शुभ और अशुभ ग्रह: ज्योतिष सीखें (भाग-2)

नमस्‍कार। ज्‍योतिष के 2 मिनट कोर्स में फिर से आपका स्‍वागत है। इस वीडियो का विषय है शुभ और अशुभ ग्रह। जिन नौ ग्रहों की हमनें बात करी इनमे से कुछ ग्रहों को शुभ और कुछ ग्रहों को पापी कहा गया है।

चन्द्रमा, बुध, शुक्र, गुरू शुभ ग्रह हैं

सूर्य, मंगल, शनि, राहु, केतु चन्‍द्र एवं बुध को सदैव ही शुभ नहीं माना जाता। पूर्ण चन्‍द्र यानि कि पूर्णिमा के पास का चन्‍द्र शुभ माना जाता है जबकि अमावस्‍या के पास का चन्‍द्र शुभ नहीं माना जाता। इसी प्रकार बुध अगर शुभ ग्रह के साथ हो तो शुभ होता है और यदि पापी ग्रह के साथ हो तो पापी हो जाता है।

शुभ और पाप ग्रहों का फलादेश में बहुत महत्‍व है। यह ध्‍यान रखने वाली बात है कि सभी पापी ग्रह सदैव ही बुरा फल नहीं देते। न ही सभी शुभ ग्रह सदैव ही शुभ फल देते हैं। अच्‍छा या बुरा फल कई अन्‍य बातों जैसे ग्रह का स्‍वामित्‍व, ग्रह की राशि स्थिति, दृष्टियों, और दशा इत्‍यादि पर भी निर्भर करता है जिसकी चर्चा हम आगे करेंगे। नमस्‍कार।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

नवग्रह यन्त्र खरीदें

ग्रहों को शांत और सुखी जीवन प्राप्त करने के लिए नवग्रह यन्त्र एस्ट्रोसेज लें।

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।