• Trikal Samhita
  • AstroSage Big Horoscope
  • Raj Yoga Reort
  • Shani Report

बुध का तुला राशि में गोचर - 6 अक्टूबर 2018

भारतीय ज्योतिष शास्त्र में बुध ग्रह को मुख्य रूप से बुद्धि और वाणी का कारक माना गया है। कुंडली में इसके शुभ प्रभाव से व्यक्ति बुद्धिमान होता है और उसका अपनी वाणी पर बेहतर नियंत्रण होता है। बुध प्रधान जातकों के लिए संसार के ज्ञान से बढ़कर कोई धन नहीं होता है। यह लोग संगीत प्रिय भी होते हैं और अपनी मधुर वाणी से सबका मन मोह लेने वाले होते हैं। बुध प्रधान जातक आमतौर पर डॉक्टर, वकील, व्यापारी और अर्थशास्त्र आदि क्षेत्रों में अधिक निपुणता रखते हैं। बुध को त्वचा का कारक भी माना गया है इसलिए बुध के बलशाली होने से त्वचा अच्छी रहती है। वहीं इसके निर्बल होने की वजह से त्वचा संबंधी विकार होने लगते हैं।

वाणी, बुद्धि और तर्कशक्ति का कारक बुध ग्रह 6 अक्टूबर 2018, शनिवार को दोपहर 12:51 बजे तुला राशि में प्रवेश करेगा और 26 अक्टूबर 2018, शुक्रवार रात्रि 8:55 तक इसी राशि में स्थित रहेगा। आइये जानते हैं बुध के इस गोचर का सभी 12 राशियों पर क्या प्रभाव होगा।

Click here to read in English...

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र राशि जानने के लिए क्लिक करें: चंद्र राशि कैल्कुलेटर

Budha ka Tula Rashi Me Gochar

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए बुध का यह गोचर ज्यादा अनुकूल नहीं दिखाई दे रहा है। क्योंकि बुध आपकी राशि से सप्तम भाव में संचरण करेगा, अतः इस दौरान आपको स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं काम के दबाव की वजह से शारीरिक थकान भी महसूस हो सकती है। जीवनसाथी से किसी बात को लेकर विवाद हो सकता है इसलिए ऐसी परिस्थिति में संयम बरतें। वहीं परिजन और मित्रों से भी तकरार होने की संभावना है। आर्थिक दृष्टि से भी यह गोचर आपके लिए अधिक अनुकूल नज़र नहीं आ रहा है। इस दौरान धन हानि होने की संभावना है, इसलिए पैसों के लेन-देन और निवेश में विशेष रूप से सावधानी बरतें। कामकाज के सिलसिले में होने वाली यात्राओं और व्यवसाय से होने वाले लाभ में कुछ अड़चनें आ सकती हैं।

उपायः बुधवार को हरी चूड़ियाँ दान करें।

वृषभ

बुध ग्रह वृषभ राशि से षष्ठम भाव में गोचर करेगा। इस भाव में बुध की उपस्थिति शुभ संकेत देती नज़र आ रही है। यहां स्थित बुध के प्रभाव से आप वाद-विवाद जैसी प्रतियोगिता में सफलता प्राप्त करेंगे। धार्मिक ग्रंथ, पत्रिका, उपन्यास और अन्य प्रकार के लेखों को पढ़ने में आपकी रूचि बढ़ेगी और आनंद आएगा। बुध के गोचर की इस अवधि में आप विरोधियों पर हावी रहेंगे। नये संपर्क बनने से आपका सामाजिक दायरा बढ़ेगा और मान-सम्मान की प्राप्ति होगी। परिवार में आपके बच्चे बेहद आनंदित और खुश रहेंगे। नौकरी और व्यवसाय में आपका प्रदर्शन पहले के मुकाबले और बेहतर होगा। कड़े परिश्रम की बदौलत आपको सफलता मिलेगी। वृषभ राशि के वे जातक जो लेखन से जुड़े हैं उन्हें अच्छे परिणाम मिलने की संभावना है।

उपायः माँ दुर्गा की आराधना करें।

मिथुन

मिथुन राशि से पंचम भाव में बुध का गोचर, इस राशि के जातकों के लिए बेहतर होगा। विशेष रूप से पारिवारिक जीवन में आनंद की अनुभूति होगी और शांति व सद्भाव बना रहेगा। घर में बच्चों के प्रति आपका स्नेह बढ़ेगा और उनके साथ रहकर वक्त गुजारना आपको अच्छा लगेगा। यदि माता जी तबीयत खराब चल रही है तो उसमें सुदार देखने को मिलेगा। इस दौरान आप कुछ नया सीखना या कुछ नया करने की इच्छा रखेंगे और इस दिशा में आगे भी बढ़ेंगे। धर्म और आध्यात्मिक कार्यों के प्रति आपकी रुचि बढ़ सकती है। आप विपरीत लिंग के लोगों के साथ आपकी खूब जमेगी लेकिन ये दोस्ती अधिक समय तक टिक नहीं पाएगी।

उपायः दुर्गा चालीसा का जाप करें।


कर्क

आपकी राशि से चतुर्थ भाव में बुध का गोचर आपके जीवन में खुशियों के नये पल लेकर आएगा। पारिवारिक जीवन में शांति और सद्भाव का माहौल रहेगा और एक-दूसरे के प्रति प्रेम और बढ़ेगा। इस दौरान आप परिजनों के साथ आनंद के पल व्यतीत करेंगे और उन्हें अधिक से अधिक समय देंगे। माता जी की सेहत में सुधार देखने को मिलेगा और पहले की तुलना में अधिक स्वस्थ रहेंगी। इस गोचर के प्रभाव से आपको धन लाभ होने के प्रबल योग बन रहे हैं। आमदनी और संपत्ति दोनों में वृद्धि होगी। इसके अतिरिक्त कार्यक्षेत्र और सामाजिक क्षेत्र में उच्च अधिकारियों व गणमान्य लोगों से आपके संपर्क बनेंगे। यदि जीवनसाथी कार्यरत है तो उन्हें प्रमोशन की सौगात मिल सकती है।

उपायः फल दान करें।

सिंह

बुध ग्रह आपकी राशि से तृतीय भाव में गोचर करेगा। इस भाव में बुध की उपस्थिति संकेत करती है कि आपकी वाणी और संवाद शैली में जबरदस्त बदलाव देखने को मिलेगा। इसका प्रभाव यह होगा कि आप अपनी वाणी से दूसरों को प्रभावित करेंगे। हालांकि अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में आप मजबूत इच्छाशक्ति के साथ आगे नहीं बढ़ेंगे। भाई-बहनों के साथ आपके मतभेद हो सकते हैं इसलिए थोड़ा धैर्य से काम लें। हालांकि जरुरत पड़ने पर भाई-बहन आपकी आर्थिक मदद करने के लिए तैयार रहेंगे। बुध के इस गोचर के दौरान आपके दोस्तों की संख्या में वृद्धि होगी। इस अवधि में पैसों के लेन-देन को लेकर थोड़ी सावधानी बरतें, क्योंकि धन हानि होने की संभावना है। किसी बात को लेकर आपके मन में भय की स्थिति बनी रह सकती है।

उपायः ‘’ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’’ इस मंत्र का जाप करें।

कन्या

बुध ग्रह आपकी राशि से द्वितीय भाव में गोचर करेगा। दूसरे भाव में बुध की उपस्थिति आपके लिए सुखद संकेत कर रही है। इसके फलस्वरुप घर-परिवार और जीवन में आपको आनंद की अनुभूति होगी। अपनी बातों से आप लोगों को मोहित करने में कामयाब होंगे, साथ ही व्यावसायिक क्षेत्र में इसके माध्यम से आप आय भी अर्जित करेंगे। घर में आप स्वादिष्ट भोजन का आनंद लेंगे। इस दौरान रिश्तेदार या प्रियतम से मिलने के योग भी बनेंगे। छात्र जातकों को प्रतियोगी परीक्षा में अपनी मेहनत और लगन का परिणाम प्राप्त होगा। वहीं नौकरी और व्यावसायिक क्षेत्र में भी आपको बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे।

उपायः भगवान विष्णु जी की पूजा करें और उन्हें कपूर चढ़ाएँ।


तुला

चूंकि बुध ग्रह आपकी ही राशि में गोचर कर रहा है, इसलिए यह आपके प्रथम भाव यानि लग्न भाव में स्थित रहेगा। इस भाव में बुध की स्थिति एक ओर जहां लाभ देगी, वहीं दूसरी ओर हानि भी पहुंचा सकती है। इस गोचर के दौरान आपकी सेहत कुछ कमजोर रह सकती है, इसलिए अपने स्वास्थ्य पर विशेष रूप से ध्यान दें। वहीं भाग्य का साथ मिलने से कार्यों में सफलता की प्राप्ति होगी लेकिन चुनौतियों का भी सामना करना पड़ेगा। इसलिए बेहतर होगा कि अपने प्रयास निरंतर जारी रखें और हिम्मत न हारें। आर्थिक दृष्टि से धन हानि होने की संभावना है इसलिए थोड़ा सतर्क रहें। पारिवारिक जीवन में आप बेहद खुश और आनंदित रहेंगे।

उपायः माँ दुर्गा मंत्र का जाप करें।

वृश्चिक

बुद्धि, वाणी और व्यापार का कारक कहा जाने वाला बुध ग्रह आपकी राशि से द्वादश भाव में गोचर करेगा। चूंकि ज्योतिष में बारहवें भाव को व्यय भाव कहा जाता है, इसलिए इस भाव में बुध के स्थित होने से आपके खर्चों में वृद्धि होने की संभावना है। इसलिए बेहतर होगा कि अनावश्यक खर्चों से बचें। वहीं पैसों के लेन-देन और निवेश में भी सावधानी बरतें वरना जरा सी चूक में धन हानि हो सकती है। अच्छी बात है कि इस अवधि में आपको विदेश यात्रा पर जाने का अवसर मिल सकता है। हालांकि साथ ही कुछ अनचाही यात्राएं भी करनी पड़ सकती है। इस दौरान आपके विरोधी आप पर हावी रहेंगे इसलिए थोड़ा सतर्क रहें। किसी वजह से मानसिक तनाव रह सकता है और भूख भी कम लग सकती है, इसलिए सेहत का ख्याल रखें। एकाग्रता की कमी की वजह से छात्रों को पढ़ाई-लिखाई दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

उपायः हरी सब्जियाँ दान करें।

धनु

बुध ग्रह आपकी राशि से एकादश भाव में संचरण करेगा। चूंकि ग्यारहवां भाव आमदनी और लाभ का भाव होता है इसलिए इस अवधि में बुध के यहां उपस्थित होने से धन लाभ होने की संभावना बनेगी। हर कार्य और योजना में सफलता प्राप्त होगी। आप रिश्तेदारों और दोस्तों के साथ आनंद के अच्छे पल बीताएंगे। वहीं सामाजिक जीवन में सक्रिय रहने से आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। दान,धर्म और परोपकारी कार्यों में भी आप रूचि लेंगे। वे जातक जो विवाहित हैं उन्हें संतान सुख की प्राप्ति हो सकती है। यदि आप पार्टनरशिप में व्यवसाय कर रहे हैं तो इस साझेदारी से आपको बेहतर परिणाम प्राप्त होने की संभावना है। इस अवधि में आपकी लव लाइफ भी बेहद खुशनुमा रहेगी।

उपायः श्री विष्णु सहस्रनाम स्तोत्र का जाप करें।


मकर

बुध ग्रह आपकी राशि से दशम भाव में गोचर करेगा। ज्योतिष में दशम भाव से कार्यक्षेत्र और व्यवसाय का विचार किया जाता है, अतः इस भाव में बुध के स्थित होने से नौकरी में प्रमोशन व वेतन में बढ़ोत्तरी की प्रबल संभावना बन रही है। वहीं व्यापार में भी आपको अच्छी सफलता मिलेगी। इस दौरान आप विरोधियों पर हावी रहेंगे और उन्हें हर मौके पर परास्त कर देंगे। सामाजिक कार्यों में आप सक्रियता बढ़ेगी और समाज में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। बुध के गोचर की इस अवधि में आपका पारिवारिक जीवन सुखद और शांतिमय रहने वाला है। इस दौरान आपको अपने कड़े परिश्रम का परिणाम एक बड़ी सफलता के रूप में मिलेगा।

उपायः गणेश जी की आराधना करें और उन्हें दुर्वा चढ़ाएँ।

कुंभ

बुध ग्रह आपकी राशि से नवम भाव में प्रवेश करेगा। नौवें भाव में बुध का स्थित होना आपके लिए अनुकूल संकेत नहीं दे रहा है, अतः इस अवधि में आपको संघर्ष करना पड़ सकता है। बड़ी सफलता पाने के लिए आपको कड़ा परिश्रम करना होगा। वहीं आर्थिक क्षेत्र में आपको धन लाभ और धन हानि दोनों होने की संभावना है, इसलिए पैसों से जुड़े मामलों में विशेष सावधानी बरतें। धन के मामले में किसी पर आंख मूंदकर भरोसा न करें। इस अवधि में यात्रा के दौरान आपको कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए अगर ज्यादा जरुरी न हो तो, यात्रा टालने की कोशिश करें। परिवार में भाई-बहनों के साथ मतभेद होने की संभावना है, इसलिए धैर्य से काम लें। लव लाइफ में भी कुछ उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है।

उपायः गाय की सेवा और उसे हरा चारा खिलाएँ।

मीन

बुध ग्रह आपकी राशि से अष्टम भाव में प्रवेश करेगा। इसके फलस्वरुप मीन राशि के जातकों के जीवन में धन लाभ के योग बनेंगे। आर्थिक स्थिति पहले की तुलना में और बेहतर होगी। यदि आप पर कोई देनदारी या कर्ज है तो आप उसे चुका देंगे। बुध के इस गोचर के दौरान कामयाबी आपके कदम चूमेगी। घर में परिजन और बच्चे भी प्रसन्न रहेंगे, हालांकि माता जी की सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है, इसलिए उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखें। इस अवधि में मनोविज्ञान, ज्योतिष और अन्य रहस्यमयी विद्याओं को लेकर आपकी रूचि बढ़ेगी। सामाजिक जीवन में भी आप मान-सम्मान प्राप्त करेंगे।

उपायः शुद्ध घी का दान करें।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।