• Talk To Astrologers
  • Maha ShivRatri Sale
  • Personalized Horoscope 2024
  • Brihat Horoscope
  • Top Followed Astrologers

मंगल का सिंह राशि में गोचर (01 जुलाई 2023)

मंगल का सिंह राशि में गोचर: वैदिक ज्योतिष में मंगल को प्रमुख ग्रह माना जाता है जो कि 01 जुलाई 2023 को रात 01 बजकर 52 मिनट पर सिंह राशि में गोचर करेंगे।

वैदिक ज्योतिष में नवग्रहों में मंगल को योद्धा और सेनानायक का दर्जा दिया गया है और इन्हें स्वभाव से उग्र ग्रह माना गया है। एस्ट्रोसेज के इस विशेष आर्टिकल में हम आपको मंगल का सिंह राशि में गोचर होने से जातकों के जीवन पर पड़ने वाले सकारात्मक और नकारात्मक प्रभावों के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे। यदि मंगल अपनी मूल त्रिकोण राशि मेष में विराजमान हो, तो शुभ परिणामों की प्राप्ति होती हैं। लेकिन, मंगल अगर अपने स्वामित्व वाली राशि मेष या वृश्चिक में बैठे हो तो जातकों के लिए अत्यधिक लाभकारी साबित होते हैं। वहीं, राशि चक्र में मंगल पहली और आठवीं राशि के स्वामी हैं और यह जातकों को पद और अधिकार से संबंधित क्षेत्र में बेहद लाभ प्रदान करते हैं।

मंगल का सिंह राशि में गोचर

पहले भाव के स्वामी के रूप में मंगल की मेष राशि में मौजूदगी जातकों को करियर के क्षेत्र में तरक्की, आर्थिक लाभ और सराहना आदि का आशीर्वाद देती है। मेष राशि में मंगल की स्थिति उन लोगों के लिए फलदायी होती है जो सरकारी नौकरी कर रहे हैं या फिर उच्च पद पर आसीन हैं। जब मंगल आठवें भाव में आठवें भाव के स्वामी के रूप में स्थित होते हैं, तो जातकों को अप्रत्याशित रूप से लाभ प्राप्त होता है। आध्यात्मिक प्रगति की बात करें तो, मंगल की मेष राशि में स्थिति सबसे प्रभावशाली मानी जाती है।

आइये अब आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि जल्द ही होने वाला मंगल का सिंह राशि में गोचर सभी 12 राशियों के जातकों के जीवन को कैसे प्रभावित करेगा और किन उपायों को अपनाकर इसके नकारात्मक प्रभावों से बचा जा सकता है।

विद्वान ज्योतिषियों से फोन पर बात करें और जानें सूर्य गोचर का अपने जीवन पर प्रभाव

ज्योतिष में मंगल ग्रह का महत्व

वैदिक ज्योतिष में मंगल को एक शक्तिशाली ग्रह माना जाता है जो कि साहस, पराक्रम और ऊर्जा के कारक हैं। यह एक उग्र ग्रह हैं जो सिद्धांतों और प्रशासन से जुड़े कार्यों का प्रतिनिधित्व करते हैं और एक व्यक्ति के जीवन में राजसी शान-ओ-शौक़त को दर्शाते हैं। मंगल ग्रह की कृपा के बिना कोई व्यक्ति अपने करियर में सफलता हासिल करने में सक्षम नहीं होता है और न ही वह एक मज़बूत व्यक्ति बन पाता है।

कुंडली में मंगल की मज़बूत स्थिति जातक को सभी प्रकार के सुख प्रदान करती हैं विशेष रूप से अच्छा स्वास्थ्य और तेज़ बुद्धि। जिन जातकों की कुंडली में मंगल अच्छी स्थिति में होता है उन्हें अपने करियर में मान-सम्मान और पद-प्रतिष्ठा की प्राप्ति होती है। यदि मंगल बृहस्पति जैसे लाभकारी ग्रहों के साथ हो या फिर मंगल पर गुरु ग्रह की दृष्टि पड़ रही हो तो यह व्यक्ति को मानसिक और शारीरिक सुख प्रदान करता है। इसके विपरीत, अगर मंगल अशुभ ग्रहों जैसे राहु/केतु के साथ विराजमान होते हैं, तब यह जातकों की मुश्किलों को बढ़ाने का काम करते हैं। ऐसे में, व्यक्ति को रोग, डिप्रेशन, मान-सम्मान में कमी और धन का अभाव जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि, मंगल को बली करने और उनका आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए मूंगा रत्न धारण किया जा सकता है, लेकिन किसी अनुभवी ज्योतिषी से परामर्श लेने के बाद। इससे जातक के सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है। साथ ही, प्रतिदिन मंगल के गायत्री मंत्र और हनुमान चालीसा का जाप करना भी फलदायी साबित होता है।

To read in English, click here: Mars Transit in Leo (1st July, 2023)

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी व्यक्तिगत चन्द्र राशि अभी जानने के लिए चंद्र राशि कैलकुलेटर का उपयोग करें।

मंगल का सिंह राशि में गोचर: राशि अनुसार राशिफल और उपाय

आइये नज़र डालते हैं मंगल का सिंह राशि में गोचर राशि चक्र की 12 राशियों को कैसे प्रभावित करेगा। साथ ही जानेंगे, उन उपायों के बारे में जिनकी मदद से मंगल गोचर के प्रभावों को कम किया जा सकता है।

मेष राशि

मेष राशि के जातकों के लिए मंगल आपके पहले और आठवें भाव के स्वामी हैं जो आध्यात्मिक रुचि और संतान पक्ष को दर्शाते हैं।

अब मंगल पहले और आठवें भाव के स्वामी के रूप में आपके पांचवें भाव में गोचर करने जा रहे हैं।

पहले भाव के स्वामी के तौर पर मंगल की पांचवें भाव में स्थिति बड़े फैसले लेने के लिए अनुकूल रहेगी। ऐसे में, ये जातक जो भी निर्णय लेंगे उनसे उन्हें सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। साथ ही, जातकों को करियर एवं आर्थिक मामलों में भी अपार लाभ होने की संभावना है और भाग्य का भी साथ मिलेगा। हालांकि, इस दौरान लोगों का झुकाव आध्यात्मिक गतिविधियों में हो सकता है क्योंकि मंगल आपके आठवें भाव के स्वामी हैं। करियर के क्षेत्र में जातकों को उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। संभव है कि इस अवधि में आप एक क्षण में अपनी नौकरी से संतुष्ट दिखाई दें और दूसरे ही पल में नौकरी से खफा नज़र आ सकते हैं। हो सकता है यह जातक अपने काम में सराहना मिलने की उम्मीद लगाए हुए बैठे हो, लेकिन मंगल का सिंह राशि में गोचर के दौरान ऐसा होने की संभावना बेहद कम है। साथ ही, इन लोगों को अन्य लाभ प्राप्त करने में देरी हो सकती है।

मंगल का सिंह राशि में गोचर व्यापार करने वाले जातकों के लिए मिला-जुला रह सकता है। इन जातकों को मंगल गोचर के दौरान अच्छा लाभ प्राप्त हो सकता है। लेकिन इन्हें ऐसी परिस्थितियों से भी जूझना पड़ सकता है जहां इनको व्यापार चलाना भी मुश्किल लग सकता है। इसके परिणामस्वरूप, संभव है कि यह ज्यादा मुनाफा कमाने में सक्षम न हो। साथ ही, इस अवधि में मेष राशि के व्यापार करने वाले जातकों को प्रतिद्वंदियों से कड़ी टक्कर मिल सकती है जो आपकी परेशानी का कारण बन सकती है। हालांकि, आपको बिज़नेस में सफलता हासिल करने के लिए अपनी नीतियों में बदलाव करना पड़ सकता है।

आर्थिक दृष्टि से, मंगल का सिंह राशि में गोचर की अवधि में ये जातक तेज़ी से धन कमाने में सक्षम होंगे। हालांकि, इस दौरान इनकी कमाई के साथ-साथ ख़र्चों में भी बढ़ोतरी हो सकती है। वहीं, जो लोग सट्टेबाजी से जुड़ी गतिविधियों से संबंध रखते हैं उन्हें अच्छा लाभ हो सकता है। ऐसे में, आप अपनी ज़रूरतों को पूरा करने में सफल रहेंगे। संभव है कि मंगल गोचर के दौरान ये जातक बचत न कर पाएं।

रिलेशनशिप की बात करें तो, इन जातकों के लिए समय अच्छा रहेगा और इस दौरान आपका रिश्ता प्रेम से पूर्ण रहेगा। लेकिन हो सकता है कि जातक अपने रिश्ते में इस प्रेम को बनाए रखने में सक्षम न हो। साथ ही, मेष राशि वालों को परिवार में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है और इस दौरान पार्टनर से भी आपकी बहस हो सकती है जिसके चलते आप इन परेशानियों को सुलझाने में असफल रह सकते हैं।

मंगल पांचवें भाव से आपके आठवें, ग्यारहवें और बारहवें भाव पर दृष्टि डाल रहा है और इसके परिणामस्वरूप, यह अवधि फलदायी नहीं कही जा सकती है क्योंकि इस दौरान आपके सुख-सुविधाओं में कमी, रिलेशनशिप में समस्याओं आदि का सामना करना पड़ सकता है। वहीं, दूसरी तरफ, इन जातकों को धन कमाने के कई अवसर मिल सकते हैं और आप अपने लक्ष्यों को पूरा करने में सक्षम होंगे।

उपाय: प्रतिदिन 27 बार “ॐ भौमाय नम:” का जाप करें।

वृषभ राशि

वृषभ राशि वालों के लिए मंगल आपके सातवें और बारहवें भाव के स्वामी हैं और अब यह आपके चौथे भाव में गोचर करेंगे।

मंगल का सिंह राशि में गोचर के दौरान जातकों को स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही, खर्चों में भी वृद्धि हो सकती है क्योंकि आशंका है कि इन्हें अपनी माता के स्वास्थ्य पर काफ़ी धन खर्च करना पड़ें। इस अवधि में जातकों को संपत्ति संबंधित विवादों से भी दो-चार होना पड़ सकता है।

करियर के लिहाज़ से, मंगल का सिंह राशि में गोचर वृषभ राशि वालों के कार्यक्षेत्र में परेशानी लेकर आ सकता है। इस दौरान आप पर काम का बोझ ज्यादा हो सकता है और आपको सफलता पाने के लिए कई चुनौतियों को पार करना पड़ सकता है। कुछ जातक ज्यादा धन कमाने और करियर की बेहतरी के उद्देश्य से नौकरी में बदलाव करने के बारे में सोच-विचार कर सकते हैं। हालांकि, इसे हासिल करना आसानी से मुमकिन नहीं होगा।

आर्थिक जीवन की बात करें तो, इस अवधि में जातकों के खर्चों में बढ़ोतरी होने की आशंका है और ऐसा भी हो सकता है कि इन्हें परिवार में आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ें। संपत्ति से जुड़े विवाद भी इस गोचर के दौरान सिर उठा सकते हैं।

मंगल का सिंह राशि में गोचर के दौरान जातकों को अपने रिलेशनशिप में पार्टनर के साथ अंहकार से जुड़ी परेशानियों से जूझना पड़ सकता है और ऐसे में, आपके रिश्ते से खुशियां नदारद रह सकती हैं। प्रेम जीवन में ख़ुशहाली बनाए रखने के लिए आपको पार्टनर के साथ आपसी सामंजस्य और तालमेल बिठाना होगा।

मंगल गोचर के दौरान वृषभ राशि वालों की सेहत में उतार-चढ़ाव आने की आशंका है। इस अवधि में आपको कमर और पैरों में दर्द की शिकायत हो सकती है। इन सभी परेशानियों से राहत पाने के लिए नियमित रूप से ध्यान और व्यायाम करना फलदायी साबित होगा।

चौथे भाव में स्थित मंगल की दृष्टि आपके सातवें, दसवें और ग्यारहवें भाव पर पड़ रही होगी और ऐसे में, जातकों के रिलेशनशिप में पार्टनर के साथ समस्याएं पैदा हो सकती हैं। नौकरी और आय में वृद्धि के मामलों में बाधाओं से जूझना पड़ सकता है।

उपाय: प्रतिदिन 11 बार “ॐ नमः शिवाय” का जाप करें।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों के लिए मंगल आपके छठे और ग्यारहवें भाव के स्वामी हैं जो अब आपके तीसरे भाव में गोचर करेंगे।

मंगल का सिंह राशि में गोचर के दौरान छठे और ग्यारहवें भाव के स्वामी के रूप में मंगल की तीसरे भाव में मौजूदगी जातकों को अच्छे और बुरे दोनों तरह के परिणाम प्रदान कर सकती है। यह समय व्यक्तिगत विकास की दृष्टि से अच्छा रहने की संभावना है और साथ ही, इन जातकों को किसी यात्रा के माध्यम से लाभ प्राप्त हो सकता है।

करियर के लिहाज़ से, मंगल का गोचर जातकों के लिए नौकरी में तरक्की लेकर आएगा। इन लोगों को नौकरी में नए अवसर प्राप्त होंगे जो आपके लिए लाभदायक सिद्ध हो सकते हैं और आपके करियर को प्रगति के रास्ते पर लेकर जा सकते हैं। इन लोगों को विदेश से भी अवसर मिल सकते हैं।

मंगल का सिंह राशि में गोचर उन जातकों के लिए अनुकूल साबित होगा जिन जातकों का अपना व्यापार हैं और इसके बल पर आप किसी बिज़नेस डील से अच्छा लाभ कमाएंगे। इसके परिणामस्वरूप, आप प्रतिद्वंदियों को टक्कर देने में सक्षम होंगे। साथ ही, मिथुन राशि वाले इस अवधि में व्यवसाय में नए संपर्क बनाने में सफलता प्राप्त करेंगे। वहीं, जो जातक आउटसोर्सिंग से संबंधित व्यापार कर रहे हैं उनका प्रदर्शन मंगल गोचर के दौरान शानदार रहेगा जिसकी बदौलत आप अच्छा मुनाफा कमाने में सक्षम होंगे।

आर्थिक रूप से देखा जाए तो, मंगल का सिंह राशि में गोचर इन जातकों के लिए भाग्यशाली रहेगा क्योंकि इस दौरान आप अच्छा ख़ासा पैसा कमाने के साथ-साथ धन की बचत करने में भी सक्षम होंगे। वहीं, जो लोग विदेश में रहते हैं वह काफ़ी धन अर्जित करेंगे और इसके परिणामस्वरूप, इन जातको के लिए पर्याप्त मात्रा में बचत करना संभव होगा। ये लोग एक से ज्यादा स्रोतों से धन कमाने में सफल हो सकते हैं।

रिलेशनशिप की दृष्टि से, मंगल का यह गोचर आपके लिए अच्छा रहेगा। इस अवधि में मिथुन राशि के जातकों में समझदारी का भाव विकसित होगा। ऐसे में, आप पार्टनर और प्रियजनों को पहले की तुलना में अब अच्छे से समझ सकेंगे। इसके परिणामस्वरूप, जीवनसाथी के साथ आपका रिश्ता मज़बूत होगा।

मिथुन राशि वालों का स्वास्थ्य इस अवधि में सामान्य रहेगा और आपको किसी बड़ी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। लेकिन,आपको सिर दर्द जैसी छोटी-मोटी समस्याएं परेशान कर सकती हैं।

तीसरे भाव में बैठे मंगल आपके छठे, नौवें और दसवें भाव पर दृष्टि डाल रहे है और इसके परिणामस्वरूप, जातकों को अपने प्रयासों में सफलता और करियर में तरक्की मिलेगी। साथ ही, भाग्य भी आपका साथ देगा।

उपाय: प्रतिदिन 21 बार “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय” का जाप करें।


करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों के लिए मंगल आपके पांचवें और दसवें भाव के स्वामी हैं जो अब आपके दूसरे भाव में गोचर करने जा रहे हैं।

मंगल का सिंह राशि में गोचर होने से इन जातकों का ध्यान परिवार को बढ़ाने में हो सकता है। संभव है कि इस गोचर के दौरान कर्क राशि के जातकों का एकमात्र लक्ष्य ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाना हो।

करियर के लिहाज़ से, कर्क राशि वालों के लिए मंगल का गोचर अनुकूल साबित होगा। इस दौरान इन लोगों का नौकरी में प्रदर्शन अच्छा रहने की संभावना है और इन्हें करियर में स्थिरता का भी अनुभव हो सकता है। यह जातक विदेश यात्रा पर जा सकते हैं। साथ ही, ये लोग सहकर्मियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अच्छे संबंध बनाए रखने में सक्षम होंगे। इस गोचर की अवधि में जातकों को सराहना के रूप में प्रमोशन मिलने के योग हैं।

कर्क राशि के जो जातक अपना व्यापार करते हैं वह इस दौरान अच्छा मुनाफा कमाएंगे। मंगल का सिंह राशि में गोचर बिज़नेस में विस्तार लेकर आ सकता है। ये लोग व्यापार में सिद्धांतों के साथ आगे बढ़ेंगे और प्रतिद्वंदियों पर जीत हासिल करने में सक्षम होंगे। इस समय इन्हें नए कॉन्ट्रैक्ट्स भी मिल सकते हैं।

आर्थिक स्थिति की दृष्टि से, मंगल का सिंह राशि में गोचर इन जातकों के लिए धन कमाने और खर्चों में वृद्धि दोनों लेकर आ सकता है। एक तरफ, जहां इस दौरान आपको अपार धन लाभ होगा तो दूसरी तरफ आपके खर्चों में बढ़ोतरी हो सकती है। मंगल गोचर की अवधि में आपकी वित्तीय स्थिति औसत रहेगी इसलिए संभावित है कि आप पैसों की बचत न कर पाएं।

रिलेशनशिप की बात करें तो, यह अवधि कर्क राशि के जातकों के लिए सकारात्मक रह सकती है क्योंकि इस दौरान आप पार्टनर के साथ मधुर संबंध बनाए रखने में सक्षम होंगे। साथ ही, इस दौरान आपके घर-परिवार में कोई मांगलिक कार्यक्रम संपन्न होने की संभावना है जिसका आनंद लेते हुए आप दिखाई देंगे।

मंगल का सिंह राशि में गोचर के दौरान आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा क्योंकि इस समय आप उत्साह से भरे रहेंगे और ऐसे में, आपको किसी बड़ी स्वास्थ्य समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

मंगल दूसरे भाव से आपके पांचवें, आठवें और नौवें भाव को देख रहे हैं और इसके परिणामस्वरूप जातकों को बच्चों के माध्यम से खुशियां मिल सकती हैं। साथ ही, धन लाभ होने और पैतृक संपत्ति मिलने के भी योग हैं।

उपाय: प्रतिदिन 11 बार “ॐ दुर्गाये नमः” का जाप करें।

सिंह राशि

सिंह राशि वालों के लिए मंगल आपके चौथे और नौवें भाव के स्वामी हैं जो अब आपके पहले भाव में गोचर करने जा रहे हैं। इसके परिणामस्वरूप, इन जातकों का ध्यान परिवार को बढ़ाने में हो सकता है। सिंह राशि वाले इस दौरान नई संपत्ति खरीद सकते हैं या फिर किसी संपत्ति से लाभ प्राप्त कर सकते हैं। ज्यादा से ज्यादा धन कमाने के मामले में इन लोगों को भाग्य का साथ मिलेगा।

करियर के लिहाज़ से, मंगल का सिंह राशि में गोचर सुगम रहने की संभावना है। इन जातकों को नौकरी के नए अवसर के साथ-साथ ऑन साइट पर भी कई सुनहरे मौके मिल सकते हैं। साथ ही, विदेश से प्राप्त होने वाले ऐसे अवसर आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

सिंह राशि के जो जातक व्यापार कर रहे हैं वह इस दौरान धन लाभ कमाते हुए बिज़नेस में सफलता प्राप्त करेंगे। मंगल गोचर के दौरान यह लोग व्यापार में कामयाबी हासिल करने का एक मंत्र प्राप्त कर सकते हैं जिसके बल पर ये प्रतिद्वंदियों को कड़ी टक्कर देने में सफल हो सकते हैं। जिन जातकों का संबंध आउटसोर्सिंग बिज़नेस से हैं वह इस अवधि में असीम तरक्की प्राप्त करेंगे और धन लाभ अर्जित करने में भी सक्षम होंगे।

मंगल गोचर आपको काफ़ी धन लाभ करवा सकता है और जो लोग विदेश में रहते हैं उन्हें विशेष रूप से आर्थिक लाभ होने की संभावना है। इस अवधि में आप ज्यादा से ज्यादा पैसों की बचत करने में सक्षम होंगे। साथ ही, इन लोगों को भाग्य का भरपूर साथ मिलेगा जिसके परिणामस्वरूप आपको होने वाले धन लाभ में वृद्धि देखने को मिल सकती है।

रिलेशनशिप की दृष्टि से, मंगल का सिंह राशि में गोचर जातकों के लिए सकारात्मक परिणाम लेकर आएगा। इस अवधि में इन लोगों के पार्टनर के साथ संबंध मधुर बने रहेंगे और ऐसे में, ये पार्टनर के साथ ख़ुशी के पल बिताते हुए नज़र आंएगे। परिवार में कोई शुभ एवं मांगलिक कार्यक्रम होने की संभावना है और इस वजह से रिश्तों में मज़बूती आएगी। ऐसे में, आपके आसपास खुशियां ही खुशियां नज़र आ सकती हैं।

सिंह राशि वालों का स्वास्थ्य इस गोचर के दौरान अच्छा रहेगा। प्रसन्नता और उत्साह इन जातकों के स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखेगी। संभावना है कि इस समय आपको कोई बड़ी समस्या परेशान नहीं करेगी।

पहले भाव में बैठे मंगल की दृष्टि चौथे, सातवें और आठवें भाव पर पड़ रही है और इसके परिणामस्वरूप आपको संपत्ति के माध्यम से धन लाभ हो सकता है। साथ ही, हर कदम पर आपको पार्टनर का साथ मिलेगा जिससे आपका रिश्ता उनके साथ मज़बूत होगा।

उपाय: प्रतिदिन 21 बार “ॐ नमो नरसिंहाय” का जाप करें।


आपकी कुंडली के शुभ योग जानने के लिये अभी खरीदें एस्ट्रोसेज बृहत् कुंडली

कन्या राशि

कन्या राशि के जातकों के लिए मंगल आपके तीसरे और आठवें भाव के स्वामी हैं और अब यह आपके बारहवें भाव में गोचर करने जा रहे हैं।

कन्या राशि के जातकों को जीवन में परेशानियों और बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। आशंका है कि इस दौरान इन लोगों को ख़ुशी के पल बहुत कम देखने को मिले। साथ ही, इन जातकों को अपनी सेहत का विशेष रूप से ख्याल रखना होगा जो कि आपके जीवन के सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है।

करियर की बात करें तो, मंगल का सिंह राशि में गोचर कन्या राशि वालों के लिए ज्यादा अच्छा नहीं कहा जा सकता है क्योंकि इन जातकों को नौकरी में मुश्किल परिस्थितियों से दो-चार होना पड़ सकता है। जबकि कुछ लोग इस दौरान अपनी नौकरी खो सकते हैं, तो कुछ अपना मान-सम्मान। साथ ही, कुछ जातकों को मंगल गोचर के दौरान अपनी मेहनत के लिए वरिष्ठों से सराहना न मिलने की आशंका है।

इस राशि के जिन जातकों का अपना बिज़नेस हैं वह इस अवधि में ज्यादा लाभ कमाने में सक्षम नहीं हो। साथ ही, इन लोगों को हानि का सामना भी करना पड़ सकता है। मंगल का सिंह राशि में गोचर के दौरान इन लोगों को व्यापार में प्रतिद्वंदियों से कड़ी टक्कर मिल सकती है। हालांकि, लाभ कमाने के अवसर सीमित रह सकते हैं। इस समय इन जातकों द्वारा लिए गए बिज़नेस से जुड़े फैसले गलत साबित हो सकते हैं जिसकी वजह से ये ख़ुद को मुसीबत में फंसा हुआ पा सकते हैं।

आर्थिक रूप से, मंगल का यह गोचर कन्या राशि वालों के लिए थोड़ा चुनौतीपूर्ण साबित हो सकता है क्योंकि इस दौरान आपके ख़र्चों में भारी बढ़ोतरी हो सकती हैं। इस गोचर की अवधि में आप पर जिम्मेदारियों का बोझ बहुत ज्यादा होने की आशंका है जिन्हें पूरा करने के लिए आपको कर्ज़ लेना पड़ सकता है।

अगर रिलेशनशिप की बात करें तो, इन जातकों को अपने प्रेम जीवन में मधुर संबंध बनाए रखने में मुश्किल प्रतीत हो सकती है।

मंगल का सिंह राशि में गोचर की अवधि में इन जातकों की सेहत में उतार-चढ़ाव आने की आशंका है क्योंकि इन्हें भूख न लगना और पाचन संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। आपको आंखों में जलन की शिकायत भी होने की आशंका है इसलिए आपको आंखों का चेकअप करवाने की सलाह दी जाती है।

बारहवें भाव में स्थित मंगल की दृष्टि आपके तीसरे, छठे और सातवें भाव पर पड़ रही है और इसके परिणामस्वरूप, इन जातकों के रिश्ते में प्रेम की कमी देखने को मिल सकती है। साथ ही, इन्हें मिलने वाले परिणामों में भी देरी होने की संभावना है।

उपाय: रविवार के दिन भगवान रूद्र के लिए यज्ञ/हवन करें।

तुला राशि

तुला राशि वालों के लिए मंगल आपके दूसरे और सातवें भाव के स्वामी हैं और जो अब आपके ग्यारहवें भाव में गोचर करेंगे।

मंगल का सिंह राशि में गोचर जातकों के लिए औसत रह सकता है, विशेष रूप से धन कमाने के मामले में। साथ ही, कई खर्चे भी आपके सामने आ सकते हैं। इस दौरान इन जातकों को सफलता और असफलता के बीच संतुलन बनाए रखना मुश्किल लग सकता है।

पेशेवर रूप से, यह अवधि आपके लिए अनुकूल साबित होगी और इस दौरान आपको अपनी मेहनत के लिए पुरस्कृत किया जा सकता है। साथ ही, आपके प्रमोशन के भी योग बनेंगे। मंगल गोचर की अवधि में ये लोग नई-नई चीज़ों को सीखेंगे।

मंगल गोचर के दौरान तुला राशि के व्यापार करने वाले जातक तेज़ गति से धन लाभ कमाएंगे। यह लोग बिज़नेस के क्षेत्र में अपनी बुद्धिमता साबित करने के साथ-साथ उसका अच्छे से प्रयोग करने में भी सक्षम होंगे। साथ ही, किसी नई लाइन में भी व्यापार की शुरुआत कर सकते हैं।

आर्थिक स्थिति की दृष्टि से, मंगल का सिंह राशि में गोचर इस राशि के लोगों के लिए फलदायी रहेगा क्योंकि इस समय ये जातक पर्याप्त मात्रा में पैसा कमाने के साथ-साथ धन की बचत करने में भी सक्षम होंगे।

रिलेशनशिप की बात करें तो, इन जातकों को अपने पार्टनर के साथ संबंधों में मधुरता देखने को मिलेगी और ऐसे में, रिश्ते में खुशियां बनाए रखने के लिए आपसी तालमेल अच्छा रह सकता है। मंगल गोचर की अवधि आपके रिलेशनशिप के लिए शानदार रहने की संभावना है।

स्वास्थ्य की बात की जाए तो, मंगल गोचर के दौरान आपकी सेहत अच्छी रहेगी। साथ ही, आप उत्साह से भरे रहेंगे और इस अवधि में आपको किसी बड़ी स्वास्थ्य समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

ग्यारहवें भाव से मंगल की दृष्टि आपके दूसरे, पांचवें और छठे भाव पर पड़ रही होगी और इसके परिणामस्वरूप, ये समय पैसा कमाने के साथ-साथ उसकी बचत करने के लिए भी फलदायी रहेगा। इसके अलावा, अपने प्रयासों से ये जातक सफलता प्राप्त करेंगे और आध्यात्मिक गतिविधियों के प्रति भी आपकी रुचि जाग सकती है।

उपाय: शुक्रवार के दिन लक्ष्मी जी की पूजा करें।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि वालों के लिए मंगल आपके पहले और छठे भाव के स्वामी हैं और अब यह आपके दसवें भाव में गोचर करेंगे।

इस राशि के जातक अपने द्वारा किये जा रहे प्रयासों के दम पर अच्छी सफलता प्राप्त करने में सक्षम होंगे। इस दौरान आपको अपने कौशल और योग्यताओं के बारे में जानने के कई अवसर मिल सकते हैं।

करियर के लिहाज़ से, यह समय नौकरी में तरक्की हासिल करने के लिए अनुकूल साबित हो सकता है। मंगल का सिंह राशि में गोचर उन जातकों के लिए फलदायी रहेगा जो सरकारी क्षेत्रों और पब्लिक सेक्टर में नौकरी करते हैं। साथ ही, इन जातकों के प्रमोशन की भी संभावना प्रबल है जो इनकी प्रसन्नता का कारण बन सकती है।

वृश्चिक राशि के जिन जातकों का अपना बिज़नेस हैं उन्हें इस अवधि में अच्छा खासा मुनाफा होगा। ऐसे में, यह लोग अपने क्लाइंट्स को गुणवत्ता वाली सर्विस प्रदान करने में सक्षम होंगे और ये किसी नई फील्ड में व्यापार की शुरुआत कर सकते हैं।

आर्थिक स्थिति की बात करें तो, मंगल का गोचर इन जातकों के लिए फलदायी साबित होगा। इस दौरान ये लोग धन की बचत कर सकेंगे और साथ ही, व्यापार के नए क्षेत्रों में हाथ आज़मा सकते हैं।

रिलेशनशिप के लिहाज़ से, इस अवधि में ये जातक पार्टनर के साथ रिश्ते में खुशियां बनाए रखने में कामयाबी हासिल करेंगे। ऐसे में, आप दोनों के बीच शानदार आपसी समझ और तालमेल देखने को मिलेगा।

मंगल गोचर के दौरान वृश्चिक राशि वालों की सेहत सामान्य रहेगी और इस समय आप ऊर्जावान नज़र आएंगे।

मंगल की दृष्टि दसवें भाव से आपके पहले, चौथे और पांचवें भाव पर होगी और इसके परिणावरूप जातकों की सुख-सुविधाओं में वृद्धि और हर कार्य में सफलता की प्राप्ति हो सकती है। साथ ही, नई प्रॉपर्टी खरीदने की भी संभावना है।

उपाय: प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करें।


बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु राशि

धनु राशि वालों के लिए मंगल आपके बारहवें और पांचवें भाव के स्वामी हैं जो अब आपके नौवें भाव में गोचर करेंगे।

मंगल के इस गोचर के दौरान जातकों को जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में मिले-जुले परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। साथ ही, इस समय आपका भाग्य सकारात्मक और नकारात्मक दोनों प्रकार के फल प्रदान कर सकता है।

करियर की बात करें तो, मंगल का सिंह राशि में गोचर नौकरी करने वाले जातकों के लिए शानदार रहेगा क्योंकि इस समय आपको पदोन्नति, तरक्की और अन्य लाभ प्राप्त होंगे। लेकिन थोड़े विलंब के बाद ही इन जातकों को करियर में इस तरह के परिणाम मिलेने की संभावना है। साथ ही, विदेश से भी आपको नौकरी के अवसर प्राप्त हो सकते हैं।

बिज़नेस करने वाले जातकों को इस गोचर की अवधि में काफ़ी मुनाफा होने के आसार हैं। व्यापार में आपको कुछ ऐसे पल देखने को मिल सकते हैं जो आपके बिज़नेस के लिए फलदायी साबित होंगे। साथ ही, इस दौरान आप अच्छा लाभ कमाने में भी सक्षम होंगे। हालांकि, धनु राशि के व्यापारी लोगों में अपनी काबिलियत साबित करने के साथ-साथ प्रतिद्वंदियों से टक्कर लेने की अपार क्षमता मौजूद हो सकती है।

आर्थिक स्थिति के लिहाज़ से, मंगल का सिंह राशि में गोचर अनुकूल रहेगा। ऐसे में, ये जातक पर्याप्त धन कमाने और उसे बचाने की स्थिति में नज़र आ सकते हैं। मंगल का यह गोचर विशेष रूप से उन लोगों के लिए फलदायी साबित होगा जो विदेश में बसे हैं उन्हें हर कदम पर भाग्य का साथ मिलेगा।

धनु राशि वाले अपने पार्टनर के साथ रिश्ते में मिठास बनाए रखने में सक्षम होंगे। ऐसे में, ये लोग अपने रिश्ते में उच्च मूल्य स्थापित कर सकते हैं।

मंगल का सिंह राशि में गोचर की अवधि धनु राशि के जातकों के स्वास्थ्य के लिए सामान्य रहेगी। लेकिन इन लोगों को अपने पिता की सेहत पर काफ़ी धन खर्च करना पड़ सकता है।

नौवें भाव में बैठे मंगल की दृष्टि आपके बारहवें, तीसरे और चौथे भाव पर पड़ रही होगी और इसके परिणामस्वरूप, इन जातकों को धन लाभ तो होगा लेकिन इनके खर्चों में भी बढ़ोतरी हो सकती हैं। साथ ही, संपत्ति से लाभ होने और विदेश यात्रा पर जाने के भी योग बन रहे हैं।

उपाय: गुरुवार के दिन भगवान शिव के लिए यज्ञ-हवन करें।

मकर राशि

मकर राशि के जातकों के लिए मंगल आपके चौथे और ग्यारहवें भाव के स्वामी हैं और अब यह आपके आठवें भाव में गोचर करेंगे।

मकर राशि वालों को जीवन में तरक्की हासिल करने की राह में समस्याओं और परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इनके मन में निराशा के बादल छाए रह सकते हैं और संभव है कि इस वजह से ये लोग विभिन्न क्षेत्रों में अपनी चमक बिखरने में सक्षम न हो। ऐसे में, अपने लक्ष्यों को पूरा करना इनके लिए आसान कार्य नहीं होने की आशंका है।

करियर की बात करें तो, मंगल का सिंह राशि में गोचर आपके लिए औसत रह सकता है। ऐसे में, संभव है कि ये लोग अपनी योग्यता साबित करने की स्थिति में न हों और कार्यक्षेत्र में भी इन्हें अपने काम में की गई मेहनत के लिए सराहना न मिले जो आपके लिए चिंता का कारण बन सकती है।

मकर राशि के जो जातक ख़ुद का व्यापार करते हैं उन्हें अपने बिज़नेस को आगे बढ़ाने की राह में समस्याओं और बाधाओं से जूझना पड़ सकता है। संभव है कि इस गोचर के दौरान जातकों को न ज्यादा लाभ होगा और न ज्यादा हानि और ऐसे में, व्यापार को चलाना आपको मुश्किल लग सकता है।

मकर राशि के जातकों की आर्थिक स्थिति के लिए मंगल का सिंह राशि में गोचर फलदायी साबित न होने की आशंका है। हालांकि, पारिवारिक जिम्मेदारियों के कारण इन लोगों के ख़र्चों में बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है।

रिलेशनशिप की दृष्टि से, मकर राशि वाले अपने जीवनसाथी के साथ सौहार्दपूर्ण रिश्ते बनाए रखने में असफल हो सकते हैं और इसके चलते पार्टनर के साथ आपकी बहस भी हो सकती है। इन समस्याओं की वजह आप दोनों के बीच आपसी समझ की कमी और अहंकार का मौजूद होना हो सकता है।

स्वास्थ्य के लिहाज़ से, मंगल गोचर के दौरान आपका स्वास्थ्य ज्यादा अच्छा नहीं रहने की आशंका है क्योंकि आपको पैरों में दर्द, आंखों में जलन और पाचन से संबंधित समस्याएं परेशान कर सकती हैं।

आठवें भाव से मंगल की दृष्टि आपके ग्यारहवें, दूसरे और तीसरे भाव पर होगी और इसके परिणामस्वरूप, जातकों को अप्रत्याशित रूप से धन लाभ होने के योग बनेंगे। ये लाभ पैतृक संपत्ति से भी हो सकता है। साथ ही, ट्रेवल के माध्यम से भी आप धन अर्जित कर सकते हैं।

उपाय: शनिवार के दिन शनि ग्रह के लिए पूजा करें।

कुंभ राशि

कुंभ राशि वालों के लिए मंगल आपके तीसरे और दसवें भाव के स्वामी हैं जो अब आपके सातवें भाव में गोचर करेंगे।

मंगल गोचर के दौरान जातकों को कार्यक्षेत्र में अनुकूल परिणामों की प्राप्ति होगी। ये जातक अपने जीवन का दायरा बढ़ाते हुए दिखाई दे सकते हैं। अगर आप किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जा रहे हैं, तो उसके सफल होने की संभावना है।

करियर के लिहाज़ से, मंगल का सिंह राशि में गोचर आपके लिए भाग्यशाली साबित हो सकता है क्योंकि इस समय आप कार्यों में सफलता के साथ-साथ उच्च पद प्राप्त करने में सक्षम होंगे। इन लोगों को विदेश से भी नए अवसर मिलने की संभावना है जो आपके लिए फलदायी रहेंगे।

कुंभ राशि के जो जातक व्यापार करते हैं उन्हें इस दौरान भाग्य का साथ मिलेगा और आपको अच्छी गति से मुनाफा होगा। ऐसे में, ये जातक अपनी योग्यताओं को साबित करते हुए बिज़नेस में प्रतिद्वंदियों को टक्कर देने में समर्थ होंगे।

आर्थिक रूप से मंगल का सिंह राशि में गोचर आपके लिए वरदान साबित होगा क्योंकि इस दौरान आपकी संपत्ति में वृद्धि देखने को मिल सकती है। साथ ही, आप ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाने में सक्षम होंगे। इसके परिणामस्वरूप, ये जातक धन की बचत कर पाएंगे जिससे इनके आत्मविश्वास में भी बढ़ोतरी होगी।

रिलेशनशिप की बात करें तो, इस अवधि में कुंभ राशि वालों के संबंध अपने पार्टनर के साथ अच्छे रहेंगे। ऐसे में, आप दोनों के बीच आपसी तालमेल शानदार रहेगा और यह आपके रिश्ते को मज़बूत बनाने का काम करेगा।

इस गोचर के दौरान आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा और आपको किसी बड़ी स्वास्थ्य समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

सातवें भाव से मंगल की दृष्टि आपके दसवें, पहले और दूसरे भाव पर पड़ रही होगी और इसके परिणामस्वरूप आपको अपार लाभ धन होने की संभावना है।

उपाय: प्रतिदिन “ॐ नमः शिवाय” का 21 बार जाप करें।

मीन राशि

मीन राशि वालों के लिए मंगल आपके दूसरे और नौवें भाव के स्वामी हैं और अब यह आपके छठे भाव में गोचर करने जा रहे हैं।

मंगल का सिंह राशि में गोचर जातकों को मिले-जुले परिणाम प्रदान कर सकता है। इस दौरान मीन राशि वाले अपार धन लाभ प्राप्त करेंगे, लेकिन इनके ख़र्चों में भी बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है। साथ ही, इन लोगों में सेवा की भावना प्रबल होने की संभावना है।

करियर की बात करें तो, यह गोचर काल आपके लिए भाग्यशाली साबित होगा क्योंकि इस दौरान आपको वेतन वृद्धि, प्रमोशन आदि के रूप में लाभ प्राप्त हो सकता है। इस अवधि में सरकारी नौकरी के इच्छुक जातकों की सरकारी नौकरी लग सकती है जो कि आपके लिए लाभदायक साबित होगी। इन जातकों का सारा ध्यान ऑफिस में अच्छी सर्विस प्रदान करने में हो सकता है।

मीन राशि के जो जातक व्यापार करते हैं उनको मंगल का सिंह राशि में गोचर अच्छा ख़ास लाभ प्रदान करेगा और इसके बल पर ये लोग अपने प्रतिस्पर्धियों को कड़ी टक्कर देने में सक्षम होंगे।

मंगल का यह गोचर आपकी आर्थिक स्थिति के लिए अनुकूल रहेगा। ऐसे में, मीन राशि वाले पर्याप्त मात्रा में धन कमाने के साथ-साथ पैसों की बचत करने में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि, इनके खर्चों में भी वृद्धि हो सकती है जिसके चलते इन्हें लोन लेने की नौबत तक आ सकती है।

रिलेशनशिप के लिहाज़ से, इन जातकों का प्रेम जीवन सामान्य रहेगा और इस दौरान आपके पार्टनर के साथ प्रेमपूर्ण रिश्ते बने रहेंगे। हालांकि, ये लोग अपने रिश्ते में खुशियां बरकरार रखने के लिए ईमानदारी से प्रयास करते हुए दिखाई दे सकते हैं।

मंगल का सिंह राशि में गोचर मीन राशि वालों के स्वास्थ्य के लिए अनुकूल रहेगा और इसके परिणामस्वरूप आप अपने स्वास्थ्य का आनंद लेते हुए नज़र आएंगे क्योंकि इस अवधि में आपको कोई बड़ी स्वास्थ्य समस्या परेशान नहीं करेगी।

छठे भाव में बैठे मंगल अपनी दृष्टि आपके नौवें, बारहवें और पहले भाव पर डाल रहे होंगे। ऐसे में, इन जातकों को धन से जुड़े मामलों में मिले-जुले परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।

उपाय: मंगलवार के दिन माँ दुर्गा के लिए यज्ञ-हवन करें।


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।