• Varta Astrologers
  • Mragaank
  • Parul

शुक्र का कर्क राशि में गोचर (7 अगस्त, 2022)

शुक्र का कर्क राशि में गोचर आपकी राशि के किस भाव में हो रहा है और उसका आपके जीवन पर क्या कुछ सकारात्मक-नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा यह जानने के लिए हमारा यह विशेष अंक अवश्य पढ़ें। ऐस्ट्रोसेज के वैदिक ज्योतिष की गणना पर आधारित इस विशेष लेख के माध्यम से जानें कर्क राशि में शुक्र के राशि परिवर्तन का सभी राशियों के व्यक्तिगत, पेशेवर, स्वास्थ्य, आर्थिक, प्रेम, और वैवाहिक जीवन पर क्या कुछ प्रभाव पड़ने की संभावना है। साथ ही यहाँ हम आपको उन उपायों की भी जानकारी प्रदान कर रहे हैं जिन्हे अपनाकर आप इस गोचर के अशुभ प्रभाव को कम या दूर कर सकते हैं। तो आइए आगे बढ़ते हैं और राशि अनुसार जानते हैं कि शुक्र का यह गोचर हमारे जीवन में क्या बदलाव लेकर आने वाला है।

शुक्र का कर्क राशि में गोचर

शुक्र के कर्क राशि में गोचर (7 अगस्त, 2022) पर आधारित एस्ट्रोसेज के इस लेख में वैदिक ज्योतिष पर आधारित सही व सटीक गोचरफल विस्तार से पढ़ें। यह भविष्यफल हमारे विद्वान ज्योतिषियों द्वारा शुक्र ग्रह की चाल एवं स्थिति का विश्लेषण कर प्रदान किया गया है। जिसकी मदद से आप अपने आने वाले दिनों को और भी सुखद बना सकते हैं।

विद्वान ज्योतिषियों से फोन पर बात करें और जानें शुक्र गोचर का अपने जीवन पर प्रभाव

वैदिक ज्योतिष के अनुसार शुक्र ग्रह को प्रेम व अन्य भौतिक सुखों के कारक के रूप में जाना जाता है। लिहाजा, जब भी शुक्र ग्रह राशि परिवर्तन करता है या यूं कहें कि एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करता है तो इसके परिणाम उसी अनुसार देखने को मिलते हैं। आमतौर पर शुक्र को एक लाभकारी ग्रह के रूप में देखा जाता है लेकिन कुंडली में जब इसकी कमज़ोर होती है तो इसका असर लोगों के प्रेम जीवन पर दिखाई देने लगता है तथा अन्य कठिनाइयां भी संभव हो सकती हैं।

कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

शुक्र का कर्क राशि में गोचर: तिथि व समय

शुक्र 7 अगस्त, 2022 की सुबह 05:12 बजे राशि चक्र की चौथी राशि यानी कि कर्क राशि में गोचर करेगा।

आइए नीचे की ओर बढ़ते हैं और जानते हैं कि यह शुभ ग्रह शुक्र सभी 12 राशियों के जातकों के लिए क्या कुछ ख़ास लेकर आने वाला है तथा यह प्रत्येक राशि के जातकों के दैनिक जीवन में क्या बड़े बदलाव करेगा।

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि

Read in English: Venus Transit in Cancer (7 August, 2022)

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए शुक्र दूसरे और सातवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके चौथे भाव यानी कि सुख-सुविधा के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपको सामाजिक रूप से मान-सम्मान प्राप्त होगा और यदि आप राजनीति में हैं तो भी आपको सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। पेशेवर रूप से देखा जाए तो आपके लिए यह गोचर अवधि अनुकूल सिद्ध होगी। जिन लोगों का ख़ुद का व्यवसाय है, उन्हें इस दौरान अपने व्यवसाय में उन्नति दिखाई देगी। जो लोग नई नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उन्हें नौकरी के कुछ अच्छे अवसर व प्रस्ताव प्राप्त होंगे।

शिक्षा के दृष्टिकोण से देखें तो छात्रों के लिए शुक्र का यह गोचर फलदायी सिद्ध होगा। शिक्षा के क्षेत्र में आपको सफलता प्राप्त होगी, वहीं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों को भी सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। करियर के लिहाज से इस दौरान सरकारी नौकरी के योग बन रहे हैं अर्थात सरकारी नौकरी की प्रतीक्षा कर रहे जातकों को सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो जो लोग प्रेम संबंध में हैं, वे इस दौरान स्वभाव से अधिक भावुक हो सकते हैं और उन्हें छोटी-छोटी बातें भी चुभ सकती हैं। जिसके कारण उन्हें अपने प्रिय के साथ संबंध में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं वैवाहिक जीवन व्यतीत कर रहे जातकों की बात करें तो वे इस गोचर काल में अपने जीवनसाथी के साथ अच्छा समय बिताएंगे। यदि आपके बीच पहले से कोई विवाद चल रहा है तो प्रबल संभावना है कि शुक्र के इस गोचर दौरान आपके बीच सारे मनमुटाव व विवाद ख़त्म हो जाएंगे। आप इस अवधि में किसी तीर्थ स्थल की यात्रा भी कर सकते हैं।

स्वास्थ्य के लिहाज से आपके लिए यह गोचर अवधि अनुकूल रहने वाली है। आप उत्तम स्वास्थ्य बनाए रखने में कामयाब रहेंगे लेकिन फिर आपको सलाह दी जाती है कि अपने स्वास्थ्य का ख़्याल रखें।

उपाय: हनुमान चालीसा का पाठ करें व कुंवारी कन्याओं को लाल चुनरी दान करें।

मेष साप्ताहिक राशिफल

वृषभ

वृषभ राशि के जातकों के लिए शुक्र प्रथम और छठे भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके तीसरे भाव यानी कि साहस, पराक्रम और छोटे भाई-बहनों के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपको अपने सभी प्रयासों में भाई-बहनों का पूरा सहयोग प्राप्त होगा। शुक्र का यह गोचर आपको सामाजिक रूप से अधिक सक्रिय बनाएगा तथा समाज में आपकी लोकप्रियता को भी बढ़ाएगा। यदि आप अपने निजी जीवन में कोई बदलाव लाना चाहते हैं तो यह समय प्रबल है, आपको इसमें अवश्य ही सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो इस अवधि व्यवसायी जातकों को अपने व्यवसाय से अच्छा लाभ प्राप्त होगा। वहीं नौकरीपेशा जातकों के लिए यह समय नौकरी में बदलाव करने के लिए अनुकूल सिद्ध होगा।

जो लोग प्रेम संबंध में हैं, वे अपने प्रिय के साथ यादगार लम्हों को साझा करेंगे तथा उनके बीच मधुरता बनी रहेगी। वहीं वैवाहिक जीवन व्यतीत कर रहे जातकों को अपने जीवनसाथी के साथ संबंध में कुछ बहस या विवाद का सामना करना पड़ सकता है इसलिए यह सलाह दी जाती है कि अपनी वाणी तथा गुस्से पर नियंत्रण रखें।

शिक्षा के दृष्टिकोण से, यह अवधि अनुकूल रहने वाली है। वृषभ राशि के छात्रों को अपनी पढ़ाई में सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। साथ ही जो छात्र उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए भी शुक्र का यह गोचर फलदायी सिद्ध होगा।

स्वास्थ्य की बात करें तो इस दौरान आपका स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। साथ ही किसी पुरानी बीमारी से भी निजात मिलने की संभावना अधिक है।

उपाय: दुर्गा सप्तशती का पाठ करें तथा माँ दुर्गा को लाल रंग के पुष्प अर्पित करें।

वृषभ साप्ताहिक राशिफल

मिथुन

मिथुन राशि के जातकों के लिए शुक्र पांचवें और बारहवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके दूसरे भाव यानी कि धन और परिवार के भाव में गोचर करेगा।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर के प्रभावस्वरूप आपके संबंध अपने परिवार के सदस्यों के साथ सौहार्दपूर्ण रहेंगे। यदि आपका अभी तक अपने परिवार के सदस्यों से कोई विवाद चल रहा है तो वह भी इस दौरान दूर जाएगा। आप इस अवधि में उनके साथ मिलकर किसी शुभ कार्य की योजना भी बना सकते हैं।

आर्थिक रूप से यह अवधि आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगी तथा पेशेवर रूप से भी शुक्र का यह गोचर फलदायी सिद्ध होगा। जो लोग किसी विदेशी व्यापार से जुड़े हैं या विदेशी ग्राहकों के साथ काम कर रहे हैं, उन्हें इस दौरान अपनी डीलिंग्स से अच्छा खासा लाभ प्राप्त हो सकता है। वहीं नौकरीपेशा जातकों की पदोन्नति होने या वेतन वृद्धि होने की संभावना अधिक है। इसके अलावा जो लोग सरकारी नौकरी में हैं, उनकी वर्क प्रोफ़ाइल में बदलाव होने या स्थानांतरण होने की संभावना है।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो विवाहित जातकों को इस दौरान गर्भधारण का शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाए तो यह अवधि अनुकूल साबित होगी लेकिन फिर भी यह सलाह दी जाती है कि खेल-कूद के समय सावधानी बरतें तथा लंबी दूरी यात्रा करने से भी बचें।

उपाय: भगवान गणेश को दूर्वा (दूब घास) अर्पित करें एवं शाम के समय एक कपूर का दीपक जलाएं।

मिथुन साप्ताहिक राशिफल

करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क

कर्क राशि के जातकों के लिए शुक्र ग्यारहवें भाव और चौथे भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके प्रथम/लग्न भाव यानी कि मस्तिष्क, विवेक और व्यक्तित्व के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपका आत्म संयम बढ़ेगा तथा आपकी वाणी में भी सुधार होगा, जिससे कि आप समाज में एक प्रतिष्ठित स्थान प्राप्त कर सकेंगे। हो सकता है कि शुक्र के इस गोचर के दौरान आप राजनीति में सक्रिय होने का प्रयास भी करें। अर्थिक रूप से देखें तो इस अवधि में आपके ख़र्चों में इज़ाफ़ा हो सकता है। लाभ होने की संभावना भी कम दिखाई दे रही है। आप अपनी बचत का धन कुछ सामाजिक कार्यों में व्यय कर सकते हैं।

पेशेवर जीवन की बात करें तो विदेशी ग्रहकों के साथ काम कर रहे जातकों के लिए यह गोचर अवधि लाभकारी सिद्ध होगी। आप इस दौरान विदेशी लोगों के साथ साझेदारी में कोई व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

व्यक्तिगत जीवन की बात की जाए तो जो लोग प्रेम संबंध में हैं, उनके बीच प्रेम व आपसी समझ में वृद्धि होगी। यदि आपके बीच पहले से कोई विवाद चल रहा है तो मुमकिन है कि इस दौरान सारे विवाद ख़त्म हो जाएंगे। वहीं वैवाहिक जीवन व्यतीत कर रहे जातकों को अपने जीवनसाथी के साथ संबंध में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है इसलिए आपको यह सलाह दी जाती है कि अपने जीवनसाथी के साथ उचित संवाद कर ग़लतफ़हमियों व मतभेदों को सुलझाने का प्रयास करें। इस दौरान आप उनके साथ किसी यात्रा पर भी जा सकते हैं।

स्वास्थ्य के लिहाज से देखें तो इस अवधि में आपको किसी पुरानी बीमारी से निजात मिलने की संभावना अधिक है लेकिन आप मानसिक तनाव से ग्रस्त हो सकते हैं। ऐसे में आपको इस दौरान अपने स्वास्थ्य के प्रति अधिक सावधान रहने की आवश्यकता होगी।

उपाय: अपने इष्ट देवी/देवता का ध्यान करते हुए माँ सरस्वती को सफेद रंग के पुष्प अर्पित करें।

कर्क साप्ताहिक राशिफल

सिंह

सिंह राशि के जातकों के लिए शुक्र तीसरे और दसवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके बारहवें भाव यानी कि व्यय, हानि और विदेश यात्रा के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान विदेश से जुड़े पेशेवर जातकों को पूर्ण रूप से लाभ प्राप्त होगा, वहीं स्वदेश में कार्य कर रहे जातकों के ख़र्चों में वृद्धि हो सकती है। यदि आप रोजगार के लिए विदेश जाने की योजना बना रहे हैं तो मुमकिन है कि आपको इसमें सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे।

इस दौरान आपके पारिवारिक जीवन में कुछ समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं, ऐसे में आपको अपने शब्दों, वाणी तथा गुस्से पर नियंत्रण रखने की सलाह दी जाती है। शुक्र का आपके बारहवें भाव में गोचर आपके ऊपर कर्ज़ को बढ़ा सकता है इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि इस दौरान किसी से कर्ज़ न लें और न ही दें।

शिक्षा की दृष्टि से, सिंह राशि छात्रों के लिए यह गोचर अवधि अनुकूल रहेगी। जो छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, उन्हें इस दौरान सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे चूंकि सरकारी नौकरी के योग बनते नज़र आ रहे हैं।

जो लोग प्रेम संबंध में हैं, वे अपने प्रिय के साथ अच्छा समय बिताएंगे, जिससे उनके बीच प्रेम व आपसी समझ में वृद्धि होगी। वहीं विवाहित जातकों के लिए भी शुक्र का यह गोचर अनुकूल रहने वाला है। आपके रिश्ते में एक-दूसरे के प्रति समर्पण बढ़ेगा। परिणामस्वरूप आपको अपना वैवाहिक जीवन सुखद नज़र आएगा।

व्यक्तिगत स्वास्थ्य की बात करें तो इस दौरान आपको अपने स्वास्थ्य प्रति अधिक सावधान रहने की आवश्यकता होगी।

उपाय: "देवी कवच" का पाठ करें ।

सिंह साप्ताहिक राशिफल

कन्या

कन्या राशि के जातकों के लिए शुक्र दूसरे और नौवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके ग्यारहवें भाव यानी कि आय और लाभ के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आप मानसिक रूप से तनाव महसूस कर सकते हैं। साथ ही, आपको अपने बड़े भाई-बहनों के साथ संबंध में कुछ तनावपूर्ण स्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। यदि आप खेल जगत से जुड़े हुए हैं तो आपको इस अवधि में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे।

कन्या राशि के छात्रों के लिए यह गोचर अवधि अनुकूल सिद्ध होगी। इस दौरान आप एकाग्रचित्त होकर अपनी पढ़ाई की ओर ध्यान केंद्रित कर सकेंगे, परिणामस्वरूप आपका प्रदर्शन बेहतर होगा। वहीं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों को भी सफलता प्राप्त हो सकती है।

शुक्र का यह गोचर आपको अधिक सामाजिक बनाएगा। इस दौरान आप कुछ प्रतिष्ठित व उच्च अधिकारियों से मुलाक़ात कर सकते हैं। साथ ही आपको उनकी तरफ़ से किसी प्रकार की आर्थिक मदद भी मिल सकती है।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो नौकरीपेशा जातकों की पदोन्नति होने के योग बन रहे हैं। जो जातक नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उन्हें इस अवधि में नौकरी के कुछ अच्छे अवसर या प्रस्ताव प्राप्त होंगे। वहीं ख़ुद का व्यवसाय चला रहे जातकों को इस दौरान कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है इसलिए आपको यह सलाह दी जाती है कि किसी भी प्रकार के निवेश से बचें।

शादीशुदा लोगों के लिए यह गोचर काल अनुकूल सिद्ध होगा। आप अपने जीवनसाथी के साथ अच्छा वक़्त बिताएंगे, जिससे आपके बीच प्रेम व आपसी समझ में वृद्धि होगी। वहीं जो लोग प्रेम संबंध में हैं, उनके बीच मधुरता व नज़दीकियां बढ़ती नज़र आएंगी।

स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाए तो इस दौरान किसी पुरानी बीमारी से निजात मिलने की संभावना प्रबल है लेकिन फिर भी अपने स्वास्थ्य के प्रति सावधानी बरतें।

उपाय: सुगंधित द्रव्य (चीज़ें) दान करें तथा माँ दुर्गा को सिंदूर चढ़ाएं।

कन्या साप्ताहिक राशिफल

तुला

तुला राशि के जातकों के लिए शुक्र प्रथम भाव तथा आठवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव में गोचर करेगा।

यह अवधि पेशेवर रूप से फलदायी सिद्ध होगी चूंकि कार्यक्षेत्र में उन्नति तथा पदोन्नति होने के योग बन रहे हैं। जो लोग सरकारी नौकरी में हैं, उन्हें इस दौरान कई सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। वहीं व्यवसायी एवं नौकरीपेशा जातक अनेक चुनौतियों का सामना करते हुए सफलता प्राप्त करेंगे।

आर्थिक रूप से भी यह अवधि लाभकारी सिद्ध होगी। इस दौरान धन का प्रवाह सुचारू रूप से चलता रहेगा। साथ ही अटका हुआ या रुक धन वापस मिलने की भी संभावना अधिक है।

पारिवारिक जीवन की बात करें तो यह अवधि थोड़ी चुनौतीपूर्ण हो सकती है इसलिए आपको यह सलाह दी जाती है कि इस दौरान अपने बड़े बुज़ुर्गों की सलाह को नज़रअंदाज़ न करें तथा अपने घर में किसी ऐसे शुभ कार्यक्रम का आयोजन करें, जिसमें परिवार के सभी सदस्य शामिल हो सकें।

जो लोग प्रेम संबंध में हैं, वे इस दौरान अपने प्रिय के साथ रोमांटिक समय का आनंद लेंगे। वहीं विवाहित जातकों को अपने जीवनसाथी के साथ संबंध में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आशंका है कि जीवनसाथी के साथ किसी बात पर आपकी नोक-झोंक हो सकती है। शुक्र के कर्क राशि में गोचर की इस अवधि में आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति अधिक सावधान रहने की आवश्यकता होगी।

उपाय: गायत्री मंत्र का जाप करें तथा ब्राह्मणों को भोजन कराएं।

तुला साप्ताहिक राशिफल

वृश्चिक

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए शुक्र बारहवें भाव और सातवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके नौवें भाव यानी कि धर्म और भाग्य के भाव में गोचर करेगा।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो नौकरीपेशा जातकों की पदोन्नति होने की संभावना है। वहीं जो लोग विदेश से जुड़ा हुआ ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं या विदेशी ग्राहकों के साथ लेन-देन कर रहे हैं, उन्हें इस अवधि में अच्छा खासा लाभ होने वाला है। आप इस दौरान किसी व्यावसायिक काम से विदेश भी जा सकते हैं।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो इस दौरान आपका झुकाव धर्म के प्रति अधिक रहेगा और आप इस अवधि में कुछ धार्मिक गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं। जो लोग शादीशुदा हैं, उनके बीच प्रेम व स्नेह बढ़ेगा। वहीं जो लोग प्रेम संबंध में हैं, वे इस दौरान अपने प्रिय के साथ अच्छा समय बिताएंगे, जिससे उनके बीच आपसी समझ व घनिष्ठता बढ़ेगी।

शिक्षा के दृष्टिकोण से वृश्चिक राशि के छात्रों का प्रदर्शन बेहतर होगा। जो छात्र उच्च शिक्षा के लिए किसी बड़े संस्थान में प्रवेश लेने की योजना बना रहे हैं, उन्हें सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। वहीं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए भी शुक्र का यह गोचर अनुकूल सिद्ध होगा।

स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाए तो यह इस दौरान आपको अपने स्वास्थ्य में सुधार देखने को मिलेगा। इसके अलावा किसी पुरानी बीमारी से छुटकारा भी मिल सकता है।

उपाय: सफेद वस्तु दान करें तथा कुंवारी कन्याओं को भोजन कराएं।

वृश्चिक साप्ताहिक राशिफल

बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु

धनु राशि के जातकों के लिए शुक्र छठे और ग्यारहवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके आठवें भाव यानी कि अनिश्चितता, आकस्मिक परिवर्तन और विदेश यात्रा के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपको कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ सकता है लेकिन आप अपनी मेहनत व लगन से अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त कर सकेंगे। आपको यह सलाह दी जाती है कि इस दौरान किसी से भी धन उधार न लें अन्यथा आपकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इसके अलावा कुछ मामलों में आपको धन हानि भी हो सकती है।

राजनीति के क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए यह समय अनुकूल रहने वाला है। वहीं जो लोग ख़ुद का व्यवसाय चला रहे हैं, उन्हें इस दौरान कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आपको अपने हर लेन-देन में अधिक सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा धनु राशि के छात्रों को अपनी पढ़ाई में बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है।

स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाए तो इस दौरान आपके जीवनसाथी के स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है अतः आपको सलाह दी जाती है कि अपने जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ख़्याल रखें। कोई भी परेशानी होने पर तुरंत चिकित्सक की सलाह व उचित उपचार लें।

उपाय: हल्दी के पानी से स्नान करें और विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें।

धनु साप्ताहिक राशिफल

मकर

मकर राशि के जातकों के लिए शुक्र पांचवें और दसवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके सातवें भाव यानी कि साझेदारी, रोमांस और वैवाहिक सुख के भाव में सूर्य के साथ गोचर करेगा।

आपके सातवें भाव में शुक्र का गोचर आपके वैवाहिक जीवन को सुखद बनाएगा, आपके बीच प्रेम व रोमांस को बढ़ाएगा तथा आपके बीच मौजूद सभी मतभेदों, विवादों और ग़लतफ़हमियों को दूर करेगा। यदि किसी न्यायालय में आपका कोई मामला चल रहा है तो आपको उसमें भी सफलता प्राप्त हो सकती है।

पेशेवर रूप से देखें तो जो जातक विदेशी व्यापार से जुड़े हुए हैं, वे अपने व्यवसाय में उन्नति देखेंगे। आप इस अवधि कुछ नए व्यवसाय शुरू करने की योजना भी बना सकते हैं। वहीं नौकरीपेशा जातकों के लिए भी शुक्र का यह गोचर फलदायी सिद्ध होगा। साथ ही पदोन्नति के योग बनेंगे।

आर्थिक रूप से देखा जाए तो शुक्र के इस गोचर के दौरान आपको अपनी पैतृक संपत्ति से किसी प्रकार का लाभ प्राप्त होगा। साथ ही अटका हुआ या रुका हुआ धन वापस मिलने की संभावना अधिक है। इसके अलावा हाल ही में किए गए निवेश भी लाभकारी सिद्ध हो सकते हैं।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर के प्रभावस्वरूप मकर राशि के छात्रों को अपनी पढ़ाई में कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता होगी चूंकि इस अवधि में आपको अपने विषयों की ओर ध्यान केंद्रित करने तथा उन्हें याद रखने में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यदि आप आगे की पढ़ाई के लिए विदेश जाने की योजना बना रहे बना रहे हैं तो आपके लिए यह गोचर अवधि अनुकूल सिद्ध होगी।

स्वास्थ्य के लिहाज से समय अनुकूल है। कोई भी बड़ी स्वास्थ्य समस्या नहीं होगी। साथ ही किसी पुरानी बीमारी से निजात मिलने की संभावना भी अधिक है।

उपाय: गंगा जल और दूध से शिवलिंग का अभिषेक करें।

मकर साप्ताहिक राशिफल

कुंभ

कुंभ राशि के जातकों के लिए शुक्र चौथे और नौवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके छठे भाव यानी कि रोग, प्रतिस्पर्धा और ऋण के भाव में गोचर करेगा।

इस दौरान आपको अपने जीवन के हर पहलू में सफलता प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करने की ज़रूरत होगी। साथ ही आपको अपने शत्रुओं, विरोधियों और प्रतिद्वंदियों से भी सावधान रहने की आवश्यकता होगी।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो कार्यस्थल पर आपके विरोधी आपके ख़िलाफ़ किसी प्रकार की साज़िश रचने का प्रयास करेंगे। ऐसे में आपको उनसे सावधानी बरतते हुए अपने कार्य के प्रति समर्पित होने की ज़रूरत होगी। फ्रीलांसिंग कार्य कर रहे जातकों के लिए शुक्र का यह गोचर अनुकूल सिद्ध होगा।

जो लोग प्रेम संबंध में हैं, उनके लिए यह गोचर अवधि अनुकूल रहने वाली है। आपके बीच पुराने मतभेद व विवाद ख़त्म होंगे। वहीं विवाहित जातकों को इस दौरान अपने जीवनसाथी के साथ संबंध में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आपको यह सलाह दी जाती है कि अपने जीवनसाथी से बात करें और सभी मतभेदों को सुलझाने का प्रयास करें।

इस दौरान आपके ख़र्चों में वृद्धि हो सकती है इसलिए अनावश्यक ख़र्चों पर नियंत्रण रखना ही आपके लिए उचित होगा। वहीं विदेशी धन लाभ के मामले में यह गोचर लाभकारी सिद्ध होगा।

स्वास्थ्य के लिहाज से आपको यह सलाह दी जाती है कि दौड़-भाग करते समय थोड़ी सावधानी बरतें अन्यथा आपको चोट लग सकती है।

उपाय: दुर्गा चालीसा का पाठ करें और दही दान करें।

कुंभ साप्ताहिक राशिफल

मीन

मीन राशि के जातकों के लिए शुक्र तीसरे और आठवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान शुक्र आपके पांचवें भाव यानी कि प्रेम, शिक्षा और संतान के भाव में गोचर करेगा।

जिसके चलते आपको अपने प्रेम जीवन में मधुरता व स्नेह देखने को मिलेगा। इसी प्रकार व्यवसाय में कामयाबी तथा लाभ भी संभव होगा।

मीन राशि के छात्र शुक्र के इस गोचर काल के दौरान अच्छी तरह से अपनी पढ़ाई की ओर केंद्रित रहेंगे चूंकि शुक्र के साथ सूर्य की उपस्थिति भी रहेगी। जिसके परिणामस्वरूप पढ़ाई के प्रति उनकी एकाग्रता में वृद्धि होगी तथा वे अपने विषयों को बेहतर ढंग से समझ सकेंगे व याद रख सकेंगे। कला, संगीत और नाटक आदि में रुचि रखने वाले अभ्यर्थियों को भी लाभ प्राप्त होगा।

मीन राशि के विवाहित जातक अपने जीवनसाथी के साथ सुखद पल साझा करेंगे, जिससे उनके बीच प्रेम व आपसी समझ में वृद्धि देखी जाएगी।

पेशेवर रूप से देखा जाए तो नौकरीपेशा जातकों को भी शुक्र के सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। पदोन्नति, प्रोत्साहन तथा अन्य लाभ मिलने के योग बनेंगे। वहीं नौकरी की तलाश कर रहे लोगों को भी शुक्र का आशीर्वाद प्राप्त होगा। मनपसंद नौकरी मिलने की संभावना अधिक है।

आर्थिक रूप से मीन राशि के जातकों को पैतृक संपत्ति से लाभ मिलने के संकेत मिल रहे हैं। इसके अलावा यदि परिवार में कोई विवाद चल रहा है तो आपसी वाद-विवाद एवं मनमुटाव ख़त्म होने की भी संभावना है।

स्वास्थ्य के लिहाज से पाचन संबंधी समस्याएं इस दौरान परेशानी का कारण बन सकती हैं इसलिए अपने खानपान के प्रति सावधानी बरतें। बाहरी भोजन के सेवन से परहेज करना आपके लिए बेहतर साबित होगा।

उपाय: शुक्रवार के दिन कुंवारी कन्याओं को खीर बनाकर खिलाएं।

मीन साप्ताहिक राशिफल

सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।