली है।

उपाय : बुधवार के दिन ‘विष्णु सहस्त्रनाम’ का जाप करें।

मकर राशि

मकर राशि के जातकों को इस समय अवधि के दौरान पैसे की लेन-देन के मामले में सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है क्योंकि वक्री बुध का यह गोचर उनके छठे घर में होने जा रहा है। इस समय व्यवसायी जातकों को उनकी कड़ी मेहनत का फल अवश्य मिलेगा। इस राशि के पेशेवर लोगों को इस पारगमन के दौरान अत्यधिक सतर्क रहने की ज़रूरत होगी। इस दौरान अगर आप कोई भी जानकारी या डॉक्यूमेंट किसी को भेज रहे हैं तो उसे अच्छे से जाँच लें, अन्यथा आपसे कोई बड़ी गलती होने की प्रबल संभावना है। इस समय आपको ज्यादा सावधान और सतर्क रहने की सलाह दी जाती है अन्यथा आपके कार्य स्थल पर कुछ ग़लतफहमी के कारण कुछ आपके और आपके अधीनस्थों के बीच टकराव, या वाद-विवाद होने की आशंका है, जिसके कुछ प्रतिकूल परिणाम भी हो सकते हैं।

पेशे और सेवा के अलावा छठा घर बीमारी को भी दर्शाता है, इसलिए बुध के इस गोचर के दौरान, आपके स्वास्थ्य से जुड़ी कोई पुरानी तकलीफ़ पुनः शुरू हो सकती है, जिसपर आपको ध्यान देने की आवश्यकता है। इसलिए इस दौरान अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखें, अपने व्यायाम की दिनचर्या का सही से पालन करें, और साथ ही हर उस बुरी आदत का त्याग करें जिनका आपकी सेहत पर अनुकूल प्रभाव नहीं पड़ रहा है। इसके अलावा हो सके तो एक बार अपने डॉक्टर से मुलाकात अवश्य करें। इस पारगमन के दौरान गाड़ी चलाते समय विशेष ध्यान देने की ज़रूरत है अन्यथा आप किसी एक्सीडेंट या चोट का शिकार हो सकते हैं।

हालाँकि, आपके पिता को बुध के इस गोचर के दौरान वांछित प्रगति या अपने संबंधित प्रयासों में सफलता मिल सकती है।

उपाय: बुधवार को सोने या चाँदी में तैयार की गई लगभग 5-6 सेंट की अच्छी गुणवत्ता वाला पन्ना पहनें।


क्या आपकी कुंडली पर शनि हावी हैं? शनि रिपोर्ट से जाने जवाब

कुंभ राशि

कुम्भ राशि के जातकों के लिए 18 जून को होने वाला वक्री बुध का यह गोचर थोड़ा चुनौती पूर्ण रहने वाला है क्योंकि इस दौरान वो अपने भीतर आत्मविश्वास, रचनात्मकता और आत्म अभिव्यक्ति की कमी महसूस कर सकते हैं। इस दौरान आपको नए विचारों की कमी जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है जिसके चलते अबतक सही रूप से चलती उनकी परियोजनाओं या उनके द्वारा शुरू की गई चीज़ों में रुकावट आने की आशंका है। कुंभ राशि के लिए पांचवें घर में हो रहा वक्री बुध का यह गोचर आराम करने का सही समय है, इस दौरान अपने व्यस्त जीवन से थोड़ा ब्रेक लें और अपने कुछ पुराने शौक या आदत में संलग्न रहें जो आपको करना पसंद था और जो शायद आप लंबे समय तक नहीं कर पाए। यह आपकी रचनात्मकता को बढ़ावा देगा।

बात करें अगर व्यक्तिगत जीवन की, तो इस राशि के सिंगल जातकों के लिए किसी भी नए रिश्ते में आने के लिए यह समय ज्यादा सही नहीं है, हालाँकि आपका कोई पुराना प्यार इस दौरान आपकी ज़िंदगी में दस्तक दे सकता है। इसके अलावा विवाहित जातकों के जीवन में उनके संतान पक्ष से कोई दिक्कत सामने आ सकती है, जिसपर आपको ध्यान देने की आवश्यकता है। यह समय बच्चों के साथ कुछ क्वालिटी टाइम बिताने, उनके साथ खेलने, बात करने के लिए बेहद शुभ साबित होगा और इससे आप दोनों के बीच के मतभेद खत्म करने में भी आपको मदद मिलेगी। बच्चों के साथ समय बिताने से आप अपने अंदर छुपे बच्चे से भी रूबरू हो सकते हैं जिससे आप आप अपने अंदर की सहजता और जिज्ञासा को पुनः जीवित होते हुए देख सकेंगे।

इसके अलावा आप में से जो लोग परिवार को आगे बढ़ाने का विचार कर रहे हैं उन्हें 12 जुलाई तक रुकने की सलाह दी जाती है। जैसा की पांचवा घर मन्त्रों के जप से भी संबंधित है, ऐसे में आप इस दिशा में भी अपने कदम बढ़ा सकते हैं।

उपाय: ज़रूरतमंदों और जो लोग खुद से नयी किताबें नहीं ले सकते हैं उन्हें पुस्तकों का दान करें।

मीन राशिफल

मीन राशि के जातकों के लिए वक्री बुध का यह गोचर उनके चौथे घर में होगा, जो घर, माँ, जमीन-जायदाद, संपत्ति, अंतरात्मा और ख़ुशियों का प्रतिनिधित्व करता है। इसलिए जमीन-जायदाद से जुड़े कोई भी अहम फैसले, जैसे उन्हें खरीदने-बेचने, या संपत्ति का स्थानांतरण, इस तरह के कोई भी फ़ैसलों को करने से बचें। जहाँ तक हो सके इस तरह के फैसले 12 जुलाई के बाद ही करें तो बेहतर होगा अन्यथा आपको बाद में पछताना पड़ सकता है। इस समय आप अपना अधिकतर समय घर पर उन चीज़ों को करते हुए बिताएंगे जिन्हें आपने पहले नज़रअंदाज़ कर दिया था, जैसे लीकेज इत्यादि को ठीक करना या घर के फर्नीचर की मरम्मत इत्यादि करना। चौथा घर बचपन और माता-पिता का भी प्रतिनिधित्व करता है, विशेष तौर पर माता का, इसलिए जितना हो सके इस दौरान अपनी माता जी के साथ समय बिताऐं और अपने बचपन के दिनों को याद करें। ऐसा करने से अगर आप दोनों के बीच कोई मतभेद है तो वो तो दूर होगा ही साथ ही आप दोनों के रिश्ते को भी मजबूती मिलेगी।

अगर आप शादीशुदा हैं, तो इस दौरान आपके पार्टनर को, काफी समय से विलंबित, वेतन वृद्धि या पदोन्नति मिल सकती है। इसके अलावा आंतरिक स्वयं के साथ संबंध स्थापित करने और नकारात्मक विचार पैटर्न को पहचानने और इसे अपने जीवन से दूर हटाने के लिए भी यह समय काफी अच्छा साबित हो सकता है। इससे आपको अपने जीवन को नया दृष्टिकोण और अर्थ देने में मदद मिलेगी जिससे आपके जीवन में संतोष और खुशी आएगी।

उपाय : प्रतिदिन सुबह “ओम नमो भगवते वासुदेवाय” मंत्र का का जप करें।


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

ज्योतिष पत्रिका

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।