• AstroSage Big Horoscope
  • Raj Yoga Reort
  • Kp System Astrologer

ज्योतिष सीखें

“ज्योतिष सीखें” नामक इस पाठ्यक्रम में आप केवल 2 मिनट में ज्योतिष ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं। ज्योतिष सीखें - पाठ्यक्रम में आपको लगभग 2 मिनट की वीडियो के साथ ज्योतिष शास्त्र के बारे में बताया जाएगा। ज्योतिष सीखने के इस पाठ्यक्रम में आपको बहुत सहज और सरल भाषा में ज्योतिष ज्ञान को सिखाया जाएगा। आइये जानते हैं ज्योतिष विद्या सीखने के आसान तरीके…

ज्योतिष विद्या की आवश्यकता क्यों ?

वैदिक काल में हमारे ऋषि मुनियों ने 4 वेदों (ऋग्वेद, यजुर्वेद, सामवेद, अथर्ववेद) की रचना की थी। इन वेदों को जानने के लिए उन्होंने 6 वेदांगो की रचना की। इनमें शिक्षा, कल्प, व्याकरण, छंद, निरूक्त के साथ-साथ ज्योतिष भी आता है। ज्योतिष शास्त्र एक वैदिक कालीन विद्या है, जिसमें ग्रहों की चाल और प्रभाव से मनुष्य के भविष्यफल का अध्ययन किया जाता है। वैदिक ज्योतिष में सूर्य, चंद्रमा, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि और राहु-केतु को नवग्रहों की मान्यता दी गई है। ये सभी ग्रह गोचर करते हुए प्रत्येक राशि में कुछ समय के लिए ठहरते हैं और इन्हीं के प्रभाव के विश्लेषण से राशिफल तैयार होता है। ज्योतिष में जन्म कुंडली हमेशा से हर व्यक्ति के लिए उत्सुकता का विषय रहा है। क्योंकि जन्म कुंडली में मनुष्य के जीवन का सार होता है। जन्म कुंडली कैसे बनाये या जन्म कुंडली की विधि जानना मुश्किल काम नहीं है।

अगर आप ज्योतिष विद्या सीखना चाहते हैं, इनमें जन्म कुंडली बनाना, वैवाहिक कुंडली मिलान करना, राशिफल तैयार करना आदि कार्यों के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारा यह ज्योतिष सीखें पाठ्यक्रम आपके लिए बेहद मददगार साबित होगा। इसमें कुंडली बनाने की विधि, कुंडली कैसे बनाये, फलादेश और ग्रह गोचर के अध्ययन के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।

आजकल इंटरनेट पर कई तरह के ऑनलाइन सॉफ्टवेयर मौजूद हैं जिनकी मदद से जन्म कुंडली बनाई जा सकती है, लेकिन कुंडली में ग्रहों के अध्ययन और उनसे मिलने वाले शुभ और अशुभ फल के बारे में आप तभी जान सकते हैं जब आपको ज्योतिष शास्त्र का ज्ञान होगा। आप हमारे इस कोर्स में जन्म कुंडली बनाने की आसान विधि तथा उसमें ग्रहों का फल भी ज्ञात कर सकेंगे। ज्योतिष के माध्यम से व्यक्ति के जीवन का सार जाना जा सकता है।

यदि ज्योतिष के महत्व की बात करें तो, इस भाग दौड़ भरी दुनिया में प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी समस्या से जूझ रहा है। कोई व्यक्ति अपनी पारिवारिक समस्या को लेकर परेशान है तो किसी व्यक्ति का प्रेम उससे रूठ गया है। ऐसे ही किसी जातक को नौकरी नहीं मिल रही है तो कोई अपने विवाह में देरी के कारण परेशान है। ऐसे में लोगों की समस्त परेशानियों का इलाज ज्योतिष ज्ञान के माध्यम से किया जा सकता है।

ज्योतिष विद्या के माध्यम से न केवल आपको भविष्य की जानकारी मिलती है, बल्कि इसमें कष्ट के निवारण के लिए ज्योतिषीय उपाय भी बताए जाते हैं। यदि आप इन उपाय को विधि पूर्वक अपनाते हैं तो आपकी समस्या का समाधान हो जाता है। इन सभी चीज़ों को गंभीरता से सोचें तो हमें ज्योतिष सीखने का वास्तविक महत्व अच्छे से समझ में आ जाएगा।

ज्योतिष सीखें कोर्स के बारे में

सांसारिक जीवन में व्यक्ति स्वयं को लेकर इतना जिज्ञासु नहीं होता, जितना की वह अपने घर परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों, दोस्तों एवं अन्य लोगों के बारे में सोचता है। वह सदैव दूसरों की आकांक्षाओं को पूरा करने के उद्देश्य से मोह-माया के चक्र में फंस जाता है। परंतु जब व्यक्ति आध्यात्मिक ज्ञान की ओर बढ़ता है तो वह स्वयं के अस्तित्व का कारण खोजता है। वह जानना चाहता है कि उसके जन्म का वास्तविक उद्देश्य क्या है?

वैदिक शास्त्रों के अनुसार, ज्योतिष विद्या के माध्यम से ही यह ज्ञात होता है कि व्यक्ति के इस संसार में आने के मायने क्या हैं। किस कार्य के लिए उसका जन्म हुआ है। ज्योतिष विज्ञान के द्वारा व्यक्ति को उसके सवालों का जवाब मिलता है। इसलिए हमारा उद्देश्य अपने पाठकों को ज्योतिष ज्ञान से अवगत कराना चाहते हैं और यह संभव तभी हो पाएगा, जब आप हमारा ज्योतिष सीखें कोर्स को गंभीरता से लेंगे।

ज्योतिष सीखें पाठ्यक्रम को 26 भागों में विभाजित किया गया है। हालाँकि जैसा कि हमने ऊपर बताया है कि इसमें लगभग 2 मिनट की ऑडियो-वीडियो के साथ टेक्स्ट भी है। कोर्स को रुचिकर और सरल बनाने के लिए ग्राफिक्स का प्रयोग किया गया है। इसकी भाषा बहुत सहज और सरल है जिसे कोई भी हिन्दी भाषी आसानी से समझ सकता है। सबसे पहले इस पाठ्यक्रम में भाग एक से लेकर चार तक ग्रहों से संबंधित बातें बतायी गई हैं। उसके बाद भाग 8, 9, 10 भी ग्रहों से संबंधित हैं।

वहीं कोर्स के भाग 5 में राशियों से संबंधित विषय को बताया गया है। वहीं भाग 6 और 7 में क्रमशः कुंडली और उसमें स्थित भाव के बारे में जानकारी है। इसी प्रकार कौनसा भाग किससे संबंधित उसके सम्मुख उस बारे में लिखा गया है। इस कोर्स में उपयोग की गई सभी वीडियो को ज्योतिषाचार्य और एस्ट्रोसेज के संस्थापक पुनीत पांडे के द्वारा बनायी गई हैं जो कि आधुनिक युग के ज्योतिषी हैं।

हम यह दावा तो नहीं करते कि आप हमारे ज्योतिष सीखें पाठ्यक्रम से एक कुशल ज्योतिषी बन जाएंगे, परंतु इसके माध्यम से आपको ज्योतिष का आधारभूत ज्ञान अवश्य हो जाएगा। यदि आप इस कोर्स को गंभीरता से सीखेंगे तो आप किसी की कुंडली में ग्रहों की स्थिति के माध्यम से उसका फलादेश बता सकते हैं। वर और वधु की वैवाहिक कुंडली को देखकर उनकी अनुकूलता को बता सकते हैं। हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह ज्योतिषीय ज्ञान से संबंधित कोर्स पसंद आएगा।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

ज्योतिष पत्रिका

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।