मुहूर्त

मुहूर्त किसी भी मांगलिक कार्य को प्रारंभ करने का ऐसा समय होता है जिसमें ग्रहों एवं नक्षत्रों के द्वारा शुभ परिणामों की प्राप्ति होती है। सामान्य जन की भाषा में शुभ मुहूर्त को शुभ घड़ी भी कहा जाता है। हिन्दू वैदिक ज्योतिष के अनुसार शुभ मुहूर्त में कार्य प्रारंभ करने से उस कार्य का उद्देश्य पूर्ण होता है इसलिए हिंदू धर्म में आज भी इसका बड़ा महत्व है। इसी कारण नामकरण, विवाह, गृह प्रवेश एवं अन्य शुभ कार्यों का श्रीगणेश शुभ मुहूर्त देखकर ही किया जाता है। पंचांग के पाँच अंगों (वार, तिथि, नक्षत्र, योग एवं करण) के द्वारा ही मुहूर्त की गणना करने का चलन है। इसके अलावा चंद्रमा एवं सूर्य के निरायण और अक्षांश को 27 भागों में बांटकर भी मुहूर्त की गणना की जाती है। एक दिन में 30 मुहूर्त होते हैं और 48 मिनट का एक मुहूर्त होता है। इस पेज में आप राहु काल, होरा, चौघड़िया, सूर्योदय आदि से संबंधित मुहूर्त की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

नवग्रह यन्त्र खरीदें

ग्रहों को शांत और सुखी जीवन प्राप्त करने के लिए नवग्रह यन्त्र एस्ट्रोसेज लें।

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।