• Talk To Astrologers
  • AstroSage Brihat Horoscope
  • Ask A Question
  • Raj Yoga Reort
  • Child Report

शुक्र का कर्क राशि में गोचर (1 सितंबर 2020)

सौंदर्य, कला और रचनात्मकता के कारक, शुक्र ग्रह 1 सितंबर को 02:02 बजे मिथुन राशि से निकलकर कर्क राशि में गोचर करेगा, 28 सितंबर 1 बजकर 1 मिनट तक शुक्र ग्रह इसी राशि में रहेगा और उसके बाद सिंह राशि में गोचर कर जाएगा। आईए जानते हैं कि इस गोचर का आपकी राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

जीवन में किसी भी समस्या का समाधान पाने के लिए प्रश्न पूछें

शुक्र देव का गोचर 1 सितंबर 2020 को राशिचक्र की चतुर्थ राशि कर्क में होगा। शुक्र को शुभ ग्रह कहा जाता है और इसके शुभ प्रभावों से व्यक्ति कलात्मक कामों में माहिर होता है। जिस जातक की कुंडली में शुक्र अच्छी अवस्था में होता है वो लोगों को आकर्षित करने में सफल होता है। ऐसे जातक अभिनय, गायन आदि के क्षेत्र में भी अच्छा नाम कमाते हैं।

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि

Read In English: Venus transit in Cancer

शुक्र का कर्क राशि में गोचर

मेष

मेष राशि के जातकों के चतुर्थ भाव में शुक्र ग्रह का गोचर होगा। इस भाव से आपकी माता, परिवार, वाहन, सुख आदि के बारे में विचार किया जाता है। मेष राशि के जातक शुक्र के इस गोचर काल के दौरान शांतिपूर्ण वातावरण में रहना पसंद करेंगे। आप समाज में घुलने से ज्यादा अपने परिवार के लोगों के साथ वक्त बिताएंगे। हालांकि अपना मनोरंजन करने के लिए आप नई-नई तकनीकें खोज सकते हैं।

इस राशि के कुछ लोग संगीत, अभिनय आदि सीखने की तरफ बढ़ सकते हैं। आपके परिवार के लोग हर मुश्किल परिस्थिति में इस गोचर के दौरान आपके साथ खड़ रहेंगे। जो लोग शादीशुदा हैं उनके पार्टनर को इस गोचर काल के दौरान लाभ की प्राप्ति हो सकती है। संभव है कि उन्हें अपने कार्यक्षेत्र में पदोन्नति मिले।

इस राशि के जो जातक प्रेम संबंधों में पड़े हैं वो इस गोचर काल में बहुत ज्यादा भावुक हो सकते हैं और पार्टनर की छोटी-छोटी बातों को भी आप दिल पर लगा सकते हैं। आपके इस व्यवहार के कारण प्रेम जीवन में कुछ परेशानियां आ सकती हैं इसलिए अपनी भावनाओं को कंट्रोल करने की कोशिश करें। मेष राशि के जातकों के स्वास्थ्य जीवन की बात की जाए तो सर्दी-जुकाम की छोटी-मोटी दिक्कतों के अलावा आपको कोई बड़ी परेशानी नहीं होगी।

उपाय- शुक्रवार के दिन संतोषी माता की पूजा करें।

वृषभ

आपकी राशि से तृतीय भाव में शुक्र ग्रह का गोचर होगा। तृतीय भाव से आपके साहस, पराक्रम, छोटे भाई-बहनों, लघु यात्राओं आदि के बारे में विचार किया जाता है। शुक्र का यह गोचर आपकी रचनात्मकता को बढ़ाएगा, आपमें कुछ नया करने की चाह इस दौरान जाग सकती है। हालांकि किसी भी स्थिति में आपको अति महत्वकांक्षी होने से इस दौरान बचना चाहिए। अपनी रचनात्मकता के जरिए समाज में अपनी एक अलग पहचान बना सकते हैं।

इस राशि के जो लोग लेखन का कार्य करते हैं उनके काम को इस गोचर के दौरान सराहना मिल सकती है। इस दौरान आप साहसी कार्यों को करने के लिए किसी हिल स्टेशन पर जा सकते हैं, यदि आप शादीशुदा हैं तो अपने जीवनसाथी को भी अपने साथ ले जाएं इससे आपके संबंध सुधरेंगे।

कारोबार से जुड़े इस राशि के लोग अपने कौशल के दम पर इस दौरान लाभ कमा सकते हैं। शुक्र का यह गोचर इस राशि के विद्यार्थियों के लिए भी अच्छा रहेगा आप किताबों के बीच ज्यादा से ज्यादा समय बिताना पसंद करेंगे और कठिन विषयों को भी समझ पाएंगे। इस राशि के जातक जीवन को आनंदित बनाने के लिए इस दौरान अपने मित्रों या करीबी लोगों से भी मुलाकात कर सकते हैं।

उपाय- शुक्रवार के दिन गणेश जी की पूजा करना आपके लिए शुभ रहेगा।

मिथुन

मिथुन राशि के जातकों के द्वितीय भाव में शुक्र ग्रह का गोचर होगा। यह भाव आपके परिवार, सुख आदि का होता है। इस भाव में शुक्र के गोचर से आपको अच्छे फल प्राप्त होंगे। खासकर इस राशि के विद्यार्थियों के लिए यह समय बेहद अनुकूल रहने वाला है। शिक्षा के क्षेत्र में आ रही आपकी कई परेशानियां इस दौरान दूर हो सकती हैं। गुरुजनों का सहयोग पाने की भी पूरी कोशिश आप इस दौरान करेंगे।

पारिवारिक जीवन की बात की जाए तो माहौल अच्छा रहेगा यदि आप पारिवारिक बिजनेस करते हैं तो लाभ हो सकते हैं। वहीं जो जातक साझेदारी में बिजनेस करते हैं उन्हें भी लाभ होने की पूरी संभावना है। यह भाव वाणी का भाव भी होता है इसलिए शुभ ग्रह शुक्र के इस भाव में होने के कारण आपकी वाणी में इस दौरान निखार आएगा। अपनी बातों से आप सामने वाले का दिल जीत सकते हैं। सामाजिक स्तर पर आपको सम्मान की प्राप्ति होगी।

इस राशि के जो लोग प्रेम संबंध में हैं उनके रिश्ते में इस दौरान अच्छे बदलाव आ सकते हैं। संतान पक्ष से भी इस राशि के लोगों को अच्छी खबर इस दौरान मिल सकती है। आपकी संतान इस समय में प्रगति के पथ पर अग्रसर होगी। इस दौरान आप खाने-पीने पर इस समय आप खूब खर्च कर सकते हैं। आपके स्वास्थ्य जीवन की बात की जाए तो आंखों से जुड़ी परेशानियां आपको हो सकती हैं इसलिए अपनी आंखों का विशेष ध्यान दें।

उपाय- शुक्रवार के दिन सफेद चंदन का टीका लगाएं, शुभ फल प्राप्त करेंगे।

कर्क

शुक्र देव का गोचर आपके लग्न भाव में होने से आपके स्वभाव में इस दौरान सकारात्मक बदलाव आएंगे। यह भाव आपकी बुद्धि का भी होता है इसलिए शुक्र के गोचर से आपकी बौद्धिक क्षमता भी बढेगी। इस राशि के जातक अपनी रचनात्मकता से इस दौरान लोगों को प्रभावित कर सकते हैं। यदि आप मीडिया या फिल्म उद्योग से जुड़े हुए हैं तो आपके काम को शुक्र के इस गोचर के दौरान सराहना मिल सकती है।

इस राशि के नौकरी पेशा लोग भी हर काम में प्रखरता लाने की इस दौरान कोशिश करेंगे जिसके कारण आपके सीनियर्स आपसे खुश रहेंगे। इस राशि के जो लोग सौंदर्य उत्पादों से जुड़ा बिजनेस करते हैं उन्हें इस अवधि में फायदा प्राप्त हो सकता है। पारिवारिक जीवन अच्छा रहेगा इस समय किसी भी तरह का गतिरोध आपके परिवार में नहीं होगा जिसके चलते आपको भी मानसिक शांति मिलेगी।

आपके स्वास्थ्य के लिए भी शुक्र का यह गोचर अच्छा रहेगा, छोटी-मोटी बीमारियां आपको परेशान कर सकती हैं लेकिन इससे आपके जीवन में कोई बड़ा बदलाव नहीं आएगा। शुक्र को भौतिकतावदी ग्रह माना जाता है इसलिए आप भौतिक सुखों को प्राप्त करने के लिए इस दौरान तत्पर रहेंगे। कुल मिलाकर देखा जाए तो शुक्र का यह गोचर कर्क राशि के लोगों के लिए शुभ फलदायक सिद्ध होगा।

उपाय- श्वेतार्क गणपति की पूजा करना आपके लिए शुभ रहेगा।


कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट से अपने करियर में आ रही हर परेशानी को करें दूर

सिंह

सिंह राशि के जातकों के द्वादश भाव में शुक्र ग्रह का गोचर होगा। यह भाव विदेश, व्यय, हानि आदि का भाव कहलाता है। इस गोचर के दौरान सिंह राशि के उन लोगों को फायदा होगा जो विदेशों से जुड़ा व्यापार करते हैं या विदेशी कंपनियों में काम करते हैं। विदेशों की यात्रा भी इस राशि के जातकों के लिए इस दौरान फायदेमंद रहेगी।

सिंह राशि के जातकों को अपने आर्थिक पक्ष पर इस दौरान ध्यान देने की जरुरत है क्योंकि कई बार आप अत्यधिक दिखावा करने के चक्कर में खर्च पर ध्यान नहीं देते, इसलिए दिखावे से दूर रहें और पैसों की बचत करें। वैवाहिक जीवन में जीवनसाथी के साथ नोक झोक हो सकती है, इस दौरान आप अति भौतिकतावदी होंगे और आत्मिक सुखों से ज्यादा भौतिक सुखों की तरफ भागेंगे इसकी वजह से आपका जीवनसाथी थोड़ा परेशान हो सकता है।

इस राशि के जातकों को अपने स्वास्थ्य का भी विशेष ध्यान रखने की जरुरत है खासकर अपनी बायीं आंख का विशेष ध्यान दें। इस गोचर काल के दौरान ज्यादा टीवी देखने और मोबाइल चलाने से बचें। शुक्र का यह गोचर विदेश जाने की आपकी इच्छा को और ज्यादा बल दे सकता है और आप विदेश जाने के प्रयास बढ़ा सकते हैं।

उपाय- शुक्रवार के दिन इत्र का दान करना आपके लिए शुभ रहेगा।

कन्या

कन्या राशि के जातकों के लाभ भाव यानि एकादश भाव में शुक्र ग्रह का गोचर होगा। इस भाव से मित्र, बड़े भाई-बहन आदि के बारे में भी विचार किया जाता है। कन्या राशि के लोगों को इस गोचर के दौरान आर्थिक लाभ होने की प्रबल संभावना है। इस राशि के जो जातक व्यापार करते हैं वो यदि अपने व्यापार को फैलाने के बारे में विचार बना रहे थे तो यह समय उनके लिए अनुकूल रहेगा। इसके साथ ही नौकरी पेशा लोगों को भी इस गोचर के दौरान शुभ फल मिलेंगे।

जो जातक अभी तक अविवाहित हैं उनके लिए कोई अच्छा रिश्ता इस दौरान आ सकता है और शादी की बात पक्की हो सकती है। इसके साथ ही पारिवारिक जीवन में भी आपको मनमाफिक फल मिलेंगे, बड़े भाई-बहनों से आपका रिश्ता मजबूत होगा और वो आपके सहयोग के लिए हर समय तैयार रहेंगे। इस राशि के जो जातक लंबे समय से किसी बीमारी से परेशान थे उनका रोग इस गोचर के दौरान पूरी तरह से ठीक हो सकता है।

आपके मित्र इस समय आपकी मदद के लिए आगे आ सकते हैं वहीं आप भी उनकी मदद करने से पीछे नहीं हटेंगे। अपने किसी दोस्त को आपके द्वारा दी गई कोई सलाह उनके बहुत काम आ सकती है। इस राशि के कुछ लोग मनोरंजन के कामों में इस दौरान खूब धन खर्च कर सकते हैं, हालांकि आपको अपने बजट के अनुसार ही सारे कामों को करने की सलाह दी जाती है।

उपाय- छोटी कन्याओं को उपहार देना आपके लिए शुभ रहेगा।

तुला

तुला राशि के जातकों के दशम भाव में शुक्र ग्रह का गोचर होगा। इस भाव से आपके कर्मों पर विचार किया जाता है। आपके दशम भाव में शुक्र का गोचर कार्यक्षेत्र में आपको उन्नति दिलवाएगा। कार्यक्षेत्र में इस दौरान आप अपने वरिष्ठों से अच्छे सबंध स्थापित करने की कोशिश करेंगे। यदि बीते समय में आपने अच्छा काम किया है तो इस अवधि में आपको पदोन्नति मिल सकती है। इस राशि के जो जातक कारोबार करते हैं उनके लिए भी यह समय अच्छा है व्यापार में मुनाफा करने के लिए आप कोई नई योजना इस दौरान बना सकते हैं।

इस राशि के जो जातक राजनीति में हैं वो अपनी बातों से लोगों को प्रभावित करने में इस दौरान कामयाब होंगे, आपके प्रशंसकों की संख्या इस दौरान बढ़ सकती है। सामाजिक स्तर पर आप लोगों से अच्छे संबंध बनाएंगे। इस राशि के विद्यार्थियों की बात की जाए तो आप अपने लक्ष्यों के प्रति गंभीर होंगे और शिक्षा के क्षेत्र में प्रगति करने के लिए निरंतर प्रयासरत रहेंगे।

पारिवारिक जीवन की बात करें तो पिता के साथ यदि किसी तरह का मतभेद था तो वो इस दौरान दूर हो सकता है। स्वास्थ्य को लेकर आपको सावधान रहने की जरुरत है।

उपाय- सुहागनों को श्रृंगार का सामान दान करना आपके लिए शुभ रहेगा।

वृश्चिक

वृश्चिक राशि के जातकों के नवम भाव में शुक्र ग्रह का गोचर होगा। यह भाव आपकी धार्मिक प्रवृति, सौभाग्य, लंबी यात्राओं आदि का कारक होता है। नवम भाव में शुक्र के गोचर से आपके चरित्र में सकारात्मक बदलाव आएंगे आपके धार्मिक क्रियाकलापों को करने में अत्यधिक रुचि लेंगे और लोगों की सेवा करने के लिए आगे आएंगे। आध्यात्मिक विषयों को जानने के लिए इस दौरान आप किसी ऐसे व्यक्ति से मुलाकात कर सकते हैं जिसको इन विषयों की अच्छी जानकारी है।

वहीं कुछ जातक इस दौरान परिवार के साथ धार्मिक यात्राओं पर भी जा सकते हैं। पारिवारिक जीवन की बात की जाए तो माहौल अच्छा रहेगा, घर के बड़े बुजुर्गों के साथ समय बिताना आपको इस दौरान पसंद आएगा। इस राशि के जो जातक उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं वो अपने गुरुजनों से मदद ले सकते हैं।

इस राशि के जो जातक काम के संबंध में इस दौरान लंबी यात्राओं पर जाएंगे उन्हें लाभ की प्राप्ति होगी। वहीं अभिनय, गायन, नृत्य आदि की शिक्षा जो लोग ग्रहण कर रहे हैं उनको भी इस दौरान लाभ होगा, इसके साथ ही जो लोग कला के इन क्षेत्रों में अपनी किस्मत आज़माना चाहते हैं उनके लिए भी शुक्र का यह गोचर फायदेमंद साबित हो सकता है।

उपाय- शुक्र बीज मंत्र का जाप करना आपके लिए शुभ रहेगा।


कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

धनु

धनु राशि के अष्टम भाव में शुक्र के गोचर से इस राशि के जातकों को कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। अष्टम भाव से आपकी जीवन में आने वाली बाधाओं, आयु, दुर्घटना आदि का पाता चलता है। शुक्र के इस गोचर के दौरान आपका शत्रु पक्ष सक्रिय रह सकता है। इसलिए आपको ऐसे लोगों से बचकर रहना होगा जो मुंह के सामने तो आपके दोस्त बनकर रहते हैं और पीठ पीछे आपके खिलाफ साजिश करते हैं।

आपके पारिवारिक जीवन की बात की जाए तो वहां भी तनाव की स्थिति बन सकती है, बड़े भाई-बहनों से आपके मतभेद हो सकते हैं। ऐसे में आपको अत्यधिक क्रोध करने से बचना चाहिए और संबंधों को सुधारने की दिशा में कार्य करना चाहिए। कारोबारी और नौकरी पेशा लोग लेन देन के मामलों में सावधान रहें तो सही रहेगा। इस गोचर काल के दौरान आपको किसी को भी उधार देने से बचना चाहिए नहीं तो आपका धन डूब सकता है।

आपके स्वास्थ्य जीवन की बात की जाए तो पेट से जुड़ी समस्याएं आपको हो सकती हैं, पेट को दुरुस्त रखने के लिए अपने खानपान पर विशेष ध्यान दें। बाहर का तला-भुना खाना खाने से आपको इस समय बचना चाहिए। इस दौरान आप अपनी गलतियों के लिए भी दूसरों को गलत साबित करने की कोशिश कर सकते हैं जिसके कारण पारिवारिक और सामाजिक जीवन में आपको दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। मन की शांति के लिए और सही फैसले लेने के लिए इस दौरान आपको योग-ध्यान का सहारा लेना चाहिए।

उपाय- ललिता सहस्त्रनाम का पाठ करें, शुभ फल प्राप्त होंगे।

मकर

राशिचक्र की सप्तम राशि मकर के जातकों के सप्तम भाव में शुक्र ग्रह का गोचर होगा। इस भाव से साझेदारी और वैवाहिक जीवन के बारे में विचार किया जाता है। शुक्र का यह गोचर उन राशि के जातकों के लिए अच्छा रहेगा जो ज्वैलरी, कपड़ों आदि का व्यापार करते हैं। इसके साथ ही कला के क्षेत्रों से जुड़े लोग भी इस गोचर काल में फायदे में रहेंगे। आपकी रचनात्मक योग्यता को इस समय सराहना मिलेगी। इस राशि के जातकों का व्यक्तित्व आकर्षक रहेगा जिसके कारण लोग आपकी तरफ आकर्षित होंगे।

यदि अब तक सिंगल हैं तो कोई खास आपकी जिंदगी में इस दौरान दस्तक दे सकता है। आपके दांपत्य जीवन के लिए भी यह समय ठीकठाक रहेगा, हो सकता है कि आपका जीवनसाथी इस दौरान आप पर हावी हो सकता है या हावी होने की कोशिश कर सकता है। ऐसे समय में साथी की बात पर प्रतिक्रिया देने से पहले जानने की कोशिश करें कि इसकी वजह क्या है। ऐसा करने पर आप रिश्ते में दरार आने से बचा सकते हैं। इस राशि के कई जातकों की दबी हुई इच्छाएं इस दौरान पूरी हो सकती हैं।

उपाय- घर या दफ्तर में शुक्र यंत्र की स्थापना करने से आपको शुभ फल मिलेंगे।

कुंभ

सौंदर्य के कारक ग्रह शुक्र का गोचर आपकी राशि से षष्ठम भाव में होगा। इस भाव को अरि भाव भी कहा जाता है और इससे आपके शत्रु, अभाव, विवाद आदि के बारे में विचार किया जाता है। शुक्र का यह गोचर आपके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डाल सकता है, अचानक ही आप बीमार पड़ सकते हैं इसलिए आपको इस दौरान आपको अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना होगा। ज्यादा मसालेदार भोजन करने से इस दौरान बचें और नियमित व्यायाम करें।

कार्यक्षेत्र में इस राशि के जातकों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। संभव है कि आपको कोई ऐसा काम दे दिया जाए जिसे करने में आप समर्थ न हों। हालांकि आपको हिम्मत नहीं हारनी चाहिए और अपनी मेहनत के दम पर यह साबित करने की कोशिश करनी चाहिए कि आप हर तरह का काम कर सकते हैं, इससे आप अपनी छवि कार्यक्षेत्र में सुधार सकते हैं।

पारिवारिक जीवन की बात की जाए तो आपके पिता की खराब सेहत आपकी चिंता का विषय बन सकती है। इस राशि के कुछ जातक अपने अंदर इस दौरान नर्वसनेस महसूस कर सकते हैं जिसके कारण आपके बनते काम भी बिगड़ सकते हैं, इस समय आप अपने शत्रुओं से दबकर रहेंगे। आपको किसी भी तरह के वाद-विवाद में इस दौरान हिस्सा नहीं लेना चाहिए।

उपाय- शुक्रवार के दिन दूध का दान करना आपके लिए शुभ रहेगा।

मीन

मीन राशि के जातकों के पंचम भाव में शुक्र ग्रह का गोचर होगा। इस भाव से संतान, शिक्षा आदि के बारे में विचार किया जाता है। शुक्र का यह गोचर मीन राशि के जातकों के लिए शुभ रहेगा। इस गोचर से विद्यार्थियों को विशेष लाभ होने की संभावना है, आप अपनी बुद्धि के दम पर इस दौरान जटिल विषयों को भी समझ पाएंगे। वहीं जो लोग रचनात्मक कार्य जैसे- गायन, वादन आदि करते हैं तो वो अपने शौक को अपने प्रोफेशन में बदल सकते हैं।

इस राशि के जो छात्र शोध कार्यों में लगे हैं उनके लिए भी शुक्र का यह गोचर शुभ फलदायी साबित होगा। इस राशि के लोगों को नए-नए आइडियाज इस दौरान आएंगे जिनसे किसी नई चीज की शुरुआत आप करे सकते हैं। अपने शौक पूरे करने की भी इस दौरान आप पूरी कोशिश करेंगे। पारिवारिक जीवन की बात की जाए तो संतान पक्ष से इस राशि के लोगों को कोई शुभ समाचार मिल सकता है।

प्रेम में पड़े मीन राशि के लोगों के लिए भी शुक्र का यह गोचर अनुकूल रहेगा हालांकि इस दौरान आपको अपने लवमेट से ऐसा कोई भी वादा नहीं करना चाहिए जिसे आप बाद में निभा न सकें। इस राशि के कुछ जातक साहसी कार्यों को करने के लिए किसी हिल स्टेशन की तरफ रुख कर सकते हैं। कुल मिलाकर देखा जाए तो मीन राशि के लोगों को इस गोचर के दौरान शुभ फलों की प्राप्ति होगी।

उपाय- शुक्रवार के दिन अरण्ड की जड़ धारण करने से आपमें सकारात्मकता आएगी।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

ज्योतिष पत्रिका

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।