• Varta Astrologers
  • Sawan Sale
  • Mragaank
  • Kriti
  • Parul

मंगल का मीन राशि में गोचर (17 मई, 2022)

मंगल का मीन राशि में गोचर 17 मई, 2022 को होने जा रहा है। ऐसे में इसका अपनी राशि पर प्रभाव जानने के लिए पढ़ें वैदिक ज्योतिष पर आधारित यह लेख। रोमन पौराणिक कथाओं में मंगल ग्रह को युद्ध के देवता के रूप में पूजा जाता है। चीनी ज्योतिष के अनुसार मंगल वह ग्रह है जो कि अग्नि तत्व से संबंधित है इसीलिए चीनी ज्योतिष में मान्यता है कि मंगल एक उग्र ग्रह है। वहीं वैदिक ज्योतिष में मंगल को ऊर्जा और जीवनशक्ति का ग्रह माना जाता है। किसी जातक की जन्म कुंडली में मंगल की स्थिति के आधार पर जातक की रोग प्रतिरोधक क्षमता का अंदाज़ा लगाया जाता है।

जैसा कि रोमन लोग मानते हैं कि मंगल युद्ध और विनाश का कारक है तो कहीं हद तक बात सही है। यह एक पुरुष ग्रह है और जुनून, गतिशीलता और साहसिक गतिविधियों या कार्यों से भरा हुआ है। किसी जातक की कुंडली में मंगल की मज़बूत स्थिति जातक को नए आयामों का पता लगाने और नई खोज करने के लिए प्रेरित करती है। ऐसे जातक निरंतर प्रयास करते रहते हैं और अजेय होते हैं तथा कुछ भी नया शुरू करने के लिए उनमें ऊर्जा की कमी नहीं रहती है यानी कि वे नई चीज़ों के प्रति अधिक उत्साही रहते हैं। नीरस चीज़ें करना उन्हें ज़रा भी पसंद नहीं होता है। ऐसी स्थिति में यदि फंसे तो यह लोग काम को बीच में ही छोड़ने में भी नहीं झिझकते हैं। ऐसे लोग अपनी प्रेरणा का स्रोत भी ख़ुद ही ढूंढते हैं और अपनी ख़ुशी और मनोरंजन को आगे बढ़ाने के लिए मनमाफ़िक काम भी करते हैं।

विद्वान ज्योतिषियों से फोन पर बात करें और जानें मंगल गोचर का अपने जीवन पर प्रभाव

वैदिक ज्योतिष के अनुसार मंगल आमतौर पर सर्जन, कसाई, सैन्य कर्मी, इंजीनियर, अग्निशमन कर्मी, रियल एस्टेट एजेंट्स और बिल्डर्स आदि जातकों से जुड़ा हुआ है। मंगल क्रांतिकारी राशि कुंभ से जल तत्व की राशि मीन में गोचर करने जा रहा है, जो कि बृहस्पति ग्रह द्वारा शासित है। मीन यानी कि मछली और इस राशि के प्रतीक चिन्ह को भी दो मछलियों द्वारा दर्शाया जाता है। अग्नि तत्व और जल तत्व के संयोजन से जातकों को आमतौर और तीव्र परिणाम प्राप्त होते हैं। यह जातकों को थोड़ा खोया हुआ बना सकता है क्योंकि मंगल का प्रभुत्व उन्हें दूसरों का अनुसरण करने की अनुमति नहीं देता है लेकिन इस राशि में होने की वजह से वे थोड़ा संकुचित महसूस कर सकते हैं।

कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

गोचरकाल की अवधि

मंगल ग्रह 17 मई, 2022 की सुबह 9:52 बजे मीन राशि में गोचर करेगा और 27 जून, 2022 की सुबह 6:00 बजे तक यानी कि अपनी स्वराशि मेष में गोचर करने तक इसी राशि में स्थित रहेगा। आइए राशिनुसार जानते हैं कि मंगल के इस गोचर का सभी जातकों के जीवन पर प्रभाव पड़ने की संभावना है। साथ ही, यह भी जानते हैं कि इसके नकारात्मक प्रभावों से बचने के लिए क्या उपयुक्त उपाय किए जा सकते हैं।

Read in English: Mars Transit in Pisces (17 May, 2022)

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए मंगल लग्नेश है और यह मेष राशि के आठवें भाव यानी कि रहस्य विज्ञान और अनिश्चितता के भाव का भी स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल मेष राशि के बारहवें भाव यानी कि लंबी यात्रा, हानि और व्यय के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आप अपने स्टैमिना और ऊर्जा में कमी महसूस कर सकते हैं। आपको अपने आस-पास की चीज़ों या परिस्थितियों की वजह से असंतुष्टि का सामना करना पड़ सकता है। आपका स्वभाव चिड़चिड़ा हो सकता है। हालांकि, आप सामान्य रूप से गतिविधियों में शामिल होने के ख़ुद को प्रेरित करने का प्रयास करेंगे लेकिन हो सकता है कि आप सक्रिय रूप से भाग न ले पाएं।

स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाए तो इस दौरान आपका स्वास्थ्य नाज़ुक रहने की आशंका है। आपको बुखार, सिरदर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं। आपको यह सलाह दी जाती है कि अपने स्वास्थ्य का ख़्याल रखें और सड़क पर पैदल चलते समय या वाहन चलाते समय सावधान रहें।

जो छात्र आगे की पढ़ाई के लिए किसी दूसरे शहर में प्रवेश लेने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए यह अवधि भाग्यशाली सिद्ध हो सकती है। संभावना है कि आपको इसमें सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। साथ ही, शोधकर्ताओं और पीएचडी छात्रों के लिए भी मंगल का यह गोचर अनुकूल रहने वाला है।

आर्थिक दृष्टिकोण से मंगल का यह गोचर मेष राशि के जातकों के लिए औसत रूप से फलदायी सिद्ध हो सकता है। इस दौरान आपको अपने प्रयासों से धन लाभ होने की संभावना थोड़ी कम है। आपको यह सलाह दी जाती है कि इस दौरान सट्टा बाज़ारों जैसे कि स्टॉक मार्केट, शेयर मार्केट आदि में निवेश करने से बचें चूंकि हानि होने की संभावना अधिक है। कुल मिलाकर यह अवधि आपके आर्थिक मामलों में अनिश्चित रह सकती है।

जो जातक सर्विस में हैं, उन्हें यह सलाह दी जाती है कि कार्यस्थल पर अपने आस-पास के लोगों से सतर्क रहें चूंकि ऐसी आशंका है कि इस दौरान आपकी प्रबंधन टीम आपके ख़िलाफ़ किसी प्रकार का षड्यंत्र रचने का प्रयास कर सकती है। कुल मिलाकर आपको अपने कार्यस्थल पर कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, जिसकी वजह से आप मानसिक रूप से तनाव महसूस कर सकते हैं।

उपाय : अपने स्वास्थ्य में सुधार के लिए मंगलवार को भगवान हनुमान की पूजा करें और सिंदूर चढ़ाएं।

मेष साप्ताहिक राशिफल

वृषभ

वृषभ राशि के जातकों के लिए मंगल उनके सातवें भाव और बारहवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल वृषभ राशि के ग्यारहवें भाव यानी कि आय, सफलता और लाभ के भाव में गोचर करेगा।

मंगल का यह गोचर आपके वैवाहिक जीवन के लिए अनुकूल है। इस दौरान आपके संबंध अपने जीवनसाथी के साथ अच्छे और मित्रतापूर्ण रह सकते हैं। संभावना है कि उनके सहयोग और मदद से आपको धन लाभ हो सकता है।

यह अवधि उन जातकों के लिए भी अनुकूल सिद्ध हो सकती है जो प्रेम संबंध में हैं। वे इस दौरान अपने रिश्ते को एक कदम आगे की ओर ले जाने का फ़ैसला ले सकते हैं। वहीं जो जातक एकल जीवन व्यतीत कर रहे हैं या एकतरफ़ा प्रेम हैं, वे इस अवधि में अपने प्रेम का इज़हार कर सकते हैं और प्रबल संभावना है कि आपको उनसे सकारात्मक प्रतिक्रिया मिलेगी।

मंगल के इस गोचर दौरान आपका झुकाव सामाजिकता की ओर रह सकता है और आप लोगों से ज़्यादा मिलनसार होंगे। आप कुछ नए दोस्त भी बना सकते हैं। आप लोगों से मिलने-जुलने और किसी डेट पर जाने में अच्छा खासा धन ख़र्च कर सकते हैं।

जो जातक विदेश के किसी संस्थान से आगे की पढ़ाई की योजना बना रहे हैं, उन्हें इस अवधि में अपनी इस योजना से जुड़ा कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। साथ ही, यह समय उन छात्रों के लिए भी प्रबल है जो इंजीनियरिंग व मेडिकल विषयों का अध्ययन कर रहे हैं।

जो जातक बहुराष्ट्रीय कंपनियों में काम कर रहे हैं या विदेशी ग्राहकों से डील कर रहे हैं, उनके लिए भी यह समय अनुकूल रहने वाला है। आपको इस दौरान विदेश आपको अपनी डीलिंग से लाभ होने की संभावना अधिक है।

जो जातक साझेदारी के व्यवसाय में हैं, उन्हें भी इस दौरान अपने व्यापार में वृद्धि देखने को मिल सकती है। कुल मिलाकर, यह अवधि आपके लिए पेशेवर से फलदायी सिद्ध हो सकती है।

उपाय : मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर में बेसन के लड्डू और पीला कपड़ा चढ़ाएं।

वृषभ साप्ताहिक राशिफल

मिथुन

मिथुन राशि के जातकों के लिए मंगल उनके छठे भाव यानी कि सेवा और प्रतिस्पर्धा के भाव और ग्यारहवें भाव यानी कि आय और लाभ के भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल मिथुन राशि के दसवें भाव यानी कि करियर और पेशे के भाव में स्थित रहेगा।

इस दौरान आप कुछ क्षेत्रों में अधिक ऊर्जावान रह सकेंगे। हालांकि आपके घर माहौल शांतिपूर्ण न रहने की आशंका है क्योंकि आपके घर के सदस्यों के बीच कुछ विवाद या झगड़े हो सकते हैं। आप भी स्वभाव से थोड़ा झगड़ालू किस्म के हो सकते हैं और आपको अपने प्रियजनों की समस्याओं या उनके दृष्टिकोण को समझने में परेशानी हो सकती है। साथ ही, आप उन पर किसी वजह से नाराज़ हो सकते हैं या उनसे ऊंची आवाज़ में बात कर सकते हैं। इस अवधि में आपकी माता जी के स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है इसलिए आपको यह सलाह दी जाती है कि उनके स्वास्थ्य का ख़्याल रखें और देखभाल करें।

यदि आप ख़ुद के व्यवसाय में हैं तो मंगल का यह गोचर आपके लिए अनुकूल सिद्ध हो सकता है। संभावना है कि इस दौरान आप अपने व्यवसाय में वृद्धि और विस्तार करने के लिए कई अवसर प्राप्त करने में सफल होंगे। साथ ही, आप अपनी संबंधित मार्केट में प्रतिष्ठा बनाने में भी कामयाब होंगे, जो कि आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है।

यदि आप सर्विस में हैं तो इस दौरान आपकी पकड़ अपने काम में अच्छी होगी। इस दौरान आपके वरिष्ठों द्वारा आपके बेहतर प्रदर्शन की सराहना की जा सकती है। वहीं जो जातक नौकरी की तलाश कर रहे हैं या यूं कहें कि फ़्रेशर हैं, उनके लिए भी यह समय अनुकूल सिद्ध हो सकता है। प्रबल संभावना है कि इस दौरान आप अपनी मनपसंद नौकरी पाने में कामयाब हो सकते हैं। इसके अलावा, जो जातक किसी नए उद्यम में प्रवेश करना चाहते हैं या कुछ नया शुरू करने की योजना बना रहे हैं, उन्हें इस दौरान अपने प्रयासों में सफलता हासिल हो सकती है। आपको सकारात्मक परिणाम मिलने के योग बन रहे हैं। कुल मिलाकर मंगल का यह गोचर आपके पेशेवर जीवन के लिए फलदायी सिद्ध हो सकता है।

उपाय : बजरंग बाण का पाठ करें और मंगलवार का व्रत करें।

मिथुन साप्ताहिक राशिफल

करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क

कर्क राशि के जातकों के लिए मंगल उनके दो महत्वपूर्ण भावों अर्थात पांचवें भाव यानी कि शिक्षा, संतान के भाव और दसवें भाव यानी कि करियर के भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल कर्क राशि के नौवें भाव यानी कि भाग्य और धर्म के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपका झुकाव आध्यात्मिकता और आपकी संस्कृति व धर्म के बारे में कुछ नया सीखने की ओर रह सकता है। आप कुछ तीर्थ स्थलों पर जाकर अपनी संस्कृति और धर्म के बारे में ज्ञान प्राप्त करने का प्रयास कर सकते हैं। शिक्षा के दृष्टिकोण से यह ऐसा समय है कि यदि आप आगे की पढ़ाई के लिए योजना बना रहे हैं तो आपको अपनी योजनाओं में सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना अधिक है। इस दौरान आप अपने पिता के साथ संबंध में कुछ सुधार देख सकेंगे। आपको अपने पिता या पैतृक संपत्ति से किसी प्रकार का लाभ प्राप्त हो सकता है। साथ ही, आपके दान-पुण्य के कामों की वजह से समाज में आपकी अच्छी प्रतिष्ठा बन सकती है।

छात्रों के लिए यह समय अनुकूल रहने वाला है। इस दौरान आप अपनी पढ़ाई के प्रति ध्यान केंद्रित करने और एकाग्रचित्त होकर अध्ययन करने में सफल रह सकेंगे, जिसका सकारात्मक प्रभाव आपकी परीक्षाओं में देखा सकता है। साथ ही, असाइनमेंट्स और प्रोजेक्ट्स में बेहतर प्रदर्शन के लिए आपके अध्यापकों द्वारा सराहना भी की जा सकती है।

आर्थिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो इस दौरान लंबी अवधि की परियोजनाओं में निवेश करना आपके लिए लाभकारी सिद्ध हो सकता है। जो जातक रियल एस्टेट और यात्रा उद्योग से जुड़े हुए हैं, उनके लिए भी मंगल का यह गोचर अनुकूल सिद्ध हो सकता है। आप अपने व्यापार क्षेत्र में प्रसिद्धि हासिल कर सकेंगे। यदि आप इस दौरान अपने व्यापार के प्रचार और विस्तार के लिए यात्राएं करते हैं तो आपको अपने प्रयासों में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होने की संभावना अधिक है।

उपाय: अपने काम करने वाले हाथ में लाल जैस्पर या लाल तुरमली (टूमलाइन) को ब्रेसलेट के रूप में पहनें या फिर तांबे या अष्टधातु के साथ अंगूठी पहनें।

कर्क साप्ताहिक राशिफल

सिंह

सिंह राशि के जातकों के लिए मंगल उनके चौथे भाव यानी कि सुख, आराम और नौवें भाव यानी कि धर्म के भाव का स्वामी है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार मंगल सिंह राशि के जातकों के लिए एक योगकारक ग्रह है। कुंडली में मंगल की मज़बूत स्थिति सिंह राशि के जातकों के लिए वरदान साबित हो सकती है और कमज़ोर स्थिति हानिकर साबित हो सकती है। इसलिए मंगल का गोचर सिंह राशि के जातकों के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण होता है क्योंकि यह सिंह राशि के जातकों जीवन में कुंडली में स्थिति के अनुसार कई बड़े बदलाव लेकर आता है। इस गोचर काल के दौरान मंगल सिंह राशि के आठवें भाव यानी कि आकस्मिक घटनाओं और अनिश्चितता के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपको स्वास्थ्य संबंधी कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आपको अपनी ऊर्जा में कमी महसूस हो सकती है या यूं कहें कि कमज़ोरी महसूस हो सकती है। आपको यह सलाह दी जाती है अपने स्वास्थ्य का ख़्याल रखें और सड़क पर पैदल चलते समय या वाहन चलाते समय सावधानी बरतें। आपके घर का माहौल भी बहुत अच्छा न रहने की आशंका है। आपके घर के सदस्यों के बीच कुछ छोटे-मोटे विवाद और ग़लतफ़हमियां हो सकती हैं। साथ ही, आपके संबंध अपने पिता के साथ बहुत अच्छे नहीं रह सकते हैं और हो सकता है कि आप उनसे कोई लंबी बातचीत करने से भी बचें।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो आपको यह सलाह दी जाती है कि इस दौरान कोई भी डील साइन करते वक़्त या किसी कागज़ात पर दस्तख़त करते वक़्त सावधान रहें। हालांकि, यह समय पेशेवर योजनाएं और रणनीतियां बनाने के लिहाज से अनुकूल है लेकिन उन्हें इस दौरान किसी भी प्रकार से लागू या प्रस्तुत करना आपके लिए फलदायी सिद्ध नहीं हो सकता है। आप अपने पेशेवर जीवन में कार्यस्थल या कार्य प्रणाली से जुड़े बदलाव देख सकते हैं। जो जातक नौकरीपेशा हैं, उनके संबंध अपने बॉस के साथ बहुत अच्छे न रहने की आशंका है, जिसकी वजह से कार्यक्षेत्र में आपको कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। कुछ वजहों से आपकी छवि और प्रतिष्ठा पर भी नकारात्मक असर पड़ सकता है। इसलिए कार्यक्षेत्र में आपको अधिक सतर्क रहने तथा अपने बॉस से मधुर संबंध बनाए रखने की सलाह दी जाती है।

उपाय: बाधाओं को दूर करने के लिए मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर में मसूर की दाल दान करें।

सिंह साप्ताहिक राशिफल

कन्या

कन्या राशि के जातकों के लिए मंगल उनके तीसरे भाव यानी कि बल, भाई-बहन के भाव और आठवें भाव यानी कि विरासत और अनिश्चितता के भाव के स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल कन्या राशि के सातवें भाव यानी कि वैवाहिक सुख और संगठन के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपको अपने वैवाहिक जीवन में किसी तीसरे व्यक्ति के हस्तक्षेप के कारण कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आपके बीच कुछ विवाद और आपस बहस हो सकती है। ससुराल पक्ष के लोगों के साथ भी आपके संबंध बहुत अच्छे न रहने की आशंका है। वहीं जो जातक एकल जीवन व्यतीत कर रहे हैं और किसी रिश्ते में आने के लिए प्रयासरत हैं, उन्हें इस गोचर के दौरान अपना हमसफ़र मिलने की प्रबल संभावना है।

इस अवधि में आपका स्वभाव थोड़ा आक्रामक यानी कि गुस्सैल हो सकता है, जिसकी वजह से आपको अपने मित्रों के साथ संबंध में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। संभावना है कि इस दौरान आप कुछ यात्राएं कर सकते हैं लेकिन इन यात्राओं से आप अपने निजी जीवन में सुख और संतुष्टि का अनुभव नहीं कर सकेंगे। यदि आप यात्राएं करते हैं तो आपको अपनी यात्राओं के दौरान कीमती सामान के प्रति सतर्क और सावधान रहने की सलाह दी जाती है चूंकि किसी प्रकार की चोरी होने की आशंका है।

जो जातक ख़ुद के व्यवसाय में हैं, विशेष रूप से जो सर्विस सेक्टर से जुड़े व्यवसाय में हैं, उनके लिए यह समय बेहतर रहने वाला है। आप इस दौरान अप्रत्याशित रूप से कुछ अच्छे ग्राहक बनाने में सफल रह सकेंगे। वहीं जो जातक साझेदारी के व्यवसाय में हैं, उन्हें इस दौरान सतर्क रहने की सलाह दी है चूंकि ऐसी आशंका है कि आपके विरोधी या प्रतिद्वंद्वी आपके ख़िलाफ़ किसी प्रकार की साज़िश रचते हुए मार्केट में आपकी छवि को प्रभावित करने का प्रयास कर सकते हैं। जो जातक अतिथि सत्कार (हॉस्पिटैलिटी), आग या इस्पात (स्टील) से जुड़े व्यापार में हैं, उन्हें इस दौरान अपने व्यवसाय में कुछ उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय: मंदिर में अनार और लाल वस्त्र दान करें।

कन्या साप्ताहिक राशिफल

तुला

तुला राशि के जातकों के लिए मंगल उनके दूसरे भाव यानी कि धन और परिवार के भाव तथा सातवें भाव यानी कि वैवाहिक सुख और संगठन के भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल तुला राशि के छठे भाव यानी कि रोग और विवाद के भाव में गोचर करेगा।

ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि यह समय विवाहित जातकों के लिए बहुत अच्छा नहीं रहने वाला है। आपको इस दौरान किसी साथी के साथ यात्राओं के कारण अपने जीवनसाथी के साथ संबंध में अलगाव की स्थिति का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही, जीवनसाथी के साथ कुछ विवाद होने और रायभिन्नता (मतभेद) होने की भी आशंका है, जिससे आपके बीच भावनात्मक रूप से दूरियां बढ़ सकती हैं। आपके स्वास्थ्य में भी गिरावट होने की आशंका है। इस दौरान आपको पीठ दर्द और अल्सर जैसी समस्याएं परेशान कर सकती हैं। आपको यह सलाह दी जाती है कि अपने खान-पान और स्वास्थ्य का ख़्याल रखें।

जो छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, उनके लिए यह समय अच्छा रहने वाला है। इस दौरान आप किसी भी प्रकार की गला काट प्रतियोगिता का सामना करने तथा इसमें सफलता हासिल करने के लिए सक्षम हो सकते हैं।

जो जातक सर्विस सेक्टर में हैं, उनके लिए यह समय अनुकूल रहने वाला है। आप अपनी दक्षता और क्षमता से अपने सभी ग्राहकों को आकर्षित करने में सफलता हासिल कर सकते हैं। साथ ही, आपके विरोधी या शत्रु आपके सामने टिक नहीं पाएंगे।

जो जातक प्रोफ़ेशनल सर्विसेज़ में हैं, वे इस दौरान अपने कार्यक्षेत्र में वृद्धि और विस्तार देख सकेंगे। साथ ही, आपको अपने पेशे में एक अलग पहचान हासिल हो सकती है।

उपाय : मंगलवार का व्रत रखें और निर्धन लोगों को एक वक़्त का भोजन कराएं।

तुला साप्ताहिक राशिफल

वृश्चिक

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए मंगल उनके लग्न भाव तथा छठे भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल वृश्चिक राशि के पांचवें भाव यानी कि शिक्षा और प्रेम संबंध के भाव में गोचर करेगा।

यह समय आपके प्रेम जीवन के लिए बहुत अच्छा रहने वाला है। आप अपने प्रिय के प्रति अधिक आकर्षित नज़र आ सकते हैं और उनकी हर छोटी-बड़ी ख़्वाहिशों को पूरा करने के लिए पूरा ज़ोर दे सकते हैं, दूसरे शब्दों में कहें तो आप उनके प्रति एकदम समर्पित रह सकते हैं।

प्रबल संभावना है कि एकल जीवन व्यतीत कर रहे जातक इस दौरान किसी रिश्ते में प्रवेश कर सकते हैं। आप उनके लिए कुछ भी करने के लिए एकदम तैयार रह सकते हैं और उनके प्रति समर्पित रह सकते हैं। उनकी हर छोटी-बड़ी ज़रूरतों का ख़्याल रखना आप अपनी ज़िम्मेदारी समझेंगे।

स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाए तो इस दौरान आपको एसीडिटी और पाचन तंत्र से जुड़ी कोई समस्या हो सकती है। आपको यह सलाह दी जाती है कि अपने खान-पान के प्रति सतर्क रहें। ज़्यादा गर्म और मिर्च-मसालेदार भोजन से परहेज करें चूंकि इसकी वजह से आपको पेट से जुड़े अन्य रोग भी परेशान कर सकते हैं।

इंजीनियरिंग कर रहे छात्रों के लिए यह समय अनुकूल सिद्ध हो सकता है। इस दौरान आप अपनी पढ़ाई की ओर ध्यान केंद्रित करने तथा एकाग्रचित्त होकर पढ़ाई करने में सफल रह सकेंगे, जो कि आपको आगे सफलता दिलाएगा। इस दौरान आपको इंडस्ट्री में काम करने का अवसर भी प्राप्त हो सकता है।

आर्थिक दृष्टिकोण से भी यह समय वृश्चिक राशि के जातकों के लिए अनुकूल रहने वाला है। आप इस अवधि में एक से अधिक स्रोतों से कमाई कर सकते हैं। किसी स्रोत से अचानक तथा किसी अवैध स्रोत से कमाई होने की भी संभावना है। इस दौरान आप अपनी रुचि के कार्यों को पेशे के रूप में बदल सकते हैं और उससे भी कमाई करने में सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

जो जातक ख़ुद के व्यवसाय में हैं, उन्हें इस अवधि किसी भी प्रकार का बड़ा जोखिम लेते समय यानी कोई बड़ा निवेश करते समय सावधान रहने की सलाह दी जाती है चूंकि ऐसी आशंका है कि आपको अपनी योजना के अनुरूप परिणाम प्राप्त नहीं हो सकते हैं।

उपाय : प्रतिदिन सुबह एक बार में सात बार हनुमान चालीसा का जाप करने से आपको सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।

वृश्चिक साप्ताहिक राशिफल

बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु

धनु राशि के जातकों के लिए मंगल उनके पांचवें भाव यानी कि शिक्षा और संतान के भाव और बारहवें भाव यानी कि भूमि, यात्रा और व्यय के भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल धनु राशि के चौथे भाव यानी कि संपत्ति, परिवार और सुख के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आप अधिक महत्वाकांक्षी हो सकते हैं। यदि आप प्रेम संबंध में हैं तो इस अवधि में आप अपने प्रिय के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकते हैं और उन पर नज़र रखने की कोशिश कर सकते हैं। इस दौरान आपका झुकाव अपने परिवार की देखभाल और परिवार के सदस्यों की समस्याओं की ओर रह सकता है। साथ ही आप अपने घर की सुख-शांति और आराम के लिए मोटा पैसा ख़र्च कर सकते हैं। इसके अलावा, आप किसी भूमि या कोई वाहन ख़रीदने पर भी धन ख़र्च कर सकते हैं। जो जातक अभी नए-नए माता-पिता बने हैं, वे अपनी संतान के प्रति अधिक संवेदनशील नज़र आएंगे। आपको यह सलाह दी जाती है कि अपने बच्चे के स्वास्थ्य का ख़्याल रखें क्योंकि इस दौरान उसकी तबियत ख़राब होने की आशंका है

जो छात्र विदेश के किसी संस्थान से शिक्षा प्राप्त करने की योजना बना रहे हैं, वे इस अवधि में प्रयास कर सकते हैं क्योंकि उन्हें अपने आवेदनों में सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना अधिक है। साथ ही जो छात्र अपनी पढ़ाई के साथ कोई नया कोर्स करने या सीखने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए भी यह समय प्रबल है। आपको अपनी योजना के अनुसार कई अवसर प्राप्त हो सकते हैं।

यह समय उन जातकों के लिए अनुकूल सिद्ध हो सकता है, जो विदेशी ग्राहकों के साथ काम कर रहे हैं। इस दौरान आप अपनी डीलिंग्स से अच्छा खासा लाभ अर्जित करने में सफल रह सकेंगे।

जो जातक सर्विस में हैं, वे इस अवधि में अपनी नौकरी में बदलाव करने की योजना बना सकते हैं चूंकि ऐसी आशंका है कि कार्यस्थल पर आपके ख़िलाफ़ किसी प्रकार की राजनीति हो सकती है।

जो जातक अतिथि सत्कार (हॉस्पिटैलिटी) उद्योग से जुड़े हुए हैं, उनके लिए मंगल का यह गोचर अनुकूल सिद्ध हो सकता है।

उपाय: प्रतिदिन भगवान शिव की पूजा करें और शिवलिंग पर जल चढ़ाएं।

धनु साप्ताहिक राशिफल

मकर

मकर राशि के जातकों के लिए मंगल उनके चौथे भाव यानी कि आराम और माता के भाव तथा ग्यारहवें भाव यानी कि आय और लाभ के भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल मकर राशि के तीसरे भाव यानी कि बल, प्रयास और भाई-बहन के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपके संबंध अपने भाई-बहनों के साथ बहुत अधिक सौहार्दपूर्ण न रहने की आशंका है। आपका उनसे छोटी-छोटी चीज़ों पर विवाद हो सकता है। स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाए तो इस दौरान आपकी इम्युनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) अच्छी रह सकती है। यदि आप किसी बीमारी से ग्रसित हैं तो प्रबल संभावना है कि इस अवधि में आप जल्द ही उस बीमारी से रिकवर होने में सफलता प्राप्त कर सकते हैं या यूं कहें कि आपको जल्दी राहत मिल सकती है।

इस दौरान आप अपना सामाजिक दायरा बढ़ाने का प्रयास कर सकते हैं। इसके लिए आप कुछ नए दोस्त बना सकते हैं और उनके साथ कहीं बाहर जाने की योजना बना सकते हैं। आप मनोरंजन के लिए कुछ छोटी दूरी यात्राओं की योजना भी बना सकते हैं। आशंका है कि इस दौरान आपका व्यवहार अपने आस-पास के लोगों के साथ थोड़ा असभ्य हो सकता है, जिसकी वजह से आपके कुछ दोस्त आपसे दूरी बनाने का प्रयास कर सकते हैं।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो नौकरी की तलाश कर रहे जातकों के लिए यह समय अनुकूल रहने वाला है। आपको इस दौरान अपनी मनपसंद नौकरी मिलने की संभावना अधिक है यानी कि आपको अपने प्रयासों के सकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

यह समय उन जातकों के लिए भी प्रबल है, जो अपनी रुचि के कार्यों को अपने पेशे के रूप में बदलना चाहते हैं। ऐसा करने में आपको जल्दी और आसानी से सफलता प्राप्त हो सकती है।

जो जातक ख़ुद के व्यवसाय में हैं, उन्हें इस दौरान कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। आपको यह सलाह दी जाती है कि किसी भी कागज़ पर दस्तख़त करते समय या कोई डील करते समय सतर्क रहें क्योंकि इस दौरान आपके साथ धोखाधड़ी या छल-कपट होने की आशंका अधिक है।

उपाय : किसी मंदिर में एक आंवले का पेड़ लगाएं और उसमें 4 दिनों तक पानी दें।

मकर साप्ताहिक राशिफल

कुंभ

​​कुंभ राशि के जातकों के लिए मंगल उनके तीसरे भाव यानी कि संचार, लघु यात्रा और मित्र के भाव तथा दसवें भाव यानी कि कर्म भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल कुंभ राशि के द्वितीय भाव में गोचर करेगा जिससे जातक के धन, संपत्ति, कुटुंब, वाणी, और शिक्षा का ज्ञात होता है। ऐसे में दूसरे भाव में मंगल की उपस्थिति आपको कार्यक्षेत्र पर अधिक मेहनत कराएगी। हालांकि आपकी यही मेहनत ही आपको भविष्य में सफलता मिलने के योग भी बनाएगी। इसलिए शुरुआत से ही अपनी मेहनत जारी रखें। कार्यस्थल पर आपके शत्रु भी आपको परेशानी देते दिखाई देंगे।

आर्थिक जीवन में आपके खर्चों में आई वृद्धि आपको आर्थिक तंगी दे सकती है। आशंका है कि ये खर्चें आपकी किसी खराब आदत के कारण हो। इसलिए बेकार की वस्तुओं की ख़रीदारी पर अपना धन व्यर्थ न करें। पारिवारिक जीवन में भी अपने माता-पिता से बातचीत करते समय मर्यादित आचरण बरतें, अन्यथा घर पर आपकी छवि ख़राब हो सकती है। मंगल देव कई जातकों का व्यवहार कुछ चिडचिडा भी बनाएंगे और इसके परिणामस्वरूप आपका अपने ही परिजनों या किसी करीबी से विवाद होने की आशंका रहेगी।

इस राशि के छात्रों की बात करें तो आपको मंगल अपनी शिक्षा में कुछ व्यवधान दे सकते हैं। इस कारण न चाहते हुए भी आप अपने खराब स्वास्थ्य या ध्यान भ्रमित होने के चलते शिक्षा में अच्छा प्रदर्शन देने में असमर्थ रहेंगे। वहीं स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से ये गोचर आपको नेत्र संबंधी कुछ समस्या दे सकता है। इसलिए जितना संभव हो अधिक प्रदूषण वाली जगहों पर जाने से बचें।

उपाय: अपने घर में एक नीम का पेड़ लगाएं और उसकी देखभाल करें।

कुंभ साप्ताहिक राशिफल

मीन

मीन राशि के जातकों के लिए मंगल उनके दूसरे भाव यानी कि धन और परिवार के भाव तथा नौवें भाव यानी कि पिता और भाग्य के भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल मीन राशि में लग्न भाव में स्थित होंगे। नौवें भाव और लग्न भाव का यह संबंध राजयोग का निर्माण करता है इसलिए मंगल का यह गोचर मीन राशि के जातकों के लिए अनुकूल सिद्ध हो सकता है।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो इस दौरान आप स्वभाव से थोड़ा गुस्सैल हो सकते हैं। आपको बात-बात पर गुस्सा आ सकता है। आपका झुकाव अपने परिवार और प्रियजनों की ओर अधिक रहेगा और आप कुछ चीज़ें भेंट करके या उनके साथ समय बिताकर उनके लिए कुछ ख़ास करने की योजना बना सकते हैं।

इस दौरान आप मुखर हो सकते हैं और कुछ ऐसे तीखे शब्दों का प्रयोग कर सकते हैं, जो कि आपके आस-पास के लोगों को भावनात्मक रूप से आहत कर सकता है। हालांकि, आपको अपने सभी प्रयासों में सफलता मिलने की संभावना अधिक है।

आर्थिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो यह अवधि अनुकूल सिद्ध हो सकती है। इस दौरान आपको अपने पिता या पैतृक वंश से नकद या संपत्ति के रूप में कुछ लाभ प्राप्त हो सकता है। यदि आप सट्टा बाज़ारों जैसे कि स्टॉक मार्केट, शेयर मार्केट आदि से जुड़े हुए हैं तो आपके लिए भी यह समय लाभकारी सिद्ध हो सकता है।

जो जातक ख़ुद के व्यवसाय में हैं, वे अपने व्यवसाय में वृद्धि और विकास देख सकेंगे। इस दौरान आप कुछ अच्छे डील्स करने में कामयाबी हासिल कर सकते हैं साथ ही, अपने प्रोडक्ट की बेहतर मार्केटिंग करने में भी सफलता प्राप्त कर सकते हैं। जिससे कि आप अपनी संबंधित मार्केट में अच्छी छवि और नाम बना सकते हैं। वहीं जो जातक किसी नए उद्यम में प्रवेश करने या कोई व्यापार करने की योजना बना रहे हैं, उन्हें भी इस अवधि के दौरान अपना करियर शुरू करने के लिए कई अवसर प्राप्त हो सकते हैं।

उपाय : अपने घर से बाहर निकलने से पहले अपने बटुए में तांबे का एक टुकड़ा रखें या अपनी जेब में लाल रुमाल रखें।

मीन साप्ताहिक राशिफल

सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।