• Talk To Astrologers
  • Talk To Astrologers
  • Talk To Astrologers
  • Brihat Horoscope
  • Personalized Horoscope 2024
  • Live Astrologers

शुक्र का मीन राशि में गोचर- 17 मार्च 2021

ज्योतिष शास्त्र में शुक्र ग्रह को शुभ ग्रह माना जाता है। इसके अलावा शुक्र ग्रह को सुंदरता का प्रतीक माना गया है, साथ ही ज्योतिष में इसे स्त्री ग्रह भी माना जाता है। जो वृषभ और तुला राशियों के स्वामी हैं। शुक्र ग्रह मनुष्य की कुंडली में विवाह से लेकर संतान तक के योग बनाते हैं। साथ ही इंसान के जीवन में सुख-समृद्धि भी शुक्र के शुभ प्रभाव से प्राप्त होती है।

शुक्र का मीन राशि में गोचर

ऐसे में शुक्र का अपनी उच्च राशि मीन में 17 मार्च 2021 को गोचर करना कई जातकों के लिए वरदान साबित होने वाला है। यह 17 मार्च 2021, को सुबह 02 बजकर 49 मिनट पर मीन राशि में प्रवेश करेगा और 10 अप्रैल 2021, तक इसी राशि में रहेगा।

आइये ऐसे में जानते हैं कि सभी बारह राशियों पर इसका क्या प्रभाव पड़ने वाला है।

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि

अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें : VENUS TRANSIT IN PISCES

मेष राशि

मेष राशि के लिए, शुक्र परिवार के दूसरे घर और वैवाहिक संबंधों, जीवनसाथी और व्यवसाय के सातवें घर को नियंत्रित करता है। शुक्र ग्रह के कुम्भ राशि से मीन राशि में गोचर के दौरान यह आपके विदेश के बारहवें घर में स्थित रहने वाला है।

व्यक्तिगत मोर्चे पर शुक्र का यह गोचर मेष राशि के जातकों के लिए शुभ फल लेकर आने वाला साबित होगा। इस समय आपके और आपके साथी के बीच बेशुमार प्यार होगा और आप एक-दूसरे के साथ की मदद से खुश महसूस करेंगे। आपके वैवाहिक रिश्तों में भी आपको ख़ुशी और आनंद मिलने की संभावना है। अगर पिछले कुछ समय से आपकी और आपके साथी के बीच कोई लड़ाई या मतभेद चल रही है तो वो भी इस समय के दौरान हल हो सकती है। साथ ही, जैसा कि शुक्र आपके जीवनसाथी के घर से छठे भाव में अपनी उच्च स्थिति में स्थित है, यह इस बात को दर्शाता है कि इस अवधि के दौरान आपका पार्टनर अपने पेशे या व्यवसाय में अच्छी प्रगति करेगा। इसके अलावा सीरियस रिलेशन में जो लोग हैं, वो इस दौरान अपने पार्टनर के साथ किसी एडवेंचर ट्रिप पर भी जा सकते हैं।

इसके अलावा बात करें अगर मेष राशि के व्यापार से जुड़े जातकों की तो इस गोचर के प्रभाव से उन्हें भी विदेशी संपर्कों से लाभ मिलने की संभावना है। इस समय के दौरान की गयी कोई भी विदेश यात्रा भी आपके लिए फलदायी रहने वाली है। इस राशि के पेशेवर जातक इस अवधि के दौरान अपनी आय में वृद्धि देख सकते हैं। साझेदारी के रूप में व्यवसाय करने वाले अपने साझेदारों के साथ इस समय अवधि के दौरान बेहतर समझ हासिल करने में कामयाब होंगे। उनके साथी अपने राजस्व और मुनाफ़े में वृद्धि के लिए उनके सुझावों पर ध्यान दे सकते हैं।

हालाँकि इस समय के दौरान आपके ख़र्चों में काफी वृद्धि होने की आशंका है, जिसका सीधा असर आपकी आर्थिक स्थिति पर पड़ेगा। इसके चलते आपको मानसिक परेशानी या तनाव का सामना भी करना पड़ सकता है। इसके अलावा इस समय आपका स्वास्थ्य भी आपको थोड़ी परेशानी दे सकता है। ऐसे में सलाह दी जाती है कि स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखें, अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखें और अगर स्वास्थ्य से जुड़ी कोई छोटी समस्या भी सामने आती है तो, उसे नज़रअंदाज़ ना करें। अपनी आँख और त्वचा का विशेष ध्यान रखें।

उपाय : सोमवार और शुक्रवार के दिन सफ़ेद कपड़े पहनें। ऐसा करने से शुक्र के लाभकारी प्रभाव बढ़ाते हैं।

वृषभ राशि

शुक्र का गोचर, वृषभ राशि के लग्न स्वामी और छठे घर के स्वामी के ग्यारहवें घर में हो रहा है। ऐसे में यह गोचर वृषभ राशि के जातकों के लिए शुभ परिणाम लाएगा। इस समय अवधि में आपको अपने अंदर जोश, खुशी, आशावाद और अच्छी सेहत का भरपूर साथ मिलने वाला है, जिसकी मदद से आप हर वो काम जो पहले आपको बड़ा और मुश्किल लग रहा था उसे बड़ी ही आसानी से पूरा करने में कामयाब रहेंगे। जैसा कि सेवा का प्रतिनिधित्व करने वाले छठे घर के स्वामी ग्यारहवें घर में मौजूद है, ऐसे में इस राशि के पेशेवर जातक अपने कार्यस्थल पर वेतन वृद्धि, बोनस, पदोन्नति की उम्मीद कर सकते हैं। इस समय आपके आर्थिक हालात और मान-सम्मान में भी वृद्धि आएगी। आप इस अवधि के दौरान संचार और संचालन में बेहद प्रसन्न और तेज होंगे जो आपको अपने कार्यक्षेत्र में अच्छी पहचान दिलाने में मदद करेगा। इसके अलावा जो लोग इस समय नौकरी की तलाश में होंगे उन्हें भी अच्छे अवसर प्राप्त हो सकते हैं। साथ ही वृषभ राशि के व्यापारी जातकों को भी इस समय आर्थिक मुनाफ़ा और लाभ होने की प्रबल संभावना है।

शुक्र की यह उच्च स्थिति वृषभ राशि के जातकों के लिए उनके प्रेम जीवन के मामले में शुभ समाचार लेकर आएगी। अगर आप किसी से सच्चा प्यार करते हैं तो इस अवधि के दौरान आप उनसे अपनी फीलिंग्स का इज़हार कर सकते हैं, क्योंकि इस समय आपको उनसे सकारात्मक परिणाम मिलने की उम्मीद है। इसके अलावा जो लोग पहले से ही प्यार में हैं वो इस समय अपने पार्टनर के साथ किसी यादगार ट्रिप पर जाने की योजना बना सकते हैं। ऐसा करना आप दोनों के रिश्ते को मजबूती प्रदान करने वाला साबित होगा। इस दौरान आपकी मुलाकात किसी पुराने दोस्तों के समूह से हो सकती है जिससे आप खुश भी होंगे और आपकी पुरानी यादें भी ताज़ा हो जाएँगी। इस समय अवधि के दौरान आपकी ज़िंदगी में मौजूद महिलाओं से भी लाभ मिलेगा। वृषभ राशि के कई जातकों के लिए परिवार की ओर से उपहार और अचानक लाभ भी मिलने की संभावना है।

इस अवधि के दौरान वृषभ राशि के छात्र भी अपनी क्षमताओं का सबसे अच्छा प्रदर्शन करेंगे, जो इस अवधि के दौरान शिक्षाविदों में उनके प्रदर्शन को बढ़ावा देगा।

उपाय : युवा लड़कियों को सौंदर्य से संबंधित वस्तुओं का दान करें।

मिथुन राशि

शुक्र मिथुन राशि के जातकों के लिए पाँचवें और बारहवें घर को नियंत्रित करता है, और अपने बारहवें घर के माध्यम से कुम्भ से होता हुआ मीन राशि में अपनी उच्च स्थिति में गोचर करेगा। बुध, आपके चंद्र राशि का स्वामी, शुक्र के महान मित्र हैं, ऐसे में यह बात इस तरफ इशारा करती है कि, यह अवधि मिथुन राशि के जातकों के लिए शुभ परिणाम लेकर आयेगी। जैसे कि आपके पंचम भाव का स्वामी शुक्र दशम भाव में अपनी उच्च स्थिति में स्थित है, यह इस तरफ इशारा करता है कि, इस दौरान आपकी रचनात्मकता बहुत अधिक होगी जो आपको चीजों को करने के बेहतर तरीके खोजने में मदद करेगी। इसके अलावा इस अवधि के दौरान आप अपने संगठन के लिए कहीं बेहतर और अच्छे उत्पादों के विकास की ओर अग्रसर होंगे। यह आपको एक निर्धारित समय सीमा में उच्च मानकों के साथ लक्ष्यों को प्राप्त करने में आपकी मदद करेगा, जिससे आपकी स्थिति में वृद्धि होगी और आपके कार्यक्षेत्र में अच्छी उन्नति मिलेगी।

प्रदर्शन कला, मीडिया से जुड़े लोग अपने ज्ञान या शौक और कौशल को एक पेशे में बदलना चाहते हैं, तो उन्हें भी इस अवधि के दौरान सफलता मिलने की संभावना है। मिथुन राशि के कई जातकों के लिए विदेश से लाभ मिलने की संभावना है।

इस समय के दौरान मिथुन जातक सकारात्मकता, करुणा और रोमांस से भरपूर होंगे। इस समय आप अपने पार्टनर पर खूब प्यार बरसायेंगे। साथ ही इस दौरान आप अपने पार्टनर के साथ कहीं यादगार ट्रिप या मनोरंजन पार्क में भी जा सकते हैं। ऐसा करने से आपके पार्टनर को स्पेशल महसूस होगा और आप दोनों के रिश्ते में एक नया रोमांच जागेगा। विवाहित जातक अपने बच्चों को इस गोचर के दौरान सफलता की सीढ़ी चढ़ते हुए देखेंगे। कुल मिलाकर, घर का वातावरण शांत और ख़ुशियों से भरा होगा।

हालांकि, कभी-कभी यह कार्यस्थल पर आपको अति आत्मविश्वासी और प्यार में अवास्तविक उम्मीदों को स्थापित करने का कारण बन सकता है, ऐसी स्थिति में इस दौरान आपके सभी अच्छे परिणामों पर यह पानी फेरने का काम कर सकता है, इसलिए सावधान रहे।

उपाय : प्रतिदिन शुक्र होरा के दौरान शुक्र मंत्र का जाप करें।

कर्क राशि

आपके चौथे और ग्यारहवें घरों के स्वामी शुक्र, कुंभ राशि से मीन राशि में प्रवेश के दौरान अपने नौवें घर से होकर जा रहे हैं। नौवां घर लंबी दूरी की यात्राओं, आध्यात्मिकता और भाग्य का प्रतिनिधित्व करता है।

जैसा कि, ऐसी स्थिति में शुक्र एक बहुत मजबूत "धन योग" बना रहा है, जो बताता है कि आपके कार्यस्थल पर आपके वर्तमान वेतन, पदोन्नति और वेतन में वृद्धि होने की प्रबल संभावना है। इस दौरान समाज में आपके मान-सम्मान और पद-प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होगी। इस दौरान आपके सामाजिक दायरे में आपकी हैसियत भी बढ़ेगी। इस राशि के व्यापारी जातकों को इस दौरान काफी लाभ मिलने की संभावना है। साथ ही आप इस अवधि में अपने काम से अपार संतुष्टि और प्रसन्नता प्राप्त करेंगे।

इस अवधि के दौरान आपकी सुख-सुविधाओं में वृद्धि होगी, यह समय किसी ऐसी संपत्ति या कार में निवेश करने के लिए एक शानदार समय है जिसे आप लंबे समय से चाहते हैं। इस अवधि में आपको आपके परिवार वालों का और दोस्तों का भरपूर साथ और प्यार हासिल होगा। यदि आप लंबे समय से अपने परिवार के साथ किसी लंबी दूरी की यात्रा करने की योजना बना रहे हैं, तो इसे पूरा करने के लिए यह एक आदर्श समय साबित हो सकता है। साथ ही प्यार में पड़े लोगों को आपसी समझ के कारण इस दौरान अपने रिश्तों में सुकून मिलेगा।

उच्च शिक्षा के लिए विदेश यात्रा करने के इच्छुक कर्क राशि के छात्रों को इस अवधि के दौरान वांछित परिणाम प्राप्त होने की संभावना है।

उपाय : शुक्र के सकारात्मक परिणामों को बढ़ाने के लिए सुबह की पूजा के दौरान श्री यंत्र का ध्यान करें।


250+ पृष्ठों की बृहत कुंडली से पाएं ग्रहों के अनिष्ट प्रभाव के विशेष उपाय

सिंह राशि

सुख-सुविधा, विलासिता, और रोमांस का ग्रह शुक्र, सिंह राशि के जातकों के लिए उनके भाई-बहन, साहस, यात्रा के तीसरे घर और करियर और पेशे के दसवें घर के को नियंत्रित करता है। यह परिवर्तन, बदलाव और अनिश्चितताओं के आठवें के माध्यम से गोचर करेगा, जो इस बात की तरफ इशारा करता है कि इस समय अवधि में आपको वांछित परिणाम शायद ना मिल सकें।

वहीं अगर बात करें आपके पेशे और व्यवसाय के बारे में तो, आपको इस अवधि के दौरान कई चुनौतियों, उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ेगा। जैसा कि यहाँ शुक्र, लग्न स्वामी सूर्य के साथ स्थित है, ये इस बात को दर्शाता है कि इस समय अवधि के दौरान आप आत्म शंकाओं से भरे होंगे , जो आपके आत्मविश्वास को नष्ट करने का काम करेगा, जिसके चलते आप इस अवधि के दौरान अपनी वास्तविक क्षमता या मूल्य को पहचानने में असक्षम रहने वाले हैं। आपको सलाह यही दी जाती है कि, अपने दृष्टिकोण में सकारात्मकता लाने और अपनी इच्छाशक्ति को बढ़ाने से आपको इस अवधि के बेहतर परिणाम प्राप्त करने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा, आपको अपने कार्यस्थल पर अपने बातचीत के ढंग में जितना हो सके सौहार्दपूर्ण रहना होगा, अन्यथा, आपको उसके गंभीर नतीजों का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा जितना हो सके इस गोचर के दौरान यात्रा करने से बचें, क्योंकि इस समय की गयी कोई भी यात्रा केवल आपको तनाव देगी और आपके ख़र्चों में वृद्धि करवाने वाली साबित होगी।

इसके अलावा शादीशुदा जातकों के जीवनसाथी के जीवन में समृद्धि आएगी, जो इस अवधि के दौरान आपकी वित्तीय स्थिति को बढ़ाने वाला साबित होगा। इसके अलावा, आपको आपके ससुराल पक्ष से भी कुछ लाभ मिल सकते हैं। शुक्र की यह स्थिति यह भी बताती है कि, इस अवधि के दौरान आप अपने कुछ गुप्त सुखों की पूर्ति करने का विचार मन में कर सकते हैं, हालाँकि, आपको उनसे दूर रहने की सलाह दी जाती है।

इसके अलावा आपको आपके स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने की सलाह दी जाती है। इस समय अवधि में विशेष तौर से अपनी आँख और पेट का ख़ास ख्याल रखें।

उपाय : इस समय अवधि में भगवान परशुराम की कथा सुनना और उनके बारे में पढ़ना भी आपको शुभ फल प्रदान करेगा।

कन्या राशिफल

कन्या राशि के जातकों के लिए शुक्र, जो कि परिवार, वाणी और संचित धन के दूसरे घर, और भाग्य, किस्मत और समृद्धि के नौवां घर को नियंत्रित करता है, भागीदारी, वैवाहिक संबंधों और व्यवसाय के अपने सातवें घर के माध्यम से गोचर करेगा।

जैसा कि संचार के दूसरे घर का स्वामी, शुक्र अपनी उच्च स्थिति में है, ऐसे में इस दौरान आपकी प्रेरक शक्तियां और आकर्षण से कई लोगों की आपकी तरफ आकर्षित होने की संभावना है। इस समय कार्यक्षेत्र पर आपके द्वारा किया गया हर एक काम लोगों के ध्यान में रहने वाला है और आपको आपके हर काम के लिए ढेरों प्रशंसा भी मिलने वाली है। यानि कि कुल मिलाकर इस पूरे समय आकर्षण का केंद्र बने रहेंगे, जहाँ सभी का ध्यान आपकी ओर रहेगा।

जो लोग व्यापार या साझेदारी में व्यापार शुरू करने की चाह रखते हैं उनके लिए यह समय बेहद शुभ रहने वाला है। इसके अलावा जो पहले पहले से ही व्यापार के क्षेत्र में हैं उन्हें इस समय का सदुपयोग करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि यह समय आपके लिए लाभ और नए अवसर के ढेरों मौके लेकर आने वाला है। इसके अलावा कुछ छोटी यात्राएँ आपको फलदायी परिणाम प्रदान करेंगी और आपके व्यवसाय के विस्तार में आपकी मदद करेंगी।

यह गोचर व्यक्तिगत संबंधों के लिए भी बेहद शुभ समय है, विशेष रूप से एकल मूल निवासियों के लिए, क्योंकि इस समय अगर वे अपनी भावनाओं को उस व्यक्ति को जाहिर करते हैं जिसे वे पसंद करते हैं तो, उन्हें अपनी पहल या प्रस्ताव के लिए अनुकूल प्रतिक्रिया मिलने की प्रबल संभावना है। शादीशुदा जातक भी इस दौरान अपने पार्टनर के साथ वैवाहिक आनंद और खुशी का लाभ उठाएंगे। इसके अलावा यह गोचर आपके परिवार के विस्तार के लिए भी बहुत अच्छा है।

जैसा कि, सातवाँ घर समाज का भी प्रतिनिधित्व करता है, ऐसे में यह समय आपके नाम, समाज में प्रसिद्धि और मान-सम्मान में वृद्धि कराने वाला साबित होगा। यह अवधि यह भी दर्शाती है कि अगर आप किसी अदालती या कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं तो आप उसमें भी विजयी हो सकते हैं। राजनीति में शामिल लोगों को भी शुक्र के इस मौजूदा चक्र के दौरान नई ऊँचाइयों तक पहुंचने की संभावना है।

उपाय : प्रतिदिन सुबह "अष्ट लक्ष्मी स्तोत्रम" का पाठ करें।

तुला राशि

शुक्र तुला राशि के लग्न घर को नियंत्रित करता है, जो निजी व्यक्तित्व, और परिवर्तन और अचानक नए बदलाव के आठवें घर का प्रतिनिधित्व करता है, वो मीन राशि में चुनौतियों, बाधाओं और रोगों के छठे घर के माध्यम से गोचर कर रहा है। जो इस बात की तरफ इशारा करता है कि इस समय के दौरान आपको विशेष तौर पर अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने की ज़रूरत पड़ सकती है, क्योंकि इस गोचर के प्रभाव से आपको आंखों, सर्दी, खांसी और त्वचा से संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसके अतिरिक्त आपका व्यस्त कार्यक्रम/दिनचर्या आपकी परेशानी और तनाव को बढ़ाने वाला साबित होगा। इसलिए अपने आहार का उचित ध्यान रखें और नियमित रूप से जिम जाना लंबे समय में आपके लिए फ़ायदेमंद साबित होगा।

आपको अपने ख़र्चों का विशेष ध्यान रखना होगा क्योंकि, इस स्थिति में शुक्र आपके व्यय के बारहवें घर को प्रत्यक्ष रूप से प्रभावित कर रहा है। अन्यथा, आपको इस गोचर के दौरान अपना जीवन यापन करने के लिए पैसे उधार लेने की नौबत भी पड़ सकती है। इसके अलावा, इस समय अवधि के दौरान आपके दुश्मन आप पर हावी होने की पूरी कोशिश करते नज़र आयेंगे, इसलिए इस मोर्चे पर भी आपको सावधानीपूर्वक काम लेना होगा।

छठा घर अनुशासन और दृढ़ संकल्प को इंगित करता है, जो इस बात की तरफ इशारा कर रहा है कि कार्यक्षेत्र पर आपको अपने प्रयासों और कड़ी मेहनत के साथ लगातार आगे बढ़ते रहना होगा क्योंकि इस दौरान आपको अपने कार्यस्थल पर कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही, इस दौरान बेहतर परिणाम हासिल करने के लिए अपनी आँखें और ध्यान अपने लक्ष्य की तरफ केंद्रित रखें। हालांकि, इस अवधि के दौरान आपके रिश्ते बिना किसी बाधा के सहज बने रहने की संभावना है।

उपाय : शुक्रवार के दिन अपने दाहिने हाथ की अनामिका में चाँदी या सोने से निर्मित अच्छी गुणवत्ता वाला हीरा या ओपल पहनें।


करियर के सही चुनाव के लिए ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

वृश्चिक राशि

शुक्र जो वृश्चिक राशि के जातकों के लिए पांचवें और बारहवें घर का स्वामी होता है, वो कुम्भ से मीन राशि में अपने इस परिवर्तन के दौरान वृश्चिक राशि के जातकों के प्यार, रोमांस, बुद्धि और संतान के अपने पांचवें घर के माध्यम से गोचर करेगा। ऐसे में वृश्चिक मूल के जातकों के लिए एक लाभदायक समय अवधि होगी।

शुक्र अपनी उच्च स्थिति में नाम, प्रसिद्धि और लोकप्रियता में वृद्धि करने के लिए जाने जाते हैं। व्यावसायिक रूप से, यह अवधि पदोन्नति और वेतन वृद्धि का मार्ग प्रशस्त करेगी। व्यापार से जुड़े वृश्चिक राशि के जातक, विशेष रूप से जो साझेदारी के रूप में अपने व्यवसाय का संचालन कर रहे हैं, वे इस अवधि के दौरान लाभ और ढेरों मुनाफ़ा प्राप्त करेंगे।

निजी जीवन के लिहाज़ से वृश्चिक राशि के जातकों के लिए यह समय काफी अच्छा साबित होगा। इस समय आपके लिए लव-इस-इन-द-एयर वाला माहौल रहने वाला है क्योंकि आपके रोमांटिक रिश्ते इस दौरान एक नए और उच्च स्तर पर होंगेl, और इस अवधि के दौरान आपका साथी आपका समर्थन करेगा और आपसे स्नेह करेगा। अपने साथी से अपने मन की बात करने से लिए भी यह एक शुभ समय साबित हो सकता है, ऐसा करने से आप अपने और अपने पार्टनर के बीच चले आ रहे किसी विवाद या मनमुटाव को भी खत्म करने में कामयाब होंगे। इसके अलावा आप अपने साथी को स्पेशल महसूस कराने के लिए उन्हें किसी मूवी डेट या डिनर डेट पर ले जाने का रोमांटिक प्लान बनाएं तो ये आप दोनों के रिश्ते के लिए शुभ साबित होगा।

वृश्चिक राशि के सिंगल जातक भी इस दौरान अपने आकर्षण में वृद्धि महसूस करेंगे जिससे विपरीत लिंग के लोग उनसे ज्यादा से ज्यादा आकर्षित होंगे। आपका आनंदमय और चंचल व्यक्तित्व आपको अपने सामाजिक दायरे में लोकप्रिय बनाएगा। इसके अलावा इस अवधि के दौरान विवाहितों को अपने जीवनसाथी से लाभ होने की संभावना है।

वृश्चिक राशि के छात्रों को भी इस पारगमन से लाभ होने की संभावना है क्योंकि, शुक्र की यह स्थिति उन्हें एक स्पष्ट और प्रगतिशील विचार प्रक्रिया प्रदान करेगी। साथ ही मीडिया, पत्रकारिता, फैशन आदि का अध्ययन करने वाले छात्रों को इस गोचर से काफी अधिक लाभ होने की संभावना है।

उपाय : रोज़ाना "श्री ललिता सहस्रनाम स्तोत्रम्" का पाठ करें।

धनु राशि

धनु राशि के जातकों के लिए शुक्र का यह गोचर उनके चौथे घर में होगा, जो माँ, विलासिता, आराम और भूमि का प्रतिनिधित्व करता है। शुक्र आपके छठे भाव जिसे प्रतियोगिताओं और लाभ के ग्यारहवें घर को नियंत्रित करता है जो दर्शाता है कि, इस दौरान आपको अपनी माता और परिवार के मातृ पक्ष से बहुत लाभ और उपहार प्राप्त होने की संभावना है। इस दौरान आपके और आपकी माँ के रिश्ते को भी नयी दिशा और मज़बूती मिलेगी। कुल मिलाकर, शुक्र के इस गोचर के दौरान आपका पारिवारिक परिवेश ख़ुशियों और शांति से भरा रहेगा।

शुक्र के इस गोचर के दौरान आप अपने परिवार के लोगों और उन दोस्तों को ज्यादा बेहतर तरीके से समझ और पहचान सकेंगे जिन्होंने, दुःख-सुख या मुश्किल की घड़ी में हमेशा आपका साथ दिया था। उन लोगों के सम्मान में आप कोई छोटा सा आयोजन भी कर सकते हैं। जैसा कि यह पति-पत्नी के 7 वें घर से 10 वां घर है, यहाँ शुक्र की उच्च स्थिति में स्थित होना इस बात को दर्शाता है कि इस दौरान आपके पार्टनर को उनके जीवन में उन्नति हासिल होगी। इसके साथ ही आप अपने जीवनसाथी के साथ कुछ मज़ेदार और प्यार भरे पलों की उम्मीद भी कर सकते हैं।

आपका घर या घर से संबंधित काम, मन की शांति और आराम इस दौरान आपकी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी और आप ऐसे काम और प्रोजेक्ट को करना पसंद करेंगे जो आपको घर से काम करने की स्वतंत्रता प्रदान करें। चौथे घर में शुक्र की मौजूदगी के चलते इस दौरान आप अपने घर की सजावट या नवीनीकरण के बारे में सोच सकते हैं।

धनु राशि के कुछ मूल निवासी इस अवधि के दौरान भूमि और अचल संपत्ति की बिक्री और खरीद से लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

उपाय : इस गोचर के दौरान प्रतिदिन देवी कात्यायनी की पूजा करें।

मकर राशि

मकर राशि के जातकों के लिए, शुक्र, बुद्धि के पांचवें घर और पेशे और कैरियर के दसवें घर को नियंत्रित करता है, इस प्रकार, मकर राशि के जातकों के लिए "योगकारक" ग्रह है। यह आपके तीसरे घर से होकर गुजरेगा जो भाई-बहनों, संचार, छोटी यात्राओं और इच्छाओं का प्रतिनिधित्व करता है, जिसके कारण इस अवधि के दौरान आपके भाई-बहनों के साथ आपके रिश्ते बेहतर और सौहार्दपूर्ण होने की संभावना है। इस समय अवधि में आप काम के लिए किसी यात्रा या छोटी यात्राएं पर जा सकते हैं या आप किसी तरह की गतिविधियाँ भी कर सकते हैं जिनसे आपके जीवन में थोड़ा बदलाव आएगा। इस गोचर के दौरान आपको नए लोगों या कनेक्शन मिलने की भी संभावना है, जो आपको लंबे समय में सफल होने के कई नए अवसर प्रदान करने वाला है। आप इस दौरान बेहद ही कार्य उन्मुख रहने वाले हैं और आपकी रचनात्मकता और उत्साह को इस अवधि के दौरान बढ़ावा मिलेगा, जो आपको अपने कैरियर और पेशे में नई ऊँचाइयों को हासिल करने में मददगार साबित होने वाला है। कार्यस्थल पर आपके कार्यों और प्रयासों को इस दौरान कोई भी नज़रअंदाज़ नहीं कर सकेगा। ट्रेडिंग, और शेयर बाजार से जुड़े लोगों को शुक्र की इस स्थिति के दौरान लाभ अवश्य हासिल होगा।

यह अवधि व्यक्तिगत जीवन के संदर्भ में भी अनुकूल परिणाम प्रदान करेगी क्योंकि विवाहित जातक इस समय के दौरान अपने बच्चों को उनके कार्यक्षेत्र में आगे बढ़ते और सफल होते हुए देख पाएंगे। बच्चों की सफ़लता देखकर आपके जीवन में ख़ुशियाँ अवश्य आएँगी और आपको अपने बच्चों पर भी गर्व होगा। इसके अलावा शुक्र कि यह स्थिति मकर राशि के सिंगल जातकों को स्पष्ट संचार और अभिव्यक्ति की सुविधा प्रदान करने वाली साबित होगी जिससे आप खुलकर अपने मन की बात विपरीत लिंग से कर पाएंगे और उन्हें अपनी तरफ आकर्षित करने में कामयाब होंगे ।

शुक्र का शिक्षा के पांचवें घर में, और अपनी उच्च स्थिति में प्रयासों के तीसरे घर में होना इस बात की तरफ इशारा कर रहा है कि इस दौरान मकर राशि के शिक्षा से जुड़े जातकों को अपार सफलता मिलने की संभावना है। इसके अलावा अपने शौक जैसे संगीत, नृत्य आदि के क्षेत्र में आगे बढ़ने और उनमें अपना करियर बनाने के लिए भी यह एक बेहतरीन समय साबित हो सकता है।

कुल मिलाकर देखा जाये तो इस समय का सदुपयोग कर के लाभ उठाने के लिए यह समय बेहद ही उपयुक्त रहने वाला है। सलाह केवल यह दो जाती है कि इस दौरान अगर कोई भी फ़ैसला लें तो पूरी तरह से सोच-समझकर लें।

उपाय : अपने दाहिने हाथ की अनामिका में चाँदी या फिर सोने में गढ़ी हुई अच्छी किस्म की ओपल पहनें।


क्या आपको चाहिए एक सफल एवं सुखद जीवन? राज योग रिपोर्ट से मिलेंगे सभी उत्तर!

कुम्भ राशि

कुम्भ राशि के जातकों के लिए शुक्र एक योगकारक ग्रह होने के कारण आपके सुख, आराम, विलासिता के चौथे घर, और भाग्य और किस्मत के नौवें घर को नियंत्रित करता है। यह आपके भाषण, संचित धन और परिवार के दूसरे घर के माध्यम से गोचर करेगा, जो इस बात की तरफ इशारा करता है कि इस समय अवधि में आपको महान वित्तीय लाभ और मुनाफ़े होने की प्रबल संभावना है। इस अवधि के दौरान, आपको पैतृक संपत्ति या अपनी विरासत से अचानक कोई लाभ और किसी तरह का मुनाफ़ा प्राप्त हो सकता है जो आपको बेहद ही खुश और आश्चर्यचकित करेगा। इस राशि के कुछ मूल जातकों को इस समय कुछ वाहनों या कन्वेन्शन के माध्यम से अपनी सुख-सुविधाओं में वृद्धि देखने का सुख भी प्राप्त होगा। इस समय अवधि में आपका मुख्य ध्यान धन और परिवार पर ही रहने वाला है। इसलिए इस दौरान आप किसी संपत्ति या निवेश योजनाओं में अपने पैसे का निवेश करेंगे, जिससे आपका भविष्य भी सुरक्षित रहेगा और आपको लाभ भी मिलेगा। अपने किसी दूर के या जिनसे लम्बे समय से बात ना हुई हो ऐसे किसी रिश्तेदारों और परिवार के सदस्यों के साथ मिलने और सामंजस्य बनाने के लिए यह एक शुभ समय है। इसके लिए आप चाहें तो घर में कोई शुभ या धार्मिक आयोजन या छोटी सी पार्टी का आयोजन भी कर सकते हैं। आपको इस समय अवधि में महिलाओं का बहुत अधिक समर्थन और स्नेह मिल सकता है, इसलिए, उन सभी महिलाओं की इज़्ज़त और उनका सम्मान करें जो आपके जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं, फिर वो चाहे आपकी पत्नी हो, आपकी माँ हो या आपकी कोई सहकर्मी हों।

व्यावसायिक रूप से, आप अपने सहयोगियों और वरिष्ठों के साथ बेहतर समन्वय प्राप्त करने का प्रयास करेंगे, जो आपको इस पारगमन के दौरान समय-समय पर समर्थन प्राप्त करने में मदद करेगा। जैसा कि नौवां घर आपके गुरु या आदर्श का प्रतिनिधित्व करता है ऐसे में इस गोचर के दौरान आपको उनकी मूल्यवान सलाह और समर्थन के रूप में उनका साथ अवश्य मिलेगा। व्यवसाय के जुड़े कुम्भ राशि के जातकों को उनके परिवार का विशेष रूप से उनके पिता का अच्छा समर्थन मिलेगा, जिससे उनका आत्म-विश्वास बढ़ेगा जिसके परिणामस्वरूप व्यवसाय से बहुत राजस्व प्राप्त होगा।।

उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्र इस गोचर के दौरान अपनी राह में आने वाली हर बाधाओं या मुश्किलों को हटते हुए देखेंगे।

उपाय : दक्षिण पूर्व दिशा में नीचे की ओर शीश झुका कर प्रार्थना करें, क्योंकि शुक्र इस दिशा का स्वामी है।

मीन राशि

मीन राशि के लिए, शुक्र उनके तीसरे घर जिसे, भाई-बहनों, सपनों और रचनात्मकता का घर माना जाता है और आठवें घर, जिसे बदलाव और परिवर्तन का घर माना जाता है, का प्रतिनिधित्व करता है। आपके लग्न घर के माध्यम से पारगमन करेगा जिसके कारण आपका स्वास्थ्य इस अवधि के दौरान कमजोर या नाज़ुक बना रह सकता है।सिर्फ इतना ही नहीं इस दौरान आप कई तरह की शारीरिक बीमारियों से भी पीड़ित हो सकते हैं, इसलिए, इस अवधि के दौरान स्वास्थ्य का उचित ध्यान देना और अपने स्वास्थ्य की ज़िम्मेदारी लेना आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण बताया जा रहा है। इसलिए अपने खान-पान का ख़ास ध्यान रखें और अपने फिटनेस स्तर को बेहतर बनाने के लिए नियमित रूप से जिम जायें। ऐसा करने से आपको इस गोचर के दौरान शुभ परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। हालाँकि इस गोचर के दौरान आपको आपके भाई-बहनों का पूरा सहयोग प्राप्त होगा। अष्टम भाव उन सभी बातों का प्रतिनिधित्व करता है जो अचानक और अप्रत्याशित होती है। यह इस बात की तरफ इशारा करता है कि इस गोचर के दौरान मीन राशि जे कुछ जातकों को कहीं से अचानक लाभ मिलने की संभावना है।

व्यावसायिक रूप से, अनुसंधान कार्य या किसी ऐसे काम को शुरू करने के लिए एक अच्छा समय जिसमें संग्रह या डेटा विश्लेषण शामिल होता है, साथ ही, आपको इस अवधि के दौरान पेशेवर रूप से प्रशंसा की जाएगी क्योंकि आपकी समस्या को हल करने की समस्या के मूल कारण को ढूंढ लेने की अनोखी क्षमता है। इसके अलावा व्यवसाय से जुड़े मीन राशि के जातकों के लिए भी यह बेहद शुभ समय साबित होगा क्योंकि इस दौरान आपको काफी लाभ मिलने की उम्मीद है। आपकी वित्तीय स्थिति स्थिर रहेगी और नकदी की आमदनी भी इस दौरान स्थिर रहने वाली है।

इस अवधि में अपने उच्च या उच्च स्थान में शुक्र की यह स्थिती यह दर्शाती है कि आप इस अवधि के दौरान हर्षित, चंचल और आत्मविश्वास से भरपूर रहेंगे, जिससे विपरीत लिंग के लोग आपकी तरफ आकर्षित होंगे जिसके चलते आपको किसी से कोई नया प्रस्ताव भी मिल सकता है। कहना गलत नहीं होगा कि इस समय अवधि में आप आकर्षण का केंद्र बने रहेंगे। यह समय उन लोगों के लिए भी अनुकूल समय साबित होगा, जो अपने रिश्ते को अगले स्तर पर ले जाना चाहते हैं। आप में से जो विवाहित हैं, वो इस अवधि के दौरान अपने और अपने पार्टनर के रिश्ते को मजबूत होते देखेंगे। इस दौरान आप अपने पार्टनर के साथ क्वालिटी टाइम बिताएंगे जिससे आपके रिश्ते में मधुरता, नज़दीकी आएगी। कुल मिलाकर आप दोनों इस पल को ख़ुशी-ख़ुशी बिताएंगे और अपनी पुरानी यादों को संजोयेंगे।

तो, कुल मिलाकर यह गोचर एक अच्छा समय साबित होगा, जो कि मीन राशि के मूल निवासियों के आत्मविश्वास और आकर्षण में वृद्धि करेगा, उन्हें कई लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना देगा।

उपाय : शुक्र होरा के दौरान प्रतिदिन "श्री सूक्तम" का पाठ करें और ध्यान करें।


रत्न, रुद्राक्ष समेत सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।