• Varta Astrologers
  • Mragaank
  • Parul

मीन राशि में वक्री गुरु (29 जुलाई, 2022)

मीन राशि में वक्री गुरु (29 जुलाई, 2022) सभी 12 राशियों के जातकों के जीवन में बदलाव लेकर आने वाले हैं। आइए जानते हैं वैदिक ज्योतिष पर आधारित वक्री गुरु के प्रभावों व उपायों के बारे में। साथ ही यह भी जानते हैं कि ग्रहों की चाल व स्थिति हमारे जीवन के पहलू जैसे कि प्रेम, विवाह, करियर, स्वास्थ्य, आर्थिक जीवन, पेशेवर जीवन, व्यावसायिक जीवन आदि को किस प्रकार प्रभावित करेगी। इस लेख में हमारे विद्वान ज्योतिषियों ने वक्री गुरु से संबंधित भविष्यवाणियां की हैं तथा अशुभ प्रभाव से बचने के उपयुक्त उपाय भी बताए हैं। जिनका अनुसरण कर आप अपने जीवन को ख़ुशहाल और समृद्ध बना सकते हैं।

मीन राशि में वक्री गुरु: 29 जुलाई, 2022

एस्ट्रोसेज वार्ता से दुनियाभर के विद्वान ज्योतिषियों से करें फोन पर बात और जानें वक्री गुरु के प्रभाव

वैदिक ज्योतिष में वक्री होने का अर्थ

ज्योतिष के अनुसार किसी ग्रह का वक्री होना पिछली स्थिति में वापस जाने की प्रक्रिया को कहा जाता है और इसे आमतौर पर अशुभ माना जाता है। जब कोई ग्रह मार्गी होता है तब वह तेज़ होता है और जब वक्री हो जाता तो वह अपनी मूल अवस्था से धीमा होकर पीछे की ओर चलने लगता है। ऐसे में उस ग्रह की प्राकृतिक प्रवृत्ति मुरझाने सी लगती है। उदाहरण के तौर पर जब शनि ग्रह वक्री होता है तो यह नौकरी व व्यवसाय से जुड़े अपने हानिकर प्रभावों में तीव्र हो जाता है। वहीं यदि बृहस्पति ग्रह वक्री होता है तो यह मांगलिक कार्यक्रमों में देरी करेगा या मांगलिक कार्यक्रमों में अधिक खर्च कराएगा।

कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

मीन राशि में वक्री गुरु: तिथि व समय

29 जुलाई, 2022 दिन शुक्रवार की सुबह 1:33 बजे मीन राशि में वक्री गुरु होगा और 24 नवंबर, 2022 दिन गुरुवार को सुबह 4:36 बजे इसी राशि में मार्गी हो जाएगा।

बृहस्पति वक्री होने पर जातकों को जो भी परिणाम देता है वह पूर्ण रूप से जातक की जन्मकुंडली में बृहस्पति की स्थिति पर निर्भर करता है। इस दौरान विवाह आदि जैसे मांगलिक कार्यक्रमों में धन ख़र्च हो सकता है तथा धन लाभ होने में थोड़ी देरी हो सकती है। मांगलिक कार्यों से जुड़ी यात्राएं भी संभव होंगी। कभी-कभी कुंडली में बृहस्पति की शुभ स्थिति जातक के लिए आर्थिक रूप से लाभकारी सिद्ध होगी लेकिन थोड़ी देरी और उतार-चढ़ाव के साथ। इसके अलावा यह जातकों का झुकाव आध्यात्मिकता से जुड़ी चीज़ों की ओर अधिक कर सकता है।

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। यहाँ क्लिक करें और चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि।

Read in English: Jupiter Retrograde in Pisces (29 July, 2022)

सभी 12 राशियों पर वक्री गुरु का प्रभाव:

मेष

मेष अग्नि तत्व की राशि है। मेष राशि के जातकों के लिए बृहस्पति नौवें भाव और बारहवें भाव का स्वामी है और यह उनके बारहवें भाव में वक्री होगा। इस दौरान जातकों का झुकाव आध्यात्मिकता की चीज़ों की ओर अधिक रहेगा और वे मांगलिक कार्यों में अधिक व्यय कर सकते हैं।

पेशेवर जीवन की बात करें तो कार्यस्थल पर काम के अत्याधिक दबाव के कारण आपको असंतुष्टि महसूस हो सकती है। हो सकता है कि वरिष्ठों के साथ आपके संबंध अच्छे न रहें और आपके सहकर्मी आपका सहयोग करने की बजाय आपके लिए कुछ परेशानी खड़ी कर दें तथा फ़ायदा उठाने की कोशिश करें। ऐसे में इस दौरान आपको जबरन तबादले का सामना भी करना पड़ सकता है।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो यह समय आपके लिए कठिन साबित हो सकता है। आपके सामने अपेक्षा से कम लाभ, धन की कमी या हानि जैसी समस्याएं आ सकती हैं। यदि आप साझेदारी में व्यवसाय चला रहे हैं तो हो सकता है कि इस दौरान आपका सहयोगी या साझेदार आपका अधिक सहयोग न करे। ऐसे में अपने व्यवसाय के विस्तार से जुड़ा कोई भी बड़ा निर्णय लेने से बचें यानी कि बड़ा निवेश करने से बचें।

आर्थिक रूप से देखा जाए तो इस दौरान लाभ होने की संभावना कम है और ज़्यादा ख़र्च होने की संभावना अधिक है। ऐसे में नुकसान से बचने के लिए वित्तीय प्रबंधन करना बहुत ज़रूरी होगा। साथ ही धन से जुड़े बड़े निवेशों से भी बचना होगा अन्यथा आपकी आर्थिक स्थिति नकारात्मक रूप से प्रभावित हो सकती है।

व्यक्तिगत जीवन में आपसी समझ में कमी के कारण जीवनसाथी के साथ संबंध में मतभेद पैदा हो सकते हैं। वहीं स्वास्थ्य की बात करें तो इस दौरान आपको थकान, मोटापा जैसी समस्याएं परेशान कर सकती हैं। साथ ही पिता या अन्य किसी बुज़ुर्ग व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए आपको धन ख़र्च करना पड़ सकता है।

उपाय: गुरुवार के दिन बृहस्पति ग्रह के लिए यज्ञ करें।

मेष साप्ताहिक राशिफल

वृषभ

वृषभ पृथ्वी तत्व की राशि है। वृषभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति आठवें भाव और ग्यारहवें भाव का स्वामी है और यह उनके ग्यारहवें भाव में वक्री होगा। इसके कारण इस दौरान लाभ प्राप्त होने में देरी हो सकती है तथा कुछ बाधाएं भी आ सकती हैं। हालांकि देरी और बाधाओं के बाद अप्रत्याशित रूप से धन लाभ होने के योग बन रहे हैं।

पेशेवर जीवन की बात करें तो इस दौरान आपको कुछ रुकावटों का सामना करना पड़ सकता है, जिसके कारण आप अपने कार्यों को समय पर पूरा नहीं कर पाएंगे। साथ ही वरिष्ठों के साथ संबंध में भी समस्या हो सकती है। ऐसे में स्वाभाविक है कि पदोन्नति तथा अन्य लाभ मिलने की संभावना थोड़ी कम हो जाएगी।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो इस दौरान आपके लिए 'न लाभ न हानि' (नो प्रॉफ़िट नो लॉस) वाली स्थिति पैदा हो सकती है। ऐसी उदासीन स्थिति से निपटने के लिए आपको बेहतर ढंग से योजनाएं बनानी होंगी। इस दौरान साझेदार के साथ भी कोई कुछ समस्याएं खड़ी हो सकती हैं इसलिए इस समय किसी भी नई साझेदारी में प्रवेश करना एक ग़लत कदम हो सकता है।

आर्थिक रूप से देखें तो आप धन कमाने में सक्षम होंगे लेकिन हो सकता है कि आप अपने ख़र्चे पूरे न कर पाएं चूंकि इस दौरान आपके ख़र्चों में इज़ाफ़ा हो सकता है। ऐसे में अपने ख़र्चों की सही ढंग से योजना बनाना आपके लिए उचित होगा।

व्यक्तिगत जीवन में अहंकार और मतभेदों के कारण जीवनसाथी के साथ आपकी नोक-झोंक या तीखी बहस हो सकती है। वहीं स्वास्थ्य की बात करें तो इस दौरान आप एलर्जी, जुकाम, पैरों में दर्द, मानसिक तनाव एवं घबराहट जैसी समस्याओं से ग्रस्त हो सकते हैं। आपको सलाह दी जाती है कि अपने स्वास्थ्य का ख़्याल रखें तथा योग, व्यायाम और ध्यान करने जैसी आदतों को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।

उपाय: 3 महीनों तक प्रत्येक गुरुवार के दिन बृहस्पति ग्रह के लिए पूजा करें।

वृषभ साप्ताहिक राशिफल

मिथुन

मिथुन जल तत्व की राशि है। मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति सातवें और दसवें भाव का स्वामी है और यह उनके दसवें भाव में वक्री होगा। जिसके कारण इस दौरान आपको अपने पेशे व करियर से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो इस अवधि में आपके करियर का विकास थोड़ी धीमी गति से होगा। सहकर्मियों के साथ संबंध में कुछ समस्याएं आ सकती हैं तथा वे आपका फ़ायदा उठाने का प्रयास कर सकते हैं। ऐसे में आपके मन में नौकरी बदलने का ख़्याल आ सकता है।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो इस दौरान आपको धीमी गति से लाभ प्राप्त होगा। हो सकता है कि आप जितनी उम्मीद कर रहे हों, लाभ उससे थोड़ा कम प्राप्त हो और यह आपकी परेशानी का कारण बन सकता है। यदि आप इस अवधि में कोई नया व्यापार शुरू करने या साझेदारी में व्यवसाय करने की योजना बना रहे हैं तो आपको सलाह दी जाती है कि आपकी इस योजना को फ़िलहाल के लिए स्थगित कर दें।

आर्थिक रूप से इस समय हानि होने की आशंका अधिक है और यह किसी ग़लत निर्णय के कारण हो सकता है। ऐसे में आपको अपने ख़र्चों को नियंत्रित करने तथा उनकी सही ढंग से योजना बनाने की आवश्यकता होगी ताकि आपको और अधिक परेशानियों का सामना न करना पड़े।

व्यक्तिगत जीवन की बात की जाए तो परिवार में चल रही समस्याओं के कारण आपको अपने जीवनसाथी के साथ संबंध में कुछ परेशानियां जैसे कि आपसी समझ में कमी, बात-बात पर वाद-विवाद आदि का सामना करना पड़ सकता है।

स्वास्थ्य की बात करें तो इस दौरान आपको अपने जीवनसाथी के स्वास्थ्य पर ख़र्च करना पड़ सकता है चूंकि आपका जीवनसाथी पुरानी स्वास्थ्य समस्याओं से पुनः ग्रस्त हो सकता है इसलिए उनके स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहें और उनकी देखभाल करें।

उपाय: गुरुवार के दिन वृद्ध ब्राह्मणों को भोजन कराएं और उनका आशीर्वाद लें।

मिथुन साप्ताहिक राशिफल

करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क

कर्क जल तत्व की राशि है। कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति छठे और नौवें भाव का स्वामी है और यह उनके नौवें भाव में वक्री होगा।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो इस दौरान आप नौकरी में समृद्धि हासिल करेंगे। नौकरी के नए अवसर प्राप्त होंगे और साथ ही ऑनसाइट अवसर संभव भी होंगे। ऐसे में यदि आप पदोन्नति की कगार पर हैं तो यह समय प्रबल है, आपकी पदोन्नति हो सकती है।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो यह अवधि लाभकारी सिद्ध होगी। इस दौरान आपको नया व्यवसाय शुरू करने या फिर मौजूदा व्यवसाय का विस्तार करने का अवसर प्राप्त हो सकता है। साझेदारी का व्यवसाय भी फलता-फूलता नज़र आएगा।

आर्थिक रूप से धन का प्रवाह अच्छा रहेगा। ऐसे में धन की बचत करना संभव हो सकेगा। पैतृक संपत्ति से भी लाभ प्राप्त होने के योग बन रहे हैं। इस दौरान आप आध्यामिकता से जुड़ी चीज़ों पर धन ख़र्च कर सकते हैं।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो जीवनसाथी के साथ संबंध मधुर रहेंगे। जिससे आपके बीच प्रेम व आपसी समझ में वृद्धि होगी। इस दौरान आप अपने जीवनसाथी के साथ किसी कैज़ुअल यात्रा या धार्मिक यात्रा पर जा सकते हैं।

स्वास्थ्य की बात की जाए तो इस दौरान आप चुस्त-तंदरुस्त रहेंगे। कोई भी बड़ी स्वास्थ्य समस्या नहीं होगी। हालांकि सर्दी-जुकाम जैसी छोटी-मोटी समस्याएं हो सकती हैं तो उसके लिए अपनी सेहत का ख़्याल रखें।

उपाय: शनिवार के दिन कौवों को भोजन खिलाएं।

कर्क साप्ताहिक राशिफल

सिंह

सिंह अग्नि तत्व की राशि है। सिंह राशि के जातकों के लिए बृहस्पति पांचवें और आठवें भाव का स्वामी है और यह उनके आठवें भाव में वक्री होगा।

पेशेवर रूप से इस दौरान आपको कुछ समस्याओं जैसे कि कार्यस्थल का अस्त-व्यस्त माहौल, काम का अत्याधिक दबाव तथा अधिक ज़िम्मेदारी आदि का सामना करना पड़ सकता है। जिसके चलते आप इन सब चीज़ों का एकसाथ प्रबंधन करने में असफल हो सकते हैं।

सिंह राशि के व्यवसायियों को भी कुछ बाधाओं के कारण 'ना लाभ, ना हानि' की स्थिति से गुज़रना पड़ सकता है। ऐसे में इस दौरान अपने व्यवसाय से जुड़ा कोई भी बड़ा निर्णय लेने या बड़ा निवेश ना करने की सलाह दी जाती है।

आर्थिक रूप से इस दौरान कमाई के अप्रत्याशित स्रोत जैसे कि शेयर बाज़ार, पैतृक संपत्ति आदि के माध्यम से लाभ प्राप्त होने की संभावना है।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो बच्चों का विकास आपकी चिंता का कारण बन सकता है क्योंकि वे अपनी पढ़ाई में पिछड़ सकते हैं और बच्चों के ख़राब प्रदर्शन के कारण जीवनसाथी के साथ संबंध में कुछ समस्याएं खड़ी हो सकती हैं।

स्वास्थ्य की बात करें तो इस दौरान आपको अपने बच्चों के स्वास्थ्य का अधिक ख़्याल रखने की सलाह दी जाती है चूंकि वे किसी प्रकार की एलर्जी से ग्रस्त हो सकते हैं।

उपाय: प्रतिदिन 108 बार "ॐ गुरुवे नमः" का जाप करें।

सिंह साप्ताहिक राशिफल

कन्या

कन्या पृथ्वी तत्व की राशि है। कन्या राशि के जातकों के लिए बृहस्पति चौथे और सातवें भाव का स्वामी है और यह उनके सातवें भाव में वक्री होगा।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो हो सकता है कि आप अपने काम को अच्छी तरह पूरा करें लेकिन आपको उस काम में वह ख़ुशी ना मिले, जो आप चाहते हैं। साथ ही इस दौरान आपके सहकर्मी आपका अधिक सहयोग ना करते हुए आपका फ़ायदा उठाने का प्रयास कर सकते हैं।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो इस अवधि में मनमुताबिक लाभ अर्जित करने में कुछ समस्याएं आ सकती हैं। वहीं अगर आप साझेदारी के व्यवसाय में हैं तो आपके और आपके साझेदार के बीच मुनाफ़े को लेकर कोई समस्या खड़ी हो सकती है।

आर्थिक रूप से इस दौरान कमाई के अप्रत्याशित स्रोत जैसे कि शेयर बाज़ार, पैतृक संपत्ति आदि के माध्यम से लाभ प्राप्त होने की संभावना है। व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो कुछ पारिवारिक समस्याओं के कारण आपके और आपके जीवनसाथी के बीच आपसी समझ में कमी आ सकती है, जिसके कारण कुछ विवाद भी हो सकते हैं।

स्वास्थ्य के लिहाज से आपको पैरों में दर्द, सर्दी तथा त्वचा संबंधी समस्याओं से गुज़रना पड़ सकता है। ऐसे में आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति अधिक सावधान रहने की आवश्यकता होगी।

उपाय: प्रतिदिन “ॐ नमः शिवाय" का जाप करें।

कन्या साप्ताहिक राशिफल

तुला

तुला वायु तत्व की राशि है। तुला राशि के जातकों के लिए बृहस्पति तीसरे और छठे भाव का स्वामी है और यह उनके छठे भाव में वक्री होगा।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो यह अवधि करियर के लिहाज से थोड़ी कठिन साबित हो सकती है। इस दौरान आपको अपने कार्यस्थल पर कुछ समस्याओं जैसे कि काम का अत्याधिक दबाव, वरिष्ठों द्वारा आपकी कड़ी मेहनत को नज़रअंदाज़ किया जाना, पदोन्नति का विलंबन आदि का सामना करना पड़ सकता है।

यदि आप किसी व्यवसाय के स्वामी हैं तो हो सकता है कि आपको उस स्तर का लाभ ना प्राप्त हो, जिसकी आप उम्मीद कर रहे हैं। हानि होने की भी संभावना है।

आर्थिक रूप से देखें तो इस दौरान आपके ख़र्चों में वृद्धि होने की संभावना है। हो सकता है कि आपके पास अपने ख़र्चे पूरा करने के लिए भी पर्याप्त धन ना हो। ऐसे में आपको कर्ज़ लेना पड़ सकता है और अधिक कर्ज़ आपको परेशानी में डाल सकते हैं।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो आपसी समझ में कमी के कारण जीवनसाथी के साथ वाद-विवाद हो सकता है। ऐसी स्थिति के लिए आपको सुझाव दिया जाता है कि उनके साथ थोड़ा वक़्त बिताएं और उनके दृष्टिकोण को समझने का प्रयास करें।

स्वास्थ्य के लिहाज से आपकी जांघों में दर्द हो सकता है। साथ ही आपको अपने भाई-बहनों और बच्चों के स्वास्थ्य पर भी धन ख़र्च करना पड़ सकता है इसलिए ख़ुद के और अपने प्रियजनों के स्वास्थ्य का ख़्याल रखें।

उपाय: प्रतिदिन 21 बार "ॐ बृहस्पतये नमः" का जाप करें।

तुला साप्ताहिक राशिफल

वृश्चिक

वृश्चिक जल तत्व की राशि है। वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बृहस्पति दूसरे और पांचवें भाव का स्वामी है और यह उनके पांचवें भाव में वक्री होगा।

पेशेवर रूप से इस दौरान आपको सकारात्मक व नकारात्मक दोनों तरह के परिणाम प्राप्त होंगे। कार्यस्थल पर आप अच्छा प्रदर्शन करेंगे लेकिन प्रोत्साहन, पदोन्नति एवं अन्य लाभ इस वक़्त संभव नहीं हो सकते हैं।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो अपेक्षा से कम लाभ प्राप्त होना आपको थोड़ा निराश कर सकता है। आपको अपने व्यवसाय को सुचारू रूप से चलाने के लिए सही ढंग से योजना बनाने की आवश्यकता होगी। ऐसे में साझेदारी के व्यवसाय में शामिल होना उचित नहीं हो सकता है।

आर्थिक रूप से धन का प्रवाह बेहतर रहेगा। आपके खर्चे पूरे होंगे। धन की बचत करना भी संभव हो सकता है। इस दौरान आप अपने भविष्य की योजना बनाते हुए कोई नया निवेश भी कर सकते हैं।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो जीवनसाथी के साथ आपसी तालमेल बना रहेगा लेकिन हो सकता है कि अहंकार के कारण कभी-कभार आपके बीच कोई समस्या उत्पन्न हो जाए और उनके साथ आपकी बहस भी हो जाए। स्वास्थ्य की बात करें तो आपको बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति अधिक सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है।

उपाय: गुरुवार के दिन बृहस्पति के लिए तेल का दीपक/दीया जलाएं।

वृश्चिक साप्ताहिक राशिफल

बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु

धनु अग्नि तत्व की राशि है। धनु राशि के जातकों के लिए बृहस्पति प्रथम और चौथे भाव का स्वामी है और यह उनके चौथे भाव में वक्री होगा।

पेशेवर रूप से इस दौरान आपको अपनी नौकरी में काम को लेकर तनाव महसूस हो सकता है। साथ ही आपके सहकर्मियों द्वारा आप पर काम का अधिक दबाव डाला जा सकता है तथा उनके द्वारा आपका विरोध भी किया जा सकता है। ऐसे में आपके सामने नौकरी बदलने की स्थिति तक आ सकती है।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो इस अवधि में आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। साथ ही मुनाफ़े के हिस्से को लेकर साझेदार के साथ भी कुछ समस्याएं हो सकती हैं।

आर्थिक रूप से इस दौरान आप आमदनी से अधिक ख़र्चों का सामना करेंगे। ऐसे में बचत कर पाना मुश्किल साबित होगा। संभावना है कि घर के नवीनीकरण के लिए आपका धन व्यय हो सकता है।

व्यक्तिगत जीवन की बात की जाए तो रिश्तेदारों के बीच सामंजस्य की कमी के कारण आपके परिवार में विवाद होने की आशंका है। वहीं स्वास्थ्य की बात करें तो आपको सलाह दी जाती है कि अपनी माता जी के स्वास्थ्य का ख़्याल रखें चूंकि इस वक़्त उनकी तबियत में गिरावट आ सकती है।

उपाय: गुरुवार के दिन बृहस्पति यज्ञ करें।

धनु साप्ताहिक राशिफल

मकर

मकर पृथ्वी तत्व की राशि है। मकर राशि के जातकों के लिए बृहस्पति तीसरे और बारहवें भाव का स्वामी है और यह उनके तीसरे भाव में वक्री होगा।

पेशेवर रूप से इस दौरान नौकरी में बदलाव के साथ-साथ वरिष्ठों के साथ संबंध में कुछ समस्याओं का सामना करना आपके भाग्य में हो सकता है। मुमकिन है कि यह सब वरिष्ठों के साथ संचार में कमी के कारण घटित हो रहा हो। ऐसे में मौजूदा नौकरी में किसी नए स्थान पर स्थानांतरण भी संभव है।

यदि आप व्यवसायी हैं तो यह समय विदेश में व्यवसाय शुरू करने के लिहाज से प्रबल है। विदेश से जुड़ा साझेदारी का व्यवसाय भी लाभकारी सिद्ध होगा।

आर्थिक रूप से इस अवधि में विरासत तथा स्टॉक से लाभ प्राप्त होने की संभावना है। बाकी आप अच्छी कमाई होने के बावजूद धन की बचत नहीं सकेंगे। इसके अलावा आप नियमित रूप से धन प्राप्त करने में असफल भी हो सकते हैं।

व्यकिगत जीवन की बात करें तो इस दौरान आपके संबंध अपने भाई-बहनों के साथ अच्छे रहेंगे लेकिन जीवनसाथी के साथ संबंध में कुछ समस्याएं आ सकती हैं। स्वास्थ्य के लिहाज से आपको फ़्लू तथा सर्दी जैसी स्वास्थ्य समस्याएं होने की आशंका है। आपको सलाह दी जाती है कि अपने स्वास्थ्य का ख़्याल रखें तथा पैदल चलते समय सावधानी बरतें चूंकि आप चलते-चलते गिर भी सकते हैं, जिसके कारण आपको चोट लग सकती है।

उपाय: गुरुवार के दिन भगवान शिव के लिए यज्ञ करें।

मकर साप्ताहिक राशिफल

कुंभ

कुंभ वायु तत्व की राशि है। कुंभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति दूसरे और ग्यारहवें भाव का स्वामी है और यह उनके दूसरे भाव में वक्री होगा।

पेशेवर रूप से इस दौरान आपको अपने सहकर्मियों एवं वरिष्ठों से अधिक सहयोग नहीं मिल सकता है। ऐसे में बेहतर प्रदर्शन करने के बावजूद आपको सकारात्मक फल की प्राप्ति नहीं हो सकती है।

यदि आप ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं तो यह समय आपके लिए ठीक हो सकता है लेकिन उच्च नहीं रहेगा चूंकि आप इस अवधि में उस स्तर का लाभ अर्जित नहीं सकेंगे, जिसका आप अनुमान लगाए बैठे होंगे। यदि आप साझेदारी में कोई व्यवसाय कर रहे हैं तो इस दौरान आपको अपने साझेदार से सावधान रहने की आवश्यकता होगी चूंकि ऐसी आशंका है कि वह आपका फ़ायदा उठाने का प्रयास कर सकता है।

आर्थिक रूप से देखें तो इस अवधि में आपको धन लाभ तो होगा लेकिन यह ज़्यादा मात्रा में नहीं हो सकता है। आपके पास अपने ख़र्चे पूरे करने के लिए पर्याप्त धन रहेगा लेकिन ऐसी स्थिति में भी आपको बड़ी ही समझदारी के साथ अपने ख़र्चों की योजना बनानी होगी।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो जीवनसाथी के साथ संबंध में संचार में कमी के कारण कुछ समस्याएं हो सकती हैं लेकिन यह सब कुछ धीरे-धीरे बेहतर होता जाएगा। स्वास्थ्य के लिहाज से इस दौरान आपकी आंखों में किसी प्रकार संक्रमण हो सकता है। ऐसे में आपको अपनी आंखों को लेकर सावधान रहने की सलाह दी जाती है।

उपाय: शनिवार के दिन विकलांग लोगों को भोजन दान करें।

कुंभ साप्ताहिक राशिफल

मीन

मीन जल तत्व की राशि है। मीन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति प्रथम/लग्न और दसवें भाव का स्वामी है और यह उनके लग्न भाव में वक्री होगा।

पेशेवर रूप से इस दौरान आपको कार्यस्थल के मौजूदा माहौल के कारण नौकरी में अचानक बदलाव का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही वरिष्ठों के साथ वाद-विवाद होने की भी आशंका है। ऐसे में आपको अपनी नौकरी में दबाव महसूस हो सकता है। सहकर्मी भी अधिक सहयोगी नहीं हो सकते हैं।

यदि आप किसी व्यवसाय के स्वामी हैं तो इस दौरान आपके सामने 'ना लाभ, ना हानि' की स्थिति आ सकती है। इस अवधि में यदि आप अपने गृह स्थान की बजाय विदेश में व्यवसाय करते हैं तो आपको सकारात्मक फल प्राप्त हो सकते हैं।

आर्थिक रूप से देखें तो इस दौरान आप समान रूप से आमदनी और ख़र्चों का सामना कर रहे होंगे। कभी-कभी आपको अपने ख़र्चे पूरे करने में दिक्कत भी आ सकती है। ऐसे में आपको अपने ख़र्चों की सही ढंग से योजना बनाने की आवश्यकता होगी।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो अहंकार के कारण जीवनसाथी के साथ संबंध में कुछ समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। ऐसे में आपको उनके साथ विनम्र व्यवहार करने की सलाह दी जाती है ताकि आपका वैवाहिक जीवन ख़ुशहाल रहे। स्वास्थ्य के लिहाज से इस दौरान आपको सर्दी एवं पाचन संबंधी समस्या हो सकती है। आपको सलाह दी जाती है कि अपने खानपान के प्रति सावधानी बरतें।

उपाय: प्रतिदिन 44 बार "ॐ मंदाय नमः" का जाप करें।

मीन साप्ताहिक राशिफल

सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।