• Talk To Astrologers
  • Personalized Horoscope 2024
  • Brihat Horoscope
  • Top Followed Astrologers

सूर्य का कर्क राशि में गोचर (17 जुलाई 2023)

सूर्य का कर्क राशि में गोचर 17 जुलाई 2023 की प्रातः 4:59 बजे होगा। कर्क राशि के स्वामी चंद्र महाराज हैं जो कि सूर्य देव के मित्र हैं। सूर्य देव बुध की राशि मिथुन से निकलकर कर्क राशि में 17 जुलाई को गोचर करेंगे और यहां पर 17 अगस्त 2023 की दोपहर 13:27 बजे तक रह कर उसके बाद अपनी ही स्वराशि सिंह में प्रवेश कर जाएंगे। इस प्रकार सूर्य का एक माह का यह गोचर विभिन्न जातकों के जीवन में अलग-अलग प्रभाव डालेगा। सूर्य एक अग्नि प्रधान ग्रह हैं जबकि कर्क राशि जल तत्व प्रधान है। कर्क राशि में होने वाला सूर्य का यह गोचर विभिन्न राशि में जन्मे जातकों के लिए महत्वपूर्ण प्रभाव डालने वाला साबित होगा।

सूर्य का कर्क राशि में गोचर

विद्वान ज्योतिषियों से फोन पर बात करें और जानें सूर्य गोचर का अपने जीवन पर प्रभाव

सूर्य को धरती पर प्रकाश देने वाला और जीवन ऊर्जा प्रदान करने वाला एकमात्र प्रत्यक्ष देवता माना गया है। जरा कल्पना कीजिए कि यदि सूरज ना होता तो धरती पर हमारा कोई अस्तित्व ही होना संभव नहीं था। वैदिक ज्योतिष में सूर्य को सर्वाधिक महत्व दिया गया है और इसे ग्रहों का राजा माना गया है। सूर्य के प्रकाश से ही अन्य ग्रहों को भी प्रकाश मिलता है और सभी ग्रह सूर्य का चक्कर लगाते हैं। इसे आत्मा और जगत का कारक माना गया है। सूर्य की कृपा से व्यक्ति को राज कृपा मिलती है, सरकारी नौकरी मिलती है और सरकारी क्षेत्र में काम करने का मौका मिलता है। सूर्य सरकार, प्रधानमंत्री और मंत्रिपरिषद जैसे महत्वपूर्ण पदों के कारक ग्रह हैं।

वैदिक ज्योतिष के अनुसार सूर्य का गोचर प्रत्येक माह अलग-अलग राशि में होने से अलग-अलग मौसम प्रदान करता है। कुंडली में यदि सूर्य प्रबल होते हैं तो व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। वह बीमारियों की चपेट में आसानी से नहीं आता है। पिता से उसके संबंध अनुकूल रहते हैं। सरकार और पिता से लाभ मिलता है। उसका खूब मान और यश होता है और वह सरकारी नौकरी भी प्राप्त कर सकता है जबकि कुंडली में दुर्बल सूर्य स्वास्थ्य को नकारात्मक रूप से प्रभावित करने वाला माना जाता है और जातक को कई बड़ी समस्याओं से जूझना पड़ता है। सूर्य अपने मित्र चंद्रमा की राशि में गोचर करने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं इसका आपकी राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि

Read in English: The Sun Transit In Cancer (17 July 2023)

मेष राशि

मेष राशि के जातकों के लिए सूर्य पंचम भाव के स्वामी हैं। सूर्य का कर्क राशि में गोचर आपके करियर के लिए अनुकूल रहने की संभावना है। यदि आप सरकारी क्षेत्र में काम करते हैं तो आपको और भी अधिक उन्नति प्राप्त हो सकती है जबकि निजी क्षेत्र में काम करने वाले जातकों के अधिकार में बढ़ोतरी हो सकती है और आपको बड़े पद की प्राप्ति हो सकती है। आपको अपने प्रयासों में सफलता मिल सकती है। मनचाही नौकरी प्राप्त करने में आप कामयाबी प्राप्त कर सकते हैं। व्यवसाय करने वाले जातकों के लिए भी यह अवधि अनुकूल रहेगी और आप अपना नाम बना पाएंगे। पारिवारिक जीवन में थोड़ी समस्याएं रहेंगी। आपसी विवाद और उग्र स्वभाव एक दूसरे सदस्य से परिवार में तनाव बढ़ा सकता है। आप अपनी खुशी के लिए कुछ नई वस्तुएं खरीद सकते हैं। कोई नया वाहन खरीदना चाहें तो अभी कुछ समय के लिए रुक जाएं। आपको हाई कोलेस्ट्रॉल, एसिडिटी, जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें, छाती में जलन भी हो सकती है।

उपाय: आपको प्रतिदिन श्री गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए।

कुंडली में मौजूद राज योग की समस्त जानकारी पाएं

वृषभ राशि

वृषभ राशि के जातकों के लिए सूर्य चतुर्थ भाव के स्वामी ग्रह होकर आपके तीसरे भाव में गोचर करेंगे। सूर्य का कर्क राशि में गोचर नौकरी में बदलाव की संभावना को दर्शा रहा है। अगर आप पहले से ही नौकरी बदलना चाहते हैं तो यह समय सर्वश्रेष्ठ रहेगा और आपको एक अच्छी नौकरी मिल सकती है। अगर आपकी नौकरी स्थानांतरण योग्य है तो आपका स्थानांतरण भी हो सकता है। व्यवसाय के दृष्टिकोण से यह गोचर अनुकूल रहने वाला है। आप नई रणनीति लागू कर सकते हैं। इससे आपकी मार्केटिंग और आपका विक्रय दोनों मजबूत होंगे और बाजार में आपके नाम की चर्चा होगी। व्यक्तिगत जीवन में आप कुछ कठिन निर्णय ले सकते हैं। आप अपने निर्णय को लेकर भी दृढ़ होंगे। अपने परिवार के लोगों पर आप अपनी धाक जमाएंगे। ऐसा भी हो सकता है कि आपकी वाणी में थोड़ी कर्कशता बढ़ जाए जिसकी वजह से परिजनों से कम बातचीत हो या बातचीत में समस्या हो। उन्हें भावनात्मक रूप से आहत करने से बचें। आप परिवार के लोगों के साथ किसी यात्रा पर भी जा सकते हैं। यदि आप कोई खिलाड़ी हैं तो आपको अच्छा नाम मिल सकता है और खेलकूद के व्यवसाय से जुड़े हैं तो अच्छा लाभ अर्जित कर सकते हैं। संपत्ति के क्रय-विक्रय से लाभ मिल सकता है।

उपाय: अपने पिताजी का सम्मान करें और प्रतिदिन उठकर उनके चरण स्पर्श करें और उनका आशीर्वाद लें।

मिथुन राशि

सूर्य का कर्क राशि में गोचर मिथुन राशि के जातकों के लिए दूसरे भाव में होने के कारण भाई-बहनों से सहयोग प्राप्त होगा। वे हर काम में आपकी मदद करते नजर आएंगे। यदि आपको आर्थिक मदद की भी आवश्यकता होगी तो आपकी मदद करेंगे। केवल भाई-बहन ही नहीं बल्कि दोस्तों का व्यवहार भी बहुत मददगार होगा। वे भी आपके हर काम में आगे बढ़कर मदद करते नजर आएंगे जिससे आपका उन पर और विश्वास बढ़ेगा। सरकारी क्षेत्र में काम कर रहे लोगों को सरकारी क्षेत्र से धन लाभ के प्रबल योग बनेंगे। यदि आप नौकरी करते हैं तो यह अवधि आपको नौकरी में वेतन वृद्धि प्रदान कर सकती है और यदि आप व्यापार करते हैं तो भी यह गोचर आपको अनुकूल परिणाम प्रदान करेगा और आप अपने प्रयासों के दम पर अनुकूल परिणाम प्राप्त कर पाएंगे। आपका अटका हुआ धन भी आपको वापस मिल सकता है। आर्थिक रूप से यह गोचर बहुत ज्यादा फायदेमंद साबित होगा। व्यक्तिगत जीवन में कुछ तनाव बढ़ सकता है। परिवार के लोगों में आपसी तनाव बढ़ सकता है। आप अपनी बात आगे रखने की कोशिश करेंगे जो कई लोगों को नागवार गुजरेगी इससे लड़ाई झगड़े की स्थिति भी बन सकती है। कोशिश करें कि इस स्थिति से बच सकें। आपको नेत्र पीड़ा हो सकती है या मुंह में छाले, दांतो में दर्द की समस्या भी हो सकती है इसलिए अपनी स्वास्थ्य समस्याओं पर भी ध्यान दें।

उपाय: प्रतिदिन सूर्यदेव को तांबे के पात्र से जल अर्पित करें।

करियर की हो रही है टेंशन! अभी ऑर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

कर्क राशि

कर्क राशि के लोगों के लिए सूर्य द्वितीय भाव के स्वामी ग्रह हैं और सूर्य का कर्क राशि में गोचर होने से आपकी राशि सर्वाधिक प्रभावित होगी क्योंकि यह आप ही की राशि में गोचर करने जा रहे हैं। यह गोचर एक और तो आपको अनुकूलता देगा। आप अपने बारे में भी सोचेंगे। अपने स्वास्थ्य को बलिष्ठ बनाए रखने के लिए आप कुछ नई दिनचर्या अपनाएंगे। आप व्यायाम करने की शुरुआत कर सकते हैं। सुबह की सैर कर सकते हैं लेकिन दूसरी ओर आपके स्वभाव में कुछ अहम की भावना बढ़ सकती है। आप कुछ क्रोधी स्वभाव के भी हो सकते हैं। इन बातों से आपको बचना चाहिए क्योंकि इनसे रिश्ते बिगड़ सकते हैं। विवाहित जीवन में जीवन साथी से तनाव ना बढ़े, इसका आपको ध्यान रखना चाहिए। व्यवसाय के लिहाज से यह गोचर अच्छा रहेगा। आपका व्यवसाय दिन दूनी रात चौगुनी उन्नति करेगा। यह लोगों से आपकी मेल मुलाकात और आपके व्यापार को और बढ़ाएगा। यदि आप नौकरी करने वाले हैं तो आपकी सक्रियता बढ़ेगी। काम में व्यस्तता बढ़ेगी और आप काम को अपने अनुसार करते हुए नजर आएंगे। पैतृक व्यवसाय के लिए तो यह गोचर सर्वाधिक उपयुक्त साबित होने वाला है। आपको अधीरता से बचना चाहिए और सब कुछ सोच समझकर निर्णय लेना चाहिए। बिना वजह की बेचैनी और घबराहट आपको रक्तचाप का मरीज बना सकती है, थोड़ी सावधानी रखें।

उपाय: आपको प्रतिदिन सूर्याष्टक का पाठ करना चाहिए।

सिंह राशि

सिंह राशि में जन्म लेने वाले लोगों के लिए सूर्य देव राशि स्वामी हैं और सूर्य का कर्क राशि में गोचर होने से यह आपके द्वादश भाव में जाएंगे। यह गोचर एक और तो आप की विदेश यात्रा के सपनों को पूरा करेगा। आप व्यापार के सिलसिले में भी विदेश जा सकते हैं और यदि आप किसी ऐसी कंपनी में नौकरी करते हैं जो मल्टीनेशनल कंपनी है तो उस के माध्यम से भी आपको विदेश जाने का मौका मिल सकता है यानी कि यह अवधि आपको काम के सिलसिले में विदेश ले जा सकती है। आपको बहुराष्ट्रीय कंपनियों में काम करके या उनके साथ व्यापार करके अच्छा धन लाभ प्राप्त हो सकता है। यदि आप पहले से ही विदेश में रह रहे हैं तो आपका मुनाफा और भी अधिक होगा। हालांकि दूसरी ओर आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा। इस दौरान आपके खर्चों में बहुत बढ़ोतरी होगी और यदि आप उनको नियंत्रित करने में असमर्थ रहते हैं तो बड़ी समस्या हो सकती है। आपको इस दौरान किसी तरह का पुरस्कार भी प्राप्त हो सकता है लेकिन आपके विरोधियों से आपको सतर्क रहना होगा, भले ही वह आपका नुकसान ना कर पाएं लेकिन आप की छवि को धूमिल करने का प्रयास अवश्य कर सकते हैं। इंपोर्ट - एक्सपोर्ट में बढ़ोतरी हो सकती है। व्यक्तिगत जीवन के लिए यह गोचर परिवार के साथ यात्रा करने के योग बनाएगा। आप काफी थकान महसूस करेंगे। आपकी शारीरिक ऊर्जा में कमी महसूस होगी इसलिए आपको स्वास्थ्य का थोड़ा ध्यान रखना है और स्वयं को हाइड्रेट रखना चाहिए। स्वास्थ्य के लिहाज से यह गोचर ज्यादा अनुकूल नहीं है इसलिए अपने आप को संतुलित रखें ताकि आपकी ऊर्जा भी संतुलित बनी रहे।

उपाय: आपको सूर्य देव के बीज मंत्र का जाप करना चाहिए।

कन्या राशि

कन्या राशि के लिए सूर्य देव द्वादश भाव के स्वामी हैं और यह आपकी राशि से दशम भाव में गोचर करेंगे। सूर्य का कर्क राशि में गोचर आपको अच्छे परिणाम प्राप्त करने में सक्षम बनाएगा। आपकी आर्थिक चुनौतियां दूर होंगी और आप धन लाभ प्राप्त करते हुए नजर आएंगे। आप व्यापार में भी ऊंचाइयां हासिल करेंगे और नए लोगों के साथ मिलकर भी काम करने का मौका मिलेगा। समाज के कुछ बड़े रसूखदार लोगों और शासन प्रशासन में आपकी पैठ मजबूत होगी। सरकारी क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए यह अवधि और भी ज्यादा अच्छी रहने वाली है। आपको सरकारी क्षेत्र से कोई बड़ा लाभ मिल सकता है। यदि आप निजी क्षेत्र में नौकरी करते हैं तो आपके पद में बढ़ोतरी कर सकती है। आपको पदोन्नति मिल सकती है और वरिष्ठ अधिकारियों की कृपा भी आपको प्राप्त होगी। प्रेम संबंधों में यह गोचर थोड़ा तनाव बढ़ा सकता है इसलिए आपको अपने अहम को एक तरफ रख कर अपने प्रेम को महत्व देना चाहिए। आपकी योजनाओं में तेजी आएगी। आपको कुछ नए दोस्त बनाने का मौका मिलेगा। सामाजिक तौर पर आप ज्यादा सक्रिय होंगे। विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में अच्छी उन्नति के योग बनेंगे। आप पढ़ाई को लेकर ज्यादा प्रयासरत नजर आएंगे। स्वास्थ्य के लिहाज से इस गोचर के दौरान आपको थोड़ा सा ध्यान देना होगा क्योंकि पाचन तंत्र और पेट से संबंधित समस्याएं परेशानी का कारण बन सकती हैं। अपने खानपान में सुधार करके आप इन समस्याओं से बच सकते हैं।

उपाय: आपको प्रतिदिन रामायण का पाठ करना चाहिए।

तुला राशि

तुला राशि के लिए सूर्य ग्यारहवें भाव के स्वामी हैं। सूर्य का कर्क राशि में गोचर आपके दशम भाव में होने से करियर के लिए यह गोचर बहुत ज्यादा लाभदायक साबित होगा। आप अपने कार्यक्षेत्र में जरूरत से ज्यादा अच्छा प्रदर्शन कर पाने में कामयाब होंगे जिससे लोगों की प्रशंसा के पात्र बनेंगे। आपका नाम पदोन्नति के लिए भेजा जा सकता है। आपकी तनख्वाह में भी वृद्धि के योग बनेंगे। आप एक राजा की भांति अपनी टीम का नेतृत्व करते हुए नजर आएंगे और इससे आपकी साख बढ़ेगी लेकिन आपको अति आत्मविश्वास का शिकार होने से बचना चाहिए। व्यवसाय करने वाले जातकों को इस गोचर का विशेष लाभ मिलेगा और आप कुछ महत्वपूर्ण लोगों के संपर्क में आएंगे जिनके सहयोग से आपका व्यापार में विस्तार होगा और आपकी ख्याति दूर-दूर तक फैलेगी। सेल्स और मार्केटिंग को लेकर आप और ज्यादा सक्रिय नजर आएंगे और इसका आपको अच्छा खासा लाभ भी नजर आएगा। यदि आपके निजी जीवन की बात करें तो इस दौरान पिताजी से संबंधों में सुधार होगा। उनकी इज्जत बढ़ेगी। उन्हें भी समाज में कुछ अच्छा स्थान प्राप्त होगा और आप उनके सानिध्य पाकर गौरवान्वित महसूस करेंगे। परिवार की जिम्मेदारियों से थोड़ा से आप कटे कटे से नजर आएंगे क्योंकि काम में अति व्यस्तता आपको परिवार के लिए पर्याप्त समय नहीं लेने देगी। हालांकि आप कोई नया वाहन खरीद सकते हैं। इस गोचर के दौरान आपको निजी जीवन पर भी थोड़ा ध्यान देना चाहिए।

उपाय: आपको प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करना चाहिए।

वृश्चिक राशि

सूर्य आपके दशम भाव के स्वामी ग्रह हैं और सूर्य का कर्क राशि में गोचर आपकी राशि से नवम भाव में होगा। यह आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा को तो बढ़ाएगा और समाज में आपको मान सम्मान मिलेगा। आप आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे। इससे समाज के एक अलग वर्ग से आपका साक्षात्कार होगा और उस क्षेत्र में आप नाम भी कमाएंगे और लोगों की प्रशंसा के हकदार भी बनेंगे लेकिन यह गोचर पिताजी से आपके संबंधों को बिगाड़ सकता है और उनकी सेहत में कमी भी कर सकता है इसलिए आपको उनका विशेष ध्यान रखना होगा। पेशेवर रूप से यह अवधि मध्यम रहेगी। नौकरी में स्थानांतरण के योग बन सकते हैं और आपके विभाग में भी अचानक से परिवर्तन किया जा सकता है। नौकरी में बदलाव करने के लिए यह समय उपयुक्त रहेगा। आपका प्रयास आपको सफलता दिला सकता है। व्यापार के क्षेत्र में यह गोचर अच्छा परिणाम प्रदान करेगा। रियल एस्टेट, ट्रैवल इंडस्ट्री और सरकारी क्षेत्र से संबंधित कोई काम आपको अत्यंत लाभ प्रदान कर सकता है। पारिवारिक जीवन में थोड़ा तनाव बढ़ेगा लेकिन आप परिजनों और विशेषकर जीवन साथी के साथ तीर्थाटन कर सकते हैं। स्वास्थ्य में सुधार रहेगा।

उपाय: आपको रविवार के दिन में गौ माता को गेहूं का आटा खिलाना चाहिए।


बृहत् कुंडली: जानें ग्रहों का आपके जीवन पर प्रभाव और उपाय

धनु राशि

धनु राशि के जातकों के लिए सूर्य नवम भाव के स्वामी हैं और सूर्य का कर्क राशि में गोचर होने से वह आपके आठवें भाव में जाएंगे। यह भी ज्यादा अच्छी नहीं कही जा सकती है इसलिए आपको अपने स्वास्थ्य और अपनी आर्थिक स्थिति का विशेष ध्यान रखना होगा। इस दौरान स्वास्थ्य समस्याएं परेशान कर सकती हैं। पेट में दर्द, तेज बुखार और रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी होना जैसी समस्याएं इस दौरान आपके सामने आ सकती हैं। शेयर बाजार से संबंधित कामों में सोच समझकर हाथ डालें क्योंकि इस दौरान नुकसान हो सकता है। इस अवधि के दौरान आपकी कुछ पुरानी छुपी हुई बातें भी समाज में सामने आ सकती हैं तो उनका ध्यान रखें क्योंकि उनकी वजह से मानहानि की नौबत भी आ सकती है। अचानक से बनता हुआ कोई काम अटक सकता है इसलिए थोड़ा धैर्य रखें और कोई भी बड़ा निर्णय इस अवधि में न लें। किसी की गंदी राजनीति का शिकार भी आप हो सकते हैं इसलिए किसी की बातों में आने से बचें। शोध कार्य में लगे विद्यार्थियों के लिए यह गोचर अनुकूल परिणाम प्रदान करेगा और आपको शिक्षा में उन्नति देगा। ज्योतिष के क्षेत्र में भी सफलता प्रदान करेगा। गहन अध्ययन और किसी भी वस्तु या स्थिति का सही आंकलन करने का मौका आपको मिलेगा। जीवनसाथी के स्वास्थ्य में कुछ कमी आ सकती है लेकिन आपको ससुराल के लोगों का सहयोग मिलेगा।

उपाय: आपको प्रतिदिन श्री आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करना चाहिए।

मकर राशि

मकर राशि के लिए सूर्य देव अष्टम भाव के स्वामी हैं ‌और सूर्य का कर्क राशि में गोचर आपकी राशि से सप्तम भाव में होगा जिससे आपका वैवाहिक जीवन और व्यवसाय विशेष रूप से प्रभावित हो सकता है। यदि आप कोई ऐसा व्यवसाय करते हैं जिसमें आप किसी के साथ साझेदारी में हैं तो आपको कुछ अनिश्चितताओं से दो-चार होना पड़ेगा। आपके व्यवसायिक साझेदार से आपके संबंध बनते बिगड़ते हो सकते हैं जिसका असर यदा-कदा आपके व्यापार को भी प्रभावित करेगा। ध्यान रखें इस दौरान तैश में आकर कोई भी निर्णय न लें क्योंकि वह आपके लिए नुकसानदायक होगा। व्यक्तिगत रूप से बात करें तो वैवाहिक जीवन में कुछ विवाद हो सकता है। जीवनसाथी का व्यवहार और आपका व्यवहार आपस में टकरा सकते हैं और अहम की इस लड़ाई में किसी को भी कुछ हासिल नहीं होगा इसलिए जितनी जल्दी संभव हो वाद विवाद को दूर करने की कोशिश करें। यदि आप विवाह के लिए प्रयासरत हैं तो आपकी प्रतीक्षा थोड़ी सी लंबी हो सकती है।

उपाय: आपको लाल रंग के पुष्प वाले पौधे को जल अर्पित करना चाहिए।

कुंभ राशि

कुंभ राशि के जातकों के लिए सूर्य सप्तम भाव के स्वामी हैं और सूर्य का गोचर मिथुन राशि में होने से वह आपके षष्ठ भाव में आएंगे और शत्रुहंता बनेंगे। आपके विरोधियों की हार होगी और आपको उन पर जीत मिलेगी। वह आपके सामने आने की हिम्मत नहीं कर पाएंगे लेकिन दांपत्य जीवन में आपको तनाव का सामना करना पड़ सकता है। जीवनसाथी का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है और उनके व्यवहार में भी कुछ रूखापन आ सकता है। इससे आपके बीच प्रेम में कमी आ सकती है और आपका रिश्ता नकारात्मक रूप से प्रभावित हो सकता है। प्रेम संबंधों के लिए यह गोचर अच्छा रहेगा और आपको अपने प्रियतम के निकट आने का मौका मिलेगा। थोड़े से खर्चे आपके अवश्य बढ़ेंगे लेकिन आपको विदेश जाने का मौका भी मिल सकता है। नौकरी करने वाले जातकों को अपनी नौकरी में अच्छी सफलता मिल सकती है। वैसे तो आप तर्क वितर्क में माहिर रहेंगे लेकिन इस दौरान किसी से व्यर्थ वाद-विवाद से बचें। व्यापार के लिए यह अवधि मध्यम रहेगी।

उपाय: आपको रविवार के दिन तांबे का दान करना चाहिए।

मीन राशि

सूर्य का कर्क राशि में गोचर मीन राशि के जातकों के पंचम भाव में होगा। यह अवधि प्रेम संबंधों के लिए निर्णायक साबित हो सकती है इसलिए आपको यह ध्यान देना होगा कि आपके प्रियतम से किसी भी प्रकार का झगड़ा या वाद विवाद ना हो ना पाए। अहम का टकराव होने से एक दूसरे को कम आंकने की कोशिश करेंगे जिससे रिश्ता बिगड़ सकता है। ऐसी स्थिति में एक दूसरे पर भरोसा रखें क्योंकि प्यार इसी का नाम है। इस दौरान किसी भी तरह का कर्ज लेने से बचने की कोशिश करें और कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा कर्ज चुका सकें। इस दौरान पुरानी नौकरी के जाने और नई नौकरी के प्राप्त होने की स्थिति बन सकती है। आपकी आर्थिक स्थिति में इजाफा होगा और आपको धन लाभ के योग बनेंगे। आपकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी। विद्यार्थियों के लिए गोचर अनुकूल साबित होगा। आप अपनी परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर पाएंगे क्योंकि आपने जो मेहनत की है, वह आपको लाभ देगी और आप वर्तमान में भी अच्छी मेहनत करते नजर आएंगे। विवाहित जातकों को जीवनसाथी का पूरा सहयोग और समर्थन प्राप्त होगा। संतान की ओर से भी अच्छी खबरें सुनने को मिलेंगी और आप उनकी प्रगति के बारे में सुनकर गौरवान्वित महसूस करेंगे लेकिन उन्हें बार बार डांटने की आदत से बचें क्योंकि इससे आपके संबंध तनावपूर्ण हो सकते हैं।

उपाय: आपको रविवार के दिन बैल को गुड़ खिलाना चाहिए।


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम आशा करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।