• Talk To Astrologers
  • Personalized Horoscope 2024
  • Brihat Horoscope
  • Top Followed Astrologers

शुक्र का कर्क राशि में गोचर (30 मई 2023)

शुक्र का कर्क राशि में गोचर 30 मई 2023 की रात्रि 7:39 बजे होगा, जब शुक्र अपने मित्र बुध की राशि मिथुन से निकलकर चंद्रमा के स्वामित्व वाली कर्क राशि में प्रवेश करेंगे। यहां पर यह 7 जुलाई 2023 की प्रातः 3:59 बजे तक रहेंगे और फिर सूर्य के स्वामित्व वाली सिंह राशि में प्रवेश कर जाएंगे। शुक्र एक स्त्री तत्व ग्रह है जबकि कर्क राशि के स्वामी चंद्रमा भी स्त्री प्रधान ग्रह है। कर्क राशि में शुक्र का गोचर मध्यम माना जाता है। जल तत्व की राशि कर्क में कफ प्रकृति के शुक्र का प्रवेश होगा जिससे वर्षा की स्थिति का निर्माण भी हो सकता है।

शुक्र का कर्क राशि में गोचर 30 मई 2023 को होगा।

विद्वान ज्योतिषियों से फोन पर बात करें और जानें शुक्र गोचर का अपने जीवन पर प्रभाव

दैत्यों के गुरु कहे जाने वाले शुक्र ग्रह मीन राशि में उच्च और कन्या राशि में नीच राशिगत माने जाते हैं। यह वृषभ और तुला राशियों पर अधिकार रखते हैं और मकर और कुंभ लग्न के लिए योगकारक ग्रह माने जाते हैं। भोग और विलास के कारक, भोर का तारा कहा जाने वाले शुक्र ग्रह का कर्क राशि में गोचर सभी जीव धारियों पर कुछ ना कुछ प्रभाव अवश्य डालेगा तो आपके ऊपर इसका क्या प्रभाव होगा, आइए जानते हैं।

कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि

Read in English: Venus Transit In Cancer (30 May 2023)

मेष राशि

मेष राशि के जातकों के लिए शुक्र का चौथे भाव में गोचर आपको परिवार में शांति प्रदान करने वाला रहेगा। आप अपने परिवार की सुख सुविधाओं को बढ़ाने के बारे में विचार करेंगे। घर परिवार के लोगों के साथ अच्छा सामंजस्य रहेगा। मनोरंजन के नए साधन खोजेंगे और घर में सुख शांति रहेगी। आप अभिनय, नाटक, नृत्य, आदि सीखने के लिए आगे बढ़ सकते हैं। पारिवारिक सदस्यों का आपके साथ समर्थन रहेगा और इससे आप हर काम में उन्नति करेंगे। विवाहित लोगों को यह जानकर प्रसन्नता होगी कि उनके जीवन साथी को इस गोचर काल के दौरान कुछ अच्छी उपलब्धि या धन लाभ की प्राप्ति हो सकती है। उनको अपने कार्यक्षेत्र में पदोन्नति के योग भी बन सकते हैं। प्रेम संबंधों के लिए समय भावुकता से भरा रहेगा और अधीरता में आकर कोई गलत निर्णय लेने से बचें और छोटी-छोटी बातों पर ध्यान न दें। अपनी भावनाओं को नियंत्रण में रखेंगे तो भरपूर रोमांस का मौका मिलेगा। सर्दी, जुकाम और छाती में इंफेक्शन से बच कर रहना आपके लिए हितकारी होगा।

उपाय: आपको शुक्र देव के बीज मंत्र का जाप करना चाहिए।

वृषभ राशि

शुक्र आपकी राशि के स्वामी होकर तीसरे भाव में गोचर करेंगे। आपके अंदर कला का विकास होगा। छोटी छोटी यात्राएं होंगी। ये यात्राएं मनोरंजन या रोमांच के लिए हो सकती हैं। आप ऐसी जगह जाना पसंद करेंगे, जहां जल की मात्रा अधिक हो। नदी किनारे, समुद्र किनारे, आदि जाना आपको बहुत पसंद आएगा। आप अपने मित्रों से बहुत अच्छी-अच्छी बातें करेंगे। उनके साथ खूब घुल मिलकर रहेंगे और उनसे आपका प्रेम बढ़ेगा। दोस्तों के साथ फिल्म देखने जाने की स्थिति बन सकती है। भाई बहनों से संबंध मधुर बनेंगे। आप अपनी रचनात्मकता के लिए जाने जाएंगे और कुछ नया करने की सोच के साथ आगे बढ़ सकते हैं। आपके अंदर कवि बनने का शौक भी जाग सकता है। जीवनसाथी से संबंधों में मधुरता बढ़ेगी। व्यापार में सफलता के योग बनेंगे। आप अपनी कार्यकुशलता के बल पर लाभ प्राप्त कर पाएंगे। विद्यार्थियों को इस गोचर का अनुकूल परिणाम मिलेगा और कठिन से कठिन विषयों को भी आप सरलता से समझ पाएंगे। यह समय कार्यक्षेत्र में उन्नति देगा।

उपाय: किसी विशेष कार्य में सफलता के लिए 9 कंजकों का पूजन करना चाहिए।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों की बात करें तो शुक्र आपके द्वितीय भाव में प्रवेश करेंगे। यह आपके राशि स्वामी बुध के परम मित्र हैं। शुक्र का कर्क राशि में गोचर आपको उत्तम व्यंजन चखाएगा। आप बढ़िया से बढ़िया भोजन और पकवान खाना पसंद करेंगे। पारिवारिक जीवन में खुशियां रहेंगी। घर में कोई फंक्शन हो सकता है या किसी का विवाह समारोह हो सकता है जिसमें अतिथियों के आगमन से घर में चहल-पहल रहेगी। आपको अच्छी आर्थिक लाभ की खबरें सुनने को मिलेंगी और आपको धन लाभ होगा। पैतृक व्यवसाय में लाभ होने के योग बनेंगे। यदि आप कोई व्यापार साझेदारी में करते हैं तो आपके व्यवसायिक साझेदार से संबंध अच्छे रहेंगे और दोनों मिलकर अपने व्यापार को आगे बढ़ा पाएंगे और उसमें उन्नति प्राप्त करेंगे। सामाजिक स्तर पर परिवार का स्तर ऊंचा होगा। यदि आप किसी प्रेम संबंध में हैं तो रिश्ते के लिए यह समय अनुकूल रहेगा। परिवार वालों से रिश्ते की बात आगे बढ़ सकती है और विवाह के लिए आगे बातें चलने से आपके मन में खुशी की लहर दौड़ उठेगी। स्वास्थ्य समस्याओं पर थोड़ा ध्यान देना होगा और जल का सेवन जब भी करें, यह समझ कर करें कि वह जल शुद्ध होना चाहिए। अत्यधिक ठंडे माहौल में रहने से बचें।

उपाय: आपको शुक्रवार के दिन माता के मंदिर जाकर लाल गुड़हल का पुष्प अर्पित करना चाहिए।


करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों के लिए शुक्र प्रथम भाव में प्रवेश करेंगे यानी कि आपकी ही राशि में शुक्र का प्रवेश होगा। आपके मन में अच्छे अच्छे विचार आएंगे। स्वयं की साज-सज्जा पर ज्यादा ध्यान देंगे। अपने व्यक्तित्व में निखार लाने और ज्यादा खूबसूरत दिखने की इच्छा आपके मन में जागेगी। लोगों को आप आकर्षित करने में कामयाब रहेंगे और आपके चुंबकीय व्यक्तित्व के कारण लोग आपकी बातों को मानेंगे। शुक्र का कर्क राशि में गोचर कार्यक्षेत्र में भी अच्छे परिणाम देगा और कार्यक्षेत्र में आपकी बात को कोई टाल नहीं पाएगा। इससे नौकरी में आपकी स्थिति अच्छी रहेगी और वरिष्ठ अधिकारियों से आपके संबंध मधुर बनेंगे। यदि आप सौंदर्य उत्पाद और महिला प्रसाधनों, इत्र एवं महिलाओं से संबंधित कोई व्यापार करते हैं तो इस दौरान उस व्यापार में अच्छी उन्नति और प्रगति देखने को मिलेगी। आपको अच्छे धन लाभ के योग बनेंगे लेकिन रिश्ते में जरूरत से ज्यादा अपनी चलाने से बचें। ऐसा करने से दांपत्य जीवन में प्रेम बढ़ेगा। जीवनसाथी से भरपूर रोमांस के योग बनेंगे और आपका रिश्ता सुधरेगा। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से यह गोचर अच्छा रहेगा। थोड़ा सा आपको स्वयं पर ध्यान देना होगा और ज्यादा भौतिकता वादी बनने से बचना होगा तो आपको लाभ होगा और आप अपनों के करीब आएंगे।

उपाय: आपका शुक्रवार के दिन श्वेत चंदन का लेप शिवलिंग पर करना चाहिए और फिर अपने मस्तक पर तिलक लगाना चाहिए।

सिंह राशि

शुक्र का कर्क राशि में गोचर सिंह राशि के जातकों के द्वादश भाव में होगा। इस गोचर के प्रभाव से विदेश जाने के प्रबल योग बन पाएंगे। आप के खर्चों में तो बढ़ोतरी होगी लेकिन आप अपनी सुख-सुविधाओं के लिए दिल खोलकर खर्च करने से गुरेज नहीं करेंगे। यदि आप किसी विदेशी कंपनी में नौकरी करते हैं तो आपको अच्छी उन्नति मिल सकती है और तनख्वाह में वृद्धि के योग भी बनेंगे। यदि आप कोई ऐसा व्यापार करते हैं जो विदेशों से जुड़ा हो या किसी विदेशी कंपनी से संबंधित हो तो इस दौरान आपको अच्छे आर्थिक लाभ के योग बनेंगे। आप दूसरों को दिखाने के चक्कर में बड़े-बड़े खर्चे करने से बचें क्योंकि इससे आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। वैवाहिक जीवन में अंतरंग संबंधों में बढ़ोतरी होगी। जीवनसाथी से हल्की अनबन के बावजूद आपस में प्रेम बना रहेगा। आपको भौतिक सुखों से ज्यादा आध्यात्मिक उन्नति की ओर ध्यान देना चाहिए, नहीं तो आप बाद में परेशान हो सकते हैं। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से यह गोचर अधिक अनुकूल नहीं कहा जा सकता है इसलिए स्वास्थ्य का ध्यान रखें। भरपूर मात्रा में जल का सेवन करें। छोटे बच्चों को निमोनिया और बड़ों को सर्दी, जुकाम की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। ज्यादा देर तक मोबाइल पर काम करने से आंखों पर दुष्प्रभाव पड़ सकता है। आप इस दौरान कोई गैजेट भी खरीद सकते हैं।

उपाय: आपको बहते हुए जल में कच्चा दूध अर्पित करना चाहिए।

कन्या राशि

कन्या राशि के जातकों के लिए शुक्र एकादश भाव में प्रवेश करेंगे। शुक्र का कर्क राशि में गोचर आपके लिए संभावनाओं का समय होगा। आपकी इच्छाओं की पूर्ति होने लगेगी जिससे आपके अंदर उत्साह की लहर दौड़ उठेगी। प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी। आप और आपके प्रियतम के बीच घनिष्ठ संबंध बनेंगे। एक दूसरे पर जान छिड़केंगे और रोमांस के भी प्रबल योग बनेंगे। यह अवधि आर्थिक उन्नति के लिए भी जानी जाएगी और आप को आर्थिक रूप से अच्छे योग बनेंगे। पेट में अशुद्ध जल के कारण समस्या हो सकती है। आप अपने व्यापार को विस्तार देने की योजनाएं बना सकते हैं और बहुत हद तक उसमें कामयाब भी हो सकते हैं। नौकरी करने वाले लोगों को अपने वरिष्ठ अधिकारियों का पूरा सानिध्य और समर्थन मिलेगा और इससे आपकी उन्नति होगी। यदि आप अभी तक अविवाहित हैं तो आपके विवाह का प्रस्ताव आपके सामने आ सकता है और अच्छे घर से आपका संबंध जुड़ सकता है। बड़े भाई बहनों का पूरा सहयोग आपको इस दौरान प्राप्त होगा और आपके वरिष्ठ अधिकारी भी आपकी समस्याओं को दूर करने में मदद करेंगे। आपके मित्रों से आपकी अच्छी उठ बैठ होगी और आपका सामाजिक दायरा विस्तृत होगा। इस दौरान आप अपने दोस्त की सलाह मानकर काम करेंगे तो आपको लाभ होगा। अपने धन का कुछ हिस्सा बचत के रूप में रखने से आपको भविष्य में आर्थिक चुनौतियों से लड़ने का मौका मिलेगा।

उपाय: आपको शुक्रवार के दिन चावल की खीर बनाकर माता को भोग लगाकर छोटी कन्याओं में बांटनी चाहिए और फिर स्वयं प्रसाद के रूप में ग्रहण करनी चाहिए।

तुला राशि

शुक्र का कर्क राशि में गोचर तुला राशि के जातकों के दशम भाव में होगा। शुक्र आपकी राशि के स्वामी भी हैं और ऐसे में दशम भाव में शुक्र का जाना कार्यक्षेत्र के अनुकूल तो रहेगा लेकिन आप कार्य क्षेत्र की राजनीति से बचकर रहेंगे तो बेहतर होगा और खुद किसी राजनीति का हिस्सा ना बनें, नहीं तो आपके संबंध आपके कार्यक्षेत्र में साथ कार्य करने वाले लोगों से बिगड़ सकते हैं और उससे आपको नौकरी में समस्या का सामना करना पड़ सकता है। वरिष्ठ अधिकारियों से भी आपकी कहासुनी हो सकती है इसलिए उनसे अच्छे संबंध बनाए रखने की कोशिश करें। आपकी पदोन्नति की बात अवश्य चल सकती है और यदि आप अच्छा काम करेंगे तो निश्चित ही आपको पदलाभ हो सकता है। यदि आप व्यापार करते हैं तो आपको थोड़ी सावधानी के साथ आगे बढ़ना होगा। व्यापार में जोखिम उठाकर आप आगे बढ़ पाएंगे। पारिवारिक जीवन में प्रेम बढ़ेगा और पारिवारिक माहौल खुशियों से भरा रहेगा। पिता जी से भी संबंध सुधरेंगे। स्वास्थ्य को लेकर थोड़ा ध्यान रखें क्योंकि छाती में जलन या इंफेक्शन जैसी समस्या परेशान कर सकती है।

उपाय: आपको जीवन में सुख शांति और सफलता के लिए रुद्राभिषेक संपन्न कराना चाहिए।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए शुक्र नवम भाव में गोचर करने वाले हैं। शुक्र का कर्क राशि में गोचर आपको लंबी यात्राओं पर लेकर जाएगा। ये यात्राएं आपके मनोरंजन और खुशी के लिए होंगी। आप परिवार वालों के साथ पिकनिक पर भी जा सकते हैं। सुदूर रमणीय स्थलों में जाने से आपको न केवल शांति मिलेगी बल्कि मन में खुशी रहेगी। हालांकि आपको यात्राओं पर जाने से पूर्व पूरी तैयारी से जाना चाहिए ताकि किसी तरह की कोई असुविधा ना हो जाए। आप कुछ नए लोगों से इस दौरान मिलेंगे और धार्मिक गतिविधियों से भी जुड़ेंगे। आपके चरित्र में अच्छे बदलाव देखने को मिलेंगे। आप लोगों की सेवा करने के लिए भी उद्वत हो सकते हैं। पारिवारिक रूप से भी यह गोचर अनुकूल रहेगा और आध्यात्मिक यात्रा पर जाने का मौका भी मिल सकता है। परिवार के वरिष्ठ और महिला सदस्यों का प्रेम विशेष रूप से आप पर रहेगा। विद्यार्थियों को अपने शिक्षकों का सानिध्य मिलेगा और उनके मार्गदर्शन में वह अच्छी शिक्षा अर्जित कर पाएंगे। यदि आप किसी कलात्मक कार्यक्षेत्र से जुड़े हैं तो यह अवधि आपको लोकप्रिय बनाने के साथ-साथ धन लाभ कराएगी।

उपाय: आपको शुक्रवार के दिन पारद शिवलिंग की आराधना करनी चाहिए।


बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु राशि

धनु राशि के जातकों के लिए शुक्र का गोचर अष्टम भाव में होगा। चोरी-छिपे खर्च करने की आदत से बचें और अपनी सुख-सुविधाओं पर छिपकर खर्च करना आपको बाद में परेशानी दे सकता है। इस दौरान किसी भी तरह के अनैतिक कार्य से बचें, नहीं तो आने वाले समय में आप को मानहानि का सामना करना पड़ सकता है और परिवार के अपनों से झगड़ा हो सकता है। शुक्र का कर्क राशि में गोचर आपके जीवन में कुछ प्रतिकूल स्थितियों को जन्म भी दे सकता है। कार्यक्षेत्र महिलाओं से अच्छा व्यवहार करें अन्यथा उनके कारण आपको परेशानी उठानी पड़ सकती है। अपने उन दोस्तों से बचकर रहें जो आपके दुश्मनों का काम करते हैं। पारिवारिक जीवन में थोड़ा तनाव रहेगा और ससुराल पक्ष की ओर आपका झुकाव अधिक हो सकता है। ससुराल में किसी समारोह में शामिल होने का मौका मिलेगा। नौकरी करने वाले लोगों को चुप रह कर अपना काम करते रहना चाहिए और यदि आप कोई व्यवसाय करते हैं तो इस दौरान व्यवसायिक साझेदार से संबंध ना बिगड़ें, इसका आपको ध्यान रखना होगा, नहीं तो व्यवसाय में समस्या बढ़ सकती है। इस दौरान किसी को भी उधार देने से बचें। स्वास्थ्य का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए। आपको पेट से संबंधित समस्याएं विशेष रूप से परेशान कर सकती हैं। धन का निवेश करना नुकसानदायक साबित हो सकता है इसलिए इससे बचने की कोशिश करें।

उपाय: आपको अपने मस्तक पर हल्दी का तिलक लगाना चाहिए।

मकर राशि

मकर राशि के जातकों के लिए शुक्र योगकारक ग्रह की भूमिका निभाते हैं और वर्तमान गोचर में यह आपके सप्तम भाव में प्रवेश करेंगे। यह समय दांपत्य जीवन में प्रेम बढ़ाने वाला होगा। आप और आपके जीवनसाथी के बीच की नज़दीकियां बढ़ेंगी। रोमांस के अवसर आएंगे लेकिन यदि आपकी कुंडली में शुक्र की स्थिति ज्यादा प्रबल है तो इस दौरान आप और विवाहेतर संबंधों की ओर भी अग्रसर हो सकते हैं इसलिए इनसे बचने की कोशिश करें। शुक्र का कर्क राशि में गोचर आपके व्यवसाय में उन्नति लेकर आएगा। आप अपने व्यवसाय को विस्तार देने में कामयाब रहेंगे और कुछ नए माध्यमों को भी अपने व्यापार में अपना सकते हैं जिससे आपको और लाभ होगा। प्रेमी युगल के लिए यह समय सोने पर सुहागा वाला होगा और आपका प्रेम विवाह होने के प्रबल योग बनेंगे। यदि आपने अभी तक उन्हें प्रस्ताव नहीं दिया है तो शुक्रवार के दिन प्रस्ताव दें, संभावना है कि आपका काम बन जाएगा और आपका प्रेम विवाह हो जाएगा। नौकरी करने वाले लोगों को कार्यक्षेत्र में अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा। जीवन साथी की बातें मानने से आपको और उन्हें दोनों को खुशी होगी लेकिन उनकी मनमानी और गलत बात मानने से बचें क्योंकि इससे आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। ऐसा होने पर शांति रखें और उन्हें समझाएं इससे रास्ता निकल आएगा और सुलह हो जाएगी।

उपाय: आपको शुक्रवार के दिन श्रीसूक्त का नियमित पाठ करना चाहिए।

कुंभ राशि

शुक्र का कर्क राशि में गोचर आपके षष्ठ भाव में होने वाला है। यह आपके एक योगकारक ग्रह हैं। इस गोचर के प्रभाव से आपके विरोधी कुछ प्रबल होने लगेंगे और आपको परेशान करने की कोशिश करेंगे। नौकरी में आपको काम करने में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ेगा क्योंकि जितनी आप मेहनत करेंगे, उतना परिणाम सामने नजर नहीं आएगा और आपके कुछ सहकर्मी आपके विरुद्ध षड्यंत्र कर सकते हैं। आप की टांग खिंचाई हो सकती है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए अपने काम पर पूरा ध्यान बनाए रखें। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से भी यह गोचर अनुकूल नहीं कहा जा सकता है इसलिए अपने स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखें। ज्यादा मसालेदार भोजन से परहेज करें। स्वच्छ जल पियें और नियमित व्यायाम अवश्य करें। व्यापार करने वाले जातकों के लिए समय अच्छा रहेगा। आपको कुछ विदेशी माध्यमों से भी लाभ मिलेगा। कुछ चुनौतियों को दरकिनार करते हुए आप अपने व्यापार में वृद्धि के मार्ग पर आगे बढ़ पाएंगे। कोई संपत्ति विवाद का कारण बन सकती है इसलिए इस दौरान किसी भी तरह के वाद-विवाद से दूर रहने की कोशिश करें। कोई नया काम इस दौरान शुरू करने से बचें। पारिवारिक जीवन में इस बात का ध्यान रखें कि पिताजी की सेहत अच्छी बनी रहे। खर्चों में थोड़ी बढ़ोतरी हो सकती है।

उपाय: आपको छोटी कन्याओं के चरण छूकर उनका आशीर्वाद लेना चाहिए।

मीन राशि

मीन राशि के जातकों के लिए शुक्र पंचम भाव में प्रवेश करेंगे जिसे प्रेम का भाव भी कहते हैं। शुक्र का कर्क राशि में गोचर आपके प्रेम संबंधों के लिए संजीवनी का काम करेगा। आप और आपके प्रियतम के बीच सभी गलतफहमियां दूर हो जाएंगी और आप एक दूसरे के प्रेम पाश में जकड़ जाएंगे। फिल्म देखने जाना, घूमने फिरने जाना, एक दूसरे के साथ समय बिताना आपको बहुत पसंद आएगा और एक अच्छे प्रेमी प्रेमिका के रूप में आप अपने जीवन को आगे बढ़ाएंगे और नए-नए सपने सजाएंगे। विद्यार्थियों को इस गोचर के दौरान एकाग्रता कायम रखना चुनौती होगा लेकिन फिर भी वे शिक्षा की ओर रुझान महसूस करेंगे और इसलिए बढ़िया तरीके से पढ़ाई करेंगे। इस दौरान आप कोई नया वाहन खरीदने में सफल हो सकते हैं। शोध कार्यों में लगे विद्यार्थियों को अच्छी सफलता मिल सकती है। इस दौरान आपकी बुद्धि का विकास होगा। आपके मन में नए-नए विचार आएंगे और उन्हें कैसे लागू करना है, यह आपको ध्यान देकर करना होगा। इससे आपको बहुत कुछ प्राप्त होगा। विवाहित लोगों को संतान से संबंधित सुखद समाचारों की प्राप्ति हो सकती है। इस दौरान नौकरी में बदलाव की संभावना बन सकती है। यदि आप नौकरी बदलना चाहते हैं तो प्रयास करते रहें, आप को सफलता मिल जाएगी।

उपाय: आपको शुक्रवार के दिन गौ माता की सेवा करनी चाहिए।


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।