• Varta Astrologers
  • Sawan Sale
  • Mragaank
  • Kriti
  • Parul

बुध का वृश्चिक राशि में गोचर (21 नवंबर 2021)

वैदिक ज्योतिष में बुध ग्रह को राजकुमार माना गया है। यह हमारी संवाद करने की क्षमता, हमारे भाषण, आवाज, व्यवसाय, लेखन और सबसे महत्वपूर्ण शिक्षा पर शासन करता है। तटस्थ ग्रह होने के कारण बुध और बुध की युति में आने वाला प्रत्येक ग्रह युति ग्रह के समान फल देगा। बुध मिथुन और कन्या राशि का द्वैत स्वामी है। बुध ग्रह तार्किक और तर्क करने की क्षमता का निर्धारण करता है। इस प्रकार हमारी विचार प्रक्रिया और भावों पर बुध ग्रह का नियंत्रण होता है।

एस्ट्रोसेज वार्ता से दुनियाभर के विद्वान ज्योतिषियों से करें फोन पर बात

बुध का वृश्चिक राशि में गोचर किसी व्यक्ति की व्याख्या, व्यवसाय और विश्लेषण के तरीके में एक बड़ा बदलाव लाएगा। यह गोचर विभिन्न राशियों के लोगों के लिए कई सकारात्मक और नकारात्मक परिणाम लाएगा और बुध का लाभ और अशुभ स्वभाव उस ग्रह पर निर्भर करेगा जिससे वह जुड़ा हुआ है। बुध 21 नवंबर 2021 को सुबह 4:37 बजे से 10 दिसंबर 2021 को सुबह 5:53 बजे वृश्चिक राशि में गोचर करेंगे।

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए बुध उनके आठवें भाव में गोचर कर रहा है, जो अनुसंधान, परिवर्तन और अनिश्चितता का प्रतिनिधित्व करता है और तीसरे और छठे घर पर शासन करता है। इस गोचर के दौरान, जातकों को अपने जीवन में मिले-जुले परिणाम देखने को मिलेंगे क्योंकि आपकी आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण आपको कठिन समय का सामना करना पड़ सकता है। व्यावसायिक रूप से, व्यवसाय में लगे जातकों को वांछित लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। इस गोचर काल के दौरान भाई-बहनों को स्वास्थ्य समस्या हो सकती है । स्वास्थ्य के मुद्दों से बचने के लिए, आपको भी अपना उचित ध्यान रखने की आवश्यकता है क्योंकि स्वास्थ्य समस्याएं होने की संभावना है। संवाद करते समय बहुत सावधान रहने की सलाह दी जाती है। अन्यथा, अनावश्यक रूप से बोलने पर आपके रिश्ते और पेशेवर दोनों जगह आपको परेशानी हो सकती है। व्यक्तिगत मोर्चे पर, आपके और आपके साथी के बीच घनिष्ठता आपको परिप्रेक्ष्य को समझने में मदद करेगी और यदि कोई तनाव हो तो आप उनके लिए अपना रास्ता खोज लेंगे। किसी भी भावनात्मक उथल-पुथल से सावधान रहें और होने वाली किसी भी गलतफहमी को दूर करें।

उपाय: जरूरतमंद बच्चों को स्टेशनरी का सामान दान करें।

वृषभ

वृष राशि के जातकों के लिए बुध आपके विवाह और साझेदारी के सप्तम भाव में गोचर कर रहा है। यह गोचर आपके करियर के लिए अनुकूल रहने वाला है। आप अपने घरेलू जीवन को शांतिपूर्ण और सामंजस्यपूर्ण बनाने की ओर प्रवृत्त होंगे। इसके अलावा, अच्छी बातचीत आपके घरेलू और प्रेम जीवन में एक समझ और सार जोड़ देगी। प्रेम विवाह के लिए यह एक अच्छी अवधि है। व्यावसायिक रूप से, जैसा कि बुध व्यापार विश्लेषण पर शासन करता है, तो यह गोचर आपको व्यावसायिक पहलू में शुभ परिणाम देगा। आपकी क्षमता आपको अच्छी पेशेवर स्थिति हासिल करने में मदद करेगी। आप पहले अपने काम पर ध्यान केंद्रित करने में सक्षम होंगे और इससे आपको अपने प्रयासों में सफलता और उपलब्धि हासिल होगी। आपको विदेशी स्रोतों से भी लाभ होगा और आपको विदेश से अच्छा लाभ प्राप्त होगा।

उपाय: अपने दाहिने हाथ की छोटी उंगली में 5 से 6 कैरेट का पन्ना धारण करें।

मिथुन

मिथुन राशि के लिए बुध पहले और चौथे भाव का स्वामी है और छठे भाव में गोचर कर रहा है जो रोगों, शत्रुओं, बाधाओं और रुकावट का प्रतिनिधित्व करता है। इस गोचर के दौरान आपके जीवन में कुछ भावनात्मक असंतुलन हो सकता है, आपका स्वास्थ्य गिर सकता है, इसलिए आपको अपना उचित ध्यान रखने की आवश्यकता है। वाद-विवाद और विवाद मुख्य चिंता का विषय होंगे और आप उनमें शामिल रहेंगे। व्यावसायिक रूप से आप अपने दैनिक दिनचर्या के काम पर बहुत ध्यान केंद्रित करेंगे। हालांकि, काम के तनाव से उबरने के लिए आपको लोगों से अधिक बार जुड़ने की आवश्यकता होगी। आप प्रेरित और ऊर्जावान महसूस करेंगे और यह गोचर आपको अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के सर्वोत्तम मार्ग पर ले जाएगा। इस गोचर के दौरान आपको प्रबंधन में अपने वरिष्ठों से पूरा सहयोग प्राप्त होगा। लेकिन आपके दुश्मन आपके खिलाफ अपनी पूरी कोशिश करेंगे और आपको नीचे गिरा देंगे। जो लोग व्यापार में हैं, वे बाजार की स्थिति से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में सक्षम होंगे। निजी तौर पर आप अपने परिवार के और करीब आएंगे। हालांकि, इस गोचर काल के दौरान आपको आपनी मां के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखने की सलाह दी जा रही है ।

उपाय: प्रतिदिन सूर्योदय के समय भगवान विष्णु की पूजा करें।


चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

कर्क

कर्क राशि के लिए बुध तीसरे और बारहवें भाव का स्वामी है, जो संतान, विचार, बुद्धि, प्रेम और रोमांस के पंचम भाव में गोचर कर रहा है। कर्क राशि के जातकों के लिए बुध की यह स्थिति मिले-जुले परिणाम लेकर आएगी। यह सलाह दी जाती है कि आप अपना ध्यान अपनी नौकरी पर लगाएं। अपने पेशेवर जीवन को हल्के में न लें क्योंकि आपकी नौकरी जाने की संभावना है। नए महीने में उच्च संकल्प की भावना बनी रहेगी। आपके पास अच्छा संचार कौशल होगा और आपकी बुद्धि में वृद्धि की भविष्यवाणी की गई है। विकसित करने के लिए अपने शौक के प्रति झुकाव पूर्वाभास है। जो छात्र उच्च अध्ययन के लिए विदेश जाना चाहते हैं, उनके लिए इस गोचर के दौरान बहुत अच्छा मौका है। संतान को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी होने की संभावना है। आप सभी प्रकार के कार्यों और रोमांच के लिए तैयार रहेंगे। आर्थिक रूप से किसी भी अवैध गतिविधियों में निवेश न करें अन्यथा इससे नुकसान हो सकता है और आपको अधिक कीमत भी देना पड़ सकता है।

उपायः मां सरस्वती की पूजा करें।

सिंह

सिंह राशि के जातकों के लिए बुध दूसरे और एकादश भाव का स्वामी है, जो चतुर्थ भाव में गोचर कर रहा है, यह माता, भूमि, विलासिता और आराम का प्रतिनिधित्व करता है। बुध का गोचर आपके घरेलू जीवन में सुख-समृद्धि लाएगा, आप इसे घरेलू गतिविधियों पर या पारिवारिक समय को खुशनुमा बनाने में खर्च कर सकते हैं। यदि आप अपने शब्दों का सावधानी से उपयोग नहीं करते हैं, तो आपके और आपके परिवार के सदस्यों के बीच गलतफहमी और कलह होने की संभावना है। अपनी अपेक्षाओं और लक्ष्यों को पूरा करने के लिए, आप अपने कार्यस्थल पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करेंगे। यह परिवर्तन आपको नई सीख, अनुभव और रोमांच प्राप्त करने के लिए प्रेरित करेगा। यह समय खुद को निखारने का होगा। आपके वरिष्ठ और परिवार के सदस्यों द्वारा आपकी सराहना की जाएगी और आप आश्वस्त और आत्मविश्वासी रहेंगे। आप इस गोचर के दौरान नया वाहन और संपत्ति भी खरीद सकते हैं और यह चरण आपके लिए कई अन्य सकारात्मक परिणाम लेकर आएगा।

उपाय: ट्रांसजेंडर का आशीर्वाद लें।

कन्या

कन्या राशि के जातकों के लिए बुध पहले और दशम भाव का स्वामी है, जो भाई-बहनों, साहस और यात्राओं के तीसरे भाव में गोचर कर रहा है। इस गोचर के दौरान बुध ग्रह आपके जुनून, क्रोध, दृढ़ संकल्प और संचार कौशल में वृद्धि का गवाह बनेगा। जोश के साथ, आप नौकरी में बदलाव की तलाश कर सकते हैं, हालांकि अपको भाई-बहनों और दोस्तों से भी सहायक मिलेगी लेकिन आपको उनके साथ कुछ समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। इस गोचर में नए दोस्त बनने और नए लोगों से मिलने की की भी संभावना है। इस गोचर काल के दौरान आपके जीवनसाथी का सामाजिक स्तर ऊंचा हो सकता है। आपका जीवन व्यस्त और बेहतर होगा और आप काम और आगंतुकों में व्यस्त रहेंगे। जो जातक विपणन क्षेत्र में हैं उन्हें गोचर से कुछ अतिरिक्त लाभ प्राप्त होंगे। समृद्ध परिणाम आपकी मदद करेगा लेकिन आप में प्रभुत्व की भावना भी बढ़ाएगा जिसे आपको नियंत्रित करना होगा।

उपायः दस मुखी रुद्राक्ष को गले में धारण करें।

तुला

तुला राशि के लिए बुध नवम भाव का स्वामी है और द्वादश भाव संचित धन, बचत, परिवार और वाणी के दूसरे भाव में गोचर कर रहा है। तुला राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर शुभ फल लाएगा क्योंकि यह आपकी सभी परेशानियों को दूर करेगा। इसके अलावा, आप प्रभावशाली भाषण भी दे सकते हैं। कई मौद्रिक लाभ के साथ-साथ विदेशी भूमि से भी लाभ मिलने की संभावना है। इस गोचर काल के दौरान अपने वित्त के प्रबंधन पर ध्यान दें। ज्यादा तनाव आपके स्वास्थ्य को भी गिरा सकता है। इसलिए हर तरह की स्थिति को दूर करने के लिए आपको धैर्य रखना होगा। इस दौरान आप आपने दोस्तों की भी मदद ले सकते हैं।

उपाय: भगवान बुद्ध की पूजा करें और गाय को हरा चारा खिलाएं।

वृश्चिक

वृश्चिक चंद्र राशि के लिए बुध अष्टम और एकादश भाव का स्वामी है और इस जल राशि के जातक के व्यक्तित्व और स्वयं के प्रथम भाव में गोचर कर रहा है। इस गोचर के दौरान आपको मिले-जुले परिणाम मिलने की संभावना है, इसलिए अपनी आशाओं को ऊंचा न रखें। आपके निर्णय लेने के कौशल की एक बड़ी परीक्षा होगी और इस दौरान आप जो कुछ भी करेंगे वह भविष्य में बहुत महत्वपूर्ण होगा। सामाजिक समारोहों में भाग लेने की संभावना है। कुछ जातकों के लिए भाइयों और दोस्तों के साथ मुलाकात की भविष्यवाणी की जाती है। गोचर की अवधि आपके लिए मानसिक कष्ट लेकर आएगी, इसलिए आपको अपना स्वभाव शांत और संयमित रखने की आवश्यकता है। हालांकि आपकी लंबे समय से प्रतीक्षित मनोकामना पूरी होगी। जल्दबाजी में कोई भी निर्णय लेने से बचने की सलाह दी जाती है। हम इस दौरान परफेक्शनिस्ट बनने के बजाय सकारात्मक चीजों पर ध्यान देने और बेहतरीन करियर और जीवन बनाने की सलाह देते हैं। इसके अलावा आपको त्वचा, रक्त आदि से संबंधित कुछ स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

उपायः मंगलवार के दिन श्री विष्णु मंदिर में कपूर का दान करें।


बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु

धनु राशि के लिए बुध सप्तम और दशम भाव का स्वामी है और व्यय और विदेशी लाभ के बारहवें भाव में गोचर कर रहा है। इस दौरान आपकी आय के साधनों में वृद्धि होगी, लेकिन साथ ही आपके ख़र्चे भी अधिक होने की संभावना है। आप पहले की तुलना में अधिक खर्च का अनुभव करेंगे। आप व्यवसाय या व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए विदेश जा सकते हैं। स्वास्थ्य के मुद्दों से बचें नहीं क्योंकि यह गंभीर बिमारियों में तब्दील हो सकता है। आपका जीवनसाथी कुछ स्वास्थ्य और चिंता के मुद्दों से गुजर सकता है। इस गोचर काल के दौरान विदेशों में काम करने, बढ़ने और एक स्थिर करियर बनाने के अवसर मिलेंगे। जिसके अच्छे परिणाम भी प्राप्क होंगे। आयात और निर्यात से जुड़े लोग अच्छे परिणाम की उम्मीद कर सकते हैं।

उपायः बुधवार के दिन हरी इलायची का दान करें।

मकर

मकर चंद्र राशि के लिए बुध छठे और नवम भाव का स्वामी है, जो एकादश भाव में गोचर कर रहा है। इस गोचर के दौरान, यह घर समग्र प्रकार के लाभ, मौद्रिक लाभ, आय, नाम और प्रसिद्धि में लाभ का शासन करता है। इसके अतिरिक्त, यह नियंत्रित करता है, कि कौन सा पहलू आपको लाभ दिलाएगा। किराये की संपत्ति से आपको लाभ होगा, आपको विकास के कई अवसर मिलेंगे। आप अपने प्रेम जीवन में सुधार की भावना का अनुभव करेंगे और सामाजिक दायरे में आपके मित्रों की संख्या में वृद्धि होगी। आप सभी विवादों में सफल होंगे और आप अपने विरोधियों पर हावी रहेंगे। यदि आप आगे की पढ़ाई के लिए विदेश जाने का लक्ष्य बना रहे हैं, तो समय आपके लिए शुभ फल देने वाला है। इस अवधि में आपके जीवन साथी के खराब स्वास्थ्य के कारण तनाव और चिंता पैदा होगी।

उपायः बुधवार के दिन हरी सब्जियां अपने पास के मंदिर में दान करें।

कुंभ

कुंभ राशि के लिए बुध पंचम भाव और अष्टम भाव का स्वामी है और करियर, पेशे, नाम और प्रसिद्धि के दशम भाव में गोचर कर रहा है। बुध इस अवधि को आपके लिए अनुकूल बना देगा क्योंकि यह संचार और बुद्धि में बहुत वृद्धि करेगा। बुध उस भाव से गोचर करेगा जो आपके करियर को प्रभावित करता है। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी और आपको अपने पिछले श्रम का फल भी मिलेगा। इस अवधि में आपके मान-सम्मान में भी वृद्धि हो सकती है। इस गोचर के दौरान शेयर बाजार और रियल एस्टेट में किया गया निवेश फायदेमंद साबित होगा। कार्यक्षेत्र में आप अपनी बुद्धि को लागू कर सकते हैं। काम से संबंधित अचानक और अनियोजित यात्रा की संभावना है। बच्चों को कुछ छोटी स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। अपने कार्य पर पूरी तरह से ध्यान केंद्रित करने और अविश्वसनीय परिणाम देने के लिए वृश्चिक की आकलन, परिप्रेक्ष्य शक्ति का उपयोग करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि आपके प्रदर्शन को निश्चित रूप से पहचाना जाएगा।

उपायः श्री विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र का पाठ करें।


करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

मीन

मीन राशि के लिए बुध चतुर्थ और सप्तम का स्वामी है और भाग्य, उच्च शिक्षा और आध्यात्मिकता के नवम भाव में गोचर कर रहा है। धर्म के घर में यह गोचर आपकी सभी धार्मिक प्रवृत्ति, अच्छे कर्म, धर्म, मृत्यु दर, उच्च शिक्षा को नियंत्रित करेगा। इस समय सीमा में इस राशि के छात्र शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। जो छात्र उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं, वे इस अवधि के दौरान अपना अनुकूल समय देखेंगे। इस गोचर काल के दौरान लिखने और पढ़ने में आपकी रुचि विकसित हो सकती है। व्यवसाय या शिक्षा से संबंधित लंबी यात्राएं होने के योग हैं और माताओं को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी होने की संभावना है। इस गोचर के दौरान पुरस्कार या लॉटरी मिलने की भी संभावना है। व्यावसायिक साझेदारी से भी आपको लाभ होगा और सामाजिक स्थिति में वृद्धि की भविष्यवाणी की जा रही है।

उपायः गायों को हरा चारा और गुड़ खिलाएं।


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।