• Varta Astrologers
  • Navratri Sale
  • Arun
  • Biren
  • Debolina
  • Vinutha

सूर्य का कर्क राशि में गोचर (16 जूलाई 2021)

सूर्य को आत्मा का कारक ग्रह माना जाता है। अग्नि तत्व प्रधान यह ग्रह सभी ग्रहों का राजा है। सूर्य ग्रह वायु तत्व की मिथुन राशि से भावनाओं की कारक माने जाने वाली कर्क राशि में गोचर करेगा। इसका तात्पर्य यह है कि चिलचिलाती गर्मी कुछ समय के लिए शांत हो जाएगी।

एस्ट्रोसेज वार्ता से दुनियाभर के विद्वान ज्योतिषियों से करें फोन पर बात

सूर्य का कर्क राशि में गोचर

सूर्य को प्रभुत्व, पद, प्रतिष्ठा, शक्ति का कारक माना जाता है जबकि कर्क राशि नारीवाद, पोषण और व्यक्तिगत देखभाल की कारक मानी जाती है। इसलिए, यह गोचर संवेदनशीलता और जिम्मेदारी का अहसास करवा सकता है। साथ ही, यह हर विषय के बारे में गहन जानकारी प्राप्त करने के लिए उकसाएगा। इस गोचर के दौरान आप अपने तक सीमित रहेंगे और आपका रवैया रक्षात्मक होगा।

सूर्य का यह गोचर 16 जुलाई 2021 को शाम 16:41 पर होगा और सूर्य ग्रह 17 अगस्त 2021 1:05 बजे तक इसी राशि में रहेगा। इसके बाद सूर्य अपनी स्वराशि सिंह में गोचर कर जाएगा।

आईए जानते हैं कि सूर्य के इस गोचर का सभी राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। इसके अलावा व्यक्तिगत भविष्यवाणी जानने के लिए ज्योतिषियों के साथ फ़ोन पर या चैट पर जुड़े

Click Here to read in English: Sun Transit in Cancer (16 July 2021)

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए सूर्य उनके पंचम भाव का स्वामी है और वर्तमान में यह आपके चतुर्थ भाव में गोचर करेगा। यह इंगित करता है कि इस गोचर के दौरान आपके पारिवारिक जीवन पर सूर्य का कुछ असर पड़ सकता है। घर-परिवार से जुड़े फैसले लेने में इस राशि के जातक थोडी उलझनों में हो सकते हैं, क्योंकि आपकी मन और बुद्धि दोनों अलग-अलग तरह से काम करेंगे। आपके गतिशील विचार आपके भावनाओं के साथ मेल नहीं खाएंगे। घर के सदस्यों के साथ इस दौरान मनमुटाव हो सकता है जिसके कारण आप अकेलापन महसूस कर सकते हैं। इस दौरान पैतृक संपत्ति से इस राशि के कुछ जातकों को लाभ मिलने की संभावना है। सामाजिक जीवन में इस दौरान आपको सुखद फलों की प्राप्ति होगी और समाज के बीच आप आकर्षण का केंद्र हो सकते हैं। इस समय आपकी माता घर में एक बॉस की तरह नजर आ सकती है जिसके कारण घर के छोटे सदस्य कुछ परेशान हो सकते हैं। इस राशि के जो विद्यार्थी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं वो कुछ उलझनों में हो सकते हैं और उनमें आत्मविश्वास की कमी भी देखी जा सकती है। जो जातक सरकारी क्षेत्र में काम कर रह हैं उनके लिए यह समय अनुकूल होगा। वहीं जो लोग सरकारी नौकरी प्राप्त करने की कोशिश कर रहे थे उनको भी इस दौरान सफलता मिल सकती है। अपने स्वास्थ्य का मेष राशि के जातकों को इस दौरान ख्याल रखना होगा क्योंकि आपको पाचन तंत्र से संबंधी कोई परेशानी हो सकती है। इसके साथ ही आपकी माता को भी उच्च रक्तचाप की समस्या हो सकती है इसलिए उनका ख्याल रखें।

उपाय- मंगलवार के दिन व्रत का पालन करें।

वृषभ

वृषभ राशि के जातकों के लिए सूर्य उनके चतुर्थ भाव का स्वामी है और वर्तमान में यह ग्रह उनके तृतीय भाव में गोचर करेगा। इस अवधि के दौरान आप ऊर्जा से भरे हुए और संतुलित होंगे। आप हर कार्य को बहुत मजबूती के साथ इस दौरान कर पाएंगे। दोस्तों या सहकर्मियों के साथ छोटी दूरी की यात्राएं करने के लिए यह समय अच्छा है। इस दौरान आप कार्यक्षेत्र में पूरी सावधानी के साथ हर कार्य को करेंगे और आपके पास जो भी कार्य होगा उसे पूरा करने में दिलो जान लगा देंगे। अपने भाई-बहनों से इस दौरान कार्य से संबंधी सहयोग आपको मिल सकता है, इससे आपको अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे। इस राशि के जो जातक खेलकूद में हिस्सा लेते हैं वह भी इस दौरान अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे। जो विद्यार्थी शिक्षा को लेकर अपने घर से दूर जाना चाहते हैं उनके सपने भी इस समय साकार हो सकते हैं। इस राशि के नौकरी पेशा अपनी नौकरी में परिवर्तन कर सकते हैं और इसके चलते इन्हें किसी अन्य जगह जाना पड़ सकता है। वहीं जो लोग ट्रांसफर की उम्मीद लगाए बैठे थे उनको भी इस समय सफलता मिल सकती है। आपकी आध्यात्मिक प्रवृति में भी इस दौरान इजाफा होगा और आप दानपुण्य भी कर सकते हैं। आपके पिता को स्वास्थ्य समस्या हो सकती है जो आपकी चिंता का विषय होगा।

उपाय- गाय को गुड़ खिलाएं।

मिथुन

सूर्य मिथुन राशि के जातकों के लिए तृतीय भाव का स्वामी है और वर्तमान में यह परिवार, भाषण और संचित धन के आपके दूसरे भाव में स्थानांतरित होगा। यह अवधि वित्तीय लाभ के दृष्टिकोण से अच्छी होगी। आपके भाई-बहन भी इस दौरान आपका साथ देंगे, आपके लक्ष्यों को पूरा करने में वह आपका सहयोग करेंगे, वह आपकी वित्तीय सहायता भी कर सकते हैं। आपकी शारीरिक शक्ति इस दौरान थोड़ी कम हो सकती है और आप ऊर्जा की कमी के कारण परेशान हो सकते हैं। आपको व्यायाम और स्वस्थ भोजन करके अपने स्वास्थ्य में सकारात्मक बदलाव लाने की कोशिश करनी चाहिए। घर पर लोगों के साथ अहम के टकराव के कारण कुछ परेशानियां आपके जीवन में आ सकती हैं। आपको अपनी बातों में स्पष्ट रहने की सलाह दी जाती है। आपकी अशिष्टता या गलत शब्दों का इस्तेमाल आपको बुरी स्थिति में डाल सकता है औऱ इसकी वजह से किसी तरह की गड़बड़ी या झगड़े हो सकते हैं। भावनात्मक असंतुलन के कारण आप कई बार उदास महसूस कर सकते हैं, हालाँकि अपने साथी या जिन लोगों पर आप भरोसा करते हैं, उनके साथ अपनी भावनाओं को साझा करना आपके लिए फायदेमंद होगा। जो लोग सरकारी सेवाओं में हैं, वे इस अवधि के दौरान अपने संगठन से धन लाभ की उम्मीद कर सकते हैं। इस राशि के विद्यार्थी अपनी समझ और एकाग्रता के स्तर में सुधार के साथ अपने विषयों पर पकड़ बना सकेंगे।

उपाय- प्रतिदिन सुबह भगवान सूर्य को अर्घ्य अर्पित करें

कर्क

कर्क राशि के जातकों प्रथम भाव में सूर्य का गोचर होगा। आपके द्वितीय भाव के स्वामी सूर्य का आपके प्रथम भाव में होना एक तनावपूर्ण स्थिति है। आपके मस्तिष्क में कई तरह के विचार इस दौरान आएंगे, क्योंकि अपने संसाधनों का विस्तार करने और सभी संभावित साधनों द्वारा अधिक पैसा बनाने के लिए आपके दिमाग में निरंतर कुछ चलता रहेगा। आप इस दौरान अधीर और अभिमानी हो सकते हैं, जो सामाजिक रूप से आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है। साथ ही, आपके परिवार से अपेक्षित सहयोग और समर्थन न मिलने के कारण, आप व्यक्तिगत मोर्चे पर असंतुष्ट और परेशान रहेंगे। जो लोग प्राधिकरण या उच्च पद की नौकरियों में हैं, उन्हें इस दौरान कुछ लाभ मिलेंगे, जिससे उनकी कमाई में सुधार होगा। जो लोग नौकरी में प्रमोशन चाहते हैं उनके लिए भी यह समय अच्छा होगा, इसलिए आपको इस दिशा में काम करना चाहिए। कारोबारियों के पास एक अनुकूल अवधि होगी, क्योंकि उनके पास अपने काम और संबंधित बाजार पर अच्छी पकड़ होगी। यदि आप महत्वपूर्ण निर्णय लेना चाहते हैं तो यह अवधि आपके लिए अच्छी है, क्योंकि आप स्थिति का बेहतर मूल्यांकन कर पाएंगे और निष्पक्ष प्रतिबद्धता बना पाएंगे। आपको इस समय के आंखों से संबंधित कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए आंखों का ख्याल रखें और किसी अनुभवी डॉक्टर से सलाह-मशवरा लें।

उपाय- शिवलिंग पर जल चढ़ाएं और "ओम नमः शिवाय" का जप करें।

सिंह

आपकी राशि का स्वामी ग्रह सूर्य आपके व्यय और हानि के द्वादश भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आपमें अत्यधिक सहानुभूति और भावुकता देखी जा सकती है। आप अपने आस-पास के लोगों की परेशानियों को सुनेंगे और उन्हें सांत्वना देने की कोशिश करेंगे। आपका आध्यात्मिक झुकाव बढ़ेगा और आप धार्मिक गतिविधियों पर खर्च कर सकते हैं। इस अवधि के दौरान लंबी दूरी की यात्राएं करने की उज्ज्वल संभावनाएं हैं, कुछ जातक कई यात्राएं इस दौरान कर सकते हैं। आप गुप्त गतिविधियों में भी शामिल हो सकते हैं, इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि निकट भविष्य में किसी भी परेशानी से बचने के लिए अपने सभी कार्यों और संसाधनों पर नज़र बनाए रखें। आपका खर्च बढ़ेगा और खुद को खुश रखने के लिए आप अपनी आय का अधिकांश भाग आलीशान चीजें खरीदने में लगा सकते हैं। कारोबारियों को सतर्क रहने की आवश्यकता है क्योंकि आपको नुकसान होने की संभावना है। हालांकि, जो जातक विदेशों से जुड़ा व्यापार करते हैं उन्हें इस दौरान लाभ प्राप्त हो सकता है। इसके अलावा, जो लोग बहुराष्ट्रीय कंपनियों में काम कर रहे हैं, उनके पास अनुकूल समय होगा, आपको अच्छे ग्राहक मिल सकते हैं और कुछ अच्छे सौदे इस दौरान आप कर सकते हैं। इस समय के दौरान आपके शत्रु आप पर हावी हो सकते हैं और उनके द्वारा पैदा की गई प्रतिकुल स्थितियों के कारण आप तनाव और चिंता से ग्रस्त हो सकते हैं। आपको अपने पिता की देखभाल करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि वह स्वास्थ्य संबंधी कुछ परेशानियों का सामना कर सकते हैं।

उपाय- गायत्री मंत्र का प्रतिदिन सुबह 108 बार जाप करें।


राजयोग रिपोर्ट से जानें कब खुलेगी आपकी किस्मत और कब आएंगी जीवन में खुशियां

कन्या

आपके द्वादश भाव के स्वामी ग्रह सूर्य का गोचर आपके लाभ भाव यानि एकादश भाव में होगा। यह गोचर आपके लिए फलदायी साबित होगा। आपके पास धन की इस दौरान कोई कमी नहीं होगी, खासकर यदि आप विदेशी कंपनियों या विदेशी ग्राहकों से जुड़े व्यापारिक व्यवसाय में हैं। इसके अलावा, आप इस समय अपने परिवार और दोस्तों पर बहुत खर्च करेंगे, क्योंकि आपके व्यय के भाव का स्वामी आपके लाभ के घर में होगा। आप आधिकारिक लोगों के साथ अच्छे संबंध बनाएंगे और उनका प्रभाव आपको कार्य के साथ-साथ आपके व्यक्तिगत मामलों में भी आपकी सहायता करेगा। उनके संगति से समाज में आपकी स्थिति और प्रतिष्ठा भी इस दौरान बढ़ेगी। आप इस अवधि के दौरान चंचल होंगे और आपके लिए किसी विशेष स्थिति में निष्कर्ष पर पहुंचना या कोई ठोस निर्णय निकालना मुश्किल होगा। सरकारी कर्मचारी, विशेष रूप से लोक सेवकों या राजनेताओं के पास एक अनुकूल समय होगा, क्योंकि आपको एक अच्छा सामाजिक-राजनीतिक वातावरण मिलेगा। इस अवधि के दौरान आपकी संतान के बुरे स्वास्थ्य के कारण आपको कुछ चिंताओं का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा, आप पाचन से जुड़ी कुछ समस्याओं, एसीडिटी आदि से परेशान हो सकते हैं। इसलिए आपको अपने खानपान का इस दौरान विशेष ध्यान रखना चाहिए, अधिक गर्म या मसालेदार खाना खाने से इस दौरान बचें।

उपाय- एक तुलसी का पेड़ लगाएं और उसका पोषण करें। इसके अलावा, शाम को इस पेड़ के सामने एक दीपक जलाएं।

तुला

सूर्य तुला राशि के जातकों के लिए आय, लाभ आदि के एकादश भाव का स्वामी है। वर्तमान में सूर्य ग्रह आपके करियर, प्रतिष्ठा के दशम भाव में गोचर करेगा। यह गोचर आपके पेशेवर जीवन में एक शुभ समय लेकर आएगा। आपको अपनी परियोजनाओं और कार्यों में त्वरित और आसान सफलता मिलेगी, साथ ही यह आपके लिए कार्यक्षेत्र में नाम और प्रसिद्धि प्राप्त करने के अच्छे अवसर लेकर लाएगा। व्यावसायिक पेशेवरों के पास एक अनुकूल अवधि होगी और वे अपनी असाधारण तकनीकों के साथ संबंधित उद्योग में अपना वर्चस्व बनाने में सक्षम होंगे। जो लोग सरकारी क्षेत्र में नौकरी की तलाश कर रहे हैं उन्हें भाग्य का साथ इस दौरान मिलेगा। प्रशासनिक क्षेत्र में कार्य करने वालों को अपने शीर्ष प्रबंधन से पदोन्नति और प्रशंसा मिलने की संभावना है। आपको अपने पिता भी इस दौरान समर्थन प्राप्त होगा, अगर आपके पिता भी काम कर रहे हैं तो उन्हें अपने प्रयासों में सफलता मिलेगी। आप भौतिक सुख-सुविधाओं से परिपूर्ण रहेंगे, हालाँकि इस दौरान आपकी मानसिक शांति थोड़ी बाधित हो सकती है। इस दौरान किसी भी तरह के दान पुण्य, धार्मिक कार्यों या ज़रूरतमंद लोगों की मदद करने से आप समाज में अच्छा नाम और प्रसिद्धि प्राप्त करेंगे।

उपाय- जरूरतमंदों को भोजन और कपड़े भेंट करना और पितृगणों का सम्मान करना शुभ फल प्रदान करेगा।

वृश्चिक

आत्मा का कारक ग्रह सूर्य धर्म और आध्यात्म के आपके नवम भाव में गोचर करेगा। धर्म के नवम भाव का कर्म के दशम भाव से संबंध होगा क्योंकि सूर्य आपके कर्म के भाव का स्वामी है और यह आपके नवम भाव में गोचर कर रहा है। आप इस समय बहुत भाग्यशाली होंगे और बिना अधिक प्रयास के अपने सभी कार्यों को पूरा करने में सक्षम होंगे। आपके पिता के साथ आपके रिश्ते में सुधार होगा और वह आपके लक्ष्यों को पूरा करने में आपकी सहायता करेेंगे। आप अपने माता-पिता के साथ किसी धार्मिक स्थान या तीर्थ यात्रा पर जा सकते हैं। धार्मिक प्रथाओं और शास्त्रों के प्रति आपका झुकाव बढ़ेगा, आप इस दौरान पूजा-पाठ कर सकते हैं, आप पौराणिक कथाओंं और पौराणिक परंपराओं को जानने के इस दौरान इच्छुक होंगे। जो लोग शिक्षा उद्योग, परामर्श सेवाओं में हैं, वे इस अवधि के दौरान उन्नति पाएंगे। आप इस अवधि के दौरान काफी प्रभावशाली होंगे, क्योंकि आपके आसपास के लोग आपके शब्दों को सुनेंगे और चीजों के बारे में आपकी राय का सम्मान करेंगे। आप किसी भी बहस में जीत हासिल करेंगे, क्योंकि आपकी इच्छाशक्ति मजबूत होगी। साथ ही आपकी बौद्धिक क्षमता में भी वृद्धि होगी, जो आपको अपने काम पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करेगी।

उपाय- रविवार के दिन मंदिर में गेहूं और गुड़ का दान करें।

धनु

आपके नवम भाव केे स्वामी ग्रह सूर्य का गोचर आपके अष्टम भाव में होगा। इस गोचर के कारण आपको भाग्य का अधिक साथ नहीं मिलेगा। किसी भी कार्य को पूरा करने के लिए आपको खुद में सकारात्मकता लाऩी होगी और प्रयासों को बढ़ाना होगा। इसके अलावा आपको अपने काम में कई बाधाओं का सामना इस अवधि में करना पड़ सकता है। यह अवधि उन लोगों के लिए फायदेमंद होगी जो सट्टेबाजी या इस तरह के किसी व्यवसाय में हैं। शोध करने वाले इस राशि के लोगों के लिए यह अवधि अच्छी होगा, आपकी एकाग्रता में सुधार होगा और आप अपने विषयों पर एक अच्छी पकड़ हासिल करेंगे। आपको आंखों की परेशानी, हीट स्ट्रोक और बाल झड़ने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। आपको किसी विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए, क्योंकि किसी भी तरह की लापरवाही के कारण आपको बड़ी समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा, रिश्तों को लेकर आप चिंतित हो सकते हैं और असुरक्षा की भावना से ग्रस्त हो सकते हैं। आपके स्वभाव में क्रोध की अधिकता हो सकती है और साथ ही कुछ कार्यों को लेकर आपमें अधीरता भी रहेगी। पेशेवर लोगों को इस दौरान किसी के अंडर काम करने में दिक्कत होगी। यह अवधि उन लोगों के लिए अच्छी रहेगी जो अपने घर से दूर जाकर कार्य कर रहे हैं या शिक्षा अर्जित कर रहे हैं। सरकारी कर्मचारी जो स्थानांतरण चाहते थे, उन्हें कोई अच्छी खबर मिल सकती है, क्योंकि इस दौरान स्थानांतरण के अच्छे चांस हैं।

उपाय- रोज हनुमान चालीसा का पाठ करें।


करियर से जुड़ी हर समस्या को दूर करने के लिए अभी ऑर्डर करें- कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

मकर

आपके अष्टम भाव का स्वामी ग्रह सूर्य विवाह और साझेदारी के सप्तम भाव में गोचर करेगा। यह गोचर आपके विवाहित जीवन में कुछ परेशानियां ला सकता है, आपके जीवनसाथी के साथ आपके अक्सर झगड़े हो सकते हैं और संवादहीनता की स्थिति भी बन सकती है। जो लोग किसी भी तरह की व्यवसायिक साझेदारी में हैं उन्हें सतर्क रहने की जरूरत है, क्योंकि इस दौरान आपको अपने साझेदार द्वारा धोखा दिया जा सकता है। पेट्रोलियम, खनन या किसी अन्य ऊर्जा क्षेत्र में काम करने वाले इस राशि के जातक उपलब्धियां प्राप्त करेंगे। साथ ही, जो लोग संविदात्मक आय और सरकारी टैंडर्स का इंतजार कर रहे हैं उन्हें भाग्य का कुछ साथ मिलेगा। यह अवधि उन सिंगल जातकों के लिए अच्छी नहीं है जो शादी करना चाहते हैं, क्योंकि आपको वैसा रिश्ता इस दौरान नहीं मिलेगा जैसा आप चाहते हैं। प्रेम पड़े इस राशि के जातकों को भी इस दौरान सावधान रहना होगा, क्योंकि एक छोटी सी गलतफहमी के कारण टकराव हो सकता है और रिश्ते में दरार आ सकती है। आपके पिता के साथ आपके रिश्ते बिगड़ सकते हैं और आप अपने पिता को ही इसका दोषी समझेंगे। यदि आपके पिता नौकरी पेशा हैं तो इस अवधि में कुछ उतार-चढ़ावों का सामना उनको कार्यक्षेत्र में करना पड़ सकता है। आप अपने निजी जीवन में थोड़े निराश हो सकते हैं और इसकी वजह से चिड़चिड़ापन, मनोदशा में बदलाव और घमंड पैदा होगा।

उपाय- रविवार के दिन मंदिर में 1.25 मीटर लाल कपड़ा दान करें।

कुंभ

आपके वैवाहिक जीवन और साझेदारी के सप्तम भाव का स्वामी ग्रह सूर्य आपके षष्ठम भाव में गोचर करेगा। यह अवधि आपके विवाहित जीवन के लिए बहुत अच्छी नहीं कही जा सकती क्योंकि इस दौरान आपके जीवनसाथी की तबीयत बिगड़ सकती है। इसके अलावा, आप दोनों के बीच किसी तरह के झगड़े के कारण भावनात्मक अलगाव हो सकता है। जो लोग साझेदारी में व्यवसाय कर रहे हैं, उन्हें अतिरिक्त सतर्क रहने की इस दौरान सलाह दी जाती है, क्योंकि आप अपने व्यवसाय में कुछ कानूनी मुद्दों का सामना कर सकते हैं या आपके सहयोगियों के साथ आपकी झड़प हो सकती है। यदि कोर्ट-कचहरी में कोई केस चल रहा था तो आपको इस दौरान विजय मिल सकती है। आपकी मानसिकता इस दौरान मजबूत होगी और अपने सभी दुश्मनों और प्रतिस्पर्धियों पर भी आप विजय प्राप्त करेंगे, वे आप पर हावी नहीं हो पाएंगे। यदि किसी बीमारी से पीड़ित हैं, तो इस दौरान आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होगी और आप जल्दी रिकवरी कर सकते हैं। नौकरी की तलाश कर रहे इस राशि के जातकों के लिए भी यह अवधि अनुकूल होगी, क्योंकि आपको कई अवसर मिलेंगे और आप इस दौरान इंटरव्यू में भी अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे। इस अवधि में कार्य से संबंधित यात्रा की संभावनाएँ हैं।

उपाय- अपने बेडरूम की दक्षिण दिशा में गुलाब क्वार्ट्ज क्रिस्टल रखें।

मीन

आपके छठे घर के स्वामी ग्रह सूर्य का गोचर आपके पांचवें भाव में होगा। यह अवधि उन लोगों के लिए अनुकूल होगी जो परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। आपके पास विषयों को लेकर स्पष्ट समझ और उनपर अच्छी पकड़ होगी साथ ही आप टेस्ट में भी सफलता प्राप्त करेंगे। जो जातक विदेशों में जाकर शिक्षा अर्जित करना चाहते हैं उन्हें इस दौरान अपने प्रयास बढ़ाने चाहिए क्योंकि इस क्षेत्र में सफलता मिलने की संभावना है। साथ ही यह अवधि मेडिकल क्षेत्र की पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए भी शुभ होगी। जो लोग प्रेम में पड़े हैं, उनके लिए यह गोचर प्रतिकुलता लेकर आ सकता है लवमेट के साथ झगड़ सकते हैं और कुछ जातक अपने रिश्ते को तोड़ भी सकते हैं। इसलिए, आपको सलाह दी जाती है कि आप शांत रहें और अपने साथी के साथ झगड़ा करने से बचें, ताकि आपका रिश्ता बना रहे। व्यावसायिक लोगों को इस अवधि के दौरान कुछ वित्तीय परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, हालाँकि आपको सलाह दी जाती है कि इस दौरान उधार लेने से बचें। उधार चुकाने में आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। आपको अपने स्वास्थ्य की देखभाल करने की भी सलाह दी जाती है, क्योंकि इस समय में आपको पेट और पाचन संबंधी समस्याएं होने की संभावना है।

उपाय- मंगलवार के दिन मंदिर में पीले चने की दाल का दान करें।


सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

ज्योतिष पत्रिका

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।