• Talk To Astrologers
  • Personalized Horoscope 2024
  • Brihat Horoscope
  • Top Followed Astrologers

मंगल का कर्क राशि में गोचर (10 मई 2023)

मंगल का कर्क राशि में गोचर 10 मई 2023 की दोपहर 13:44 बजे होगा। इस दौरान मंगल बुध के स्वामित्व वाली मिथुन राशि से निकलकर चंद्रमा के स्वामित्व वाली कर्क राशि में प्रवेश करेंगे और यहां पर 1 जुलाई 2023 की प्रातः 1:52 बजे तक स्थित रहकर सूर्य के स्वामित्व वाली सिंह राशि में प्रवेश कर जाएंगे। मंगल के लिए कर्क राशि नीच राशि कहलाती है इसलिए मंगल का यह गोचर बहुत ही महत्वपूर्ण माना जा रहा है। मंगल व्यक्तिगत जीवन में साहस और पराक्रम प्रदान करते हैं। यह हमारी जीवन ऊर्जा को बढ़ाने वाले ग्रह हैं। इन्हीं के कारण हम किसी भी काम को पूरी शक्ति और सामर्थ्य के साथ कर पाते हैं। मंगल आपके साहस और संकल्प शक्ति का परिचायक हैं। मेष और वृश्चिक राशि मंगल की राशियां होती हैं। यह मकर राशि में अपनी उच्च अवस्था में और कर्क राशि में अपनी नीच अवस्था में माने जाते हैं। मुख्य रूप से मंगल का गोचर तीसरे भाव, छठे भाव, दसवें भाव और ग्यारहवें भाव में अधिक अनुकूल परिणाम प्रदान करता है। मंगल हमारे शरीर में मुख्य रूप से रक्त पर अपना प्रभाव रखते हैं।

मंगल का कर्क राशि में गोचर 10 मई 2023 को होगा।

विद्वान ज्योतिषियों से फोन पर बात करें और जानें मंगल गोचर का अपने जीवन पर प्रभाव

मानव जीवन में मंगल का अनुकूल होना अत्यंत आवश्यक है क्योंकि यदि ऐसा न हो तो व्यक्ति बहुत परेशानियों में घिर जाता है। यदि मंगल मजबूत होकर गलत स्थिति में हों तो व्यक्ति अपराधी तक बन सकता है जबकि सही स्थिति का मजबूत मंगल व्यक्ति को सेना में भर्ती करा कर देश सेवा में तत्पर कर सकता है। मंगल के मजबूत होने से भूमि से संबंधित कामों में सफलता मिलती है और भूमि, भवन, मकान का लाभ प्राप्त होता है। यह विरोधियों को आप पर हावी नहीं होने देते हैं। मंगल के तीन मुख्य नक्षत्र मृगशिरा, चित्रा और धनिष्ठा हैं। मंगलवार के दिन यदि ये नक्षत्र पड़ें तो इन नक्षत्रों के दौरान मंगल का दान करना सर्वाधिक लाभदायक होता है। आइए जानते हैं मंगल का कर्क राशि में गोचर आपके लिए क्या परिणाम लेकर आ रहा है।

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि

Read in English: Mars Transit In Cancer (10 May 2023)

मेष राशि

मेष राशि के जातकों के लिए मंगल का कर्क राशि में गोचर चौथे भाव में होगा। इसके परिणामस्वरूप आपको कुछ अच्छे परिणाम मिलेंगे। वैवाहिक जीवन में यदि जीवनसाथी से किसी बात को लेकर नाराजगी चल रही है तो वह भी दूर होती दिख रही है। आपकी आमदनी में वृद्धि होगी लेकिन आप किसी से तर्क-वितर्क में न पड़ें, यही आपके लिए बेहतर होगा। आप यदि नौकरी कर रहे हैं और अपने काम को लेकर परेशान चल रहे हैं तो इस गोचर के प्रभाव से आप अपने कार्यक्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। माता-पिता की सेहत का आपको विशेष ध्यान रखना होगा, नहीं तो उनको कोई स्वास्थ्य समस्या हो सकती है। आप अपनी उर्जा को अच्छे कामों में लगाएं। इधर-उधर समय को व्यर्थ न करें। आपकी किसी नए वाहन को खरीदने की इच्छा भी पूरी होती दिख रही है लेकिन सही मुहूर्त देखकर ही वाहन खरीदें, नहीं तो वह नुकसान दे सकता है। इस गोचर के प्रभाव से आपकी उर्जा में वृद्धि होगी लेकिन घर में अशांति का माहौल हो सकता है। निजी और पेशेवर जीवन में तालमेल रखने की कोशिश करें।

उपाय: अपने हाथ में बिना जोड़ का चांदी का ढलवां कड़ा धारण करें।


कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

वृषभ राशि

मंगल का कर्क राशि में गोचर आपके तीसरे भाव में होगा। इस गोचर के परिणामस्वरूप आपके भाई-बहनों को कोई स्वास्थ्य समस्या हो सकती है इसलिए आप उनके स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। आपको कार्यक्षेत्र में बेवजह किसी विवाद में पड़ने से बचना होगा। जो सोचेंगे, उसे पूरा करने की कोशिश में लगे रहेंगे लेकिन किसी चीज की अति न करें, नहीं तो नुकसान हो सकता है। आपके साहस व पराक्रम में भी वृद्धि होगी। आपके कुछ विरोधी आपके ऊपर हावी होने की पूरी कोशिश करेंगे। सामाजिक क्षेत्रों में कार्यरत लोगों का मान-सम्मान बढ़ेगा। आप छोटी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं। यह गोचर आपके लिए कई मामलों में बढ़िया रहेगा। समाज में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा और आप अपने विरोधियों को धूल चटा देंगे। व्यर्थ के वाद-विवाद से बचने की कोशिश करना आपके लिए अच्छा होगा।

उपाय: मंगलवार के दिन हनुमान जी को चार केले अर्पित करें।

मिथुन राशि

मंगल का कर्क राशि में गोचर मिथुन राशि के जातकों के दूसरे भाव में होगा। आपको शब्दों के चयन में सावधानी बरतनी होगी क्योंकि आपकी वाणी में कर्कशता बढ़ेगी और इससे आपके बने बनाए काम बिगड़ सकते हैं। किसी को भी कड़वा बोलने से आप उसके मन से उतर सकते हैं जिससे रिश्तो में तनाव बढ़ सकता है और कार्यक्षेत्र में भी इसका नकारात्मक प्रभाव देखने को मिल सकता है। अति आक्रामक होने से बचना चाहिए क्योंकि इससे परिवार के लोगों से तनाव बढ़ सकता है। कुछ समय अपने लिए एकांत में बिताएं और अपनी संकल्प शक्ति को जगाएं। इस गोचर के दौरान परिवार के लोगों से संतुलित मात्रा में ही बातचीत करें। व्यवसाय में कुछ कठिन चुनौतियां सामने आ सकती हैं। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से इस दौरान थोड़ा ध्यान रखना आवश्यक होगा। भोजन पर ध्यान दें। तेज मिर्च-मसालों का सेवन न करें। नौकरी करने वाले लोगों को अपनी मेहनत का फल मिलेगा।

उपाय: मंगलवार के दिन लाल चंदन का दान करें।

करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क राशि

मंगल कर्क राशि के लोगों के लिए योगकारक ग्रह के रूप में आपकी ही राशि यानी कि आपके प्रथम भाव में गोचर करेंगे। यह मंगल की नीच राशि होती है। इस गोचर के प्रभाव से स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है। आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना होगा। रक्त की अशुद्धि, रक्ताल्पता अथवा रक्तचाप से संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आपके स्वभाव में क्रोध की वृद्धि हो सकती है जो आपको नुकसान दे सकती है। आप जल्दबाजी में आकर जल्दी-जल्दी कई काम करेंगे जिसके लिए बाद में पछताना पड़ सकता है इसलिए ऐसी चीजों से बचकर रहें। जीवनसाथी से बातचीत करने में सावधानी बरतें अन्यथा व्यर्थ वाद-विवाद बढ़ने से रिश्ते में तनाव बढ़ सकता है। हालांकि आर्थिक दृष्टिकोण से यह गोचर अनुकूल सिद्ध होगा। महत्वपूर्ण कार्यों में सफलता प्राप्त कर पाएंगे। धन की वृद्धि होगी और नौकरी में भी आपकी स्थिति प्रबल होने लगेगी। विद्यार्थियों को इस गोचर का सकारात्मक प्रभाव प्राप्त होगा। आपके सामने चाहे कैसी भी स्थिति क्यों न आए, आप उसका डटकर सामना करेंगे।

उपाय: गुड़ और काले तिल के लड्डू बनाकर गाय को खिलाएं।

सिंह राशि

मंगल देव सिंह राशि में जन्म लेने वाले लोगों के लिए योगकारक ग्रह हैं और वर्तमान गोचर में आपके बारहवें भाव में प्रवेश करेंगे। आपका सपना यदि पढ़ाई के लिए विदेश जाने का है तो आपकी यह इच्छा मंगल का कर्क राशि में गोचर पूरी कर सकता है और आपको विदेश जाकर पढ़ाई करने का मौका मिल सकता है। दांपत्य जीवन में यह समय तनाव बढ़ा सकता है और आप दोनों के अंतरंग संबंधों में कमी आ सकती है और कई समस्याएं बढ़ सकती हैं। खर्चों में लगातार तेजी की संभावना रहेगी जो आपको परेशान कर सकती है और इससे आपकी आर्थिक स्थिति पर बोझ बढ़ सकता है। यदि कोई वाद-विवाद या कोर्ट अथवा कचहरी से संबंधित मामला चल रहा है तो फैसला आपके पक्ष में आ सकता है। इस दौरान आपके मानसिक तनाव में बढ़ोतरी होगी। काम के सिलसिले में आपकी भागदौड़ अधिक रहेगी और आपको यात्राएं अधिक करनी पड़ सकती हैं। आपको इस गोचर के दौरान अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना चाहिए।

उपाय: मंगलवार के दिन छोटे बालकों को गुड़ और चना खिलाएं।

कन्या राशि

मंगल का कर्क राशि में गोचर कन्या राशि के ग्यारहवें भाव में होने से आपकी सभी इच्छाओं की पूर्ति होगी। आर्थिक परेशानियां दूर हो जाएंगी और आपकी इच्छाओं को बल मिलेगा। यह प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता बढ़ाने वाला गोचर साबित होगा। हालांकि आपके वैवाहिक जीवन में कुछ समस्याएं बढ़ सकती हैं। जीवनसाथी और आपके बीच तनाव की रेखाएं स्पष्ट नजर आने लगेंगी इसलिए आपको थोड़ा ध्यान रखना होगा। इस दौरान आपकी आर्थिक योजनाएं सफल होंगी और आपको आर्थिक लाभ होगा। व्यवसाय में भी अच्छे लाभ के योग बनेंगे। दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करने का अवसर मिलेगा। विरोधियों पर आप भारी पड़ेंगे। खर्चों में कमी आएगी। आप इस गोचर काल में बहुत कुछ प्राप्त कर पाएंगे।

उपाय: श्री हनुमान जी के मंदिर जाकर उन्हें चोला चढ़ाएं।

तुला राशि

मंगल तुला राशि में जन्म लेने वाले जातकों के लिए दशम भाव में गोचर करेंगे। यहां स्थित होकर मंगल आपको कार्यक्षेत्र में मजबूत बनाएंगे लेकिन आपको किसी से भी टकराने से बचना चाहिए। बेवजह किसी से लड़ाई-झगड़ा करने की आदत से नुकसान उठाना पड़ सकता है। पारिवारिक जीवन और पेशेवर जीवन दोनों के बीच तालमेल बिठाना आवश्यक होगा और दोनों ही क्षेत्रों में व्यर्थ के वाद-विवाद से बचना होगा। हालांकि आपके पदभार में बढ़ोतरी हो सकती है। आपको कोई नया पद सौंपा जा सकता है। आपके अधिकारों में बढ़ोतरी होगी। प्रेम संबंधों में तनाव बढ़ सकता है। विद्यार्थियों का ध्यान पढ़ाई के दौरान खेलकूद और अन्य गतिविधियों में अधिक रहेगा। यदि आप कोई खिलाड़ी हैं तो मंगल का कर्क राशि में गोचर आपको अच्छी स्थिति प्रदान करेगा और अपने खेलकूद को पेशा बनाने में मददगार साबित होगा।

उपाय: मंगलवार के दिन लाल मसूर का दान करें।

वृश्चिक राशि

मंगल आपके नवम भाव में प्रवेश करेंगे। इस गोचर के परिणामस्वरूप लंबी और थकान देने‌ वाली यात्राएं हो सकती हैं। आप और आपके पिताजी के बीच कुछ तनाव बढ़ सकता है। उनसे आपको अच्छे संबंध बनाए रखने का प्रयास करते रहना होगा। उनकी स्वास्थ्य समस्याओं के प्रति लापरवाही बरतना नुकसानदायक हो सकता है इसलिए उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखें। नौकरी में परिवर्तन हो सकता है अथवा आपका स्थानांतरण भी हो सकता है। भाई-बहनों से रिश्तों को संभालने की कोशिश करें। आप अपने किसी दोस्त को भी भला बुरा कह सकते हैं। उन्हें मनाने की कोशिश करें क्योंकि दोस्त बड़ी मुश्किल से मिलते हैं। उच्च शिक्षा के विद्यार्थियों को जल्दबाजी से बचकर अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए। आर्थिक रूप से यह गोचर मध्यम ही रहेगा।

उपाय: मंगलवार के दिन सुंदरकांड का पाठ करें।


बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु राशि

मंगल धनु राशि के जातकों के लिए आठवें भाव में प्रवेश करेंगे। इस गोचर के परिणामस्वरूप आपको वाहन चलाते समय सावधानी बरतनी होगी नहीं तो किसी तरह की दुर्घटना हो सकती है। ससुराल पक्ष के लोगों से कहासुनी या तनाव बढ़ सकता है। दांपत्य जीवन में मंगल का कर्क राशि में गोचर तनाव बढ़ा सकता है और आपको स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आर्थिक रूप से कुछ चुनौतियां आपके सामने आएंगी लेकिन अचानक से धन प्राप्ति के योग भी बनेंगे। कोई लंबे समय से अटकी हुई पैतृक संपत्ति आपको प्राप्त हो सकती है। आपकी बातों का लोग गलत अर्थ निकालेंगे और पिताजी के स्वास्थ्य में भी कुछ समस्याएं हो सकती हैं।

उपाय: मंगल देव के बीज मंत्र का जाप करें।

मकर राशि

मंगल देव मकर राशि के लिए सातवें भाव में गोचर करेंगे। इस गोचर के प्रभाव से दांपत्य जीवन में तनाव बढ़ना स्वाभाविक ही है। आपके जीवनसाथी के व्यवहार में कुछ उग्रता बढ़ेगी जो आप दोनों के बीच तनाव का कारण बन सकती है इसलिए ठंडे दिमाग से बातचीत से हर बात का हल निकालना आपके लिए हितकारी होगा। आपको स्वयं भी अपने क्रोध पर नियंत्रण रखना होगा। व्यापार में उन्नति होने के योग बनेंगे लेकिन व्यवसायिक साझेदार से बात न बिगड़े, इसका आपको ध्यान रखना होगा। नौकरी में स्थिति आपके पक्ष में रहेगी। कड़ी मेहनत के आपको अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे। विद्यार्थियों को शिक्षा में आ रहे व्यवधानों को दूर करने के लिए अपनी पढ़ाई पर पूरा ध्यान देना चाहिए और इधर-उधर की बातों से बचना चाहिए। आपका आकर्षण विपरीत लिंगी की तरफ हो सकता है।

उपाय: मंगलवार के दिन बजरंग बाण का पाठ करें।

कुंभ राशि

कुंभ राशि के जातकों के लिए मंगल छठे भाव में प्रवेश करके शत्रु हंता बनेंगे और आपके विरोधियों को चारों खाने चित कर देंगे। कोई भी विरोधी आपके सामने टिकने की हिम्मत नहीं कर पाएगा। कार्यक्षेत्र में आपका प्रदर्शन सराहनीय होगा। नौकरी में आपको अच्छी सराहना प्राप्त होगी और आपका काम बढ़िया होगा। खर्चों में थोड़ी बढ़ोतरी होगी लेकिन आर्थिक स्थिति ठीक होने से कोई बड़ी समस्या आपके सामने नहीं आएगी। पारिवारिक जीवन सामान्य गति से चलेगा। मामा पक्ष के लोगों से कहासुनी हो सकती है। गलत संगति से बच कर रहना हितकारी होगा। व्यवसाय के लिए कुछ बड़ी यात्राएं करने की आवश्यकता महसूस होगी।

उपाय: मंगलवार के दिन किसी पार्क या गार्डन में अनार का पौधा लगाएं।

मीन राशि

मंगल का कर्क राशि में गोचर मीन राशि के जातकों के पांचवे भाव में होगा। इस गोचर के परिणामस्वरूप प्रेम संबंधों में तनाव बढ़ेगा। आप और आपके प्रियतम के बीच सब कुछ सामान्य नहीं रहेगा जिससे आपके बीच बार-बार लड़ाई-झगड़े की स्थिति बनेगी। यदि इसे संभाला नहीं गया तो यह रिश्ते को तोड़ कर रख सकता है। विद्यार्थियों को भी पढ़ाई में कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। आप जल्दबाजी में आकर महत्वपूर्ण विषय से ध्यान हटा सकते हैं जिसका नुकसान उठाना पड़ सकता है। वैवाहिक दंपत्ति अपनी संतान को लेकर थोड़े तनावपूर्ण हो सकते हैं। आर्थिक रूप से गोचर लाभदायक रहेगा। आपकी आमदनी में बढ़ोतरी के योग बनेंगे। नौकरी में बदलाव की स्थिति भी बन सकती है। पढ़ाई के लिए विदेश जाने की संभावना बन सकती है ।

उपाय: मंगलवार के दिन शिव मंदिर जाकर शिवलिंग पर गेंहू अर्पित करें।


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।