• Varta Astrologers
  • Mragaank
  • Parul

शुक्र का कन्या राशि में गोचर (24 सितंबर 2022)

शुक्र का कन्या राशि में गोचर विषय पर तैयार किए गए एस्ट्रोसेज के इस विस्तृत गोचरफल लेख में आपको इस महत्वपूर्ण घटना से जुड़ी हर चोटी-बड़ी जानकारी प्रदान की जा रही है। वैदिक ज्योतिष की गणना पर आधारित इस लेख में गोचरफल के साथ सभी 12 राशियों के अनुसार सरल और सटीक ज्योतिषीय उपायों की जानकारी भी आपको प्रदान की जा रही है। तो आइए आगे बढ़ते हैं और जानते हैं शुक्र का कन्या राशि में गोचर आपके जीवन को कैसे प्रभावित करेगा और इस गोचर के नकारात्मक प्रभाव को दूर कर शुक्र के शुभ परिणाम प्राप्त करने के लिए क्या कुछ उपाय किए जा सकते हैं।

शुक्र का कन्या राशि में गोचर

वैदिक शास्त्रों में शुक्र ग्रह असुरों के गुरु शुक्राचार्य के रूप में माने गए हैं। जिन्हें ज्योतिष अनुसार प्रेम, जीवनसाथी, कामुक विचारों और सभी प्रकार के भौतिक सुखों का कारकतत्व प्राप्त होता है। शुक्र ग्रह एक शुभ ग्रह है और उनका शुभ प्रभाव ही व्यक्ति को समस्त सांसारिक सुखों की प्राप्ति करने में मदद करता है। ऐसे में यदि किसी जातक की कुंडली में शुक्र की स्थिति मजबूत होती है तो उस जातक को अपने जीवन में प्रेम व हर प्रकार के भौतिक सुख प्राप्त होते हैं। परतुं जिस जातक की कुंडली में शुक्र का प्रभाव अशुभ होता है उसे अपने जीवन में संस्कारहीनता, अपयश, परिवार में अलगाव और दुखों से दो-चार होना पड़ता है। शुक्र ग्रह राशिचक्र की राशियों में से वृषभ और तुला राशि के स्वामी कहलाते हैं, वहीं मीन इसकी उच्च राशि व कन्या इसकी नीच राशि मानी गई है। इसके अतिरिक्त शुक्र का हर गोचर सभी जातकों के जीवन में किसी न किसी रूप से परिवतर्न लेकर आता है।

एस्ट्रोसेज वार्ता से दुनियाभर के विद्वान ज्योतिषियों से करें फोन पर बात

शुक्र के गोचर का समय व अवधि

शुक्र का कन्या राशि में गोचर 24 सितंबर 2022, शनिवार को रात 8 बजकर 51 मिनट पर होगा जब वो सिंह राशि से निकलकर बुध की कन्या राशि में गोचर करेंगे। ऐसे में शुक्र के कन्या राशि में होने वाले इस गोचर का असर सभी राशियों पर देखने को मिलेगा।

शुक्र का कन्या राशि में गोचर आका आपकी राशि पर क्या ज्योतिषीय प्रभाव पड़ेगा यह जानने के लिए पढ़ें ये विशेष लेख।

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। यहाँ क्लिक कर चंद्र राशि कैलकुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

Read in English: Venus transit in Virgo - 24 September 2022 (Link)

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए शुक्र उनके दूसरे और सातवें भाव के स्वामी होते हैं और अब वे इस अवधि में आपकी राशि से षष्टम भाव में गोचर करेगा। ज्योतिष में इस भाव को शत्रु भाव कहा जाता है। इस भाव से हम विरोधियों, रोग, पीड़ा, जॉब, कम्पीटीशन, रोग प्रतिरोधक क्षमता, शादी-विवाह में अलगाव एवं कानूनी विवादों को भी देखते हैं। ऐसे में अब शुक्र का आपके छठे भाव में गोचर करना आपको अपने कई विरोधियों से परेशानी दे सकता है। क्योंकि इस दौरान आपके शत्रु व विरोधी सक्रिय होंगे और उनकी संख्या में भी काफी बढ़ोतरी देखी जाएगी। ऐसे में आपके लिए इस गोचर के दौरान अपने विरोधियों से निश्चित दूरी बनाए रखना ही सबसे अधिक आवश्यक रहने वाला है।

इसके अतिरिक्त कार्यस्थल पर भी आपको अपने विरोधियों की हर गतिविधियों पर अपनी नज़र बनाए रखते हुए उसके प्रति सावधान रहना होगा। क्योंकि वे आपको किसी प्रकार की हानि पहुंचाने की कोशिश कर सकते हैं और जिससे आपको बड़ा नुकसान होने की आशंका रहेगी। वो जातक जो पार्टनरशिप में बिजनेस करते हैं, उनका अपने पार्टनर के साथ किसी प्रकार का वाद-विवाद संभव है। इसलिए उन्हें ख़ास सलाह दी जाती है कि किसी भी निर्णय को लेते समय अधिक सोच-समझकर करें। शुक्र देव आपके किसी यात्रा पर जाने के योग भी बनाएंगे। परंतु अगर आवश्यक न हो तो अभी हर प्रकार की यात्रा से परहेज करें, अन्यथा आपको कई चुनौतियों से दो-चार होना पड़ सकता है।

अब बात करें आपके निजी जीवन की तो इस शुक्र का कन्या राशि में गोचर समयावधि के दौरान शादीशुदा जातकों को भी अपने दांपत्य जीवन में कई प्रतिकूल परिस्थितियां मिलने की आशंका रहेगी। क्योंकि इस समय आपके अपने साथी के साथ संबंध कुछ बिगड़ सकते हैं। इसलिए एक-दूसरों को समझने की कोशिश करें और किसी भी निर्णय से पहले आपसी सहमति जरूर लें। इसके अलावा आपको इस समय अपने आत्मविश्वास को बनाए रखते हुए खुद को शांत रखने की भी अधिक ज़रूरत रहने वाली है।

उपायः मां लक्ष्मी की आराधना करें और मंदिर जाकर मां लक्ष्मी को भोग में कुछ मीठा अर्पित करें।

मेष साप्ताहिक राशिफल

वृषभ

वृषभ राशि के स्वामी ग्रह स्वयं शुक्र होते हैं। इसके अलावा शुक्र को आपके छठे भाव का स्वामित्व भी प्राप्त है और अब वर्तमान में वे आपकी राशि से पंचम भाव में गोचर करने जा रहे हैं। कुंडली में इस भाव को संतान भाव के नाम से भी जाना जाता है। इस भाव से ही हम जीवन में रोमांस, संतान, रचनात्मकता, बौद्धिक क्षमता, शिक्षा एवं नए अवसरों का पता लगाते हैं। ऐसे में अब इस भाव में शुक्र का गोचर सबसे अधिक दांपत्य जातकों को अपनी संतान से उचित मान-सम्मान और प्यार मिलने के योग बनाएगा।

इससे यदि आपके और बच्चों के संबंधों में कुछ समस्या चल रही थी तो उसमें सुधार आएगा और आप उनके साथ अच्छे समय का आनंद लेते दिखाई देंगे। इसके अलावा आर्थिक स्थिति भी पहले से काफी बेहतर होती प्रतीत होगी। क्योंकि इस अवधि में आपको अचानक से किसी माध्यम से धन प्राप्ति संभव है। जिसके परिणामस्वरूप आप अपने धन को संचय करने में भी सफल रहेंगे।

आपके व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो ये गोचर आपको अच्छा मान-सम्मान देगा। साथ ही आप अपने दोस्तों या परिजनों के साथ कहीं घूमने जाने का भी प्लान करेंगे। वृषभ राशि के छात्रों को भी इस समय अच्छे परिणाम मिल सकेंगे। खासतौर से जो छात्र प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं वे अपना अच्छा प्रदर्शन देते हुए अपने परिजनों से प्रोत्साहन प्राप्त करने में सफल रहने वाले हैं। इसके अलावा यदि आप सरकारी नौकरी से संबंधित कोई परीक्षा देते हैं तो उसमें भी आपको लाभ प्राप्त होने के पूरे आसार दिखाई देते हैं।

निजी जीवन के लिहाज़ से ये गोचर आपके जीवन में अपार खुशियां लेकर आ रहा है। वो विवाहित जातक जो अपने दांपत्य जीवन में विस्तार के लिए संतान प्राप्ति का सोच रहे थे, उन्हें इस दौरान शुक्र देव की कृपा से कोई बड़ी ख़ुशख़बरी मिलने की संभावना है। वहीं प्रेमी जातको के लिए भी यह समय विशेष शुभ रहने वाला है। ऐसे में यदि प्रेमी जातक इस समय अपने विवाह के बारे में बात आगे बढ़ाना चाहते हैं तो उसके लिए अवधि अधिक उत्तम रहेगी। क्योंकि इस अवधि के दौरान संभावना है कि आपके प्रेम को घरवालों से अनुकूल प्रतिक्रिया मिले।

उपाय: मां लक्ष्मी को चावल की खीर अर्पित करें।

वृषभ साप्ताहिक राशिफल

आर्थिक भविष्यफल रिपोर्ट से पाएं धन संबंधी हर समस्या का ज्योतिषीय समाधान।

मिथुन

मिथुन राशि के स्वामी बुध है और शुक्र, बुध के मित्र ग्रह माने गए हैं। शुक्र मिथुन राशि के जातकों के लिए पांचवें भाव और बारहवें भाव की अध्यक्षता करते हैं और अब वे अपना गोचर करते हुए आपकी राशि से चतुर्थ भाव में विराजमान होंगे। कुंडली के चौथे भाव को सुख भाव कहा गया है। इस भाव से हम माता, जीवन में मिलने वाले सभी प्रकार के सुख, चल-अचल संपत्ति, लोकप्रियता एवं भावनाओं को देखते है। ऐसे में चतुर्थ भाव में शुक्र की उपस्थिति आपकी सुख-सुविधाओं में वृद्धि करने वाली है। इस दौरान कई जातकों को अपनी प्रॉपर्टी या ज़मीन से संबंधित कोई लाभ प्राप्त भी होगा।

वो जातक जो अपना घर लेने का प्लान कर रहे थे उनके लिए भी शुक्र के कन्या राशि में गोचर का ये समय अधिक शुभ रहने वाला है। क्योंकि शुक्र देव आपको आशीर्वाद स्वरूप सफलता मिलने के योग दर्शा रहे हैं। आर्थिक जीवन में भी आपको अच्छा धन लाभ संभव है। साथ ही शुक्र देव आपके पारिवारिक जीवन में भी सुख-शांति का वातावरण सुनिश्चित करने वाले हैं। इससे आप घर पर अपना समय व्यतीत करते हुए घरवालों के साथ अच्छी बातचीत करते दिखाई देंगे। आपको ये अवधि घर के सदस्यों का भी पूरा सहयोग देगी। इसके अलावा समाज में भी आपके मान-सम्मान में वृद्धि होने से लोग आपसे सलाह-मशवरा ले सकेंगे।

यदि आपकी कोई इच्छा लंबे समय से अधूरी थी तो वो भी इस समय पूरी हो सकती है। कई जातक किसी यात्रा पर भी जाने का प्लान करेंगे। अब बात करें स्वास्थ्य जीवन की तो ये गोचर आपको सेहत से जुड़े भी लाभ मिलने की पूरी संभावना दर्शा रहा है। ऐसे में खासतौर से वो जातक जो पहले से अपनी किसी बीमारी से परेशान थे उन्हें इस दौरान अपनी उस समस्या से निजात मिल सकेगी।

उपायः शुक्र देव के अनुकूल परिणामों की प्राप्ति हेतु हर शुक्रवार के दिन सफेद चीजों का दान करें।

मिथुन साप्ताहिक राशिफल

कर्क

कर्क राशि के जातकों के लिए शुक्र उनके चौथे व ग्यारहवें भाव के स्वामी होते हैं और अब आपकी राशि से तृतीय भाव में उनका गोचर होगा। कुंडली में तीसरे घर को सहज भाव कहा जाता है। इस भाव से व्यक्ति के साहस, इच्छा शक्ति, छोटे भाई-बहनों, जिज्ञासा, जुनून, ऊर्जा, जोश और उत्साह को देखा जाता है। ऐसे में इस दौरान शुक्र देव कर्क जातकों को भाग्य का साथ देने वाले हैं। इससे आपको अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त करते हुए उन्हें अपना मित्र बनाने में सफलता मिलेगी।

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो समाज में भी आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। साथ ही आपके चाहने वालों की संख्या में भी वृद्धि होते हुए आप लोगों के बीच लोकप्रिय रहेंगे। आर्थिक दृष्टि से भी यह समय आपके लिए विशेष शुभ रहने वाला है। क्योंकि इस दौरान आपको अलग-अलग माध्यमों से धन प्राप्ति होने के योग बन रहे हैं। इससे आप अपने कोई पुराना ऋण को चुकाने में या उस योजना पर अमल करने में सफल रहेंगे जो धन के अभाव के कारण पूरी नहीं हो सकी थी।

पारिवारिक जीवन में भी खुशी का माहौल आपको अंदर से प्रसन्न करेगा। साथ ही ये अवधि आपको अपने भाई-बहनों का सहयोग देने में भी मददगार सिद्ध होगी। कई जातकों की रूचि धर्म के प्रति बढ़ सकती है। इसके परिणामस्वरूप वे धर्म-कर्म के कार्यों में भाग लेते हुए किसी प्रकार के कार्यक्रम का आयोजन भी करने के निणर्य ले सकते हैं।

अब बात करें आपके करियर की तो कार्यक्षेत्र पर भी स्थितियां आपके अनुकूल ही रहेगी। इस कारण आपके अंदर हर कार्य को पूरा करने का साहस और आत्मविश्वास दिखाई देगा। साथ ही अपने बढ़ते इस साहस और आत्मविश्वास के चलते ही आप कार्यस्थल पर हर कार्य को पूरा करने में व कई महत्वपूर्ण निर्णय लेने में सक्षम होंगे। कई जातकों को उनकी मेहनत के अनुसार प्रमोशन मिलने के योग भी बनेंगे।

उपायः शुक्रवार के दिन मंदिर में जाकर घी का एक दीपक जलाएं और मां लक्ष्मी की आराधना करें।

कर्क साप्ताहिक राशिफल

सिंह

सिंह राशि के जातकों के लिए शुक्र उनके भाई-बहनों के तीसरे भाव व करियर के दसवें भाव को नियंत्रित करते हैं और अब शुक्र देव अपने इस गोचर के दौरान आपकी राशि से द्वितीय भाव में विराजमान हो रहे हैं। ज्योतिष में दूसरे भाव से हम व्यक्ति के परिवार, उसकी वाणी, प्रारंभिक शिक्षा एवं धन आदि का विचार करते हैं। ऐसे में शुक्र का राशि के दूसरे भाव में गोचर करना आपके लिए खासा अनुकूल रहने वाला है। क्योंकि इस समय आप विभिन्न स्रोतों से आर्थिक लाभ अर्जित करने में सफल रहेंगे।

साथ ही पारिवारिक जीवन में आपके घर-परिवार में हंसी-खुशी का वातावरण आपको तनावमुक्त रखने में मददगार सिद्ध होगा। ये वो अवधि होगी जब आपको अपने हर निर्णय में परिवार के सदस्यों का भरपूर सहयोग मिलने वाला है। यदि घर पर किसी बुजुर्ग सदस्य की तबीयत पूर्व से खराब चल रही थी तो इस समय उनकी सेहत में भी सुधार देखने को मिलेगा। साथ ही शुक्र देव आपके भी स्वास्थ्य में सही बदलाव करते हुए आपको सेहतमंद रखने का कार्य करेंगे।

हालांकि कई जातक इस दौरान अपनी साज-सज्जा या सुख-सुविधाओं से संबंधित चीजों जैसे: कपड़े, आभूषण, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट आदि पर कुछ धन खर्च भी कर सकते हैं। ऐसे में आपको कुछ भी खरीदारी करते समय विशेष सावधानी बरतने की हिदायत दी जाती है। प्रेम संबंधों की बात करें तो प्रेमी जातकों की लव लाइफ में अनुकूलता आएगी। वहीं शादीशुदा जातकों के लिए भी इस गोचर काल के दौरान संतान प्राप्ति होने के योग बन रहे है। इसके परिणामस्वरूप आप अपने पार्टनर के साथ अच्छा समय व्यतीत करने के लिए कुछ प्लान बनाएंगे।

कार्यक्षेत्र पर आपकी मेहनत रंग लाएगी और आप अपने सभी विरोधियों को परास्त करते हुए उन्हें अपने ही पक्ष में करने में सफल रहेंगे। इससे आपको आपने कर्मियों और अधिकारियों से सही सहयोग भी मिल सकेगा। जो छात्र प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं उनके लिए अवधि सफलता लेकर आ रही है। साथ ही समाज में भी शुक्र देव आपको लोकप्रिय बनाते हुए अच्छा पद-प्रतिष्ठा देने का कार्य भी करेंगे।

उपायः शुक्रवार के दिन मां कात्यायनी के मंत्रों का जाप करें।

सिंह साप्ताहिक राशिफल

कन्या

कन्या राशि के जातकों के लिए शुक्र उनके दूसरे और नौवें भाव के स्वामी होते हैं और यह अब आपकी ही राशि में गोचर करते हुए आपके प्रथम भाव अर्थात लग्न भाव में स्थित होंगे। ज्योतिष में लग्न भाव को तनु भाव कहा जाता है। ऐसे में इस अवधि में शुक्र का प्रभाव आपको अनुकूल फल मिलने के योग बनाएगा। सबसे अधिक इस दौरान आपके आर्थिक जीवन में वृद्धि होगी और इससे आप अपने धन को अर्जित करते हुए किसी प्रकार के निवेश का प्लान कर सकते हैं। हालांकि इस समय आप जमकर अपनी साज-सज्जा पर भी धन खर्च करते हुए दूसरों के बीच लोकप्रियता हासिल करेंगे। यदि आपके जीवन में कुछ समस्या चल रही थी तो उससे भी आपको छुटकारा मिल सकेगा और आप अपने जीवन में खुशियों के आगमन का खुलकर आनंद लेते दिखाई देंगे।

प्रेम संबंधों की बात करें तो वो अविवाहित जातक जो विवाह योग्य हैं उन्हें शुक्र के कन्या राशि में गोचर की इस अवधि में विवाह का कोई सुंदर प्रस्ताव मिलने के योग बनेंगे। ऐसे में विवाह संबंधित बात आगे बढ़ाना आपके लिए अनुकूल रहेगा। इसके अलावा करियर में भी ये गोचर आपको उत्तम फल देगा। खासतौर से व्यवसाय से जुड़े जातकों को इस अवधि में अपने व्यवसाय में वृद्धि करते हुए अच्छे लाभकारी अवसर मिलेंगे। इसलिए अपने मन से हर प्रकार के नकारात्मक विचारों को दूर करते हुए इस अनुकूल अवधि का लाभ उठाने का प्रयास करते रहें।

वहीं छात्र भी इस समय अपना अच्छा प्रदर्शन देने में सक्षम होंगे। जिसके परिणामस्वरूप वो लोग जो प्रतियोगी या सरकारी नौकरी के लिए परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं उन्हें हर परीक्षा में अच्छे अंक मिल सकेंगे। शुक्र देव आपका रुझान धार्मिक कार्यों के प्रति भी बढ़ा सकते हैं।

उपायः सेहत से जुड़ी सभी समस्याओं से निजात पाने के लिए नियमित रूप से शिवलिंग का जलाभिषेक करें।

कन्या साप्ताहिक राशिफल

तुला

शुक्र देव आपके राशि स्वामी होने के साथ-साथ आपके अष्टम भाव पर भी स्वामित्व रखते हैं और अब शुक्र आपकी राशि से द्वादश भाव में प्रवेश करेंगे। ज्योतिष में यह भाव व्यय भाव कहलाता है। इस भाव से हम ख़र्चे, हानि, मोक्ष, विदेश यात्रा आदि को देखते हैं। ऐसे में अब आपके द्वादश भाव में शुक्र का गोचर आपके लिए उत्तम रहने के योग दर्शा रहा है। खासतौर से धन पक्ष के लिहाज़ से इस समय आपको एक से अधिक स्रोतों से धन प्राप्त करने में सफलता मिलेगी।

वो जातक जो विदेश जाने के इच्छुक थे, उन्हें भी इस गोचर काल के दौरान अपने प्रयासों में सफलता मिलने से विदेश जाने का अवसर मिल सकेगा। इसके अलावा किसी और लंबी दूरी की यात्रा पर जाने के लिए समय अधिक शुभ रहेगा।

करियर की बात करें तो कार्यक्षेत्र पर आपकी कार्यक्षमता की जमकर तारीफ़ होगी। हालांकि कई जातकों का इस समय कामवासना में अधिक ध्यान और रूचि होने से वो अपने लक्ष्य से कुछ भ्रमित नज़र आएंगे। ऐसे में उन्हें स्वयं पर नियंत्रित रखते हुए अपने मन में उठने वाले इस तरह के विचारों को खुद पर हावी न होने देने की ज़रूरत होगी।

उपायः रोजाना माथे पर सफेद चंदन का तिलक करके ही अपने घर से निकलना आपके लिए अनुकूल रहेगा।

तुला साप्ताहिक राशिफल

वृश्चिक

शुक्र आपके बारहवें भाव व सप्तम भाव को नियंत्रित करते हैं और अब वे आपकी राशि से एकादश भाव में स्थित होंगे। कुंडली में एकादश भाव को आमदनी का भाव कहा जाता है। इस भाव से आय, जीवन में प्राप्त होने वाली सभी प्रकार की उपलब्धियाँ, मित्र, बड़े भाई-बहन आदि को देखा जाता है। ऐसे में आपके एकादश भाव में शुक्र का गोचर होने से सबसे अधिक आपके आर्थिक जीवन में अनुकूलता आने की संभावना रहेगी। क्योंकि इस दौरान आप अपनी काबिलियत और मेहनत से धन प्राप्ति करते हुए अपनी आय में वृद्धि करेंगे। जिसके परिणामस्वरूप आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी और इसका सकारात्मक प्रभाव आपके खानपान और रहन-सहन में भी अच्छे बदलाव करेगा।

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का समय वो अवधि होगी जब आप पहले से अधिक सुख-सुविधाओं का आनंद लेते दिखाई देंगे। प्रेम संबंधों में भी आपको अपार सफलता मिलने के पूर्ण आसार दिखाई देते हैं। ऐसे में यदि जो प्रेमी जातक अपने विवाह के लिए बात आगे बढ़ाना चाहते हैं तो वो इस समय प्रयास कर सकते हैं। क्योंकि प्रेम विवाह के लिए ये अवधि उचित योग बनाएगी।

व्यक्तिगत जीवन के दृष्टिकोण से भी इस समय आप अपने दोस्तों के साथ समय व्यतीत करते हुए जमकर मौज-मस्ती करेंगे। साथ ही आपको अपने दोस्तों व मित्रों का पूरा सहयोग भी प्राप्त हो सकेगा। इसके अतिरिक्त शुक्र देव की कृपा से समाज में आप अपनी एक अलग पहचान बनाने में पूरी तरह सक्षम भी रहने वाले हैं।

उपायः करियर और व्यापार में सफलता पाने के लिए बाबा भैरव जी की उपासना करें।

वृश्चिक साप्ताहिक राशिफल

बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु

शुक्र आपके छठे भाव और ग्यारहवें भाव पर शासन करते हैं और अब इस दौरान शुक्र आपकी राशि से दशम भाव में गोचर करेंगे। ज्योतिष में दशम भाव करियर एवं प्रोफेशन, पिता की स्थिति, रुतबा, राजनीति एवं जीवन के लक्ष्यों की व्याख्या करता है। इसे कर्म भाव भी कहा जाता है। ऐसे में इस अवधि में शुक्र का दशम भाव में उपस्थित होने के कारण आप पर नकारात्मक प्रभाव देखने को मिल सकता है।

क्योंकि इस दौरान सबसे अधिक आपका स्वास्थ्य जीवन प्रभावित होगा। जिस कारण आपको कुछ स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां रह सकती हैं। इसलिए इस समय अपनी सेहत का खास ख्याल रखें और जितना संभव हो तली-भुनी चीज़ों व बासी खाने से परहेज करें। आर्थिक जीवन में भी कुछ हानि संभव है। इसलिए हर प्रकार के पैसों के लेन-देन को करते समय विशेष सावधानी बरतें।

करियर में कुछ मानसिक परेशानियां भी अपने कार्यों को पूरा करने में आपके लिए बाधा उत्पन्न करेंगी। ऐसे में किसी भी तनाव को खुद पर हावी न होने दें। साथ ही आपके सहकर्मियों व शत्रुओं से भी आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि किसी वरिष्ठ अधिकारी से अपने संबंध अच्छे होने के कारण वे कार्यस्थल की सभी चुनौतियों से निकलने में आपकी मदद करेंगे।

अब बात करें आपके पारिवारिक जीवन की तो घर के बड़े-बुजुर्गों के साथ यूँ तो आपके रिश्तों में कुछ सुधर देखने को मिलेगा। परंतु घर से जुड़े किसी भी फैसले को लेते समय घर वालों से सलाह-मशवरा ज़रूर करें, अन्यथा वो आपके विरुद्ध जा सकते हैं। कुल मिलाकर कहे तो इस गोचरकाल के दौरान आपको सबसे अधिक स्वयं पर विश्वास रखने की ज़रूरत होगी। क्योंकि आपका ये विश्वास ही हर विपरीत परिस्थिति से आपको निकालने में सहायक सिद्ध होने वाला है।

उपायः शुक्र ग्रह के दुष्प्रभावों से बचने के लिए किन्नरों को हरी चीजों का दान करें।

धनु साप्ताहिक राशिफल

मकर

मकर राशि के जातकों के लिए शुक्र उनके पांचवें भाव व दसवें भाव के स्वामी होते हैं और अब वे आपकी राशि से नवम भाव में गोचर करेंगे। ज्योतिष में नवम भाव को भाग्य भाव कहते हैं। इस भाव से व्यक्ति के भाग्य, गुरु, धर्म, यात्रा, तीर्थ स्थल, सिद्धांतों का विचार किया जाता है। ऐसे में इस गोचर के दौरान मकर राशि के जातकों को शुभ फल मिलने की संभावना अधिक रहेगी। क्योंकि इस समय आप शुक्र देव की कृपा से भाग्य की प्राप्ति कर सकेंगे और इससे आपको जीवन में ख़ुशी और समृद्धि मिलेगी।

आर्थिक जीवन की बात करें तो यूँ तो ये समय आपकी आमदनी में बढ़ोतरी करते हुए आपको अच्छा धन कमाने के कई अवसर देने वाला है। परंतु बावजूद इसके कई जातक अपने कपड़े, ज्वेलरी आदि की खरीदारी करते हुए उसपर अपने धन का एक बड़ा भाग भी ख़र्च करते दिखाई देंगे। जिसके कारण आपका कुछ बैंक बैलेंस कम हो सकता है। इसलिए आवश्यकता और सही बजट प्लान के अनुसार ही अपने धन का इस्तेमाल करना आपके लिए अधिक उचित रहेगा।

करियर के लिहाज़ से नौकरीपेशा जातक इस दौरान अपनी वर्तमान नौकरी में कुछ बदलाव देख सकेंगे। खासतौर से वो जातक जो लम्बे समय से किसी स्थान परिवर्तन या प्रमोशन की प्रतीक्षा कर रहे थे उन्हें ये गोचर सफलता मिलने के योग बनाएगा। इसके परिणामस्वरूप कार्यस्थल पर हर कोई आपसे प्रभावित होगा और खुद को आपकी तारीफ करने से नहीं रोक सकेगा।

व्यक्तिगत जीवन में भी शुक्र देव आपका रुझान धर्म के प्रति बढ़ाएंगे। इससे आप दान-पुण्य के कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हुए समाज में उचित मान-सम्मान प्राप्त करने में सफल होंगे। कुछ जातकों के घर किसी प्रकार के धार्मिक कार्य का आयोजन भी संभव है या संभावना ये भी है कि आप कोई लंबी व धार्मिक स्थल की यात्रा पर भी जाने का प्लान करें।

उपायः शुक्र ग्रह को प्रभावी बनाने के लिए अपने घर या दफ्तर में शुक्रवार के दिन शुक्र यंत्र को विधि-विधानुसार स्थापित करें।

मकर साप्ताहिक राशिफल

कुंभ

कुंभ राशि वालों के लिए शुक्र उनके चौथे व नौवें भाव पर शासन करते हैं और इस समय शुक्र आपकी राशि से अष्टम भाव में स्थित होंगे। वैदिक ज्योतिष में कुंडली के अष्टम भाव को आयुर्भाव कहा जाता है और इसी भाव से हम व्यक्ति के जीवन में आने वाले उतार-चढ़ाव, अचानक से होने वाली घटनाएँ, आयु, रहस्य, शोध आदि को देखते हैं। ऐसे में शुक्र के इस गोचर का आपके जीवन में अनुकूल परिणाम देखने को मिलेगा।

खासतौर से आर्थिक जीवन में इस गोचर काल के दौरान आपको उत्तम फल प्राप्त होंगे। क्योंकि ये गोचर आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत बनाएगा और साथ ही आप धन एकत्रित करने में भी सफल रहेंगे। यदि पूर्व में कोई धन संबंधित समस्या आ रही थी तो शुक्र देव की कृपा से आप उससे भी निजात पाने में सक्षम रहने वाले हैं और इससे आपको अपने मानसिक तनाव से भी मुक्ति मिलेगी। पारिवारिक जीवन भी खुशहाल रहने वाला है। क्योंकि घर-परिवार का वातावरण शांत और पहले से अधिक समृद्ध दिखाई देगा।

हालांकि शुक्र देव आपके मन में कुछ नकारात्मक विचार भी उत्पन्न करेंगे। परंतु आपके लिए बेहतर यही होगा कि उन सभी विचारों को खुद पर हावी न होने दें। इस राशि के छात्रों को भी इस अवधि में अपनी शिक्षा में सफलता मिलने के पूरे योग बनते दिखाई दे रहे हैं। बावजूद इसके अपनी मेहनत जारी रखें और अच्छे अंक प्राप्ति के लिए लगातार प्रयासरत रहें।

उपायः शुक्रवार के दिन दही और चीनी खाकर ही घर से निकलें।

कुंभ साप्ताहिक राशिफल

करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

मीन

मीन राशि के जातकों के लिए शुक्र उनके तीसरे व आठवें भाव को नियंत्रित करते हैं और अब शुक्र आपकी राशि से सप्तम भाव में प्रवेश करेंगे। ज्योतिष में कुंडली के सातवें भाव से व्यक्ति के वैवाहिक जीवन, जीवनसाथी एवं जीवन के अन्य क्षेत्रों में बनने वाले साझेदारों का विचार किया जाता है। ऐसे में शुक्र के इस गोचर के दौरान आपको थोड़ा सतर्क रहने की सलाह दी जाती है। ऐसे में इस दौरान कोई भी ऐसा काम न करें जिससे आपको भविष्य में परेशानियों का सामना करना पड़े या आप खुद को किसी बड़ी मुसीबत में डाल दें।

शुक्र के कन्या राशि में गोचर के समय करियर के लिहाज़ से भी आपको हर महत्वपूर्ण निणर्य लेते अधिक सतर्क रहने की सलाह दी जाती है। इसलिए कार्यक्षेत्र पर इच्छानुसार लाभ पाने के लिए अधिक मेहनत करें और हर कार्य को सही तरिके से जांचने के बाद ही उसपर काम शुरू करें। इस दौरान कार्यस्थल पर आपके विरोधी भी आपकी परेशानी बढ़ाने का कार्य करेंगे। परंतु आपको खुद को केवल और केवल अपने लक्ष्यों के प्रति ही केंद्रित रखने की ज़रूरत होगी।

अब बात करें आपके स्वास्थ्य जीवन की तो आपको शुक्र देव इस अवधि में कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्या दे सकते हैं। ऐसे में अपनी सेहत को लेकर ज़रा भी लापरवाही न करें और उसका ख़ास ख्याल रखें। प्रेम संबंधों में भी ये गोचर शादीशुदा जातकों का अपने जीवनसाथी के साथ किसी कारणवश वाद-विवाद करा सकता है। इसके परिणामस्वरूप ये मनमुटाव आप दोनों के बीच दूरियां लाने का कारण बनेगा। आर्थिक जीवन में भी धन से जुड़ा कोई भी फैसला लेते समय विशेष सावधानी बरतें और बिना पढ़ें किसी भी दस्तावेज पर हस्ताक्षर न करें।

उपायः पानी में कच्चा दूध डालकर लगातार 21 दिन तक स्नान करना आपके लिए अनुकूल सिद्ध होगा।

मीन साप्ताहिक राशिफल

सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।