• Varta Astrologers
  • Mragaank
  • Parul

शनि मकर राशि में अस्त (18 जनवरी 2022)

18 जनवरी 2022 को शनि मकर राशि में अस्त हो रहे हैं और इस घटना के विस्तृत प्रभाव को प्रकट करते हुए हम इस लेख में सभी 12 राशियों के जातकों के जीवन पर इस अस्त का ज्योतिषी परिणाम बताने जा रहे हैं। ये भविष्यवाणियां पूरी तरह वैदिक ज्योतिष के तथ्यो पर आधारित हैं और इसकी मदद से शनि के अस्त होने पर समस्त राशियों के जीवन में आने वाले परिवर्तनों को दर्शाया गया है। किसी भी ग्रह का अस्त होना एक ऐसी घटना है जहां वो ग्रह सूर्य के बहुत करीब आ जाता है और काफी हद तक अपने कारकतत्व से संबंधित परिणाम देने में विफल हो जाता है। ऐसे में इस लेख में भी आप जानेंगे कि शनि का अस्त होना आपके जीवन में क्या कुछ बदलाव लेकर आ रहा है।

शनि मकर राशि में अस्त

शनि के मकर राशि में अस्त होने पर आपके व्यक्तिगत जीवन में क्या आएंगे बदलाव? विद्वान ज्योतिषियों से करें फोन पर बात

वैदिक ज्योतिष में शनि ग्रह

शनि ग्रह को कार्यक्षेत्र, जीवन काल और प्रतिष्ठा का सूचक माना गया है। यह जातक के जीवन में कड़ी मेहनत, पद-प्रतिष्ठा, प्रतिबद्धता और ईमानदारी को दर्शाता है। ऐसे में किसी भी कुंडली में एक मजबूत शनि का होना उस व्यक्ति को शासक बनाएगा और उसे कौशल, नौकरी में एक उच्च पद, धन भाग्य, व्यापार में अच्छा लाभ देने में मदद करेगा। शनि देव ही किसी भी व्यक्ति को कड़ी मेहनत करने और उसके पश्चात ही उसे अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में सक्षम बनाते हैं। शनि ग्रह ही विदेश से जुड़े अवसरों का सूचक ग्रह है और कुंडली में शनि की शुभ स्थिति व्यक्ति को करियर के संबंध में विदेशी यात्रा पर जाने के योग बनाती है।

मकर राशि में शनि अस्त का समय

शनि 18 जनवरी 2022 को सुबह 04 बजकर 18 मिनट पर अस्त होंगे और फिर 22 फरवरी 2022 को रात 10 बजकर 50 मिनट पर अपनी सामान्य अवस्था में आ जाएंगे। इसके परिणामस्वरूप कुल मिलाकर ये स्थिति जातकों को कार्यक्षेत्र पर अशांति और कम संतुष्टि देने के योग बनाएगी। साथ ही इस समय जातक अपनी स्थिरता में भी कमी की अनुभूति करेंगे। इन जातकों द्वारा की जा रही कड़ी मेहनत के लिए उन्हें अपने करियर में भी उचित पहचान नहीं प्राप्त होगी। वहीं इन जातकों को कार्यस्थल पर अपने काम पर प्रत्येक दिन का प्रबंधन करना भी कठिन रहेगा। कुछ जातक अपनी नौकरी में बदलाव या अवांछित स्थानान्तरण होने से भी कष्ट उठाएंगे।

हालांकि 22 फरवरी, 2022 को जब शनि सामान्य स्थिति में आ जाएंगे, तब जातकों को अपने कार्यक्षेत्र पर सही पहचान, पद-प्रतिष्ठा आदि अर्जित करने में सफलता मिलेगी। इस दौरान उन्हें पदोन्नति और अन्य पुरस्कार मिलने की भी संभावना है। वहीं शनि का अपनी सामान्य स्थिति में पुनः लौटना जातकों को करियर में आगे बढ़ाते हुए उनके जीवन में स्थिरता लाने के योग भी बनाएगा।

Click here to read in English: Saturn Combust in Capricorn

यह भविष्यफल चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र राशि जानने के लिए क्लिक करें: चंद्र राशि कैलकुलेटर

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए शनि उनके दशम व एकादश भाव के स्वामी हैं और अब वे आपकी राशि के दशम भाव में अस्त है। इसके परिणामस्वरूप आपको कुछ मानसिक तनाव संभव होगा और आपको अपने प्रयासों को आगे बढ़ाने में कई बाधाओं का सामना भी करना पड़ सकता है।

करियर के लिहाज़ से आपका अपने काम में मन नहीं लगेगा और कार्यक्षेत्र पर काम का दबाव सामान्य से अधिक भी हो सकता है। साथ ही आशंका है कि अपनी कड़ी मेहनत के बावजूद भी आप कार्यस्थल पर वरिष्ठ अधिकारियों व अपने बॉस से इच्छानुसार प्रोत्साहन व तारीफ़ हासिल न कर सकें और ये स्थिति करियर में आगे बढ़ने में आपके लिए बाधक सिद्ध होगी।

यदि आप व्यापार से जुड़े हैं तो आपको धन हानि संभव है और कई कारणवश आपके व्यवसाय में भी आपको बाधाओं से दो-चार होना पड़ेगा। खासतौर से पार्टनरशिप के बिज़नेस से जुड़े जातकों का अपने साथी के साथ मुनाफे के संबंध में कुछ विवाद हो सकता है। इसके अलावा जो जातक इस समय एक नया व्यवसाय शुरू करने की सोच रहे हैं तो उनके लिए अवधि थोड़ा प्रतिकूल सिद्ध होगी। क्योंकि कुछ भी नया शुरू करना आपके लिए नुकसानदायक रहेगा। साथ ही मौजूदा कारोबार में निवेश करने से भी अभी बचना ही आपके लिए बेहतर रहेगा।

आर्थिक पक्ष को देखें तो आप मध्यम धन प्राप्त करने में सक्षम होंगे और इससे आप अच्छी बचत को लेकर भी काफी सीमित दिखाई देंगे। साथ ही कई परिस्थिति में आपको अपने बड़ों पर भी अपने धन का खर्च करना होगा, जिसके चलते आपके खर्चों में वृद्धि नज़र आएगी। ऐसे में इन सभी खर्चों के चलते आप अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए किसी प्रकार का कोई ऋण लेने का भी सोच सकते हैं। परंतु ये ऋण लेना आपको कुछ कष्टदायक स्थिति में डाल सकता है।

निजी जीवन में भी शादीशुदा जातकों का अपने जीवनसाथी के साथ विवाद होगा और संभव है कि ये विवाद आपस की समझ की कमी के कारण उत्पन्न हो। साथ ही कई जातक अपने मित्रों के साथ भी मतभेद की स्थिति में पड़ सकते हैं। इसके अलावा शनि देव का प्रभाव आपको स्वास्थ्य जीवन में कुछ तनाव, जोड़ों और पैरों में दर्द की समस्या देने के योग बनाएगा। इस समय आपकी ऊर्जा में काफी कमी देखी जाएगी, जिससे आप में कुछ थकान भी देखी जा सकती है।

उपायः प्रतिदिन हनुमान चालीसा का जाप करें।

मेष साप्ताहिक राशिफल

वृषभ

वृषभ राशि के जातकों के लिए शनि उनके नवम व दशम भाव के स्वामी हैं और अब वे आपके नवम भाव में ही स्थिति हैं। इसके परिणामस्वरूप कार्यक्षेत्र के सिलसिले में आपको विदेश यात्रा पर जाने के योग बनेंगे। इन जातकों के लिए अपने काम को लेकर अधिक प्रतिबद्धता संभव होगी।

करियर में शनि देव आपको वृद्धि देते हुए पदोन्नति और अन्य लाभ आदि से जुड़े अच्छे परिणाम देने का कार्य करेंगे। इससे कई जातकों को नौकरी के नए अवसर मिलेंगे। आपके द्वारा की गई कड़ी मेहनत के लिए कार्यस्थल पर आपके वरिष्ठ अधिकारियों का समर्थन और उनसे उचित मान-सम्मान मिलने के योग बनेंगे। वहीं यदि आप व्यापार करते हैं तो शनि का अस्त होना आपके लिए भी सकारात्मक बदलाव लेकर आएगा। जिसके फलस्वरूप आप अपने व्यवसाय के संबंध में नई रणनीति तैयार करने और उससे अच्छा मुनाफ़ा अर्जित करने में सक्षम होंगे। पार्टनरशिप में व्यापार कर रहे जातकों को भी अपने व्यापारिक साझेदारों का सहयोग प्राप्त होगा। साथ ही ये अवधि कोई नया व्यवसाय शुरू करने के लिए भी बेहद उत्तम रहने वाली है।

आर्थिक जीवन के लिहाज़ से आप इस समय धन की बचत करते हुए अपने जीवन में समृद्धि देख सकेंगे। नई निवेश योजनाओं से जुड़ा हर बड़ा निर्णय लेना आपको अच्छा धन लाभ प्रदान करेगा। इसके अलावा निजी जीवन में भी शादीशुदा जातक अपने जीवनसाथी के साथ एक अच्छा संबंध बनाने में सक्षम होंगे और ये सब कुछ आपकी आपसी समझ के कारण संभव होगा। साथ ही आपको इस समय अपने मित्रों से भी भरपूर सहयोग मिलने की संभावना रहेगी।

अब बात करें स्वास्थ्य की तो इस अवधि में आप स्वस्थ रहेंगे और यह सकारात्मक बदलवा आपके उत्साह व ऊर्जा के स्तर में वृद्धि के कारण संभव होगा। इसलिए इस समय का उचित लाभ उठाना ही आपके लिए अनुकूल रहेगा।

उपाय: शनिवार के दिन गरीबों व ज़रूरतमंदों में पुराने कपड़े दान करें।

वृषभ साप्ताहिक राशिफल

मिथुन

मिथुन राशि के जातकों के लिए शनि उनके अष्टम व नवम भाव के स्वामी हैं और अब आपके अष्टम भाव में स्थित है। इसके परिणामस्वरूप आपको किसी भी कार्यों को पूरा करने में बहुत सारी बाधाओं और देरी का सामना करना पड़ेगा। संभव है कि आपको अपने लक्ष्यों को आसानी से पूरा करने में सफलता मिले।

कार्यक्षेत्र पर ये समय आपको अपने कार्यों में कठिन चुनौतियां देगा। साथ ही इस समय आप पर काम का अधिक दबाव भी दिखाई देगा और इस कारण आप अपने कार्यों को समय पर पूरा करने में असक्षम रहेंगे। आपकी राशि में शनि की ये स्थितियां आपको निराशा देंगी और इसके चलते कई जातक अपनी नौकरी में भी संतुष्ट दिखाई नही देंगे। वहीं यदि आप व्यवसाय करते हैं तो आपको किसी अप्रत्याशित रूप से कोई बड़ी हानि होने की आशंका है। ऐसे में आपको इस हानि के पीछे की वजह और कारण पहचानते हुए उसे जल्द ही हल ज़रूरत होगी। हालांकि आपको अभी अपने व्यवसाय से जुड़े सभी बड़े निर्णय लेने से भी बचना होगा, क्योंकि किसी भी निर्णय के लिए ये अवधि उचित नहीं है।

आर्थिक पक्ष के लिहाज़ से इस समय आपको यात्रा के दौरान धन हानि संभव है और ये हानि धन बचत को बनाए रखने में आपकी ओर से हुई किसी लापरवाही के कारण होगी। इसलिए आपके लिए इस दौरान अधिक धन अर्जित करना खासा मुश्किल रहेगा। इसके अलावा निजी जीवन में घर-परिवार में चल रही पारिवारिक कलह के कारण शादीशुदा जातकों का अपने जीवनसाथी के साथ अहंकार से जुड़ी कुछ समस्या उत्पन्न कर सकता है। इससे आपके और जीवनसाथी के संबंधों में सामंजस्यता की कमी नज़र आएगी।

वहीं शनि देव अस्त होते हुए आपको स्वास्थ्य जीवन में अपने कंधों में दर्द, गर्दन के दर्द और अन्य कुछ शारीरिक समस्याएं देने के योग बनाएंगे। इसलिए अपने अच्छे शारीरिक स्वास्थ्य व मानसिक स्वास्थ्य के लिए नियमित रूप से आपको ध्यान लगाने की सलाह दी जाती है।

उपाय: "ॐ नमो भगवते वासुदेवाय" का प्रतिदिन 11 बार जाप करें।

मिथुन साप्ताहिक राशिफल

कर्क

कर्क राशि के जातकों के लिए शनि उनके सप्तम व अष्टम भाव के स्वामी हैं और अब वे आपकी राशि के सप्तम भाव में स्थित हैं। इसके परिणामस्वरूप आपको अपने रिश्तों में समस्याओं से दो-चार होना पड़ेगा।

कार्यक्षेत्र पर नौकरीपेशा जातकों को अपनी नौकरी में वृद्धि और विकास से संतुष्टि नहीं मिलेगी। कार्यस्थल पर काम का दबाव अधिक रहेगा और आपके वरिष्ठ अधिकारी व सहकर्मियों के साथ संबंधों में भी समस्या आएगी। इसके कारण आप कार्यों में अपना अच्छा प्रदर्शन नहीं दे सकेंगे। हालांकि यदि आप व्यापार करते हैं तो आप मध्यम गति से लाभ अर्जित सकेंगे। वहीं पार्टनरशिप के व्यापार से जुड़े जातकों को भी अपने पार्टनर के साथ संबंधों में कुछ समस्या संभव है। व्यापार के मामले में मार्किट से प्रतिस्पर्धा भी आपके विस्तार में बाधा उत्पन्न करेगी।

आर्थिक रूप से ये समय आपके लिए सहज नहीं होगा, क्योंकि इस दौरान आपके खर्चे बढ़ेंगे। कुछ जातकों को अपने करीबी रिश्तेदारों और परिजनों के स्वास्थ्य संबंधित मुद्दों के कारण अपने परिवार पर धन का एक बड़ा भाग भी खर्च करना पड़ सकता है। व्यक्तिगत पक्ष के लिहाज़ से शादीशुदा जातकों का अपने जीवनसाथी के साथ संचार संबंधी समस्याओं के कारण विवाद उत्पन्न होगा और इससे आप दोनों के बीच आपसी समझ में कमी आएगी। इसके फलस्वरूप आपसी मतभेदों को सुलझाना आपके लिए चुनौतीपूर्ण हो सकता है।

इसके अलावा शनि देव का प्रभाव स्वास्थ्य के मामले में आपको सेहत से जुड़ी परेशानियां भी देने के योग बना रहा है। क्योंकि इस दौरान आप जोड़ों में तेज दर्द, तंत्रिका संबंधी समस्याओं आदि के शिकार हो सकते हैं। इससे आपको चिंता व तनाव भी संभव है। इसलिए ध्यान करना ही आपके लिए अधिक अनुकूल रहने वाला है।

उपाय: "ॐ नमः शिवाय" का प्रतिदिन 21 बार जाप करें।

कर्क साप्ताहिक राशिफल

सिंह

सिंह राशि के जातकों के लिए शनि उनके छठे व सातवें भाव के स्वामी हैं और अब छठे भाव में स्थित हैं। इसके परिणामस्वरूप इस समय आप अपने काम पर ध्यान केंद्रित करने के लिए खासा उत्सुक नज़र आएंगे। आप अपने विरोधियों पर भी कुशलतापूर्वक विजय प्राप्त करने की स्थिति में होंगे।

करियर के लिहाज़ से इस अवधि में नौकरीपेशा जातक अपने कार्यक्षेत्र पर अच्छा प्रदर्शन देने और अपनी कड़ी मेहनत के लिए अपने वरिष्ठ अधिकारियों से सही प्रोत्साहन प्राप्त करेंगे। कई जातकों को ये समय नई नौकरी मिलने के अच्छे अवसर भी बनाएगा और इससे उन्हें उच्च संतुष्टि मिलने की संभावना रहेगी।

वहीं यदि आप व्यवसाय करते हैं तो अपने ज्ञान के बल पर आप अच्छी उन्नति प्राप्त करने की स्थिति में होंगे। पार्टनरशिप के व्यापार से जुड़े जातकों के लिए भी अपने व्यापारिक पार्टनर से समर्थन प्राप्त करना संभव होगा। कई जातक इस दौरान किसी प्रकार का कोई नया व्यवसाय उद्यम भी शुरू कर सकते हैं।

इसके अलावा आर्थिक जीवन में भी आपको अच्छा धन हासिल करने में सफलता मिलेगी। जिसके कारण आप धन को संचय करते हुए अपनी अच्छी बचत कर सकेंगे। निजी जीवन में भी शादीशुदा जातक अपने और जीवनसाथी के बीच सौहार्दपूर्ण संबंध बनाए रखने की स्थिति में होंगे। क्योंकि शनि देव की ये अवस्था आप दोनों के बीच अच्छी समझ और संवादशैली में अनुकूलता लाएगी।

इसके अतिरिक्त स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से भी आप अच्छा स्वास्थ्य बनाए रखने में इस दौरान पूरी तरह सक्षम होंगे। इससे आपकी ऊर्जा और उत्साह के स्तर में भी वृद्धि आएगी।

उपायः शनिवार और सोमवार के दिन किसी भी मंदिर में जाकर भगवान शिव को दूध चढ़ाएं।

सिंह साप्ताहिक राशिफल

कन्या

कन्या राशि के जातकों के लिए शनि उनके पंचम और छठे भाव के स्वामी हैं और अब वे आपके पंचम भाव में अस्त हैं। ऐसे में शनि अस्त की ये स्थिति आध्यात्मिक मामलों में आपकी रुचि बढ़ाएगी और आप उसी के संबंध में किसी धार्मिक यात्रा पर जाने का प्लान कर सकते हैं।

कार्यक्षेत्र पर आपको इस समय अपने उन सभी चुनौतीपूर्ण कार्यों को पूरा करने की आवश्यकता होगी जो आपको आगे चलकर परेशान कर सकते हैं। कई जातकों को ये समय नौकरी के नए अवसर मिलने के योग भी बनाएगा और इससे आपकी इच्छाओं की पूर्ति संभव है। यदि आप व्यवसाय में हैं तो आपको मध्यम लाभ हासिल तो होंगे, साथ ही कुछ हानि भी संभव है। वहीं व्यापार में कई जातकों को अपने प्रतिस्पर्धियों से भी कठिन चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा।

अब बात करें आर्थिक जीवन की तो धन और लाभ कमाने के मामले में आपको कुछ परेशानी होगी। क्योंकि इस दौरान आपको प्रयासों के बाद भी धन अर्जित करने में देरी संभव है। इससे धन की बचत करना आपके लिए ख़ासा मुश्किल रहेगा। व्यक्तिगत जीवन में भी अपने परिवार और बच्चों को लेकर चिंताएं आपके मानिसक तनाव में वृद्धि का कारण बन सकती है। इस कारण सबसे अधिक दाम्पत्य जातक अपनी संतान की वृद्धि व उनके विकास को लेकर काफी परेशान व चिंतित दिखाई देंगे। साथ ही अपने अहंकार के कारण जीवनसाथी के साथ आपकी समझ में भी गिरावट आने की आशंका है।

शनि देव का अस्त होना स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से आपको सर्दी और तेज बुखार जैसी कई स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित कर सकता है। साथ ही आपको अपने बच्चों के खराब स्वास्थ्य पर भी अपना धन खर्च करना पड़ेगा।

उपायः शनिवार के दिन भैंस को हरी घास खिलाएं।

कन्या साप्ताहिक राशिफल

क्या हैं आपके जीवन की ख़ास बातें? जानने के लिए खरीदें बृहत् कुंडली

तुला

तुला राशि के जातकों के लिए शनि उनके चतुर्थ व पंचम भाव के स्वामी हैं और अब वे चतुर्थ भाव में स्थित हैं। ऐसे में शनि का चतुर्थ भाव में अस्त होना आपकी सुख-सुविधाओं में कमी, पारिवारिक संबंधों में तनाव आदि मिलने के योग बनाएगा।

कार्यक्षेत्र पर नौकरीपेशा जातकों को अपने काम में संतुष्टि नहीं मिलेगी, क्योंकि कार्यस्थल पर अधिक तनाव आपको परेशान कर सकता है। आपको अपने सहकर्मियों से भी कई बाधाओं का सामना करना पड़ेगा। आशंका ये भी है कि आपके और वरिष्ठ अधिकारियों के संबंधों में भी परेशानी आए। परंतु यदि आप किसी व्यवसाय से जुड़े हैं तो ये अवधि आपको नुकसान दे सकती है। इसलिए आपको यह सलाह दी जाती है कि सावधान रहते हुए अपने व्यवसाय पर नज़र बनाए रखें, अन्यथा मुनाफे के बंटवारे को लेकर व्यापारिक साझेदार के साथ आपको कुछ समस्याओं से दो-चार होना पड़ेगा।

अब बात करें आर्थिक जीवन की तो आपको इस समय अपने परिवार पर अपने धन का खर्च करना पड़ेगा। साथ ही कई अन्य परिस्थितियों के कारण आपकी धन से जुड़ी प्रतिबद्धताएं भी बढ़ जाएगी और उनसे निपटाने के लिए आपके पास पर्याप्त धन का अभाव होगा। इसके अलावा व्यक्तिगत जीवन में भी इस समय आपको अपनी मां और परिवार के अन्य सदस्यों की खराब सेहत पर धन खर्च करना पड़ सकता है। साथ ही किसी कारणवश आपके परिवार के सदस्यों और जीवनसाथी के संबंधों में कड़वाहट आने की आशंका भी रहने वाली है।

हालांकि शनि देव की इस स्थिति के कारण स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से मानसिक तनाव आपकी दैनिक जीवन शैली का हिस्सा बन सकता है और इसके कारण आपको परेशानी उठानी पड़ेगा। कई जातक आंखों में जलन और अन्य किसी एलर्जी के शिकार भी हो सकते हैं।

उपायः हनुमान चालीसा का जाप करें।

तुला साप्ताहिक राशिफल

वृश्चिक

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए शनि आपके तीसरे व चौथे भाव के स्वामी हैं और अब वे तीसरे भाव में स्थित हैं। ऐसे में शनि का अस्त होना आपको जीवन में उन्नति व विकास में देरी देने के योग बनाएगा और इसके कारण आपके करियर में प्रगति की रफ़्तार धीमी पड़ जाएगी।

कार्यक्षेत्र पर आपको अपने काम को करने में रूचि नहीं आएगी, क्योंकि इस समय आपकी नौकरी में किसी अवांछित स्थानान्तरण या किसी छोटे पद की प्रोफ़ाइल पर बदलाव संभव है। इसके कारण कार्यस्थल पर उच्च लाभ प्राप्त करना आपके लिए मुश्किल रहेगा। यदि आप व्यवसाय में हैं तो भी कई विपरित परिस्थितियां आपको परेशान करेंगी। आपको अपने विरोधियों से ही उच्च स्तर की प्रतिस्पर्धा संभव है, इसलिए आप अपने व्यवसाय से मध्यम लाभ ही अर्जित करने में सक्षम होंगे।

आर्थिक पक्ष के लिहाज़ से आपको पारिवारिक खर्चों में वृद्धि के कारण आर्थिक तंगी हो सकती है। इससे आप अपने धन की बचत करने में असफल रहेंगे। कार्यस्थल पर भी आप बोनस या पदोन्नति मिलने से जिस अप्रत्याशित लाभ की उम्मीद कर रहे थे उसमें आपको अनुकूल परिणाम नहीं प्राप्त होंगे।

वहीं इस अवधि में व्यक्तिगत जीवन में भी आप अपने जीवनसाथी के साथ संचार समस्याओं से परेशान दिखाई देंगे और आपके दांपत्य जीवन में दरार आने की आशंका बढ़ जाएगी। ये दरार आप दोनों के बीच किसी गलतफहमी को भी जन्म दे सकती है। ऐसे में अपने रिश्ते में आ रही हर गलतफहमी को दूर करने के लिए समाय-समय पर आपसी बातचीत करते हुए हर विवाद को दूर करना ही आपके लिए आवश्यक रहेगा।

हालांकि स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से भी शनि देव आपको कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्या देने वाले हैं। इस कारण कई जातक नसों या तंत्रिका प्रणाली से संबंधित समस्याओं, शरीर में दर्द व कंपन से पीड़ित हो सकते हैं।

उपाय: प्रतिदिन लिंगाष्टकम स्तोत्र का जाप करें।

वृश्चिक साप्ताहिक राशिफल

धनु

धनु राशि के लिए शनि उनके दूसरे व तीसरे भाव के स्वामी हैं और वे अब दूसरे भाव में स्थित हैं। ऐसे में शनि का अस्त आपको व्यक्तिगत जीवन में संचार संबंधी समस्याएं देने के योग बनाएगा।

कार्यक्षेत्र पर इस समय आप जो भी कार्य और प्रयास कर रहे हैं उसके लिए आपको इच्छानुसार मान-सम्मान नहीं मिलेगा। इससे कई जातक अपनी वर्तमान नैकरी में बदलाव करने का सोच सकते है, जिससे उन्हें अपने काम में संतुष्टि प्राप्त करने में मदद मिल सकेगी। यदि आप व्यवसाय करते हैं तो इस समय यूँ तो आप मध्यम लाभ अर्जित करेंगे। परंतु कई बार आपको अपने व्यापार में किसी प्रकार के नुकसान से भी दो-चार होना पड़ेगा। जो जातक पार्टनरशिप के व्यापार में हैं उन्हें साथी के साथ अपने संबंधों को लेकर सावधानी बरतने की आवश्यकता रहने वाली है।

आर्थिक पक्ष के लिहाज़ से अपने परिवार में अवांछित इच्छाओं की पूर्ति के कारण आपको नुकसान संभव है। कई जातकों का इस दौरान यात्रा करना भी उनके खर्चों में खासा वृद्धि का कारण बनेगा। हालांकि निजी जीवन में आपके जीवनसाथी की रिश्ते के प्रति ईमानदारी में कमी देखी जाएगी और ये बात आपको परेशान कर सकती है। साथ ही आप अपने रिश्ते में दूरियां अनुभव करेंगे, जिस कारण आपका जीवनसाथी के साथ विवाद भी हो सकता है।

अब बात करें आपके स्वास्थ्य जीवन की तो शनि देव की ये स्थिति आपको गले से संबंधित कोई संक्रमण या त्वचा संबंधी समस्या देने वाली है। इसलिए जितना संभव हो तली-भुनी चीजों का सेवन करने से परहेज करें।

उपायः नियमित रूप से गुरुवार के दिन विधि-विधानुसार व्रत का पालन करें।

धनु साप्ताहिक राशिफल

मकर

मकर राशि के जातकों के लिए शनि प्रथम व द्वितीय भाव के स्वामी हैं और अब प्रथम भाव में स्थित हैं। ऐसे में शनि का अस्त होना आपको अपने काम के प्रति ज्यादा फोकस रहने में मदद करेगा और इससे आप अपने लक्ष्यों के प्रति केंद्रित रहेंगे।

हालांकि कार्यक्षेत्र पर आपको बहुत सी चुनौतियां आएंगी, जिसके कारण कार्यस्थल पर आपकी व्यस्तता देखी जाएगी। परंतु आपके काम को वरिष्ठ अधिकारी द्वारा उचित मान-सम्मान व पदोन्नति मिलेगी। यदि आप व्यवसाय में हैं तो यह समय आपके लिए थोड़ा कम अनुकूल रह सकता है। क्योंकि इस दौरान आप इच्छानुसार लाभ अर्जित करने में असफल रहेंगे। साथ ही पार्टनरशिप के व्यापार में भी जातकों को अपने पार्टनर व प्रतिस्पर्धियों से जुड़ी समस्याएं परेशान कर सकती हैं।

आर्थिक जीवन में आप लाभ और हानि दोनों अर्जित करेंगे। क्योंकि इस समय स्थितियां ऐसी बनेंगी कि एक ओर आप पाएंगे कि धन अर्जित करना आपके लिए मुश्किल हैं, तो वहीं दूसरी ओर आपको बीच-बीच में लाभ भी मिलता रहेगा। हालांकि धन लाभ में कुछ देरी हो सकती है। व्यक्तिगत जीवन में भी आपको अपने जीवनसाथी के साथ अहंकार से संबंधित कुछ समस्याओं का सामना करना होगा। इसके पीछे का मुख्य कारण आप दोनों के बीच समझ की कमी को देखा जा सकता है। इसलिए खुशहाल जीवन के लिए आपको इस अवधि में अपने जीवनसाथी के साथ सही तालमेल बिठाने की जरूरत अधिक होगी।

अब बात करें आपके स्वास्थ्य जीवन की तो शनि देव का अस्त होना आपको कान से संबंधित कोई समस्या देने के योग बनाएगा। इसके अलावा इस समय कई जातकों को दांतों में दर्द से भी पीड़ित होना पड़ेगा। इसलिए अपनी सेहत का आपको ध्यान रखने की सलाह दी जाती है।

उपायः शनिवार के दिन मंदिर में जाकर शनिदेव के समक्ष तेल का एक दीपक जलाएं।

मकर साप्ताहिक राशिफल

किसी समस्या से हैं परेशान, समाधान पाने के लिए प्रश्न पूछें

कुंभ

कुंभ राशि के लिए शनि उनके प्रथम व बारहवें भाव के स्वामी हैं और अब वे बारहवें भाव में स्थित हैं। इसके परिणामस्वरूप आपको अपने करियर, आर्थिक जीवन आदि में उन्नति से जुड़ी बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है।

कार्यक्षेत्र पर स्थितियां आपके लिए आसान नहीं होंगी, क्योंकि आपको इस दौरान अपनी नौकरी से संतुष्टि नही प्राप्त होगी। साथ ही कार्यस्थल पर काम का अधिक दबाव भी आपसे कड़ी मेहनत कराएगा। परंतु बावजूद इसके आपके सहकर्मियों और अधिकारियों व बॉस से आप इच्छानुसार मान-सम्मान नहीं हासिल कर पाएंगे। यदि आप व्यवसाय में हैं तो इस दौरान आपको अचानक व्यवसाय में नुकसान उठाना पड़ सकता है। अपने व्यवसाय में विस्तार करते हुए उसे नई ऊंचाइयों पर ले जाना भी आपके लिए असंभव सा प्रतीत होगा। वहीं पार्टनरशिप के व्यापार से जुड़े जातकों के लिए भी ये अवधि प्रतिकूल परिणाम लेकर आ रही है।

आर्थिक जीवन को देखें तो इस समय किसी कारणवश आपका धन खोने की आशंका है और ऐसा किसी यात्रा के दौरान संभव है, क्योंकि इस दौरान आप लापरवाह होंगे। इसलिए हर प्रकार की आर्थिक तंगी से बचने के लिए आपको सही तरह से अपने धन से जुड़ी योजना बनाने और उसके अनुसार ही धन का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। वहीं व्यक्तिगत जीवन में ये अवधि आपको कष्ट देने के योग बनाएगी। इससे आपके और जीवनसाथी के बीच समझ व सही संवाद की कमी के कारण बात-बात पर तर्क-वितर्क होने की आशंका रहेगी। जिससे साथी के साथ आपका रिश्ता प्रभावित हो सकता है।

शनि का अस्त होना स्वास्थ्य की दृष्टि से भी आपके लिए प्रतिकूल रहेगा। क्योंकि इससे आपको पैरों में तेज दर्द और बेचैनी संभव है। इसलिए खुद को फिट रखने के लिए नियमित रूप से योग करना और हर समस्या का समय पर इलाज कराना आपके लिए अनुकूल सिद्ध होगा।

उपाय: "ॐ नमः शिवाय" का प्रतिदिन 21 बार जाप करें।

कुंभ साप्ताहिक राशिफल

मीन

मीन राशि के लिए शनि देव उनके ग्यारहवें व बारहवें भाव के स्वामी हैं और अब एकादश भाव में स्थित हैं। इसके परिणामस्वरूप आपके जीवन में धन लाभ और खर्चों में वृद्धि दोनों ही संभव है।

कार्यक्षेत्र पर आपको अपने कार्यों से संबंधित कुछ संघर्षपूर्ण परिस्थितियों से दो-चार होना पड़ेगा। क्योंकि इस समय आपको जो भी लाभदायक अवसर मिलेगा आप उससे संतुष्टि प्राप्त करने में असक्षम रहेंगे। इस कारण कई जातक नौकरी में विभिन्न अवसरों से भी खुद को वंचित कर देंगे। यदि आप व्यापारी हैं तो आपको नियमित रूप से अपने व्यापार से जुड़े प्रदर्शन में सुधार लाने के लिए प्रयासरत रहने की आवश्यकता होगी। क्योंकि आशंका है कि व्यापार से जुड़ा आपको किसी प्रकार का कोई नुकसान उठाना पड़े। साथ ही अपने व्यवसाय में अभी किसी भी प्रकार का नया निवेश करने से बचें, अन्यथा आपको न लाभ/न हानि की स्थिति का सामना करना पड़ेगा।

व्यक्तिगत जीवन को समझें तो आपको जीवनसाथी के साथ अहंकार से संबंधित मुद्दों को लेकर समस्या संभव है। साथ ही आपसी सहयोग की कमी के कारण भी आपके इस सुंदर रिश्ते में कड़वाहट देखी जाएगी। इसलिए अपने जीवनसाथी के साथ पारदर्शी रहें और उनके साथ समय व्यतीत करते हुए अपने दिल की बात साझा करना भी आपके लिए बेहतर रहेगा।

स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से शनि का अस्त होना आपको सर्दी और सूखी खांसी के रूप में कोई एलर्जी दे सकता है। साथ ही कई जातकों को पाचन संबंधी समस्याएं भी परेशान करेंगी, इसलिए ज़रूरत पड़ने पर तुरंत किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह लें।

उपायः हर शनिवार के दिन शनि देव की पूजा-आराधना करें।

मीन साप्ताहिक राशिफल

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।