• Trikal Samhita
  • AstroSage Big Horoscope
  • Raj Yoga Reort
  • Shani Report

वैदिक ज्योतिष

ज्योतिष एक बेहद पुरानी विद्या है, जिसमें मनुष्य के भाग्य का अध्ययन ग्रहों एवं नक्षत्रों की चाल और प्रभाव से किया जाता है। पुराने समय में ग्रह, नक्षत्र और खगोलीय पिण्‍डों का अध्‍ययन करने के विषय को ही ज्‍योतिष कहते थे। ज्योतिष शास्त्र को हिन्दू धर्म के अनुसार वेद का एक अंग बताया गया है। एस्ट्रोसेज के माध्यम से आप ज्योतिष विद्या को घर बैठे आसानी से सीख सकते हैं। इसके अलावा हम आपको रत्न ज्योतिष, ग्रह ज्योतिष, शनि की साढ़े साती और रत्न व स्टोन आदि के बारे में भी जानकारी दे रहे हैं। आइए, देखते हैं ज्योतिष से जुड़े कुछ दिलचस्प और ज्ञानप्रद लेख–

क्या है ज्योतिष विद्या?

ज्योतिष ज्ञान भाग्य की कुंजी है ज्योतिष विद्या को हम ज्योतिष शास्त्र या फिर ज्योतिष विज्ञान भी कहते हैं। यह एक बेहद पुरानी विद्या है, जिसकी चर्चा वेदों में भी की गयी है। ज्योतिष शास्त्र को अंग्रेजी में “एस्ट्रोलॉजी” कहते हैं।

सौरमण्डल में होने वाले परिवर्तन और मौजूद ग्रह-नक्षत्रों आदि के रहस्य से पर्दा उठाने के लिए आदमी ने ग्रह-तारों आदि को देखना, परखना और समझना शुरू किया। धीरे-धीरे ग्रहों-नक्षत्रों की चाल इंसान की समझ में आने लगी। वह अपने आस-पास होने वाली घटनाओं को सौरमण्डल में मौजूद इन ग्रहों-नक्षत्रों की गतिविधियों से जोड़ने लगा और इस प्रकार यह एक शास्त्र बन गया, जिसे आज हम सभी ज्योतिष या ज्योतिष विद्या के नाम से जानते हैं। वेदो में ज्योतिष शास्त्र की प्रामाणिक परिभाषा मौजूद है।

'ज्योतिषां सूर्यादि ग्रहाणां बोधकं शास्त्रम्' इसका अर्थ है कि ग्रह (ग्रह, नक्षत्र, आदि) और समय का ज्ञान देने वाले विज्ञान को ज्योतिष विज्ञान कहते हैं।

क्या है ज्योतिष ज्ञान का उद्देश्य?

भारत में ज्योतिष का इतिहास क़रीब 8 हज़ार सालों से भी ज़्यादा पुराना है इसीलिए कई विद्वानों का यह भी मानना है कि ज्योतिष शास्त्र का उदय भारत में ही हुआ था। आसान शब्दों में कहें तो ग्रहों के विषय में ज्ञान कराने वाले शास्त्र को ज्योतिष शास्त्र कहते हैं।

आज के इस आधुनिक युग में जब विज्ञान ने चन्द्रमा और अन्य ग्रहों के विषय में इतनी गहराई से जान लिया है, तब भी ज्योतिष की अपनी अलग पहचान कायम है। लोग अपने भाग्य को बेहतर बनाने के लिए ज्योतिषीय उपाय का सहारा लेते हैं। भारतीय ज्योतिष शास्त्र को विश्व के चुनिंदा प्राचीन और विस्तृत ज्योतिष शास्त्रों के रूप में जाना जाता है।

ज्योतिष शास्त्र का मकसद यह बताना नहीं है कि आपके या किसी और व्यक्ति की जिंदगी में क्या होने वाला है। यह मनुष्य के जीवन में आने वाली चीज़ों की रूप-रेखा को एक निश्चित बिंदु तक समझने के लिए है, जिसकी मदद से आप अपनी गतिविधियों को उसके अनुसार भाग्य तय कर उससे अधिक से अधिक लाभ लें। लेकिन आज कल ज्योतिष उपहास का विषय बन गया है क्योंकि इन्हें लेकर न जाने कितने बेतुके दावे किए गए और साथ ही बहुत बढ़ा-चढ़ा कर बातें की गयी।

ज्योतिष की छवि धूमिल होने के पीछे एक वजह यह भी है कि इसे बहुत ज्यादा व्यवसायिक बना दिया गया है। ग्रहों की स्थिति एवं धरती पर पाए जाने वाले जीवों के बीच के संबंधों से कोई भी इन्कार नहीं कर सकता है लेकिन अपने फायदे के लिए कुछ लोगों द्वारा बहुत सारे निरर्थक दावे किए गए। जिनमें ज्योतिष को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया जैसा कि सस्ते विज्ञापनों में किसी चीज को बेचने के लिए किया जाता है।

कितना कारगर है ज्योतिष उपाय?

लोगों का ज्योतिष शास्त्र में बहुत ज्यादा विश्वास है, इसलिए वे अपने जीवन के किसी भी क्षेत्र में सफलता और मनचाहे फल की प्राप्ति के लिए न जाने कई तरह के ज्योतिषीय उपाय और टोटकों का सहारा लेते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि इन उपायों को सही तरीके और पूरी विधि के साथ किया जाये तो इच्छित वस्तु की प्राप्ति अवश्य होती है। शारीरिक हो या आर्थिक समस्या हर व्यक्ति आज किसी न किसी परेशानी में फंसा हुआ है या फिर खुद को और सही तरीके से आर्थिक सुदृढ़ करने की चाह रखता है।

आज हर व्यक्ति की यह इच्छा होती है कि उसके पास सुख-सुविधा की सारी जरूरी चीज़ें और अपार धन हो लेकिन सबके साथ ऐसा हो यह जरूरी नहीं है। अपनी इन्हीं ज़रूरतों की पूर्ती के लिए और समस्याओं को दूर करने के लिए लोग ज्योतिष शास्त्र में उपाय, टोटके और तंत्र-मंत्र का इस्तेमाल करते हैं। ज्योतिष शास्त्र में सुझाय गए उपाय बेहद पुराने और सिद्ध है, जिनकी मदद से व्यक्ति काफी हद तक अपनी परेशानियों को दूर सकता है और एक खुशहाल और स्वस्थ जीवन व्यतीत कर सकता है।

एस्ट्रोसेज पर क्या है खास

ज्योतिष विद्या के बढ़ते महत्व के चलते आजकल हर कोई इसके बारे में जानने और समझने को इच्छुक है। लोगों की इन्हीं इच्छाओं को ध्यान में रखते हुए एस्ट्रोसेज अपने पाठको को ज्योतिष विद्या और उससे जुड़ी हर एक पहलु के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान कर रहा है। एस्ट्रोसेज पर आप न केवल ज्योतिष बल्कि रत्न ज्योतिष, ग्रह ज्योतिष, अंक ज्योतिष जैसे इसके सभी अंगों के विषय के बारे में भी जान सकते हैं। वैसे लोग जिन्हें ज्योतिष शास्त्र के बारे में बिलकुल भी ज्ञान नहीं और इस विद्या को सीखना चाहते हैं उनके लिए भी एस्ट्रोसेज ने खास सुविधा दी है, जिससे आप घर बैठे-बैठे ज्योतिष कला में निपुण हो सकते हैं।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।