• Varta Astrologers
  • Mragaank
  • Parul

बुध का कन्या राशि में गोचर (21 अगस्त, 2022)

बुध के कन्या राशि में गोचर के दौरान सभी 12 राशियों के जातकों के जीवन में होने वाले अहम बदलावों की भविष्यवाणी प्रदान करने के उद्देश्य से ऐस्ट्रोसेज का यह विशेष ब्लॉग तैयार किया गया है। जो कि पूर्ण रूप से वैदिक ज्योतिष के तत्वों पर आधारित है। इस लेख में हम आपको बुध के कन्या राशि में होने वाले गोचर का सभी 12 राशि के जातकों के जीवन के विभिन्न पहलुओं जैसे पेशेवर जीवन, व्यक्तिगत जीवन, आर्थिक जीवन, शिक्षा एवं स्वास्थ्य आदि के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की जा रही है। साथ ही यहाँ आपको इस बात की भी जानकारी प्राप्त होगी कि बुध ग्रह के नकारात्मक प्रभावों से बचने के लिए आपको क्या उपाय करने चाहिए जिनका अनुसरण कर आप अपने आगे आने वाले लम्हों को ख़ुशहाल बना सकते हैं।

बुध का कन्या राशि में गोचर

विद्वान ज्योतिषियों से फोन पर बात करें और जानें बुध गोचर का अपने जीवन पर प्रभाव

बुध का कन्या राशि में गोचर: तिथि व समय

वैदिक ज्योतिष में बुध को बुद्धि, तर्क, अच्छे संचार कौशल तथा आकर्षक व्यक्तित्व का प्रतीक माना जाता है। बुध को मिथुन और कन्या दो राशियों का स्वामित्व प्राप्त है। बुध 21 अगस्त, 2022 दिन रविवार की मध्य रात्रि 01:55 बजे स्वराशि कन्या में गोचर करने जा रहा है। बुध का कन्या राशि में गोचर बहुत शुभ माना जाता है चूंकि कन्या इसकी स्वराशि है, साथ ही उच्च राशि भी है। यह गोचर डेटा इंटरप्रिटेशन के क्षेत्र जैसे कि डेटा साइंटिस्ट, ट्रेडिंग, वक़ालत, बैंकिंग, शिक्षा, बीमा, फाइनेंस आदि से जुड़े लोगों के लिए अनुकूल सिद्ध होगा। स्वास्थ्य के लिहाज से भी यह समय अच्छा रहने वाला है। बुध के प्रभाव व परिणाम जातकों की जन्म कुंडली में बुध की स्थिति पर निर्भर करेंगे।

आइए सभी 12 राशियों के लिए जानते हैं कि बुध के इस गोचर का जातकों के दैनिक जीवन पर क्या प्रभाव पड़ने की संभावना है तथा इसके नकारात्मक प्रभावों से बचने के लिए क्या उपाय किए जा सकते हैं।

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि

Read in English: Mercury Transit in Virgo (21 August, 2022)

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए बुध तीसरे और छठे भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके छठे भाव यानी कि रोग, प्रतिस्पर्धा, शत्रु और मामा के भाव में गोचर करेगा।

स्वास्थ्य के लिहाज से यह गोचर आपके लिए अनुकूल सिद्ध होगा। यदि आप लंबे समय से किसी रोग से पीड़ित हैं तो बुध के इस गोचर के दौरान आपको उसमें सुधार देखने को मिलेगा अथवा उसका उचित व अच्छा उपचार मिलने लगेगा।

डेटा इंटरप्रिटेशन, ट्रेडिंग, नेगोशिएशन, बैंकिंग आदि क्षेत्रों में कार्यरत लोगों को भी सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। इसके अलावा मेष राशि के वे छात्र जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, उन्हें सफलता मिलने के योग बन रहे हैं। व्यक्तिगत जीवन में आपको अपने मामा की ओर से पूरा सहयोग प्राप्त होगा।

उपाय: प्रतिदिन गायों को हरा चारा खिलाएं।

मेष साप्ताहिक राशिफल

वृषभ

वृषभ राशि के जातकों के लिए बुध दूसरे और पांचवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके पांचवें भाव यानी कि प्रेम, शिक्षा, पूर्व पुण्य और संतान के भाव में गोचर करेगा।

बुध के कन्या राशि में गोचर के दौरान पत्रकारिता, लेखन और अन्य भाषा के पाठ्यक्रम से जुड़े छात्रों को सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। वहीं प्रेमी जोड़ों के लिए भी यह समय अनुकूल सिद्ध होगा। आपके रिश्ते में प्रेम व स्नेह बढ़ेगा तथा आपसी समझ एवं घनिष्ठता में भी वृद्धि होगी। बच्चों के साथ आपके संबंध बहुत अच्छे रहेंगे। लिहाजा आप उनके साथ अच्छा वक़्त बिता सकते हैं, उनके साथ खेल-कूद, मनोरंजन आदि करते नज़र आ सकते हैं।

आर्थिक रूप से धन का प्रवाह अच्छा रहेगा तथा बचत भी संभव होगी। यदि आपके पेशेवर जीवन की बात करें तो बुध के इस काल के दौरान आपको अपने कार्यस्थल पर की गई कड़ी मेहनत का सकारात्मक फल प्राप्त होगा। कुल मिलाकर देखा जाए तो वृषभ राशि के जातकों के लिए बुध का यह गोचर फलदायी रहने वाला है।

उपाय: ज़रूरतमंद बच्चों और छात्रों को किताबें दान करें।

वृषभ साप्ताहिक राशिफल

मिथुन

मिथुन राशि के जातकों के लिए बुध प्रथम/लग्न भाव और चौथे भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके चौथे भाव यानी कि माता, पारिवारिक जीवन, भवन, वाहन तथा संपत्ति के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपका पारिवारिक जीवन सुखद और आरामदायक रहेगा। परिवार के सदस्यों के साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे। आपके लिए यह समय कोई संपत्ति या वाहन ख़रीदने के लिहाज से भी अनुकूल रहेगा। यदि आप ऐसी कोई योजना बना रहे हैं तो यह एक सही समय हो सकता है।

रियल एस्टेट के डेवलपर्स और एजेंट्स के लिए भी यह समय अनुकूल सिद्ध होगा चूंकि बुध की दृष्टि आपके दसवें भाव पर पड़ रही है। व्यक्तिगत जीवन में आपको अपनी माता जी का पूरा सहयोग व समर्थन प्राप्त होगा। आप उनके साथ अच्छा समय बिताएंगे, जिससे आपके और उनके बीच का बंधन और मज़बूत होगा। इसके अलावा आपको इस दौरान कुछ नया सीखने का मौका भी मिल सकता है।

उपाय: प्रतिदिन तुलसी के पौधे की पूजा करें और दीपक/दीया जलाएं।

मिथुन साप्ताहिक राशिफल

करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क

कर्क राशि के जातकों के लिए बुध तीसरे और बारहवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके तीसरे भाव यानी कि भाई-बहन, शौक एवं रुचि, लघु यात्रा और संचार कौशल के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपको अपने भाई-बहनों का पूरा सहयोग प्राप्त होगा तथा उनके साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे। संकेत मिल रहे हैं कि आप अपने भाई-बहनों या दोस्तों के साथ समय बिताने के लिए किसी लघु यात्रा या तीर्थ यात्रा पर जाने की योजना बना सकते हैं।

बुध के कन्या राशि में गोचर दौरान पत्रकारिता, लेखन, कंसल्टेशन, अभिनय, निर्देशन या एंकरिंग के क्षेत्र (जहाँ संचार और नए विचारों का बहुत महत्व है) से जुड़े लोगों के लिए भी यह समय बहुत अच्छा रहेगा क्योंकि जातकों के संचार कौशल में विकास संभव होगा।

तीसरे भाव से बुध आपके नौवें पर भी दृष्टि डाल रहा है, जिसके परिणामस्वरूप आपके संबंध अपने पिता के साथ भी बहुत अच्छे रहेंगे। आपकी उनसे अच्छी बातचीत होगी तथा वे आपके अच्छे काम की सराहना भी करेंगे।

उपाय: प्रतिदिन 108 बार "ॐ नमो भगवते वासुदेवाय" का जाप करें।

कर्क साप्ताहिक राशिफल

सिंह

सिंह राशि के जातकों के लिए बुध दूसरे और ग्यारहवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके दूसरे भाव यानी कि धन, परिवार, वाणी और बचत के भाव में गोचर करेगा।

इस गोचर काल में आपकी वाणी और आपका संचार कौशल प्रभावशाली होगा लेकिन आपको यह सलाह दी जाती है अपनी वाणी के प्रति थोड़ा सचेत रहें चूंकि सिंह राशि आमतौर पर अहंकार के लिए जानी जाती है, जिसके परिणामस्वरूप आपकी वाणी उग्र भी हो सकती है।

फाइनेंस सेक्टर में कार्यरत लोगों के लिए यह समय अनुकूल रहेगा चूंकि वे कुछ नए विचारों के साथ आगे बढ़ेंगे तथा सफलता प्राप्त करेंगे। व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो आपको अपने परिवार का पूरा सहयोग मिलेगा तथा परिवारजनों के साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे। वहीं सिंह राशि के विवाहित लोगों को अपने ससुराल पक्ष के लोगों का पूर्ण समर्थन प्राप्त होगा। इस दौरान आपके और आपके जीवनसाथी के बीच संयुक्त संपत्ति (जो संयुक्त रूप से ख़रीदी जाए, जो दोनों के नाम हो) बढ़ने की संभावना है।

सिंह राशि के जिन लोगों का झुकाव ज्योतिष की ओर है और वे इसे सीखने की इच्छा रखते हैं, उनके लिए भी यह समय प्रबल है। संकेत मिल रहे हैं कि आप इस दौरान इस विद्या को सीखने की शुरुआत कर सकते हैं।

उपाय: प्रतिदिन तुलसी के पौधे को पानी दें और उसकी 1 पत्ती का सेवन करें।

सिंह साप्ताहिक राशिफल

कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

कन्या

कन्या राशि के जातकों के लिए बुध लग्न और दसवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके लग्न भाव में गोचर करेगा। लग्न में स्थित बुध जातक को बुद्धिमान, चतुर, हाज़िरजवाबी बनाता है व उसके व्यावसायिक दृष्टिकोण का विकास करता है।

बुध का कन्या राशि में गोचर पेशेवर रूप से अत्यंत लाभकारी सिद्ध होगा चूंकि बुध आपके दसवें भाव का भी स्वामी है। ऐसे में डेटा साइंटिस्ट, आयात-निर्यात, नेगोशिएटर, बैंकिंग, मेडिकल क्षेत्र और व्यवसाय चला रहे लोगों के लिए यह समय बहुत अच्छा रहेगा। वहीं सातवें भाव में बुध की दृष्टि पड़ने से इस दौरान आपकी व्यक्तिगत तथा व्यावसायिक साझेदारी में भी बेहतरीन सुधार देखने को मिलेगा। आपको अपने साझेदारों से पूरा सहयोग प्राप्त होगा।

स्वास्थ्य के लिहाज से, बुध के इस गोचर काल में आप अधिक ऊर्जावान रहेंगे। आपको सुझाव दिया जाता है कि अपने शरीर के लिए कुछ वक़्त निकालें और फ़िटनेस के लिए कुछ करें। ऐसा करने से आपको सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे।

उपाय: कोशिश करें कि हरे रंग के वस्त्र धारण करें और अगर संभव न हो तो कम से कम हरे रंग का रुमाल अपने साथ ज़रूर रखें।

कन्या साप्ताहिक राशिफल

तुला

तुला राशि के जातकों के लिए बुध नौवें और बारहवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके बारहवें भाव यानी कि विदेश यात्रा, व्यय, अस्पताल, बहुराष्ट्रीय कंपनी आदि के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आप स्वयं के लिए नए गैजेट्स ख़रीदने में धन ख़र्च कर सकते हैं। विदेश यात्रा के भी योग बन रहे हैं। बहुराष्ट्रीय कंपनियों में काम कर रहे या आयात-निर्यात से जुड़े लोगों के लिए भी यह समय अनुकूल सिद्ध होगा।

स्वास्थ्य के लिहाज से इस दौरान आपकी सेहत में उतार-चढ़ाव आने की संभावना है इसलिए अपने स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहें। अपने आसपास स्वच्छता बनाए रखें तथा संतुलित आहार का सेवन करें।

आर्थिक रूप से इस दौरान आपके ख़र्चों में वृद्धि, यहां तक कि आर्थिक नुकसान भी संभव हो सकता है चूंकि बुध आपके बारहवें भाव का स्वामी है और बारहवां भाव व्यय और हानि का भाव होता है।

उपाय: एक पूरा कद्दू लें और इसे अपने माथे पर स्पर्श करें और फिर इसे बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें।

तुला साप्ताहिक राशिफल

वृश्चिक

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बुध आठवें और ग्यारहवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके ग्यारहवें भाव यानी कि लाभ, इच्छा, बड़े भाई-बहन, चाचा के भाव में गोचर करेगा।

आपके लिए यह अवधि आर्थिक रूप से लाभकारी सिद्ध होगी। व्यक्तिगत जीवन में बड़े भाई-बहनों और चाचा का पूरा सहयोग प्राप्त होगा। साथ ही आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। पेशेवर जीवन की बात करें तो इस दौरान आपको अपने करियर और व्यवसाय दोनों ही क्षेत्रों में पिछले एक साल में कई गई कड़ी मेहनत का फल मिलेगा।

ग्यारहवें भाव से बुध आपके पांचवें भाव में दृष्टि डाल रहा है इसलिए इस दौरान पत्रकारिता, लेखन और अन्य भाषा पाठ्यक्रम से जुड़े छात्रों को सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। कुल मिलाकर वृश्चिक राशि के लोगों के लिए यह समय फलदायी सिद्ध होगा।

उपाय: छोटे बच्चों को हरे रंग का कोई उपहार भेंट करें।

वृश्चिक साप्ताहिक राशिफल

बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु

धनु राशि के जातकों के लिए बुध सातवें और दसवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके दसवें भाव यानी कि कर्म भाव में गोचर करेगा।

पेशेवर रूप से यह अवधि आपके लिए फलदायी सिद्ध होगी। राजनीति, तकनीकी क्षेत्र और संचार क्षेत्र में कार्यरत लोगों के लिए यह समय सबसे अच्छा रहने वाला है। आपको इस दौरान अपनी योग्यता एवं क्षमता साबित करने के कई अवसर प्राप्त होंगे। साथ ही आपके करियर में सकारात्मक बदलाव की संभावना है या आप अपना कोई काम शुरू कर सकते हैं।

दसवें भाव से बुध आपके चौथे भाव पर दृष्टि डाल रहा है, जिसके परिणामस्वरूप आपके संबंध अपनी माता जी के साथ अच्छे रहेंगे तथा आपको उनका पूरा सहयोग प्राप्त होगा। साथ ही घर का माहौल भी सुखद रहेगा।

उपाय: प्रतिदिन बुध ग्रह के बीज मंत्र का जाप करें।

धनु साप्ताहिक राशिफल

मकर

मकर राशि के जातकों के लिए बुध छठे और नौवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके नौवें भाव यानी कि धर्म, पिता, लंबी दूरी की यात्रा, तीर्थ तथा भाग्य के भाव में गोचर करेगा।

दार्शनिकों, सलाहकारों और अध्यापकों के लिए यह समय अच्छा रहेगा चूंकि इस अवधि में वे बड़ी आसानी से दूसरों को प्रभावित कर सकेंगे, अपनी बात समझा सकेंगे। मकर राशि के जो छात्र उच्च शिक्षा प्राप्त करने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए भी यह समय अनुकूल है। इस समय का सदुपयोग करने से उन्हें सफलता अवश्य मिलेगी।

व्यक्तिगत जीवन में आपको अपने पिता एवं गुरुओं का पूरा सहयोग मिलेगा। इस दौरान लंबी दूरी की कोई यात्रा या कोई तीर्थ यात्रा भी संभव हो सकती है। नौवें भाव में बुध की स्थिति धर्म के प्रति आपका झुकाव बढ़ाएगी, जिसके परिणामस्वरूप आप धार्मिक गतिविधियों में हिस्सा भी ले सकते हैं। वहीं तीसरे भाव में बुध की दृष्टि आपको अपने छोटे भाई-बहनों से पूरा सहयोग दिलाएगी।

उपाय: मंदिर में हरे रंग की मिठाई दान करें।

मकर साप्ताहिक राशिफल

कुंभ

कुंभ राशि के जातकों के लिए बुध पांचवें और आठवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके आठवें भाव यानी कि दीर्घायु, आकस्मिक घटनाओं, रहस्य के भाव में गोचर करेगा।

यह समय आपके लिए थोड़ा चुनौतीपूर्ण हो सकता है। कुछ अचानक होने वाली घटनाएं आपको मानसिक रूप से बेचैनी का अनुभव करा सकती हैं। वहीं यदि आप विवाहित हैं तो इस दौरान आपको अपने ससुराल पक्ष से काफ़ी सहयोग मिलेगा।

स्वास्थ्य के लिहाज से आप इस दौरान त्वचा संबंधी समस्याओं के साथ-साथ पीठ दर्द और हाथों में दर्द से भी पीड़ित हो सकते हैं इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि इस गोचर काल में ख़ुद के स्वास्थ्य का विशेष रूप से ख़्याल रखें। कुंभ राशि के जो लोग ज्योतिष जैसे शोध या गूढ़ अध्ययन में रुचि रखते हैं, उनके लिए यह समय प्रबल है। वे इस समय का सदुपयोग विद्या सीखने में कर सकते हैं।

आठवें भाव से बुध आपके दूसरे भाव पर दृष्टि डाल रहा है इसलिए इस दौरान फ़िज़ूलखर्ची से भी बचें अन्यथा आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय: ट्रांसजेंडर का सम्मान करें और हो सके तो उन्हें हरे रंग के वस्त्र उपहार में दें।

कुंभ साप्ताहिक राशिफल

मीन

मीन राशि के जातकों के लिए बुध चौथे और सातवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान बुध आपके सातवें भाव यानी कि विवाह, जीवनसाथी और साझेदारी के भाव में गोचर करेगा।

यदि आप एकल जीवन व्यतीत कर रहे हैं तो आपको इस दौरान विवाह के कुछ अच्छे प्रस्ताव मिल सकते हैं। वहीं विवाहित जातकों के लिए यह समय अनुकूल रहेगा। साझेदारी में व्यवसाय शुरू करने के लिए यह समय प्रबल है। यदि आप ऐसी कोई योजना बना रहे हैं तो आप प्रयास कर सकते हैं। आपको इसमें सफलता प्राप्त होगी।

सातवें भाव से बुध आपके लग्न पर भी दृष्टि बनाए हुए है, इसलिए आपको अपने स्वास्थ्य और फ़िटनेस का ख़्याल रखना चाहिए। आपको सलाह दी जाती है कि संतुलित आहार का सेवन करें तथा एक अच्छी जीवनशैली अपनाएं।

उपाय: भगवान गणेश की पूजा करें और उन्हें दूब घास (दूर्वा) चढ़ाएं।

मीन साप्ताहिक राशिफल

सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।