• Personalized Horoscope 2020
  • AstroSage Brihat Horoscope
  • AstroSage Big Horoscope
  • Ask A Question
  • Raj Yoga Reort
  • Career Counseling

बुध तुला राशि में वक्री - बुध तुला राशि में 2014

अक्टूबर 4, 2014 को बुध तुला राशि में वक्री हो रहा है।

अक्टूबर 4, 2014 को बुध तुला राशि में वक्री हो रहा है। बुध का वक्री होना आपके जीवन को किस तरह से प्रभावित कर सकता है? यह जानने के लिए पं. दीपक दूबे द्वारा लिखा गया ये लेख पढ़ें। क्या बुध का वक्री होना सिर्फ शुभ परिणाम लाएगा या कोई अप्रिय परिणाम भी इसके अंदर छुपा है? पढ़ें और जानें।

अक्टूबर 4, 2014 को बुध, तुला राशि में वक्री हो रहा है। ग्रहों का वक्री होना उसके शुभ प्रभाव में कमी और अशुभ प्रभाव में अधिकता करता है, ऐसी सामान्य मान्यता है। परन्तु यदि कोई ग्रह शुभ स्थान में नीचगत होकर वक्री है तो वह उच्च का फल देगा। यही स्थिति पाप स्थानों जैसे की छठें, आठवें और बारहवें भाग में शुभ ग्रह यदि वक्री हो तो भी शुभ फल देने लगेगा।

बुध का सीधा सम्बन्ध व्यक्ति के सोचने समझने की शक्ति से है, साथ ही बुध की प्रवृत्ति तटस्थ है, अतः इसे व्यापार के लिए भी बेहतर माना जाता है।

बुध के वक्री होने का सभी राशियों पर पड़ने वाले प्रभाव की भविष्यवाणी लग्न के आधार पर की गयी है, चन्द्र, सूर्य या नाम राशि के आधार पर नहीं। साथ ही यह परिणाम आपके जन्म के समय लग्न कुंडली में बुध की स्थिति तथा वर्तमान दशा पर भी निर्भर करते हैं।

आइये अब देखते हैं क्या होगा बुध के वक्री होने का प्रभाव विभिन्न राशियों पर:

मेष: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध वक्री तुला राशि में 2014 के अनुसार, बुध आपके सप्तम भाव में वक्री हो रहे हैं। अतः, आपके जीवन साथी के विचार नकारात्मक हो सकते हैं और परिणाम स्वरूप वाद-विवाद उत्पन्न हो सकता है। साथ ही बुध तुला में वक्री 2014 संकेत कर रहा है कि कार्य-व्यापार में साझेदारों से भी वैचारिक मतभेद उत्पन्न हो सकता है। वक्री बुध और उच्च के शनि की दृष्टि आपके लग्न पर भी पड़ रही है। अतः राशिफल 2014 आपको सचेत करता है कि अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें। बड़े आर्थिक फैसले टाल दें। स्त्रियों का सम्मान करें।

वृषभ: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला में वक्री 2014 कहता है कि छठे भाव में बुध का वक्री होना आपके लिए धन के मामले में फ़ायदेमंद साबित होगा। कर्ज से छुटकारा मिल सकता है या किसी बहुत ही विषम परिस्थिति में, जब धन की बहुत आवश्यकता हो तो कर्ज़ भी मिल सकता है। 2014 राशिफल के अनुसार, संतान सम्बन्धी कोई सुखद समाचार मिल सकता है, यात्रा सुखद रहेगी। यदि बुध की दशा चल रही हो तो समय और अच्छा जाएगा।

मिथुन: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला राशि में वक्री 2014 कह रहा है कि आपके लिए बुध पंचम भाव में वक्री हो रहे हैं। लग्नेश और सुखेश बुध के पंचम भाव में वक्री होने से आपके लिए यह समय अच्छा नहीं जाएगा। ज्योतिष 2014 सावधान करता है कि स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या हो सकती है, पारिवारिक सुख में कमी तथा संतान के प्रति चिंता हो सकती है। बेचैनी का अनुभव करेंगे और निर्णय लेने में कठिनाई महसूस करेंगे। बुध तुला में वक्री 2014 के अनुसार, शिक्षार्थियों को भी शिक्षा-प्रतियोगिता में अधिक श्रम करना पड़ेगा।

कर्क: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला राशि में 2014 के अनुसार, चतुर्थ भाव में उच्च के शनि के साथ वक्री बुध आपके माँ के इलाज में धन खर्च कराएँगे, साथ ही घर की मरम्मत में भी व्यय होने की प्रबल संभावना बनेगी। बुध तुला में वक्री 2014 के अनुसार किसी विपरीत परिस्थिति के कारण यात्रा का योग बना रहा है। बहनों से या उनके समतुल्य स्त्री जातक से विवाद की संभावना भी बनेगी। राशिफल 2014 आपको सचेत करता है कि यदि आप रक्त चाप के मरीज़ हैं तो सावधानी बरतें।

सिंह: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला में वक्री 2014 कह रहा है कि तुला राशि में वक्री बुध से आप उत्साह में कमी महसूस करेंगे। भाई से विवाद या दूरी हो सकती है। यदि व्यापार में हैं तो आय लगभग रुक जाएगी। भाग्य भरोसे काम ना करें। किसी भी कार्य में सफल होने के लिए बहुत अधिक परिश्रम और धैर्य की ज़रुरत होगी। राशिफल 2014 आपको कर्ज लेने से बचने को कह रहा है, अन्यथा चुकाने में बहुत परेशानी होगी।

कन्या: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला में वक्री 2014 के अनुसार, लग्नेश और दशमेश के द्वितीय भाव में वक्री होने से वाणी दूषित हो सकती है। 2014 राशिफल इंगित करता है कि अपने कटु वचनों के कारण आपके अपने उच्च अधिकारियों या पिता से विवाद हो सकता है। आय में कमी या नौकरी में परिवर्तन संभव है। बुध तुला राशि में 2014 सचेत करता है कि कमर से नीचे चोट-चपेट या कोई परेशानी हो सकती है। अपने पेट का भी ध्यान रखें। बुध तुला में वक्री 2014 आपको सलाह देता है कि खट्टे और वायु विकार पैदा करने वाले पदार्थों के सेवन से बचें।

तुला: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला में वक्री 2014 के अनुसार, आपके लग्न में भाग्येश और द्वादशेश बुध वक्री होकर उपस्थित हैं। अतः यह भाग्य में कमी और खर्चों में अधिकता करेगा। व्यर्थ की यात्राएँ भी होंगी। बुध तुला राशि में 2014 आपकी सोच में नकारात्मकता ला सकता है, जिसके कारण जीवन साथी से तनाव उत्पन्न हो सकता है। कार्य स्थल पर भी विवाद उत्पन्न हो सकता है, अतः ज्योतिष 2014 आपको सलाह देता है कि अपनी सोच को सकारात्मक रखें और प्रसन्न रहने का प्रयास करें।

वृश्चिक: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला में वक्री 2014 कह रहा है कि आपकी राशि में बुध अष्टम और एकादश भाव का स्वामी है, अतः अचानक धन लाभ होने की प्रबल संभावना है। 2014 राशिफल के अनुसार, यात्रा सफल रहेगी और शत्रु परास्त होंगे। यदि किसी चर्म रोग से परेशान थे तो मुक्ति मिलेगी। राशिफल 2014 सलाह देता है कि यदि दशा अच्छी हो तो बड़े आर्थिक फैसले ले सकते हैं। धर्म के प्रति रुझान बढ़ेगा तथा धार्मिक और सामाजिक कार्यों में धन खर्च होगा।

धनु: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला में वक्री 2014 के अनुसार, सप्तमेश-राज्येश के एकादश भाव में वक्री होने से व्यापार में घाटा होने का योग बन रहा है। सरकार सम्बन्धी कोई जुर्माना लगने का भी योग बनेगा। 2014 राशिफल सचेत करता है कि आप खर्च की अधिकता तथा आय में कमी महसूस करेंगे। संतान सम्बन्धी चिंता हो सकती है। बुध तुला राशि में 2014 कह रहा है कि प्रतियोगिता में सफल होने के लिए अधिक प्रयास करना पड़ेगा। बड़े आर्थिक फैसले लेने से पहले बहुत सोच-विचार कर लें, अन्यथा हानि उठानी पड़ेगी।

मकर: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला में वक्री 2014 के अनुसार, आपकी राशि में बुध शुभ और अशुभ दोनों ही स्थानों का स्वामी है, अतः परिणाम भी दो तरह के होंगे। धन की आवक रहेगी परन्तु जुआ-सट्टा से दूर रहें। राशिफल 2014 आपको सचेत करता है कि उच्च अधिकारियों से तनाव और अचानक धन की हानि के भी योग हैं। भाग्य भरोसे कोई भी जोखिम ना उठाएँ। हाँ, यदि कोई विवाद चल रहा है तो उसका परिणाम आपके पक्ष में होगा।

कुम्भ: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला में वक्री 2014 कह रहा है कि पंचमेश-अष्टमेश बुध के, उच्च के शनि के साथ भाग्य स्थान पर वक्री होने से धन प्रचुर मात्रा में आएगा। अचानक भाग्य चमकेगा। परन्तु 2014 राशिफल आपको सावधान भी करता है कि संतान सम्बन्धी कोई समस्या हो सकती है। साथ ही अत्यधिक आवेशित होने से बचें। भाई-बहनों से विवाद की संभावना भी बनेगी, अतः बुध तुला राशि में 2014 आपको सलाह देता है कि अपनी वाणी और क्रोध पर नियंत्रण रखें। जब तक बुध वक्री हैं अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें।

मीन: बुध तुला राशि में वक्री 2014

बुध तुला में वक्री 2014 के अनुसार, अष्टम भाव गत वक्री बुध पारिवारिक सुख में वृद्धि करेंगे। नए रिश्ते पनप सकते हैं। अचानक नए कार्य के अवसर उत्पन्न होंगे। यदि ज़मीन और नए वाहन लेने की सोच रहे हैं तो अच्छा समय है। ज्योतिष 2014 बता रहा है कि किसी नए स्रोत से धन का आगमन होगा। राशिफल 2014 के अनुसार, जीवन साथी के साथ कुछ समय के लिए सम्बन्ध सामान्य हो सकता है।

विशेष : जिन राशियों के लिए बुध का परिणाम नकारात्मक हो या आप सकारात्मक बुध से और अधिक फायदा लेना चाहते हों तो निम्न उपाय करें -

  1. “ॐ बुं बुधाय नमः”, इस मन्त्र का जप प्रातः काल यथा सामर्थ्य करें।
  2. बुधवार के दिन नारियल और साबुत मूंग किसी गरीब को दान करें।
  3. गाय को हरा चारा या ताज़ी रोटी खिलाएँ।

Pt. Deepak Dubey

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

ज्योतिष पत्रिका

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।